Home

Welcome!

user image Arvind Swaroop Kushwaha - 19 Feb 2019 at 9:47 PM -

पीए- सर, पुलवामा में 43 जवान मारे गए।
मोदी- उनसे कहो 430 आतंकवादी मार दें।

पीए-
सर नोटबन्दी के कारण घाटी में इतने आतंकवादी बचे ही नहीं।
मोदी- तो सीमा पार जाकर मारें।

पीए- सर, सर्जिकल स्ट्राइक के कारण वहां भी नहीं बचे।
मोदी- यह तो बढ़िया बात है।

पीए- लेकिन ... सर, पब्लिक 1 के बदले 10 सिर मांग रही है।
मोदी- कह दो 2030 तक ला देंगे।

पीए- सर, जनता चाहती है कि इस संकट की घड़ी में आप राजनीति न करो,
मोदी- जनता को कौन भड़का रहा है।
पीए- भक्त जनता से कहते हैं कि संकट की इस घड़ी में राजनीति मत करो।
मोदी- सही तो कह रहे हैं।
पीए- सर, जनता भी तो यही कह रही है।

मोदी- तो इसमें मैं क्या कर सकता हूँ।
पीए- देश की सुरक्षा की चिंता कीजिये।
मोदी- पूरा देश कर तो रहा है।
पीए- सर आप भी कीजिये।
मोदी- मैंने रैलियों में लफ्फाजी सीखी है और वही कर रहा हूँ।
मैंने बीवी को छोड़ा तो मोहल्ला पकड़ लिया। मोहल्ले को छोड़ा तो जिला पकड़ लिया। जिले को छोड़ा तो प्रदेश पकड़ लिया। प्रदेश को छोड़ा तो देश पकड़ लिया। अब अगर देश को भी छोड़ना पड़ेगा तो दुनिया पकड़ लूंगा। और जब दुनिया छोड़नी पड़ेगी तो छोड़ दूंगा। अब उम्र ही कितनी बची है।

पीए- सर अम्बानी जी काल पर हैं।
मोदी- हेलो सर क्या आदेश है।
अम्बानी- मोदी जी आप चुनावी रैलियों पर ध्यान दीजिए। फेसबुक को तो मैं जब भी चाहूंगा बन्द कर दूंगा।