Home

Welcome!

user image ruthiesv60 ruthiesv60 - 08 Sep at 10:38 AM -

New hot project galleries, daily updates

Daily updated super sexy photo galleries
http://huntley.disgusting-memes.instakink.com/?alexandrea

40 s porn asian women porn clips fuck sex porn young loilta teen porn nude sex porn silver

user image shannavp1 shannavp1 - Saturday at 3:52 PM -

Hot new pictures each day

Enjoy daily galleries
http://rapedcams-naruto.uzumaki.funny.sexyico.com/?karla

amature videos first time porn free access porn clips handjobs naked book porn website free 40 porn galleries quicktime porn site

user image NickBep NickBepJW - Monday at 11:33 AM -

czznvboy

[url= http://tadacip.digital/]tadacip 40[/url]

user image carlyss60 carlyss60 - Tuesday at 3:33 AM -

Hot sexy porn projects, daily updates

Hot galleries, daily updated collections
http://teenpornstars.hamisterporn.miyuhot.com/?izabella

free teen porn tube ipod free 1940 s xxx porn redhead porn xxx porn eskimo bisexual flash torture porn

user image lorainezk4 lorainezk4 - Thursday at 9:53 PM -

Dirty Porn Photos, daily updated galleries

Daily updated super sexy photo galleries
http://nudeadultfunsojernimo.energysexy.com/?jazmyne
alma porn star photo amateur porn 40s to 50s just porn movies all maturemale porn stars free stream tube porn search


user image alfredooq18 alfredooq18 - Monday at 6:37 PM -

New super hot photo galleries, daily updated collections

Young Heaven - Naked Teens & Young Porn Pictures
http://whatmakesmesexy.ghandinagar.hoterika.com/?norma
1980 s porn forum beautiful black porn 50 inch ass porn ben dodge gay porn star pictures homemade porn 40


user image Jameslaw JaelawDQ - Tuesday at 9:25 AM -

ivknpxfa

[url= https://baclofen.store/]baclofen[/url] [url= https://sertraline.shop/]zoloft[/url] [url= https://buyaugmentin.store/]generic amoxicillin[/url] [url= https://phenergan.cfd/]phenergan cream uk[/url] [url= https://buypropecia.quest/]finpecia tablet[/url] [url= https://buylisinopril.monster/]lisinopril 40 mg coupon[/url] [url= https://tadacip.boutique/]buy tadacip 10[/url] [url= https://gabapentin.golf/]neurontin 200 mg tablets[/url]

user image Michaelwoday KipwodayNX - Tuesday at 5:14 AM -

bjqemgwg

[url= https://trental.shop/]trental 400 order online[/url]

user image WilliamPoeks WiiPoeksPY - Saturday at 9:09 PM -

qolugktt

[url= http://pharmacyviagra2021.monster/]canadian medicine viagra[/url] [url= http://cialisonlinemedicinepharmacy.monster/]price of cialis[/url] [url= http://cialis40mglowcost.monster/]canadian pharmacy cialis daily use[/url]

user image HenryMem HenryMemHN - Saturday at 6:12 PM -

порно молодые сквирт

скачать порно видео на телефон онлайн https://popec.icu/ скачать порно большие жопы

скачать отличное порно [url= https://popec.icu/search/%D0%91%D0%94%D0%A1%D0%9C/]видео секс бдсм доминирование [/url]

[url= https://www.biotimeinc.com/how-to-practice-om-meditation/#comment-61295]порно с красивыми мулатками[/url]
[url= https://flomant.cl/2021/10/25/rusza-polska-moc-biznesu-kongres-esg/#comment-19972]русское домашнее порно с полными[/url]
[url= http://www.artino.at/Guestbook/index.php?&mots_search=&lang=german&skin=&seeMess=1&seeNotes=1&seeAdd=0&code_erreur=h4iaDpbAXg]порно анал сперма[/url]
[url= https://techyeyes.com/best-instagram-growth-services-platforms/#comment-94527]девушки в лифчике порно[/url]
[url= https://kiodigital.net/health/side-effects-of-drinking-alcohol/#comment-244174]русское домашнее порно сексвайф[/url]
[url= http://icavtion.pornoautor.com/site-announcements/1111878/daily-shemale-porn?page=64#post-7305312]скачать порно сквирт[/url]
[url= https://mercedes-world.com/eq/mercedes-benz-eqs-pictures/comment-page-1#comment-55]порно кино зрелые[/url]
[url= http://aaab.jp/publics/index/3/step=confirm/b_id=26/r_id=14/fid=47d3d40a9dbc470f998487d5b474ac05]порно россии ... смотреть бесплатно[/url]
[url= http://userid385.prv.pl/wina/wino-swojskie/comment-page-1/#comment-19197]онлайн порно смотреть в хорошем качестве зрелые[/url]
[url= https://maitokei.blog.ss-blog.jp/2014-01-16?comment_fail=1#commentblock&time=1655513969]порно большой член в жопу[/url]
33_ef8a

user image Arvind Swaroop Kushwaha - 08 Jun 2021 at 3:46 PM -

prd bahraich के महत्वपूर्ण फोन नम्बर-

जिला कमांडेंट बहराइच- 9997 101113
कुमैल बाबू- 86012 79830
शिखर- 9792 781526
शौकत अली- 831880 8817
लालजी मौर्य- 933 578 2512
हरि प्रकाश पांडेय- 9792 484546
राम गोपाल शुक्ल- 97920 74771
जगराम वर्मा- 63933 00891
अरविंद गुप्ता- 74080 61897
जवाहर लाल शर्मा- 87954 91652
नवल किशोर दीक्षित- 6388 569 388
देव नारायण ... पांडेय- 94521 81514
राम नंदन शर्मा- 88744 04515
राकेश वर्मा- 76072 62660
राजेन्द्र सिंह- 99196 25676
राज कुमार यादव- 99195 15740
सूर्य मणि वर्मा- 99564 23774

user image Arvind Swaroop Kushwaha - 08 Jun 2021 at 2:26 PM -

कृपया ध्यान दें

हुजूरपुर ब्लॉक के निम्न लिखित जवानों के document ऑनलाइन नहीं दिख रहे हैं-

swami deen putr benchu lal g2604051

vinay kumar putr bharat g2604027

jakir husain putr yunus g2604100

ali ahmad putr mubarak g2604101

molahe putr baleshwar g2604108

nanke putr fateh g2604129

sunil mishra putr vishambhar g2604147

user image Arvind Swaroop Kushwaha - 11 May 2021 at 6:20 PM -

PRD Sirsiya, Shravasti

क्रम संख्या , नॉमिनल रोल रजिस्टर की क्रम संख्या , एप्लीकेशन नं0 , स्वयंसेवक का नाम , पिता का नाम , जिला , जन्मतिथि , मोबाइल नं0

1 , G2705047 , PRD12927 , AWADHA RAM , BANKE LAL , SHRAVASTI , 07/05/1984 , 9559384010

2 , G2705078 , PRD12931 , RAJENDRA KUMAR , CHAUDHARI DAS , SHRAVASTI , 20/06/1982 , 7318454148

3 , G2705095 , PRD13139 , DAYA RAM , NIRGUN PRASAD , SHRAVASTI , 01/12/1969 , 7518936686

4 , G2705087 , PRD14023 , RANGI LAL , RAM SURAT , SHRAVASTI , 01/07/1990 , 9559048281

5 , G2705042 , PRD14416 , SHESH RAM , MOTI RAM , SHRAVASTI , 10/06/1995 , 8953991126

6 , G2705031 , PRD14741 , HARIRAM , BELARAM , SHRAVASTI , 01/02/0983 , 7398572792

7 , G2705059 , PRD14811 , RAVI PARKASH YADAV , KESHAV RAM YADAV , SHRAVASTI , 10/02/2021 , 9451557989

8 , G2705043 , PRD14814 , BABU LAL , DODHE , SHRAVASTI , 01/05/1970 , 9794815970

9 , G2705034 , PRD15834 , KHAJANCHI PARSAD , BELA RAM , SHRAVASTI , 13/04/1985 , 7318281880

10 , G2705033 , PRD17751 , RAJESH KUMAR , RAM FERAN , SHRAVASTI , 18/08/1989 , 8400389451

11 , G2705066 , PRD17800 , GUR DEEN , JHAGRU PRASAD , SHRAVASTI , 06/08/1980 , 9793926614

12 , G2705026 , PRD19085 , RIYAZ AHMAD , ABDUL MUNAF , SHRAVASTI , 01/01/1975 , 8756893985

13 , G2705060 , PRD19485 , RAMAWATI , RMA BARN , SHRAVASTI , 21/07/1989 , 6386131420

14 , G2705101 , PRD19487 , RESHMA RANA , SITA RAM , SHRAVASTI , 14/06/1992 , 9005254452

15 , G2705102 , PRD19490 , USHA DEVI , CHANDRIKA PRASAD , SHRAVASTI , 03/07/1992 , 9569125419

16 , G2705116 , PRD19496 , ANEETA , HANUMAN PRASAD , SHRAVASTI , 01/04/1993 , 9478613392

17 , G2705111 , PRD19556 , DURGA PRASAD , RAM SUMIRAN , SHRAVASTI , 10/12/1976 , 9119608253

18 , G2705112 , PRD20561 , ALI ... AHAMAD , VAJEER , SHRAVASTI , 01/04/1974 , 6387028783

19 , G2705097 , PRD20603 , SATAY PARKESH , TRILIKINATH , SHRAVASTI , 15/10/1979 , 7388820744

20 , G2705011 , PRD20861 , BAGESH KUMAR , BANGALI , SHRAVASTI , 15/02/1978 , 9651815710

21 , G270 , PRD21010 , BABU RAM , GOBRE , SHRAVASTI , 03/06/1964 , 8429869285

22 , G2705599 , PRD21014 , GAYATREE DEVI , BALAK RAM , SHRAVASTI , 16/07/1993 , 6390559490

23 , G2705025 , PRD21019 , MOHAMMAD NASEEM , GULAM MOHAMMAD , SHRAVASTI , 01/01/1975 , 9454550654

24 , G2705126 , PRD21020 , RAM ADHAR , MOTI RAM , SHRAVASTI , 11/05/1968 , 7881184362

25 , G2705002 , PRD21022 , RAM SWROOP , RAM KARAN , SHRAVASTI , 01/01/1971 , 9651026753

26 , G2705065 , PRD21023 , VISHRAM , VRIJLAL , SHRAVASTI , 01/01/1981 , 9794214245

27 , G2705077 , PRD21024 , RAM NIWAS , GAYA PARSAD , SHRAVASTI , 09/07/1986 , 8303863012

28 , G2705069 , PRD21025 , PAPPU , SHYAM SUNDER , SHRAVASTI , 01/07/1978 , 9554236738

29 , G2705074 , PRD21026 , AWDESH KUMAR , SANT RAM , SHRAVASTI , 02/07/1986 , 8765564356

30 , G2705007 , PRD21027 , LALLAN PARSAD , SAHEB DEEN , SHRAVASTI , 04/08/1981 , 7388056209

31 , G2705018 , PRD21038 , MO.SHABBEER , MO. EBRAHIM , SHRAVASTI , 03/06/1970 , 7607522389

32 , G2705092 , PRD21039 , RAJENDRA PARSAD , DEV NARYAN , SHRAVASTI , 03/06/1990 , 8840914128

33 , G2705118 , PRD21040 , KASHI RAM , NANKAO , SHRAVASTI , 02/03/1989 , 7080791123

34 , G2705091 , PRD21041 , HRI NARYAN , RAM DHAN , SHRAVASTI , 05/07/1990 , 8429773144

35 , G2705096 , PRD21043 , GOPI LAL , SANTO , SHRAVASTI , 08/01/1982 , 8172872231

36 , G2705123 , PRD21044 , JITENDRA PARSAD , AYITOO , SHRAVASTI , 10/08/1989 , 8707493081

37 , G2705083 , PRD21045 , VIJAY BAHADUR , KALI PRASAD , SHRAVASTI , 01/01/1987 , 9696765295

38 , G270 , PRD21046 , RAJA RAM , BEAJHU RAM , SHRAVASTI , 02/07/1991 , 7524910266

39 , G2705115 , PRD21047 , MADHAW RAM , BHAUNA RAM , SHRAVASTI , 25/08/1991 , 6386075863

40 , G2705037 , PRD21048 , OM PRAKESH , AADITY PRASAD , SHRAVASTI , 14/09/1969 , 8429818505

41 , G2705030 , PRD21049 , RADHE SAYAM , KANHAIYA LAL , SHRAVASTI , 26/02/1969 , 9452405840

42 , G2705079 , PRD21126 , NARENDR KUMAR SHUKAL , MULK RAJ SHUKLA , SHRAVASTI , 01/08/1969 , 6386108501

43 , G2705071 , PRD21130 , BALESHVAR PARSAD , LAXMAN PARSAD , SHRAVASTI , 01/07/1988 , 7497933175

44 , G2705110 , PRD21133 , POORAN LAL , BUDHAI RAM , SHRAVASTI , 01/03/1972 , 9794496882

45 , G2705004 , PRD21136 , RADHESHYAM , CHAUDHARI DASS , SHRAVASTI , 30/06/1972 , 8953106643

46 , G2705067 , PRD21137 , LALLN PARSAD , NANMOON , SHRAVASTI , 30/06/1976 , 9936427886

47 , G2705054 , PRD21144 , RAM GOPAL , BADRI PARSAD , SHRAVASTI , 05/02/1979 , 9670777911

48 , G270551 , PRD21173 , SALIK RAM , SAHAJ RAM , SHRAVASTI , 01/01/1987 , 2707217375

49 , G2705117 , PRD21175 , SAVAL PARSAD , RAM SUNDER , SHRAVASTI , 25/01/1978 , 7388332070

50 , G2705132 , PRD21176 , MAHADEV , RAM PYARE , SHRAVASTI , 03/11/1969 , 8303720583

51 , G2705049 , PRD21179 , RAJ KISHOR , BABU RAM , SHRAVASTI , 01/01/1971 , 8948069880

52 , G2705131 , PRD21180 , RAM SANEHI , BACHHA RAM , SHRAVASTI , 02/05/1971 , 8429717016

53 , G2705001 , PRD21183 , कैलाश नाथ , RAM CHABILE , SHRAVASTI , 01/03/1970 , 9511460535

54 , G2705009 , PRD21185 , SOBHA RAM , RAM CHABILE , SHRAVASTI , 08/08/1977 , 7080515751

55 , G270 , PRD21652 , ISHVAR DEEN , RAM PARSAD , SHRAVASTI , 05/01/1983 , 9096360061

56 , G2705098 , PRD21653 , JAMUNA PARSAD , BHAGVAN DEEN , SHRAVASTI , 18/01/1969 , 7388052864

57 , G2705103 , PRD21655 , ANNU DEVI , JAGMOHAM , SHRAVASTI , 15/05/1994 , 9621935049

58 , G2705128 , PRD21661 , RAM SUNDER , RAM ADHAR , SHRAVASTI , 15/04/1975 , 8400839909

59 , G2705107 , PRD21664 , RAM DHERAJ , KANDHAILAL , SHRAVASTI , 05/07/1969 , 7518963369

60 , G2705108 , PRD24208 , RAM LAGAN , CHOTE LAL , SHRAVASTI , 01/01/1969 , 9918997459

61 , G2705080 , PRD24326 , RAJNIKANT , HANU MAN PARSAT , SHRAVASTI , 01/01/1974 , 9956994482

62 , G2705119 , PRD25506 , YOGENDAR PRASAD , RAM SEWAK , SHRAVASTI , 17/01/1981 , 7518394727

63 , G2705068 , PRD25730 , SAROJ KUMAR , VEERBAL , SHRAVASTI , 05/04/1984 , 8174053383

64 , G2705133 , PRD25732 , SAKTU RAM , MANI RAM , SHRAVASTI , 13/12/1970 , 9956200618

65 , G2705084 , PRD25734 , RAM SOORAT , POORAN , SHRAVASTI , 03/05/1983 , 9696573407

66 , G2705023 , PRD25737 , BADE LAL , RAM NARESH , SHRAVASTI , 09/08/1978 , 9579729521

67 , G270 , PRD25740 , BACCHA RAM , MAIKU LAL , SHRAVASTI , 19/05/1969 , 7080551540

68 , G2705044 , PRD25745 , AMIRKA PARSAD , HRIDAR , SHRAVASTI , 13/06/1970 , 9328344570

69 , G2705039 , PRD25747 , RAJ KUMAR , KALI PARSAD , SHRAVASTI , 01/01/1970 , 9651829018

70 , G2705038 , PRD25758 , VIJAY BAHADUR , RAM LAKHAN , SHRAVASTI , 01/03/1970 , 8953493268

71 , G2705129 , PRD25990 , SUKH RAM , BABU RAM , SHRAVASTI , 01/08/1989 , 9336461018

72 , G2705134 , PRD26011 , OM PARKASH , DWARIKA PRASAD , SHRAVASTI , 01/02/1970 , 9559349251

73 , G2705088 , PRD26019 , ANGNU RAM , AMR BAHADUR , SHRAVASTI , 12/05/1985 , 8454904686

74 , G2705094 , PRD26028 , RAJ KUMAR , FIREE LAL , SHRAVASTI , 13/07/1985 , 8429209673

75 , G2705057 , PRD26034 , RAM KEWAL , JAGAN NATH , SHRAVASTI , 06/07/1967 , 9569028068

76 , G2705576 , PRD26039 , ANEESA DEVI , CHHEDU RAM , SHRAVASTI , 01/05/1988 , 6393179075

77 , G2705048 , PRD26050 , DAYA RAM GUPTA , RAM SUMRAN , SHRAVASTI , 02/02/1969 , 7570922463

78 , G2705124 , PRD26060 , ARVIND KUMAR , SAYAM RAJ , SHRAVASTI , 16/05/1970 , 9794738386

79 , G2705050 , PRD26070 , MANI RAM , RAM NARESH , SHRAVASTI , 16/05/1970 , 7607260565

80 , G2705046 , PRD26101 , MISHRI LAL , SANT RAM , SHRAVASTI , 12/10/1974 , 7392150727

81 , G2705017 , PRD28087 , JAGRAM , MAHADEV , SHRAVASTI , 06/08/1975 , 7526024082

82 , G2705012 , PRD28105 , RAM FERAN , RAM PRASAD , SHRAVASTI , 12/02/1969 , 0000000000

83 , G2705063 , PRD28349 , DAULAT RAM , PARAG DATT , SHRAVASTI , 15/08/1970 , 9559861602

84 , G270 , PRD28353 , CHOTE LAL , SAYAM LAL , SHRAVASTI , 01/07/1969 , 9190921135

85 , G2705099 , PRD28572 , SOBHA RAM , BELA RAM , SHRAVASTI , 01/01/1985 , 9918798906

86 , G2705019 , PRD28750 , AMAR NATH , SITA RAM , SHRAVASTI , 02/11/1972 , 0000000000

87 , G2705114 , PRD28754 , JILEDAR , MAHADEV , SHRAVASTI , 01/03/1969 , 9838900268

88 , G2705056 , PRD28783 , SATAY RAM , KAMTA PRASAD , SHRAVASTI , 15/08/1980 , 8756144969

89 , G2705086 , PRD28791 , MO NAJEER , VARIS AHMAD , SHRAVASTI , 01/07/1970 , 7268062952

90 , G2705010 , PRD28802 , RAM CHANDER , GANGA RAM , SHRAVASTI , 25/07/1975 , 8756303350

91 , G2705052 , PRD28809 , SATAY NARAYAN , FAKIRE , SHRAVASTI , 05/12/1963 , 7510088478

92 , G2705085 , PRD28816 , KHAJANCHI SONI , PRASURAM URF NANHE LAL , SHRAVASTI , 01/05/1970 , 2163320877

93 , G2705015 , PRD28877 , RAM UJAGAR , RAM NARESH , SHRAVASTI , 01/06/1970 , 7380454021

94 , G2705036 , PRD28908 , KALI SANKAR , DATA RAM , SHRAVASTI , 12/07/1977 , 7054048700

95 , G2705035 , PRD29335 , PRAHLAD , RAM FERAN , SHRAVASTI , 01/07/1976 , 9696697570

96 , G2705122 , PRD29371 , ABDUL RAHMAN , MO NAJEER , SHRAVASTI , 26/01/1995 , 0000000000

97 , G2705109 , PRD29387 , RAM PRASAD , LAL BAHADUR , SHRAVASTI , 12/07/1970 , 0000000000

98 , G2705070 , PRD29420 , RANJIT , SAMBHU , SHRAVASTI , 01/01/1970 , 9076995814

99 , G270 , PRD29429 , MAHADEV PRASAD , THAGGU , SHRAVASTI , 02/09/1988 , 0000000000

100 , G2705073 , PRD29452 , SAHDEV PRASAD , FOOL KARAN , SHRAVASTI , 20/08/1984 , 9721712234

101 , G2705053 , PRD29493 , RADHE SAYAM , RAM PRAGHAT , SHRAVASTI , 04/02/1974 , 0000000000

102 , G2705121 , PRD29497 , RAM GOPAL , JUGMAM , SHRAVASTI , 05/01/1989 , 8840837550

103 , G2705081 , PRD29499 , BADLU RAM , MANGAL PRASAD , SHRAVASTI , 10/05/1980 , 0000000000

user image Molhe Prasad

Very good

Tuesday, May 11, 2021
user image Shaukat Ali

Bahut acchha lga.

Tuesday, May 11, 2021
user image Arvind Swaroop Kushwaha - 11 May 2021 at 6:09 PM -

prd jamunaha shravasti

क्रम संख्या , नॉमिनल रोल रजिस्टर की क्रम संख्या , एप्लीकेशन नं0 , स्वयंसेवक का नाम , पिता का नाम , जिला , जन्मतिथि , मोबाइल नं0

1 , G2704105 , PRD11856 , PRADEEP KUMAR PANDEY , RAM KARAN , SHRAVASTI , 15/12/1982 , 9305029682

2 , G2704012 , PRD11940 , SAJJAD ALI , SRWAR ALI , SHRAVASTI , 03/07/1972 , 9335507340

3 , G2704023 , PRD13192 , BANSHI DHAR YADAV , SANTRAM YADAV , SHRAVASTI , 28/11/1964 , 9918229468

4 , G2704040 , PRD13193 , LAL BAHADUR , SAVALI PARSAD , SHRAVASTI , 31/07/1973 , 9984693769

5 , G2704071 , PRD13195 , RAM CHARN SINGH , TALUK DAR SINGH , SHRAVASTI , 10/01/1972 , 7408949406

6 , G2704055 , PRD13197 , PRITHIVI PAL SINGH , BECHELAL SINGH , SHRAVASTI , 15/06/1975 , 7379690230

7 , G2704031 , PRD14743 , AMBIKA PARSAD , HRIRAM , SHRAVASTI , 10/10/1970 , 9721533713

8 , G2704079 , PRD14822 , SHIV KUMAR VERMA , LAL JI VERMA , SHRAVASTI , 15/08/1985 , 7408321877

9 , G2704056 , PRD15370 , PESH KAR , RAMJASH , SHRAVASTI , 05/05/1968 , 9918857985

10 , G2704081 , PRD15553 , RAM KRISHAN VERMA , MOTI LAL , SHRAVASTI , 12/02/1965 , 9330508662

11 , G2704063 , PRD15555 , RAM KUMAR , RAM FAKERE , SHRAVASTI , 20/05/1968 , 7800023084

12 , G2704063 , PRD15555 , RAM KUMAR , RAM FAKERE , SHRAVASTI , 20/05/1968 , 7800023084

13 , G2704046 , PRD15556 , MUMTAJ ALI , LALLU , SHRAVASTI , 25/08/1969 , 7483641410

14 , G2704124 , PRD15558 , NSHEEM KHAN , TASLEEM , SHRAVASTI , 10/09/1982 , 7355022184

15 , G2704123 , PRD15559 , HANS ... RAJ VERMA , SURENDRA VERMA , SHRAVASTI , 01/01/1973 , 9838598965

16 , G2704125 , PRD15560 , VIDYA RAM , RAM PARTAP , SHRAVASTI , 02/11/1972 , 9918722217

17 , G2704054 , PRD15822 , RAJA RAM , SIYA RAM , SHRAVASTI , 05/05/1972 , 9648190850

18 , G2704050 , PRD15824 , CHHVI LAL , SHREE PATAN DEEN , SHRAVASTI , 03/07/1977 , 9721375520

19 , G2704118 , PRD15828 , MOOL CHAND , KAILAS PARTAP , SHRAVASTI , 02/12/1989 , 7800372013

20 , G2704110 , PRD15835 , SHAREEF KHAN , HAFFI JULLA KHAN , SHRAVASTI , 05/07/1969 , 6391229899

21 , G2704068 , PRD15836 , BABU RAM PATHAK , KUNNU PATHAK , SHRAVASTI , 28/07/1969 , 9161887590

22 , G2704121 , PRD15924 , ONKAR SINGH , LAKSHAMAN SINGH , SHRAVASTI , 03/09/1967 , 7379019141

23 , G2704095 , PRD16228 , TEJ RAM CHAKRVARTI , POSU RAM , SHRAVASTI , 18/08/1982 , 7705092214

24 , G2704108 , PRD16229 , NAFEES AHMAD , JABBAR AHAMAD , SHRAVASTI , 09/07/1989 , 9919141625

25 , G2704015 , PRD16230 , PAHLWAN PARSAD , BADE LAL , SHRAVASTI , 30/12/1968 , 7518985410

26 , G2704107 , PRD16377 , VIJAY KUMAR , MISHRI LAL , SHRAVASTI , 05/07/1987 , 9648194761

27 , G2704099 , PRD17785 , SURESH KUMAR , BACHHRAJ , SHRAVASTI , 13/07/1990 , 9648685705

28 , G2704097 , PRD17791 , KAMLA DEVI , SURESH KUMAR , SHRAVASTI , 01/08/1988 , 9628388207

29 , G2704073 , PRD18019 , CHHAVI LAL , BHALLAR , SHRAVASTI , 04/09/1978 , 9651123620

30 , G2704111 , PRD18036 , SWAMIDAYAL , MATHURA , SHRAVASTI , 11/06/1972 , 9648485609

31 , G2704010 , PRD18282 , BUDHI SAGAR , RAM PALTAN , SHRAVASTI , 15/07/1970 , 7235966301

32 , G2704096 , PRD19444 , SANJU DEVI , SADHU SARAN , SHRAVASTI , 18/06/1987 , 9839575420

33 , G2704072 , PRD19581 , RADHE SAYAM , SUNDAR LAL , SHRAVASTI , 25/12/1971 , 8881084207

34 , G2704009 , PRD20315 , BHIKHARI LAL , CHUNNILAL , SHRAVASTI , 07/06/1970 , 9026232826

35 , G2704003 , PRD20318 , RADHESHYAM , RAM AVTAURA , SHRAVASTI , 10/06/1974 , 8601209451

36 , G2704018 , PRD20319 , INDAL , MOHAN , SHRAVASTI , 01/07/1969 , 8429898518

37 , G2704116 , PRD21005 , KESHAV RAM , SOMAI PARSAD , SHRAVASTI , 01/07/1985 , 7081458514

38 , G2704112 , PRD21407 , MANI RAM , DAYA RAM , SHRAVASTI , 25/12/1972 , 8853928057

39 , G2704089 , PRD25671 , BANSI LAL , MALTI PRASAD , SHRAVASTI , 01/07/1963 , 8957869325

40 , G2704037 , PRD26222 , DURGESH KUMAR , MAIKU LAL , SHRAVASTI , 01/01/1970 , 8795038193

41 , G2704111 , PRD26225 , VIKARM YADAV , RAM VILASH YADAV , SHRAVASTI , 15/12/1968 , 7232991632

42 , G2704126 , PRD26230 , ASHOK KUMAR , RAM KUMAR VERMA , SHRAVASTI , 01/12/1969 , 9580577782

43 , G2704069 , PRD26232 , RAM SURAT , NANKAU , SHRAVASTI , 15/06/1970 , 8795337717

44 , G2704098 , PRD26235 , MANOHAR LAL , TRIBHUWAN DATT , SHRAVASTI , 01/08/1982 , 9454893168

45 , G2704101 , PRD26238 , KRISHNA NAND , RAM CHANDAR , SHRAVASTI , 17/07/1989 , 9721212704

46 , G2704045 , PRD26239 , RAMESH KUMAR , LAKSHU RAM , SHRAVASTI , 10/04/1982 , 9628716934

47 , G2704076 , PRD26241 , CHATRPAL , BALDEV PARSAD , SHRAVASTI , 01/01/1975 , 9696841726

48 , G2704007 , PRD26642 , RAM KUMAR , DUKHI RAM , SHRAVASTI , 01/01/1974 , 0000000000

49 , G2704056 , PRD26857 , KANDHAI LAL , RAM JAS , SHRAVASTI , 01/10/1966 , 9918857955

50 , G2704008 , PRD27169 , SAYAM MANOHAR , JAGDISH PRASAD , SHRAVASTI , 05/03/1973 , 6392562014

51 , G2704115 , PRD27183 , MANO RAM , PARSU RAM , SHRAVASTI , 05/03/1980 , 6392562014

52 , G2704092 , PRD27495 , MURLI PARSAD , RAM CHANDER , SHRAVASTI , 15/06/1976 , 8887506302

53 , G2704047 , PRD27526 , SHIV PARSAD , HOLI RAM , SHRAVASTI , 01/01/1977 , 8795442454

54 , G2704106 , PRD27536 , SHIV KUMAR PATHAK , SATYANARYAN PATHAK , SHRAVASTI , 30/11/1976 , 7263008359

55 , G2704066 , PRD27806 , SHREE PAL , DUBAR PRASAD , SHRAVASTI , 01/02/1970 , 9648135670

56 , G2704016 , PRD27855 , RAM SURAT , RAM JIYAVAN , SHRAVASTI , 05/07/1971 , 9670493913

57 , G2704070 , PRD27861 , RATI RAM , RAM NATH , SHRAVASTI , 01/07/1970 , 9161608640

58 , G2704052 , PRD27868 , SHREE NIWAS , KAILASH NATH , SHRAVASTI , 01/01/1997 , 7310181724

59 , G2704017 , PRD27960 , SAYAM BIHARI , SALAIK RAM , SHRAVASTI , 28/04/1982 , 0000000000

60 , G2704022 , PRD28065 , RAM SEWAK , RAGHUVEER , SHRAVASTI , 20/10/1967 , 9369645042

61 , G2704122 , PRD28081 , VIMAL KUMAR , AMBIKA PRASAD , SHRAVASTI , 01/07/1973 , 0000000000

62 , G2704030 , PRD28364 , ISLAM URF ABRAR , LALU KHAN , SHRAVASTI , 01/01/1969 , 0000000000

63 , G2704094 , PRD28428 , YAR MOHAMMAD , JABBAR KHAN , SHRAVASTI , 20/08/1980 , 9517412665

64 , G2704033 , PRD28469 , NANAK SARAN , VIRJ LAL , SHRAVASTI , 01/01/1968 , 9569365703

65 , G2704062 , PRD28476 , RAM NIWAS , RAM LAUTAN , SHRAVASTI , 05/04/1974 , 7565939214

66 , G2704024 , PRD28505 , TILAK RAM , MEWA LAL , SHRAVASTI , 02/02/1976 , 9569600439

67 , G2704114 , PRD28516 , RAM SEWAK , DHARKHAN , SHRAVASTI , 10/02/1969 , 6387987260

68 , G2704035 , PRD29161 , LAL JI PRASAD , BECHAN LAL , SHRAVASTI , 09/09/1971 , 9026199382

69 , G2704117 , PRD29316 , VIDYA RAM , SURJA PARASAD , SHRAVASTI , 20/11/1967 , 9670602038

70 , G2704044 , PRD29436 , SWAMI DAYAL , RADHE SAYAM , SHRAVASTI , 16/09/1982 , 7007208710

user image Arvind Swaroop Kushwaha - 11 May 2021 at 5:58 PM -

prd hariharpur rani, shravasti

s.n. code number , feeding number , स्वयंसेवक का नाम , पिता का नाम , जिला , जन्मतिथि , मोबाइल नं0

1 G2702131 , PRD7236 , PRAMOD KUMAR SHARMA , ASHWINI KUMAR SHARMA , SHRAVASTI , 20/09/1990 , 7409025222

2 G2702109 , PRD8945 , KRISHNA KUMAR SHARMA , ASHWANEE KUMAR SHARMA , SHRAVASTI , 01/07/1987 , 7895185878

3 G2702135 , PRD11369 , MAHENDRA PRATAP GUPTA , VIDESHI PRASAD , SHRAVASTI , 05/10/1968 , 7234036577

4 G2702059 , PRD12787 , VINOD KUMAR , GIRIDHARI LAL , SHRAVASTI , 15/04/1963 , 9648839752

5 G2702104 , PRD12802 , RAKESH KUMAR TIWARI , KANHAYAI LAL TIWARI , SHRAVASTI , 25/10/1972 , 8601536563

6 G2702038 , PRD12857 , ESRAFIL , MAHBOOB , SHRAVASTI , 16/06/1974 , 8874387686

7 G2702132 , PRD13199 , RAM FERAN , GANGA RAM , SHRAVASTI , 08/07/1964 , 6390331225

8 G2702004 , PRD14479 , AMIRKA PRASAD , BABU RAM , SHRAVASTI , 30/01/1968 , 7310210871

9 G2702137 , PRD14485 , VISRAM SAGAR , RAM PRASAD , SHRAVASTI , 28/07/1963 , 9005330565

10 G2702105 , PRD15832 , SHESH RAJ , MOLHE RAM , SHRAVASTI , 01/01/1990 , 8878574852

11 G2702138 , PRD17653 , BACHH ARAM , LALLAN PRASAD , SHRAVASTI , 20/08/1967 , 9670685390

12 G2702084 , PRD17736 , VISESWAR PRASAD , RAM PEYARE , SHRAVASTI , 01/06/1968 , 9839828551

13 G2702092 , PRD18873 , RACHHA RAM , RAM DULAE , SHRAVASTI , 04/06/1993 , 9721419505

14 G2702127 , PRD18876 , KUNNE RAM , RMA PAYARE , SHRAVASTI , 26/07/1969 , 9140827145

15 G2702088 , PRD19241 , AJAY KUMAR PANDAY , KAILASH NATH ... PANDAY , SHRAVASTI , 20/05/1969 , 9161939166

16 G270 , PRD19244 , MO ANWAR , ALI AHAMAD , SHRAVASTI , 15/06/1965 , 9792576181

17 G2702129 , PRD19245 , DESHRAJ SHARMA , RAM FERAN , SHRAVASTI , 01/07/1974 , 9565541659

18 G2702011 , PRD19270 , SATAY DEV MISHRA , KRISHNA NANDA , SHRAVASTI , 10/03/1969 , 7607733629

19 G2702115 , PRD19271 , TULSI RAM , RAGHU NATH PRASAD , SHRAVASTI , 19/10/1967 , 8858877212

20 G2702095 , PRD19272 , GANGA RAM , RAM DEEN , SHRAVASTI , 09/04/1977 , 7800033651

21 G2702051 , PRD19273 , JAGDEESH KUMAR , KANHAIYA LAL , SHRAVASTI , 04/01/1985 , 8874362003

22 G3702057 , PRD19274 , KUWAR BAHADUR , BABADEEN , SHRAVASTI , 10/05/1986 , 9728551079

23 G2702108 , PRD19275 , LAL BAHADUR , SANGAM LAL , SHRAVASTI , 02/08/1990 , 9554787129

24 G2702112 , PRD19425 , PRAMOD KUMAR , SURESH KUMAR , SHRAVASTI , 10/08/1973 , 9582353124

25 G2702006 , PRD19426 , RAGHAV RAM , CHEDI RAM , SHRAVASTI , 01/01/1975 , 8004180106

26 G2702058 , PRD19428 , RAJIT RAM , TIRATH RAM , SHRAVASTI , 02/07/1977 , 8948575078

27 G2702110 , PRD19430 , RAJ KISHOR , CHHOTE LAL , SHRAVASTI , 10/04/1988 , 8874312464

28 G2702047 , PRD19433 , RAM VILAS , MUNNA LAL , SHRAVASTI , 01/01/1980 , 8081164344

29 G2702056 , PRD19434 , RAM NARESH , DEVTA PARSAD , SHRAVASTI , 08/10/1985 , 9918060743

30 G2702107 , PRD19435 , RAMESH KUMAR , JANKI PARSAD , SHRAVASTI , 14/03/1986 , 9628263641

31 G2702080 , PRD19436 , SAEVESH KUMAR , RAM DATTA , SHRAVASTI , 24/08/1985 , 9919941031

32 G2702049 , PRD19437 , VISHMBHAR LAL , LAL BAHADUR , SHRAVASTI , 01/05/1981 , 9839248770

33 G2702007 , PRD19439 , UMESH CHANDA , MAHADEV , SHRAVASTI , 29/12/1969 , 9838179440

34 G2702010 , PRD19440 , BECHAI LAL , NANMOON , SHRAVASTI , 01/01/1972 , 7607883548

35 G2702123 , PRD19441 , SAHAJ RAM , स्वामी DAYAL , SHRAVASTI , 01/10/1965 , 9554447558

36 G2702091 , PRD19443 , AMBAR LAL , BRIJ LAL URF BRIJA , SHRAVASTI , 21/12/1968 , 9838602275

37 G2702083 , PRD19515 , ARUN KUMAR , SATAY DEV , SHRAVASTI , 31/03/1970 , 9559502807

38 G2702008 , PRD20186 , BUDHI LAL MISHRA , RAM FERN , SHRAVASTI , 01/03/1967 , 7524871665

39 G2701021 , PRD20771 , RAM PRAHLAD , RAM PYARE , SHRAVASTI , 03/05/1969 , 9044023598

40 G2702135 , PRD20947 , SAJAN KUMAR , FATE BAHADUR , SHRAVASTI , 27/11/1969 , 7232957126

41 G2702128 , PRD20960 , POONAM DEVI , VISHWA NATH , SHRAVASTI , 01/01/1989 , 9956663951

42 G2702013 , PRD21012 , CHANDR BHANU , RAM DHARKHAN , SHRAVASTI , 15/01/1970 , 7379022209

43 G2702019 , PRD21841 , ASRFI LAL , JHHAGRU PRASAD , SHRAVASTI , 12/08/1969 , 888165278

44 G2602105 , PRD23250 , KRISHNA WATI , RAM SURAT , SHRAVASTI , 29/02/1976 , 8795346631

45 G2702111 , PRD25396 , VIJAY PAL SINGH , DHARM RAJ SINGH , SHRAVASTI , 15/01/1986 , 6392460595

46 G2702034 , PRD25720 , BACCHA RAM , LILADHAR , SHRAVASTI , 15/12/1974 , 9919821571

47 G2702022 , PRD25724 , RAJ MANI , BABU RAM , SHRAVASTI , 01/04/1962 , 9721989743

48 G2702096 , PRD25750 , HEMARAJ , PUTTI LAAL , SHRAVASTI , 15/05/1972 , 8756952415

49 G2702001 , PRD26093 , RAMESAWAR PARSAD SHUKLA , SHREE RAM SHUKLA , SHRAVASTI , 05/01/1968 , 8127261930

50 G2702055 , PRD26109 , BALRAM , BINDARA PRASAD URF JHALUSE , SHRAVASTI , 01/10/1967 , 9838943920

51 G2702015 , PRD26152 , BELA SINGH , SHREE PAL SINGH , SHRAVASTI , 04/06/1969 , 7379771433

52 G2702134 , PRD27153 , SANJAY KUMAR TIWARI , VIRENDR ANATH , SHRAVASTI , 05/08/1988 , 7524074423

53 G2702081 , PRD27160 , DAWRIKA PRASAD , KURKUT PRASAD , SHRAVASTI , 05/06/1986 , 6387446126

54 G2702060 , PRD27421 , MANGAL PRASAD , KALIKA PRASAD , SHRAVASTI , 05/01/1977 , 9554704990

55 G2702052 , PRD27492 , ARVIND KUMAR TIWARI , FATEBAHADUR , SHRAVASTI , 01/07/1978 , 8874019473

56 G2702042 , PRD27522 , MO AMEEN , M0 YAKUB , SHRAVASTI , 14/05/1972 , 7388330486

57 G2702124 , PRD27754 , AJAY KUMAR , RAM GAOPAL , SHRAVASTI , 05/11/1970 , 9473738579

58 G2702062 , PRD27865 , ANNI LAL , NANKAU PRASAD , SHRAVASTI , 01/01/1968 , 8009927276

59 G2702041 , PRD28494 , VINDESWARI PRASAD , RAM SAGAR , SHRAVASTI , 30/06/1976 , 7897201264

60 G2702119 , PRD28929 , JAG RAM , RAINA BABU , SHRAVASTI , 01/01/1977 , 9554230125

61 G2702065 , PRD28943 , LAXMI NARAYAN , RAM FERAN , SHRAVASTI , 15/03/1977 , 9628819259

62 G2702068 , PRD29227 , SURENDRA NATH , TIKORI LAL , SHRAVASTI , 15/06/1976 , 9918948527

63 G2702061 , PRD29233 , YOUGRAJ , RAM FERAN , SHRAVASTI , 16/08/1976 , 7234035643

64 G2702125 , PRD29280 , KALPRAM , BHULI , SHRAVASTI , 19/09/1969 , 8948953828

65 G2702102 , PRD29443 , KUWARE , BATOHI , SHRAVASTI , 01/05/1975 , 9628331218

user image Arvind Swaroop Kushwaha - 10 May 2021 at 4:50 PM -

prd gilola shravasti

क्रम संख्या नॉमिनल रोल रजिस्टर की क्रम संख्या एप्लीकेशन नं0 स्वयंसेवक का नाम पिता का नाम जिला जन्मतिथि मोबाइल नं0 मंडल स्तर पर की गयी कार्यवाही की स्थिति मुख्यालय स्तर पर की गयी कार्यवाही की स्थिति




19 G2701003 PRD12055 AWDHESH KUMAR GUPTA CHHOTE LAL SHRAVASTI 01/09/1970 0000000000 Pending Pending

17 G2701004 PRD12049 RAM ABHILAKH RAM AASRE SHRAVASTI 01/02/1966 8528543693 Pending Pending

38 G2701006 PRD14444 BABA DEEN FAKEER MOHAMMED SHRAVASTI 15/11/1972 9580150367 Pending Pending

81 G2701007 PRD25216 KAMTA PRASAD RAM DULARE SHRAVASTI 05/03/1970 9918249251 Pending Pending

10 G2701012 PRD11654 NARENDRA KUMAR RAM CHABEEL SHRAVASTI 03/11/1966 9125097920 Pending Pending

83 G2701015 PRD26874 RAM NARESH LAXMAN PRASAD SHRAVASTI 01/11/1967 8052796480 Pending Pending

30 G2701021 PRD14181 HANUMAN PARSAD AYODHYA PRASAD SHRAVASTI 03/01/1965 8874164440 Pending Pending

34 G2701023 PRD14187 HARIRAM RAAM DAS SHRAVASTI 01/07/1965 9554687761 Pending Pending

68 G2701027 PRD15383 VRIKSHRAM RAM PYARE SHRAVASTI 20/07/1995 8052897826 Pending Pending

78 G2701028 PRD21021 RAM UDIT BAAUR SHRAVASTI 03/04/1964 8052816875 Pending Pending

18 G2701030 PRD12051 CHHABI ... LAL RAMDAS SHRAVASTI 01/09/1971 9554901305 Pending Pending

25 G2701031 PRD13445 VINAY KUMAR SINGH VIJAY BAHADUR SINGH SHRAVASTI 01/01/1967 9548634584 Pending Pending

26 G2701032 PRD13446 RAM CHARAN URF SANTRAM SAHAJ RAM SHRAVASTI 01/02/1967 9793571242 Pending Pending

39 G2701033 PRD14447 AALAM KHAN BASANT KHAN SHRAVASTI 01/01/1972 9792164374 Pending Pending

44 G2701042 PRD14877 SAYAM LAL CHELA RAM SHRAVASTI 30/03/1963 8960918493 Pending Pending

49 G2701051 PRD14924 SHIV GIRI GOSWAMI JHALTAN GIRI SHRAVASTI 21/11/1966 9076828470 Pending Pending

28 G2701052 PRD13448 RFEEK AHAMAD DHANNI BAJ SHRAVASTI 11/08/1970 7398158794 Pending Pending

35 G2701057 PRD14188 DATA RAM CHOTE LAL SHRAVASTI 05/09/1972 8953258721 Pending Pending

42 G2701058 PRD14808 RAM SUDHAVAN SAHAJ RAM SHRAVASTI 20/10/1975 9793911787 Pending Pending

89 G2701061 PRD28460 RAM RASILE URF RAJENDRA MOHAN LAL SHRAVASTI 10/07/1972 6390663682 Pending Pending

82 G2701067 PRD25728 ASHOK KUMAR TIWARI SHOBHA RAM TIWARI SHRAVASTI 10/08/1967 9838115990 Pending Pending

65 G2701068 PRD15367 NAVI MOHMMAD SAFI MOHMMAD SHRAVASTI 08/10/1975 9455043109 Pending Pending

43 G2701069 PRD14876 BUDHI SAGAR DAYARAM SHRAVASTI 20/07/1965 8874024894 Pending Pending

70 G2701076 PRD17813 SARVAN KUMAR PARAS NATH SHRAVASTI 20/02/1973 9129450087 Pending Pending

75 G2701088 PRD20613 DAMODAR NATHA SHARMA NARSINGH NARAYAN SHRAVASTI 15/11/1969 9792260651 Pending Pending

12 G2701091 PRD12002 JILEDAR TIWARI RAMRAJ TIWARI SHRAVASTI 02/07/1970 7080410394 Pending Pending

94 G2701092 PRD29144 INDAL KUMAR JAGDEV SHRAVASTI 25/01/1968 7275030648 Pending Pending

54 G2701094 PRD15049 ANJANI KUMAR SHUKLA ANIRUDH PRASAD SHRAVASTI 01/01/1972 8417051810 Pending Pending

93 G2701100 PRD29036 SHIV SANKAR LAL ANGNU RAM SHRAVASTI 15/08/1972 7310261304 Pending Pending

31 G2701107 PRD14182 SOBHA RAM NANHU SHRAVASTI 20/09/1979 6391850052 Pending Pending

23 G2701110 PRD13200 VIJAY RAJ JHAGRU PRASAD SHRAVASTI 01/03/1977 7388488250 Pending Pending

46 G2701112 PRD14879 RAJENDRA PRASAD HANUMAN PRASAD SHRAVASTI 20/08/1978 9792119281 Pending Pending

20 G27011134 PRD12057 FAUJDAR DUKHRAM SHRAVASTI 01/07/1966 7043567043 Pending Pending

87 G2701116 PRD28411 MITTHU LAL RAM FERAN SHRAVASTI 01/01/1975 9792260651 Pending Pending

45 G2701120 PRD14878 VIVEKANANDA RAM SAGAR SHRAVASTI 30/12/1980 8881953644 Pending Pending

21 G2701121 PRD12765 SHIV SARAN LAL YADAV SANTRAM SHRAVASTI 01/05/1965 9648760193 Pending Pending

51 G2701122 PRD15046 VIJAY KUMAR RAMESWAR PRASAD SHRAVASTI 02/08/1978 9792759247 Pending Pending

40 G2701124 PRD14449 JILEDAR DHOKHE ALI SHRAVASTI 02/01/1965 7317601227 Pending Pending

73 G2701125 PRD20317 TIRATH RAM GURU PARSAD SHRAVASTI 05/06/1974 9792260651 Pending Pending

5 G2701127 PRD11646 ALI AHMAD CHATHAN ALI SHRAVASTI 12/07/1975 8400005034 Pending Pending

11 G2701128 PRD11656 DILIP KUMAR RADHE SHYAM SHRAVASTI 05/11/1975 9305021795 Pending Pending

16 G2701129 PRD12046 DHRAMRJ MAURIY DEENANATH SHRAVASTI 19/01/1976 6391609675 Pending Pending

91 G2701130 PRD28895 BINDRA PRASAD MAHADEV PRASAD SHRAVASTI 30/07/1976 8382929438 Pending Pending

60 G2701131 PRD15064 TILAK RAM RAM SUNDR SHRAVASTI 01/06/1974 7379998048 Pending Pending

62 G2701132 PRD15364 SATAGURU LALLU RAM SHRAVASTI 01/02/1966 6389581374 Pending Pending

66 G2701135 PRD15368 RAM KHELAVAN CHANGURA PARSAD SHRAVASTI 15/01/1980 8601556378 Pending Pending

48 G2701136 PRD14923 RAMESH CHANDRA RAM MANORTH SHRAVASTI 10/08/1971 9918174763 Pending Pending

9 G2701138 PRD11652 MATA PRASAD JHAGARU LAL SHRAVASTI 20/05/1988 9026812091 Pending Pending

52 G2701141 PRD15047 TIRATHRAM SAHAJ RAM SHRAVASTI 01/01/1974 9519448852 Pending Pending

95 G2701148 PRD29153 RADHE SAYAM RAM KKHELAWAN SHRAVASTI 01/07/1966 9415586422 Pending Pending

86 G2701161 PRD27937 SAYAM SUNDAR RAM KHELAWAN SHRAVASTI 01/09/1972 7388034540 Pending Pending

80 G2701162 PRD21125 SUGARIV KUMAR LALU PARSAD SHRAVASTI 07/01/1963 9918746717 Pending Pending

15 G2701164 PRD12040 JAGDAMBA PRASAD PATHAK RAM DHIRAJ SHRAVASTI 01/04/1972 9793376688 Pending Pending

77 G2701165 PRD21017 BITTI DEVI SUNEEL KUMAR SHRAVASTI 24/12/1988 9559822916 Pending Pending

61 G2701167 PRD15065 RAM KARAN UADYRAJ SHRAVASTI 01/07/1987 9621125655 Pending Pending

85 G2701168 PRD27864 MAHESH KUMAR GOVIND PARSAD SHRAVASTI 15/08/1986 9651678424 Pending Pending

63 G2701170 PRD15365 SHOBHA RAM CHHABBA RAM SHRAVASTI 08/03/1985 9519450317 Pending Pending

24 G2701171 PRD13444 RAM NARYAN JAGGU SHRAVASTI 01/01/1985 9892403119 Pending Pending

96 G2701173 PRD29613 BAKE LAL PANDAY DAL SOBHA PANDAY SHRAVASTI 30/06/1978 8795883015 Pending Pending

53 G2701177 PRD15048 ARJUN PRASAD RAM SUMIRAN SHRAVASTI 15/01/1985 9369384897 Pending Pending

36 G2701182 PRD14190 LAV KUSH NAMOO PARSAD SHRAVASTI 07/12/1986 9935345036 Pending Pending

22 G2701183 PRD12870 ASHOK KUMAR PURNMACI SHRAVASTI 10/08/1985 7310096930 Pending Pending

7 G2701184 PRD11649 KANDHAI LAL RAM KABIR SHRAVASTI 25/06/1982 9919197756 Pending Pending

8 G2701185 PRD11651 KANDHAI LAL SUBEDAAR SHRAVASTI 16/08/1982 9336746738 Pending Pending

56 G2701185 PRD15051 SUBHAS CHAND RAM LAL SHRAVASTI 09/09/1988 9919514812 Pending Pending

59 G2701185 PRD15063 RAM KHELAVAN CHANGUR SHRAVASTI 01/01/1978 8601556378 Pending Pending

2 G2701188 PRD11589 PANKAJ KUMAR VERMA DUDHI SAGAR VERMA SHRAVASTI 01/05/0188 8318991187 Pending Pending

88 G2701191 PRD28441 SUNEETA DEVI RAMESH KUMAR SHRAVASTI 17/03/1992 8052283941 Pending Pending

71 G2701192 PRD19445 JYOTI CHAKARWARTI SWAMI DAYAL SHRAVASTI 15/08/1990 7524818275 Pending Pending

27 G2701193 PRD13447 KRISHN BAHADUR PATHAK AYODYA PARSAD PATHAK SHRAVASTI 01/01/1984 9453927821 Pending Pending

64 G2701194 PRD15366 RASOOL MOHMAD MO SAFI SHRAVASTI 05/02/1979 6394987568 Pending Pending

41 G2701196 PRD14746 SALEEM NANKAU SHRAVASTI 05/02/1972 9621712435 Pending Pending

74 G2701199 PRD20562 SUNIL KUMAR SHREE RAM CHNDRA SHRAVASTI 20/07/1993 9580891232 Pending Pending

33 G2701200 PRD14184 CHHEDAN LAL RAM PARGHAT SHRAVASTI 15/06/1964 7460986271 Pending Pending

29 G2701202 PRD13848 VIJAY KUMAR HEERA LAL SHRAVASTI 09/01/1972 9648222103 Pending Pending

32 G2701204 PRD14183 JAY PRAKASH VISESAR PRASAD SHRAVASTI 05/04/1976 8601388996 Pending Pending

58 G2701206 PRD15062 RAM KUMAR YADAV PACHU SHRAVASTI 01/03/0972 9005382325 Pending Pending

50 G2701210 PRD15045 GIRJA SANKAR HARDAYAL SHRAVASTI 15/06/1969 7706912233 Pending Pending

79 G2701212 PRD21042 FURT RAM BHUSAILI PARSAD SHRAVASTI 10/02/1970 7054710837 Pending Pending

37 G2701213 PRD14442 SHIV KUMAR BHAGIRATH SHRAVASTI 27/04/1972 9161327081 Pending Pending

55 G2701214 PRD15050 MAHESH CHAND SAMAY DEEN SHRAVASTI 06/08/1974 7408978030 Pending Pending

72 G2701215 PRD20316 RANJEET KUMAR RAM CHANDAR SHRAVASTI 01/01/1988 7234951066 Pending Pending

84 G2701218 PRD27525 SARVAN KUMAR SANTRAM SHRAVASTI 30/05/1984 9838501847 Pending Pending

67 G2701223 PRD15376 CHINTA RAM RAM BHAGOLE SHRAVASTI 11/02/1972 9918316148 Pending Pending

92 G2701225 PRD29006 RAM SUNDAR RAM MILAN SHRAVASTI 01/07/1963 8052466597 Pending Pending

6 G2701231 PRD11647 SURESH KUMAR SWAMI DAYAL SHRAVASTI 07/08/1989 9838979163 Pending Pending

90 G2701232 PRD28583 GYAN VATI TRIVENI PRASAD SHRAVASTI 22/01/1983 9919167268 Pending Pending

3 G2701235 PRD11595 RAJESH KUMAR ARYA SHIV PRASAD ARYA SHRAVASTI 04/02/1987 9125717438 Pending Pending

4 G2701236 PRD11604 SAHAJ RAM SESHRAJ SHRAVASTI 10/02/1987 9918000295 Pending Pending

13 G2701237 PRD12016 AAGY RAM RAM DULARE SHRAVASTI 01/01/1990 9838097240 Pending Pending

47 G2701238 PRD14880 DESHRAJ SAHAJ RAM SHRAVASTI 26/03/1988 8756070978 Pending Pending

69 G2701239 PRD15386 SITA RAM RAM CHHABILE SHRAVASTI 02/01/1969 9695239197 Pending Pending

76 G2701241 PRD21015 DEVANDRA KUMAR SOBHA RAM SHRAVASTI 01/01/1986 8874068573 Pending Pending

14 G2701242 PRD12022 SATESH KUMAR MISHRA KAUSLEANDRA PRASAD SHRAVASTI 18/06/1989 9936779589 Pending Pending

1 G2701260 PRD10898 UMESH KUMAR TIWARI MUNNA LAL SHRAVASTI 03/07/1989 6306216915 Pending Pending

57 G270175 PRD15061 RDAHESHYAM MISHRA BUDHI SAGAR MISHRA SHRAVASTI 15/02/1976 7518988530 Pending Pending

user image Arvind Swaroop Kushwaha - 10 May 2021 at 2:15 PM -

prd ikona shravasti

क्रम संख्या नॉमिनल रोल रजिस्टर की क्रम संख्या एप्लीकेशन नं0 स्वयंसेवक का नाम पिता का नाम जिला जन्मतिथि मोबाइल नं0 मंडल स्तर पर की गयी कार्यवाही की स्थिति मुख्यालय स्तर पर की गयी कार्यवाही की स्थिति

1 G2703220 PRD12350 PESKAR SHARMA BRIJ MOHAN SHRAVASTI 10/07/1970 9696242682 Pending Pending

2 G2703002 PRD12372 TIRATH RAM TEDE SHRAVASTI 20/01/1975 9695074253 Pending Pending

3 G2703088 PRD13326 OM PARKESH ISHWER DEEN SHRAVASTI 15/07/1972 9936992181 Pending Pending

4 G2701133 PRD14185 JARGAM BAG MIJJAN BAG SHRAVASTI 20/01/1968 7460986271 Pending Pending

5 G2703097 PRD14417 RAM DAS RANGAI SHRAVASTI 30/04/1977 9956273331 Pending Pending

6 G2703035 PRD14418 MANI KANT BECHILAL SHRAVASTI 01/06/1973 9651425591 Pending Pending

7 G2703097 PRD14419 RAM VACHAN RANGAI SHRAVASTI 30/08/1972 9919284752 Pending Pending

8 G270340 PRD14420 UDAY RAJ JANGALI SHRAVASTI 10/01/1970 9919135168 Pending Pending

9 G2703016 PRD14421 BACHHA RAJ CHHEDI SHRAVASTI 05/06/1970 7080743496 Pending Pending

10 G2703092 PRD14818 JWALA SINGH FATEHA BAHADUR SINGH SHRAVASTI 31/05/1967 9559785627 Pending Pending

11 G2703090 PRD15372 PARTAP SINGH VIRJVLI SINGH SHRAVASTI 15/07/1974 9698068508 Pending Pending

12 G2703127 PRD15381 CHAKRDHAR MISHRA INDRAJEET ... MISHRA SHRAVASTI 10/09/1972 6392774040 Pending Pending

13 G2703037 PRD16382 PARAS NATH RAM MANORATH SHRAVASTI 01/09/1970 9621724471 Pending Pending

14 G2703164 PRD17929 RAM FERAN GHURHU SHRAVASTI 01/09/1971 9119634252 Pending Pending

15 G2703087 PRD17938 TRIYUGINARAYAN RAMADHAR SHRAVASTI 10/02/1965 9628571261 Pending Pending

16 G2703143 PRD17956 OM PRAKESH SHUKLA SHIV DAYAL SHUKLA SHRAVASTI 01/07/1970 9839301793 Pending Pending

17 G2703082 PRD17976 VIJAY KUMAR ARYA UDAYRAJ SHRAVASTI 08/01/1984 9559814428 Pending Pending

18 G2703148 PRD17991 BACHHA RAM RAM PEYARE SHRAVASTI 01/01/1963 7310111982 Pending Pending

19 G2703217 PRD19503 ARTI MISHRA RAJ KISHOR MISHRA SHRAVASTI 15/01/1993 9918680498 Pending Pending

20 G2703168 PRD20320 ANANT RAM VANSRAJ CHAUHAN SHRAVASTI 05/02/1990 9005090033 Pending Pending

21 G2703047 PRD20738 KUWAR SAHAB SITARAM SHRAVASTI 17/07/1965 9721392267 Pending Pending

22 G2703055 PRD21007 RAM ROOP MAURYA SWAMI DAYAL SHRAVASTI 01/01/1970 8173834362 Pending Pending

23 G2703122 PRD21009 PEETAMBAR BUJHARAT SHRAVASTI 01/01/1972 9794013226 Pending Pending

24 G2703145 PRD21995 VIJAY KUMAR SUKHLA SUKEE RAM SHRAVASTI 01/09/1966 6388573070 Pending Pending

25 G2703215 PRD22023 PAWAN KUMAR ASRFI LAL SHRAVASTI 15/09/1989 8318873257 Pending Pending

26 G2703214 PRD25307 SHREE DEVI SHYAM SUNDER SHRAVASTI 01/07/1991 7408964595 Pending Pending

27 G2703041 PRD25309 BANSHI LAL BACHCHAN LAL SHRAVASTI 15/05/1973 8874472999 Pending Pending

28 G2703048 PRD25314 TIALK RAM AYODHYA PRASAD SHRAVASTI 10/04/1970 9670748478 Pending Pending

29 G2703084 PRD25317 LAL BAHADUR RAJA RAM SHRAVASTI 01/01/1970 9565751227 Pending Pending

30 G2703218 PRD25322 SAHAB ALI NASIR ALI SHRAVASTI 10/07/1970 9918258820 Pending Pending

31 G2703049 PRD25326 PRAMOD KUMAR MISHRA INDERAJEET SHRAVASTI 02/05/1966 7408980037 Pending Pending

32 G2703029 PRD25335 RAM CHARN AMAR CHAND SHRAVASTI 20/12/1966 9795009597 Pending Pending

33 G2703167 PRD25338 SHES RAM BANSRAJ SHRAVASTI 01/07/1982 7266077411 Pending Pending

34 G2703082 PRD25352 MEWA LAL SOBHA RAM SHRAVASTI 05/05/1986 9695347245 Pending Pending

35 G2703212 PRD25371 RAJ KUMAR BHAGAUTI PRASAD SHRAVASTI 15/05/1974 9956791872 Pending Pending

36 G2703146 PRD25456 LAKHAN LAL SUKAEE RAM SHRAVASTI 01/01/1968 8355095911 Pending Pending

37 G2703147 PRD25476 OM KAR NATH RAMSUMER SHRAVASTI 01/01/1965 7800012633 Pending Pending

38 G2703011 PRD25482 ATAL BIHARI RAM PADARATH SHRAVASTI 01/01/1975 8081159938 Pending Pending

39 G2703074 PRD25490 RAM DEEN RAM PAT SHRAVASTI 01/01/1973 6391213243 Pending Pending

40 G2703213 PRD25499 SADHU RAM RAM DULARE SHRAVASTI 20/08/1990 9336385598 Pending Pending

41 G2703001 PRD27404 GARD BABU MISHRA RAM SUMIRAN SHRAVASTI 01/10/1964 9919133591 Pending Pending

42 G2703219 PRD27410 MANI RAM BABA DEEN SHRAVASTI 03/05/1968 8115530873 Pending Pending

43 G2703142 PRD27853 TRIYUGIB NARAYAN MAHADEV SHRAVASTI 15/12/1968 7703851822 Pending Pending

44 G270 PRD27857 RAM BARAN MISHRA BHAGAUTI PRASAD SHRAVASTI 12/01/1970 6390822164 Pending Pending

45 G270 PRD27929 RAJ KISHOR RAM SUCHIT SHRAVASTI 01/07/1967 7275624627 Pending Pending

46 G2703061 PRD28071 RITURAJ GARD BABU SHRAVASTI 08/06/1990 9956924918 Pending Pending

47 G2703202 PRD28181 ARJUN PRASAD JAMUNA PRSASAD SHRAVASTI 01/04/1972 7607927420 Pending Pending

48 G2703011 PRD28357 DEV KUMAR SHUKLA RAM NIWAS SHUKLA SHRAVASTI 06/04/1982 9919166037 Pending Pending

49 G2703036 PRD28486 CHHEDI RAM JHAGRU SHRAVASTI 10/03/1976 7054586942 Pending Pending

50 G2703042 PRD28967 JAGDAMBA PRASAD SAHAJ RAM SHRAVASTI 10/03/1975 7380520721 Pending Pending

51 G2703014 PRD28984 HARIDAWAR CHHOTTAN SHRAVASTI 01/01/1972 9648865464 Pending Pending

52 G2703052 PRD29173 ANANT RAM CHAUDHARI SHRAVASTI 01/01/1971 8090109426 Pending Pending

53 G2703054 PRD29189 RAM SAGAR JAGAT RAM SHRAVASTI 01/01/1970 7521913200 Pending Pending

user image Arvind Swaroop Kushwaha - 08 May 2021 at 4:58 PM -

prd bahraich 20504 se 28778 tak

क्रम संख्या, एप्लीकेशन नं0, स्वयंसेवक का नाम, पिता का नाम, माता का नाम, जन्मतिथि, लिंग, श्रेणी, लम्बाई(सेमी0), सीना(सेमी0), शिक्षा, विशेष योग्यता, पोस्ट/पद, आधार नं0, पैन नं0,

1002 PRD20504 VIPAT MOTI SAMUDRA 07/05/1968 MALE OBC 168 89 8 PASS -NA RAKSHAK 504918131784 -NA

1003 PRD20520 HEMEDRA MAURYA RAM PRATAP MAURYA MUNNI DEVI 01/01/1971 MALE SC 171 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 207154765134 -NA

1004 PRD20525 BHAGAUTI BABURAM KUNWARI DEVI 15/03/1975 MALE OBC 167 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 868104808144 -NA

1005 PRD20631 MUBARAK ALI ALI HASAN MAHUDA 01/07/1967 MALE OBC 167 87 8 PASS -NA RAKSHAK 936149669192 -NA

1006 PRD20779 TEJPRAKASH SINGH PRITHVI RAJ SINGH VIJAY LAXMI 05/09/1973 MALE GENERAL 170 90 12 PASS -NA RAKSHAK 290025456502 -NA

1007 PRD20782 MANSHA RAM PATHAK PUTTAN LAL VIJAY ... LAXMI 01/01/1966 MALE GENERAL 169 88 8 PASS --Select-- RAKSHAK 288266875822 -NA

1008 PRD20789 BRATI LAL CHANDANAPUR LAKHRAJA 03/07/1977 MALE OBC 168 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 496509504155 -NA

1009 PRD20793 GOKUL PRASAD RAM KHELAVAN RAJRANI 01/01/1970 MALE GENERAL 166 88 10 PASS -NA RAKSHAK 638197924913 -NA

1010 PRD21276 GOBIND SHIV PRASAD RAJ KUMARI 02/10/0198 MALE GENERAL 170 95 8 PASS --Select-- RAKSHAK 674548840092 -NA

1011 PRD21304 PANKAJ MAHADEV RAJ RANI 07/10/1988 MALE GENERAL 172 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 596066749048 -NA

1012 PRD21329 CHANNU LAL KEDARNATH BEEDHYA VATI 01/01/1974 MALE OBC 170 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 906411240351 -NA

1013 PRD21811 KRISHNA KUMAR JAGATRAM SHANTI DEVI 01/01/1970 MALE GENERAL 169 89 8 PASS --Select-- RAKSHAK 949324710518 -NA

1014 PRD21862 AJAY KUMAR SHIV NATH SHNTI DEVI 15/04/1976 MALE GENERAL 169 70 8 PASS --Select-- RAKSHAK 940584316495 JCEPK0358A

1015 PRD21870 SURESH KUMAR DATARAM REKHA DEVI 30/11/0197 MALE OBC 168 85 8 PASS --Select-- RAKSHAK 749392854327 -NA

1016 PRD21878 SUHEL MOHAMMAD AHMAD SAYRA BEGAM 01/01/1971 MALE SC 170 95 8 PASS --Select-- RAKSHAK 296094101446 NMJPS7717G

1017 PRD22066 MAHENDRA KUMAR MISHRA KAMESHWAR SHIV KUMARI 07/04/1970 MALE GENERAL 169 90 GRADUATE COMPUTOR OPERATOR RAKSHAK 201339050128 -NA

1018 PRD22336 ARVIND KUMAR VARMA FAUJDAR SHKUNTLA DEVI 13/07/1977 MALE GENERAL 169 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 392579936263 -NA

1019 PRD22481 SHIVA NAND PANDEY BACHCHU LAL SHANTI DEVI 01/01/1976 MALE GENERAL 172 92 8 PASS --Select-- RAKSHAK 543692781159 -NA

1020 PRD22497 MADHAV SIDDH NATH MAYA DEVI 01/12/1967 MALE GENERAL 170 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 842413773209 -NA

1021 PRD22658 ANJANI KUMAR MAURYA DHARMRAJ MAURYA MAMTA DEVI 12/07/1993 MALE OBC 170 87 10 PASS DRIVER RAKSHAK 353340197947 -NA

1022 PRD22757 NAKU RAM CHANDAR CHANDRKANTI 01/07/1980 MALE OBC 172 90 5 PASS --Select-- RAKSHAK 442250992423 -NA

1023 PRD22788 RIYAJ AHMAD RAJJAB MAHRULNISA 15/01/1990 MALE OBC 175 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 802806329099 -NA

1024 PRD22813 JITENDRA KUMAR RAM SHANKAR VARMA RAM KALA 01/01/1990 MALE OBC 170 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 775190506766 -NA

1025 PRD22826 PINTU BRIJMOHAN RAMKLA 28/01/1990 MALE OBC 172 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 577541615747 -NA

1026 PRD23039 HANUMAN DATT SHUKL RAM LOCHAN SHUKLA RAM LALI 07/07/1966 MALE GENERAL 170 90 5 PASS --Select-- RAKSHAK 715753703585 -NA

1027 PRD23067 UDHAU JAGANNATH PATENA 15/12/1974 MALE SC 168 88 8 PASS --Select-- RAKSHAK 823685973001 -NA

1028 PRD23187 LAVKUSH NANKU JUGRA 05/07/1975 MALE SC 168 88 8 PASS --Select-- RAKSHAK 275486383478 -NA

1029 PRD23223 AYODHYA PRASAD YADAV BACHCHU PRBHUDEY 01/01/1971 MALE OBC 189 89 8 PASS --Select-- RAKSHAK 369982523105 -NA

1030 PRD23258 VIJAY PAL BHAGGU UDASHIYA DEVI 05/02/1991 MALE ST 172 85 GRADUATE --Select-- RAKSHAK 712550134105 -NA

1031 PRD23333 HANSA GHIRAU AUMAADEVI 01/01/1976 MALE OBC 170 89 8 PASS --Select-- RAKSHAK 609343041474 -NA

1032 PRD23384 PAPPU SINGH URF HARINARAYN SINGH SARNAM SINGH PARVATI DEVI 05/08/1980 MALE GENERAL 172 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 722106012014 -NA

1033 PRD23424 RAGHAV RAM RAJESWARI SHANTI DEVI 01/01/1965 MALE GENERAL 168 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 483652242363 -NA

1034 PRD23884 MERAJ AHMAD RAJAK HAMEENA 20/08/1985 MALE SC 168 89 10 PASS --Select-- RAKSHAK 442740707028 -NA

1035 PRD23951 RAMA KANT PATHAK RAGHVENDRA PRASAD PATHAK KRSHNA VATI 10/07/1978 MALE GENERAL 170 90 10 PASS --Select-- RAKSHAK 812111100731 -NA

1036 PRD23968 RAM AUTAR MATHURA PRASAD SHIVRAGI 01/02/1967 MALE OBC 170 90 5 PASS --Select-- RAKSHAK 303710715036 -NA

1037 PRD24315 BHAGAUTI PRASHAD AVADHRAM PFULVATA 01/01/1975 MALE SC 168 89 8 PASS --Select-- RAKSHAK 785235847534 -NA

1038 PRD24358 GHIRRAU RAMFAL FULMATI 01/02/1965 MALE OBC 168 87 8 PASS --Select-- RAKSHAK 451298495314 -NA

1039 PRD26077 BRIJLAL BABOORAM SHITAL 01/10/1983 MALE ST 170 90 10 PASS --Select-- RAKSHAK 238354316775 -NA

1040 PRD26116 MOHAN TAPESAR PRAM DAYE 05/11/1976 MALE OBC 169 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 604597684737 -NA

1041 PRD26129 KLOO GURDEEN KETKI 01/01/1975 MALE OBC 168 90 5 PASS --Select-- RAKSHAK 212663540462 -NA

1042 PRD26146 SHAILENDRA KUMAR DIXIT NAVAL KISHOR DIXIT URMILA DEVI 20/04/1994 MALE GENERAL 174 90 GRADUATE -NA RAKSHAK 216341839451 -NA

1043 PRD26162 CHITRA BHAVAN BABU LAL PHUL MATI 01/09/1969 MALE OBC 168 85 5 PASS --Select-- RAKSHAK 63269988564 -NA

1044 PRD26166 DEEPAK KUMAR SRIVASTAVA PATMESHWAR DAYAL SRIVASTAVA MADHURI DEVI 01/01/1990 MALE GENERAL 172 90 12 PASS COMPUTOR OPERATOR RAKSHAK 522673919061 -NA

1045 PRD26178 RAMESH JALESAR TEATRA DEEVI 09/12/1970 MALE OBC 172 90 8 PASS COMPUTOR OPERATOR RAKSHAK 316091696317 -NA

1046 PRD26181 RAMESH PYARELAL JAGRANI 01/01/1976 MALE OBC 172 95 8 PASS --Select-- RAKSHAK 882037350341 -NA

1047 PRD26186 MISHRI LAL RAGHUNATH MUNNI DEEVI 01/07/1988 MALE SC 5.6 90 8 PASS COMPUTOR OPERATOR RAKSHAK 220181694962 -NA-

1048 PRD26192 JITENDRA NATH MISHRA URF LAKKHU BHAGWAN DUTT RAM KALA 24/06/1974 MALE GENERAL 170 90 5 PASS -NA- RAKSHAK 658789507007 -NA-

1049 PRD26197 BRIJESH KUMAR SINGH DESHRAJ SINGH TARA DEVI 05/04/1972 MALE GENERAL 168 90 12 PASS --Select-- RAKSHAK 412576595127 KDCPS4205Q

1050 PRD26202 SATY NARAYAN KHNMAN CHMELI 28/08/1970 MALE OBC 168 95 10 PASS --Select-- RAKSHAK 395886583738 -NA

1051 PRD26208 RAM KEVAL GANGARAM BACHRAJI 01/01/1972 MALE OBC 170 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 556109915295 -NA

1052 PRD26214 DEVTA DEEN SOHAN LAL RAMPATA DEVI 09/07/1967 MALE OBC 168 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 898362808686 -NA

1053 PRD26219 SAHAJRAM RAM ASRE SHKUNTLA DEVI 25/12/1966 MALE OBC 170 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 484258516185 -NA

1054 PRD26228 VIRENDRA KUMAR JAGDEV PRSAD SOMLATADEVI 20/08/1964 MALE GENERAL 168 89 8 PASS --Select-- RAKSHAK 753658244437 -NA

1055 PRD26543 SAHABT ALI SADIK ALI SAJKRUN 15/03/1979 MALE SC 168 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 887799199916 -NA

1056 PRD26561 MUNESAR RAMKHELAVAN MAYAVATI 10/12/1964 MALE SC 168 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 404441106453 -NA

1057 PRD26588 MUMTAJ MAHBOOB ALI AKIA 01/09/1975 MALE OBC 169 90 5 PASS --Select-- RAKSHAK 210113209677 -NA

1058 PRD26606 SARFRAJ SHOBHAEAM JANAKDULARI 30/12/1967 MALE GENERAL 170 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 928925959759 -NA

1059 PRD26616 ARUNKUMAR YADAV RAJA RAM SHANTI DEVI 02/04/1980 MALE OBC 168 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 856778152258 -NA

1060 PRD26648 ADITY KUMAR AASHARAM RAM VATI 01/01/1970 MALE OBC 169 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 374791464147 -NA

1061 PRD26652 UMESH KUMAR RAM MAORATH SHANTI DEVI 01/01/1984 MALE OBC 170 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 900527047566 -NA

1062 PRD26654 MUNNI SINGH RAGHUNATH SINH NANDANI 01/08/1980 FEMALE GENERAL 168 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 911573131779 -NA

1063 PRD26657 UTTAMSINGH DESHRAJ SINGH SHUMITRA DEVI 01/01/1971 MALE GENERAL 170 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 776697944766 -NA

1064 PRD26659 SONU MISHRA SHER BAHADUR SUMAN MISHRA 02/09/1990 MALE GENERAL 172 90 12 PASS --Select-- RAKSHAK 991678813654 -NA

1065 PRD26717 KHALIL AHMAD KHAN JIMINDAR MUNISHA BEGAM 01/01/1968 MALE GENERAL 167 89 8 PASS --Select-- RAKSHAK 289371045055 -NA

1066 PRD26727 RAM LAXMAN RAM NATH SONKALA 06/06/1963 MALE OBC 172 90 12 PASS --Select-- RAKSHAK 281891352502 -NA

1067 PRD26745 VINOD KUMAR RAM DULARE RANI 01/01/1988 MALE OBC 168 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 428048459495 -NA

1068 PRD26749 DINESH KUMAR GAJADHAR MUNNI DEVI 03/06/1982 MALE SC 172 95 12 PASS --Select-- RAKSHAK 308317359156 -NA

1069 PRD26754 SHRIRAM SANGAMLAL SHANTI 20/07/1975 MALE OBC 169 89 8 PASS --Select-- RAKSHAK 392888753554 -NA

1070 PRD26762 RAM SAMUJH GUR SAHAY RAMPTA 05/12/1966 MALE OBC 170 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 814024946594 -NA

1071 PRD26769 NANKAU RAMASRE NANKAYE 01/01/1965 MALE OBC 172 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 413190239254 -NA

1072 PRD26773 FOOLCHAND SIPAHI LAL SHIVRANI 08/07/1987 MALE SC 168 80 10 PASS --Select-- RAKSHAK 832624279202 -NA

1073 PRD26779 RAM JI VISHYA RAM CHANDAR MADHURI 01/07/1993 MALE OBC 170 90 10 PASS --Select-- RAKSHAK 833766600251 -NA

1074 PRD26781 SIDDHA RAM AMIRKA KAMLI 01/07/1987 MALE OBC 170 90 10 PASS --Select-- RAKSHAK 970266399083 -NA

1075 PRD26791 PRABHATI BHALLAR LACHHANA 11/09/1970 MALE SC 170 89 8 PASS --Select-- RAKSHAK 490597747611 -NA

1076 PRD26797 SHAMSHAD NAJER RAMGANA 31/05/1969 MALE OBC 170 90 10 PASS --Select-- RAKSHAK 586758565517 -NA

1077 PRD26809 YOGENDRA MAHARAJ VAKS SINGH INDRA DEVI 01/07/1976 MALE GENERAL 172 95 12 PASS --Select-- RAKSHAK 950455854611 -NA

1078 PRD26821 BRIJNARESH SINGH RAM KHELAVAN SIGH SAVITRI 03/08/1965 MALE GENERAL 170 90 10 PASS --Select-- RAKSHAK 882731346542 -NA

1079 PRD26837 NARAYAN DATT SHUKLA KEDAR NATH ANOKHA DEVI 12/05/1971 MALE GENERAL 162 80 8 PASS --Select-- RAKSHAK 738094573026 -NA

1080 PRD26849 RAM CHANDAR HARIHAR PRASAD MHRAJ DAYE 15/07/1964 MALE OBC 170 90 5 PASS --Select-- RAKSHAK 952498847074 -NA

1081 PRD26854 MANOJ RAM SAMUCH MAN BHAVATI DVI 01/01/1988 MALE SC 168 89 8 PASS --Select-- RAKSHAK 690828214317 -NA

1082 PRD26858 CHINKU URF DEVMADIILAL CHEDIRAM KAMLAVATI 01/01/1975 MALE ST 169 89 8 PASS --Select-- RAKSHAK 456315818670 -NA

1083 PRD26867 BRAHMDATT SAMAYDEEN MAHRAJA 10/05/1965 MALE OBC 167 90 5 PASS --Select-- RAKSHAK 561557730094 -NA

1084 PRD26872 RAMHAN SARJOOPRASAD VIMLA DEVI 05/07/1967 MALE SC 170 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 838720186472 -NA

1085 PRD26875 INDRAVEER SINGH EAUJDAR SINGH SUMAN 09/12/1965 MALE GENERAL 168 89 5 PASS --Select-- RAKSHAK 420351827895 -NA

1086 PRD26884 DAYA RAM GAYA PRASAD GANGAVATI 05/03/1965 MALE OBC 168 90 10 PASS --Select-- RAKSHAK 2554 -NA

1087 PRD26890 VIRENDRA FAUJTHAR SOMAN 15/08/1969 MALE GENERAL 170 85 10 PASS --Select-- RAKSHAK 888003580037 -NA

1088 PRD26901 BHAGAUTI PARASAD RAM SAMUJH BUNDELA DEVI 02/06/1965 MALE SC 172 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 986680747101 -NA

1089 PRD26908 SHRAVAN KUMAR PREM SAGAR RUP RANI 04/06/1978 MALE GENERAL 175 95 GRADUATE --Select-- RAKSHAK 515557805148 -NA

1090 PRD26916 SHUBHAM SHUKLA RAM GOPAL MINA DEVI 08/10/1992 MALE GENERAL 170 95 GRADUATE --Select-- RAKSHAK 210842346091 -NA

1091 PRD26917 ARTI DINESH KUMAR MISRA DULARA DEVI 15/06/1993 FEMALE GENERAL 165 98 8 PASS --Select-- RAKSHAK 977580922431 -NA

1092 PRD26919 BALKISHUN RAM FRRAN SHNTI DEVI 15/12/1970 MALE OBC 167 90 5 PASS --Select-- RAKSHAK 553451016853 -NA

1093 PRD26920 RAM GOPAL KALLI RAM KUSHMA DEVI 01/07/1963 MALE GENERAL 172 95 12 PASS --Select-- RAKSHAK 886817262895 -NA

1094 PRD26921 DUHE RAM LAKXAMANI GOORI DEVO 05/01/1970 MALE SC 170 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 749854015523 -NA

1095 PRD26924 RAM AUTAR MUNESHAR KISNAWATI 11/04/1973 MALE OBC 170 90 8 PASS -NA- RAKSHAK 347305728823 -NA-

1096 PRD26925 JWAL PRASAD RAMSUMRAN SHANTI DEVI 08/06/1970 MALE OBC 179 90 8 PASS -NA- RAKSHAK 576740806138 -NA-

1097 PRD26926 KALLURAM PALTU SHUNDAR DEYE 10/12/1964 MALE SC 170 89 8 PASS --Select-- RAKSHAK 443401110541 -NA

1098 PRD26928 PARASH NATH MISRA LAXHMI NARAYN MISRA MUNI DEVI 01/01/1964 MALE GENERAL 170 95 8 PASS --Select-- RAKSHAK 494175273768 -NA

1099 PRD26931 MOHAMAD LIYAJ GOSAM ESLAMUN 01/01/1972 MALE OBC 170 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 936795264038 -NA

1100 PRD26932 DAYARAM MAURYA RADESHYAM KALAVATI 26/07/1971 MALE OBC 170 90 8 PASS -NA- RAKSHAK 494061827309 -NA-

1101 PRD26933 SHIV SAGER RAM DASH RAMRANI 01/01/1971 MALE SC 169 85 8 PASS -NA- RAKSHAK 973898833832 -NA-

1102 PRD26934 AJMERILAL MUSTFA SUKHA 20/12/1970 MALE OBC 172 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 89588141861 -NA

1103 PRD26936 PARMOD KUMAR RAMDAS SUNDRA 01/01/1978 MALE OBC 168 85 5 PASS --Select-- RAKSHAK 259537330708 -NA

1104 PRD26938 SYRJANDEEN RAMASRE SURYKALA 16/07/1977 MALE OBC 170 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 596903594254 -NA

1105 PRD26942 BACHCHE LAL SHIVNANDAN SHIVPATA 01/01/1965 MALE SC 170 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 609982342488 -NA

1106 PRD26944 FILPRASAD KHUBLAL BACHCHUDEY 01/01/1965 MALE OBC 170 89 8 PASS --Select-- RAKSHAK 889067542220 -NA

1107 PRD26946 RAJU MAURYA LAL BIHARI MAURYA CHAMMPA DEVI 01/01/1985 MALE OBC 172 92 8 PASS -NA- RAKSHAK 277842533766 -NA-

1108 PRD26949 JIVAN LAL DODHI ANAR 26/08/1968 MALE OBC 169 89 8 PASS --Select-- RAKSHAK 405677365018 -NA

1109 PRD27036 JAY PRAKASH KAILASHNATH PHOOLAN DEVI 15/01/1988 MALE ST 166 87 10 PASS -NA- RAKSHAK 517755689202 -NA-

1110 PRD27408 CHOTE LAL MISHRA SUNDAR LAL MUNNI DEVI 01/01/1966 MALE GENERAL 172 95 8 PASS --Select-- RAKSHAK 682038160337 -NA

1111 PRD28055 MUNAU BABADEEN BACHCHI 05/01/1970 MALE OBC 169 90 5 PASS --Select-- RAKSHAK 770301598620 -NA

1112 PRD28075 RAMDYAL MAURYA BRIJMOHAN RAM DAYI 01/02/1964 MALE OBC 163 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 736051272014 -NA

1113 PRD28102 RAJENDRA PRASAD KRIPA RAM SUSHILA DEVI 09/10/1978 MALE OBC 170 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 573028485040 -NA

1114 PRD28281 RAM LAL RAM JAS SONARA 05/04/1985 MALE OBC 172 95 8 PASS --Select-- RAKSHAK 205256459280 -NA

1115 PRD28309 JAGDISH PRASAD VIDYA PRASAD JUGGI DEVI 12/05/1970 MALE SC 169 90 5 PASS --Select-- RAKSHAK 985950896143 -NA

1116 PRD28328 HARI RAM BUDDHU HADDAHI 01/01/1969 MALE OBC 172 95 5 PASS -NA- RAKSHAK 675274036580 -NA-

1117 PRD28585 ASHOK KUMAR DHRAMPAL KAMLA DEVI 08/06/1977 MALE OBC 170 89 10 PASS -NA- RAKSHAK 996715933713 -NA-

1118 PRD28757 MADHAVRAJ BABADEEN LAXMI 01/08/1988 MALE OBC 170 90 10 PASS --Select-- RAKSHAK 123569834123687 -NA

1119 PRD28758 RAM PYARE BHOLA JAGDEI 01/01/1970 MALE SC 169 89 8 PASS --Select-- RAKSHAK 125933743712969 -NA

1120 PRD28759 SHYAMLAL JAGAT PRASAD RAM PYAARI 01/01/1967 MALE GENERAL 171 92 10 PASS --Select-- RAKSHAK 2256874362163 -NA

1121 PRD28761 BHANU PRATAP LALIT MANGLA DEVI 05/04/1966 MALE GENERAL 170 89 8 PASS --Select-- RAKSHAK 5689895632 -NA

1122 PRD28763 NANKAU BENI NISHA 02/05/1971 MALE OBC 168 88 5 PASS --Select-- RAKSHAK 4545896321474 -NA

1123 PRD28764 MALIK RAM SUNDER LAL SHAKUTALA 06/07/1970 MALE OBC 174 93 12 PASS --Select-- RAKSHAK 78636352145 -NA

1124 PRD28766 NANDALAL KRISHNA MURARI LALITA 08/11/1968 MALE SC 169 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 365698742588 -NA

1125 PRD28769 BRIJESH RAMESHWAR SARITA DEVI 01/09/1967 MALE SC 172 91 10 PASS --Select-- RAKSHAK 56321785642 -NA

1126 PRD28770 JAGDISH DUKH HARAN RAJ RANI 06/06/1969 MALE GENERAL 170 88 8 PASS --Select-- RAKSHAK 89541236974 -NA

1127 PRD28772 NAKCHED SHAILENDRA SUSHMITA 11/11/1982 MALE GENERAL 168 87 10 PASS --Select-- RAKSHAK 785632492145 -NA

1128 PRD28773 VIGYAN MISHRA KALLU KRISHNAVATI 01/01/1973 MALE GENERAL 169 88 12 PASS --Select-- RAKSHAK 252858869321 -NA

1129 PRD28774 ABUZAR MOHD. ASHFAQ ZUBAIDA 05/07/1968 MALE GENERAL 171 90 10 PASS --Select-- RAKSHAK 258963147223 -NA

1130 PRD28776 BALAK RAM MUNESAR MALTI DEVI 01/01/1970 MALE OBC 167 87 5 PASS --Select-- RAKSHAK 25287946314 -NA

1131 PRD28777 SANJAY SINGH KAILASH RAKHI 02/05/1969 MALE OBC 170 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 568974123656 -NA

1132 PRD28778 ISHAAN VERMA SUBHASH VERMA LAXMI 07/07/1974 MALE OBC 169 89 10 PASS --Select-- RAKSHAK 895632147256 -NA

user image Arvind Swaroop Kushwaha - 08 May 2021 at 4:50 PM -

prd bahraich 17718 se 20500 tak

क्रम संख्या, एप्लीकेशन नं0, स्वयंसेवक का नाम, पिता का नाम, माता का नाम, जन्मतिथि, लिंग, श्रेणी, लम्बाई(सेमी0), सीना(सेमी0), शिक्षा, विशेष योग्यता, पोस्ट/पद, आधार नं0, पैन नं0,

907 PRD17718 BANSI LAL MANGRE DHANVASA 01/01/1971 MALE GENERAL 170 91 8 PASS -NA RAKSHAK 365638122081 -NA

908 PRD17725 RAVEESH KUMAR RAM GULAM KAMLA DEVI 15/05/1977 MALE SC 172 92 12 PASS --Select-- RAKSHAK 754270559925 CXDPK9679M

909 PRD17730 JOKHAN AGYA RAM KUNJI DEVI 01/01/1968 MALE OBC 169 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 864499456894 -NA

910 PRD17733 RAM SUNDAR BHAGVANDEEN DHANDEI 01/07/1972 MALE SC 168 89 5 PASS --Select-- RAKSHAK 355183203561 -NA

911 PRD17738 SUSHIL KUMAR RAM YASH VISHWKARMA SUKHA 14/07/1975 MALE SC 169 89 10 PASS -NA- RAKSHAK 792901194538 -NA-

912 PRD17743 RAM PRATAP LALJI MAYAVATI 01/01/1969 MALE GENERAL 170 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 257675388134 -NA

913 PRD17750 MOHAN LAL JHAGARU SUNITA DEVI 20/11/1979 MALE OBC 168 89 8 ... PASS --Select-- RAKSHAK 311100201025 -NA

914 PRD17768 RAMDEEN CHEDAN KISHNAVATI 05/08/1964 MALE SC 168 89 8 PASS --Select-- RAKSHAK 288716615878 -NA

915 PRD17777 SUBHASH CHANDRA JIWAN LAL 12/07/1975 MALE OBC 170 91 8 PASS --Select-- RAKSHAK 327203180533 -NA

916 PRD17795 MUMTAJ BEGUM MOHD SHAFEEK 07/07/1972 FEMALE GENERAL 158 93 10 PASS --Select-- RAKSHAK 629061596650 -NA

917 PRD17971 PREMCHAND SHIV BHAJAN PREMA DEVI 07/06/1979 MALE SC 171 91 8 PASS -NA RAKSHAK 912385182089 -NA

918 PRD18008 RAMESHVAR BALESHVAR RAJAKALI 06/12/1968 MALE SC 170 89 8 PASS -NA RAKSHAK 955120514008 -NA

919 PRD18023 SANTOSH KUMAR BRIJ MOHAN YADAV DHUPA 01/01/1979 MALE SC 169 89 8 PASS -NA RAKSHAK 547747123573 -NA

920 PRD18035 MAHADEV PRASAD MAIKU LAL SHIV KUMARI 16/08/1979 MALE OBC 168 90 10 PASS -NA- RAKSHAK 390596044285 GALPP6039K

921 PRD18131 SHIV KUMAR MISHRA RAMLAKHAN MISHRA RAM KALA 11/12/1967 MALE GENERAL 168 88 10 PASS --Select-- RAKSHAK 472724686552 -NA

922 PRD18136 BALAK RAM JOKHAN RAM DEI 07/05/1970 MALE OBC 167 87 8 PASS --Select-- RAKSHAK 281547061321 -NA

923 PRD18144 RANGILE RAM SOORAY LAL RAJ PATI 01/01/1971 MALE OBC 169 89 8 PASS -NA- RAKSHAK 469654320548 -NA-

924 PRD18149 JHOTU PUTTAN 01/03/1972 MALE OBC 167 90 5 PASS --Select-- RAKSHAK 644537906960 -NA

925 PRD18156 HARIDVAR PUTTU LAL JAGRANI 09/06/1976 MALE SC 169 90 8 PASS -NA RAKSHAK 498993250236 -NA

926 PRD18170 BEDRAM SANTRAM KAOSHALYA DEVI 10/03/1979 MALE OBC 167 89 8 PASS --Select-- RAKSHAK 349546573582 -NA

927 PRD18181 MANOJ KUMAR MISHRA PRAMOD KUMAR BITTU DEVI 23/07/1992 MALE GENERAL 170 90 12 PASS --Select-- RAKSHAK 4801203198617 -NA

928 PRD18224 RAM SAGAR MATHURA RAGHURAI 01/01/1963 MALE SC 168 89 5 PASS --Select-- RAKSHAK XXXXXXXX9879 -NA

929 PRD18230 RAMASANKAR BHAGAUTEE PRASAD SANGITA DECI 01/01/1970 MALE OBC 168 85 8 PASS --Select-- RAKSHAK 284825613758 -NA

930 PRD18240 SHIV JITASINGH HAUSALA BAKSHA SINGHG MANJU DEVI 01/01/1976 MALE GENERAL 172 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 470165525319 -NA

931 PRD18396 RAMCHANDRA AWADHRAM MATESHWARI DEVI 15/06/1969 MALE OBC 168 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 637432853501 -NA

932 PRD18405 RAM ACHAL BHAGWAN NANDINI 01/01/1970 MALE OBC 169 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 684579558504 -NA

933 PRD18686 RAM CHANDAR MAURYA RAM LAKHAN MAURYA PHOOL MATI 30/05/1972 MALE SC 171 91 10 PASS --Select-- RAKSHAK 221480077987 -NA

934 PRD18687 GOVARDHAN DUKH HARAN LAL BACCHA 01/09/1970 MALE SC 170 90 8 PASS -NA RAKSHAK 956256925837 -NA

935 PRD18723 RAM BHARAN BHAGAUTI PRASAD PHOOL MATI 05/07/1967 MALE OBC 168 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 754442053234 -NA

936 PRD18728 VISHESHAR YADAV SHANKAR MATESHWARI DEVI 10/01/1966 MALE OBC 170 91 10 PASS --Select-- RAKSHAK 311605181952 -NA

937 PRD18750 JAGATNARAYN RAMLAL MALTI 01/01/1969 MALE OBC 168 89 5 PASS --Select-- RAKSHAK 825085560833 -NA

938 PRD18758 AMBIKA PRASAD RAMDHANI JADURAI 01/01/1969 MALE OBC 169 89 5 PASS --Select-- RAKSHAK 986386284436 -NA

939 PRD18763 RAM SINGH YADAV RAMFERE SUSHILA 04/06/1978 MALE OBC 168 89 10 PASS --Select-- RAKSHAK 486907567671 -NA

940 PRD18769 RAJENDRA BABADEEN MATESAWRI DEVI 01/01/1970 MALE OBC 169 89 8 PASS --Select-- RAKSHAK 739973967241 -NA

941 PRD18773 PREM CHANDRA RAM KHELAWAN SUMITRA 01/01/1977 MALE OBC 167 88 12 PASS --Select-- RAKSHAK 876530258143 -NA

942 PRD18778 RANGEELA NISHAD RAJU KEVULADEVI 06/01/1989 FEMALE SC 167 95 8 PASS --Select-- RAKSHAK 885563215600 -NA

943 PRD18781 ROOMA CHNGA RAJNI 03/06/1988 FEMALE OBC 168 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 714674883341 -NA

944 PRD18894 RAM LAKHAN BHARRA KAMLA DEVI 10/02/1989 MALE OBC 170 90 10 PASS --Select-- RAKSHAK 798862138565 -NA

945 PRD18902 RAM CHAND NANKU NANKI DEVI 01/01/1969 MALE OBC 168 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 838196592052 -NA

946 PRD18938 JAGDISH PRASAD RAM SHAEAN PADHUKH 30/09/1968 MALE OBC 170 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK `763857663794 -NA

947 PRD18946 JILERAM TORRA DILERANI 01/01/1974 MALE GENERAL 168 89 8 PASS --Select-- RAKSHAK 749070847035 -NA

948 PRD18950 ROHIT KUMAR KALLU PRASAD BAANO DEVI 04/07/1990 MALE SC 171 92 8 PASS --Select-- RAKSHAK 429830602170 -NA

949 PRD18966 SANJAY RAM KUMAR SAGRI DEVI 01/07/1973 MALE SC 168 88 5 PASS --Select-- RAKSHAK 920448049331 -NA

950 PRD18985 HARIOM MANGLARAM GULAB DEI 10/01/1969 MALE OBC 167 90 8 PASS -NA RAKSHAK 475218497460 -NA

951 PRD18995 CHANDR BHAN MANGAL PRASAD RAJ DEI 09/01/1969 MALE OBC 168 90 5 PASS --Select-- RAKSHAK 365786563254 -NA

952 PRD19004 MOHAMMAD ASLAM ABDUL HAMEED NOOR JAHAN 27/12/1972 MALE SC 170 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 583042407744 -NA

953 PRD19009 RAM NAGEENA LAKKHU SHIV KUMARI 01/01/1975 MALE SC 169 88 8 PASS -NA RAKSHAK 405778432605 -NA

954 PRD19013 SAHAJ RAM SOHAN LAL SHYAM KLA 01/01/1973 MALE OBC 169 89 8 PASS --Select-- RAKSHAK 765383031137 -NA

955 PRD19113 GANGARAM SANTRAM JAMUNAI 01/01/1970 MALE OBC 168 90 5 PASS -NA RAKSHAK 780097179684 -NA

956 PRD19127 SAGEER GOLI MAINI DEVI 01/01/1976 MALE OBC 174 94 8 PASS -NA RAKSHAK 624441437665 -NA

957 PRD19160 BUDDHISAGAR MEVALAL TARA DEVI 01/04/1975 MALE SC 169 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 942292248411 -NA

958 PRD19166 MAHESH KUMAR CHOTE LAL JIYAI 01/07/1968 MALE GENERAL 168 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 759524271381 -NA

959 PRD19174 MUKESH KUMAR SINGH INDRA BAHADUR SINGH PUSHPA SINGH 01/01/1987 MALE GENERAL 169 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 603131163666 -NA

960 PRD19177 RAM GOPAL DHARAM DUTT KIRAN 01/01/1963 MALE SC 170 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 538386608153 -NA

961 PRD19301 MAHADEV DAYARAM SUPARI 02/01/1990 MALE OBC 170 90 10 PASS --Select-- RAKSHAK 434849616747 -NA

962 PRD19314 GAJRAJ SONI SHANTI DEVI SHANTI DEVI 01/09/1970 MALE OBC 169 90 8 PASS -NA RAKSHAK 590937119664 -NA

963 PRD19329 PATIRAM RADHESHYAM YSHODRA 12/05/1974 MALE SC 170 90 8 PASS -NA- RAKSHAK 861634049197 GECPP6957M

964 PRD19333 LEKHRAJ RAMANAND KALAVATI 26/10/1974 MALE SC 168 89 8 PASS -NA- RAKSHAK 947269297064 -NA-BIQPL1528M

965 PRD19357 RAMSAMUJH SHYAMKARAN SUNITA 05/07/1965 MALE OBC 167 88 8 PASS -NA RAKSHAK 490551004000 -NA

966 PRD19387 ABDUL KAYYUM KHAN SHABBIR KHA BHUGGI BEGUM 10/01/1976 MALE OBC 168 90 5 PASS --Select-- RAKSHAK 531271296224 -NA

967 PRD19390 RAJ DEEPAK MISHRA PRADIP KUMAR MISHRA 12/07/1996 MALE GENERAL 171 90 GRADUATE -NA- RAKSHAK 751932727883 -NA-

968 PRD19402 PARSHURAM TILAKRAM SUKHDEI 15/06/1969 MALE OBC 170 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 829685491122 -NA

969 PRD19405 MOHD ALAUDDIN KHAN JALALUDDIN KAMRUL NISHA 26/01/1970 MALE GENERAL 170 91 12 PASS -NA RAKSHAK 51561457788 -NA

970 PRD19412 SHIV KUMAR SINGH HAUSILA PHOOL KUWARI 22/06/1968 MALE GENERAL 167 88 10 PASS -NA RAKSHAK 669784798025 -NA

971 PRD19413 SHYAM MANOHAR RATHAUR KAILASH NATH KETHKI DEVI 08/07/1979 MALE GENERAL 171 89 10 PASS --Select-- RAKSHAK 956219604958 -NA

972 PRD19415 MAKBUL RAHMAT ALI KAJIMULNISHA 01/01/1972 MALE OBC 170 89 8 PASS -NA- RAKSHAK 796668599567 -NA-

973 PRD19555 SURENDRA KUMAR PATHAK PARAS NATH PATHAK 25/06/1973 MALE GENERAL 171 90 8 PASS -NA RAKSHAK 745994168629 -NA

974 PRD19557 RAM KUMAR MOLHE SUNDAR PATA 07/06/1978 MALE SC 172 90 8 PASS -NA- RAKSHAK 823595353996 -NA-

975 PRD19558 PRADEEP KUMAR DAULAT RAM 01/01/1983 MALE SC 198 91 8 PASS -NA RAKSHAK 259780305747 -NA

976 PRD19701 RENU RAMBHUWAN CHOTKA 01/01/1985 FEMALE SC 161 90 10 PASS -NA RAKSHAK 624250330534 -NA

977 PRD19736 SITARAM PUTTI CHOTAKA Invalid date MALE SC 170 90 10 PASS --Select-- RAKSHAK 851706848670 -NA

978 PRD19868 MISHRILAL CHEDILAL KRISHNA DEVI 01/01/1972 MALE OBC 169 90 8 PASS -NA RAKSHAK 354462983998 -NA

979 PRD19996 PRAFUL KUMAR MISHRA ONKAR NATH MISHRA CHAKRAVATI DEVI 28/08/1988 MALE GENERAL 170 90 8 PASS -NA RAKSHAK 591390154475 -NA

980 PRD19997 SARITA DEVI OMKAR NATH MISHRA CHAKRAVARTI DEVI 27/01/1991 MALE GENERAL 157 92 8 PASS -NA RAKSHAK 441265744103 -NA

981 PRD20023 SURENDRA SINGH SHIV MANGAL CHANDRA VATI DEVI 24/07/1978 MALE GENERAL 173 91 10 PASS -NA RAKSHAK 775596946662 -NA

982 PRD20032 SHIV BAHADUR SINGH FAUJDAR SINGH SUMAN 05/12/1967 MALE GENERAL 170 90 5 PASS --Select-- RAKSHAK 510441438498 -NA

983 PRD20067 VIKRSM PRASAD MAHADEV BAMHA DEVI 01/01/1973 MALE OBC 168 89 8 PASS --Select-- RAKSHAK 934226296617 -NA

984 PRD20098 ANOKHE LAL SURYAPRASAD RAM RAJI 01/01/1970 MALE OBC 167 88 8 PASS --Select-- RAKSHAK 558183861248 -NA

985 PRD20105 HARI RAM SUKAT SON MATI 07/05/1976 MALE OBC 169 90 5 PASS -NA RAKSHAK 431080841923 -NA

986 PRD20157 JAGANNATH PRASAD VERMA KRIPARAM VERMA 15/09/1982 MALE OBC 169 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 218884788192 -NA

987 PRD20211 OM PRAKASH BHAGAUTI PRASAD SHANTI DEVI 02/07/1983 MALE SC 167 85 8 PASS --Select-- RAKSHAK -NA -NA

988 PRD20242 SHITAL SINGH FATEBAHADUR BHUTA SINGH 23/07/1969 MALE GENERAL 172 95 10 PASS --Select-- RAKSHAK 207367087461 -NA

989 PRD20253 RAMPRATAP GANGARAM GNGA JALI 15/07/1972 MALE OBC 170 95 8 PASS --Select-- RAKSHAK 587156623309 -NA

990 PRD20259 DINESH KUMAR BAB DEEN PARVATI DEVI 10/07/1983 MALE SC 169 90 10 PASS --Select-- RAKSHAK 562721616149 -NA

991 PRD20275 JAGDISH PRASAD DHANAPAT DULARA DEVI 01/01/1985 MALE OBC 170 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 742887526375 -NA

992 PRD20288 GUR PEASAD DURGA PRASAD LACHHMI DEVI 10/03/1987 MALE OBC 168 95 8 PASS --Select-- RAKSHAK 646363370372 -NA

993 PRD20293 HRIDYA NARAYAN DUBAR RAMRAJI 01/01/1972 MALE GENERAL 172 95 8 PASS --Select-- RAKSHAK 231919804225 -NA

994 PRD20401 DINESH KUMAR SINGH RAJ BAHADUR SINGH SHKUNTALA 15/03/1977 MALE GENERAL 170 90 10 PASS --Select-- RAKSHAK 680956635855 -NA

995 PRD20413 MANOJ VISHVNATH FULMATI 09/07/1983 MALE SC 170 90 8 PASS -NA- RAKSHAK 827552865908 FQCPM1289Q

996 PRD20435 MEHESH PRSAD RAMDEV RANI DEVI 16/01/1983 MALE --Select-- 168 86 8 PASS --Select-- RAKSHAK 631173425401 -NA

997 PRD20487 SUSHIL KUMAR MISHRA KAMLESHWAR 01/01/1976 MALE GENERAL 169 90 8 PASS -NA RAKSHAK 786842404132 -NA

998 PRD20495 MEENA DEVI MAEJILAL VEESRI DEVI 10/06/1991 FEMALE ST 168 90 12 PASS --Select-- RAKSHAK 453802174422 -NA

999 PRD20496 BABU RAM RAMJAS JANKI DEVI 09/09/1967 MALE OBC 169 88 5 PASS -NA RAKSHAK 867168134144 -NA

1000 PRD20499 RAJU VISHVNATH SONI DEVI 01/01/1977 MALE OBC 169 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 798159111793 -NA

1001 PRD20500 ABDUI AJIJ BAKRIDI NAJIRAN 15/12/1962 MALE OBC 170 89 10 PASS --Select-- RAKSHAK 425394590882 -NA

user image Arvind Swaroop Kushwaha - 08 May 2021 at 4:42 PM -

prd bahraich 14936 se 17452 tak

क्रम संख्या, एप्लीकेशन नं0, स्वयंसेवक का नाम, पिता का नाम, माता का नाम, जन्मतिथि, लिंग, श्रेणी, लम्बाई(सेमी0), सीना(सेमी0), शिक्षा, विशेष योग्यता, पोस्ट/पद, आधार नं0, पैन नं0,

808 PRD14936 PARIKRAMA PRASAD PATIRAM PATEN DEVI 12/01/1972 MALE OBC 168 85 8 PASS --Select-- RAKSHAK 769300893788 -NA

809 PRD14947 SHYAM SINGH CHUNMUN SINGH SONADEVI 15/07/1963 MALE GENERAL 170 90 8 PASS -NA- RAKSHAK 883687687562 -NA-

810 PRD14957 SURENDRA NATH RAM FERAN KPAS DEVI 03/02/1966 MALE GENERAL 168 85 10 PASS --Select-- RAKSHAK 752537914968 -NA

811 PRD14974 RAJENDRA NATH SANTRAM GANGA DEVI 01/01/1962 MALE GENERAL 165 32 8 PASS --Select-- RAKSHAK -NA -NA

812 PRD14980 DURGA PRASAD BARATI LAL GULABA 05/01/1964 MALE OBC 170 85 8 PASS --Select-- RAKSHAK 326054401404 -NA

813 PRD14992 RAMESH KUMAR YADAVA PUTTILAL KAOSHALYA 10/02/1973 MALE OBC 168 84 12 PASS --Select-- RAKSHAK 598525918049 AWZPY8166

814 PRD15000 BUDHRAM SANEHI NANKAE 05/10/1969 MALE SC 166 85 5 ... PASS --Select-- RAKSHAK 850467525823 -NA

815 PRD15011 JWALA PRASAD SHYAM SUNDAR RAJWANTI 01/02/1966 MALE GENERAL 168 85 5 PASS --Select-- RAKSHAK 200258901036 -NA

816 PRD15019 RAMRUP SHREERAM HARIVANSHA 30/09/1967 MALE OBC 168 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 829706701484 -NA

817 PRD15026 UMESH KUMAR LALAI PARSAD PREMADEVI 20/07/1976 MALE OBC 168 85 10 PASS --Select-- RAKSHAK 296245856156 HLKPK0865H

818 PRD15030 RAM SAMUJH AVADH RAM MINNI DEVI 10/07/1971 MALE OBC 168 85 5 PASS --Select-- RAKSHAK 594640836791 -NA

819 PRD15034 TILAKRAM BUDHAI SUSHAMA 22/09/1967 MALE SC 166 85 8 PASS --Select-- RAKSHAK 210997226689 -NA

820 PRD15038 PRAMOD KUMAR SHUKLA RADHESHYAM UMADEVI 03/04/1972 MALE GENERAL 172 95 8 PASS --Select-- RAKSHAK 334345215442 -NA

821 PRD15040 SANTOSH NAURANG MAURYA PHEKANI DEVI 01/01/1975 MALE OBC 170 90 5 PASS --Select-- RAKSHAK 454827020971 -NA

822 PRD15163 PRAHALAD RADHESHYAM SUKA 26/12/1965 MALE GENERAL 170 85 8 PASS --Select-- RAKSHAK 357694865153 -NA

823 PRD15164 JAGAT NARAIN SHANKAR SAVARA 10/08/1984 MALE OBC 170 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 211073471143 -NA

824 PRD15168 AJMAT ALI SABIR ALI JIYARA 01/01/1965 MALE OBC 170 95 5 PASS --Select-- RAKSHAK 740759037330 -NA

825 PRD15170 RAMCHANDAR CHUNNU LAL KLAVATI 01/09/1969 MALE SC 170 89 8 PASS --Select-- RAKSHAK 939352824747 -NA

826 PRD15186 TAULE RAM RAM MANORATH MNGALADEVI 12/07/1970 MALE SC 170 95 8 PASS --Select-- RAKSHAK 929624497907 -NA

827 PRD15241 MOTI LAL DEVTADEEN RAM LALI 15/04/1971 MALE OBC 170 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 407083906189 AZTPL2910Q

828 PRD15254 SHER ALI AJMAT ALI SHAYRUNNISHA 01/06/1964 MALE OBC 168 89 8 PASS --Select-- RAKSHAK 319903139690 DHEPA2539C

829 PRD15271 RAMESH CHANDRA BABU RAM SUNDARA DEVI 01/01/1968 MALE GENERAL 168 86 8 PASS --Select-- RAKSHAK 448527770255 -NA

830 PRD15282 RAJIT RAM MANSHARAM PHULA DEVI 10/08/1978 MALE OBC 170 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 802608863940 -NA

831 PRD15307 SITA DEVI ASHOK KUMAR SHANTI DEVI 07/11/1992 FEMALE OBC 158 95 10 PASS --Select-- RAKSHAK 431749138511 GVVPD4267

832 PRD15312 RAM SARAN RAM GULAM KURSANDA SHIRI MATI 03/01/1967 MALE OBC 169 85 8 PASS --Select-- RAKSHAK 913158270579 LYRPS8288Q

833 PRD15315 BEER BAHADUR MISHRA RAM LAKHAN SAROOJANI MISHRA 20/05/2010 MALE GENERAL 168 85 8 PASS --Select-- RAKSHAK 816934320692 DENPM0458A

834 PRD15321 MKJGAHH GDTHYGJ JANKI 05/07n1969 MALE OBC 170 8590 8 PASS -NA- RAKSHAK 795839144618 -NA-

835 PRD15328 PANKAJ KUMAR MISHRA AYODHYA PEASAD MISHRA MUNNI DEVI 09/05/1995 MALE GENERAL 168 85 10 PASS -NA- RAKSHAK 925173897947 DVMPM7527L

836 PRD15338 AKHALERSH KUMAR JAGDISH PRASAD JAGAPATA 10/02/1978 MALE GENERAL 168 89 8 PASS --Select-- RAKSHAK 906121549345 -NA

837 PRD15344 GANESH SHREERAM NANKAE 30/05/1977 MALE OBC 170 86 5 PASS --Select-- RAKSHAK 707083015487 -NA

838 PRD15351 RAKESH KUMAR MISHRILAL SARAJU DEVI 30/10/1970 MALE GENERAL 178 95 8 PASS --Select-- RAKSHAK 401496269283 JTQPK7402C

839 PRD15493 NIRANKAR PRASAD URF UMESH DATT PATHAK SAHAJ RAM PATHAK LEELAVATI 01/08/1967 MALE GENERAL 170 95 8 PASS --Select-- RAKSHAK 755077875260 -NA

840 PRD15500 AYODHYA PRASAD VERMA PARAS NATH SHYAMVATI 11/02/1981 MALE OBC 170 90 12 PASS --Select-- RAKSHAK 375101462122 -NA

841 PRD15510 KAILASH BHAGAUTI RAM KALI 01/01/1970 MALE OBC 170 95 5 PASS --Select-- RAKSHAK 983669402820 -NA

842 PRD15513 RAM PULIS RAM LAKHAN SUNDRA 01/01/1972 MALE OBC 170 95 5 PASS --Select-- RAKSHAK 873107494311 -NA

843 PRD15518 DHRUPRAJ SINGH SHIVNATH SINGH USHUMATI DEVI 15/11/1962 MALE GENERAL 172 95 8 PASS --Select-- RAKSHAK 943341902176 -NA

844 PRD15523 TULSIRAM KASHIRAM JADURAI 01/08/1968 MALE OBC 172 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 533058173211

845 PRD15640 MD ANEES MD NAEEM SAEDA BEGAM 15/07/1988 MALE OBC 168 90 10 PASS --Select-- RAKSHAK 991111385425 -NA

846 PRD15660 KANDHAI LAL PUTTILAL MAYAWATI 07/07/1964 MALE OBC 168 89 8 PASS --Select-- RAKSHAK 831295948449 BDGPL0868P

847 PRD15687 TRIPURARI LAL VENI MADHAV MUNNI DEVI 20/04/1974 MALE GENERAL 168 85 10 PASS --Select-- RAKSHAK 706471692709 -NA

848 PRD15702 RAMNANADAN SHRMA JAGAT NARAYAN RAMPIYARI 03/05/1969 MALE GENERAL 170 86 8 PASS --Select-- RAKSHAK 562517253089 NBNPS2036F

849 PRD15714 RAMYAGYA TRIBHUVAN DATT MISHRA SURYKALADEVI 03/03/1968 MALE GENERAL 168 89 12 PASS --Select-- RAKSHAK 515362524190 -NA

850 PRD15720 VINODHYACHAL BHAGAUTI HANSADEVI 01/01/1974 MALE OBC 168 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 470870064842 -NA

851 PRD15742 PAWAN KUMAR CHOTELAL SHEELA DEVI 20/07/1991 MALE SC 169 89 10 PASS -NA RAKSHAK 401115495968 -NA

852 PRD15760 RAMSAGAR CHOTELAL RAJ RANI 01/01/1969 MALE SC 170 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 512199811163 -NA

853 PRD15915 JASKARAN LAL SHRI RAM LALUHI KAMLA DEVI 01/01/1970 MALE ST 170 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 308106655308 -NA

854 PRD15926 RAM RAJ DUKH HARAN GORA 30/12/1972 MALE OBC 168 86 8 PASS --Select-- RAKSHAK 858508361331 -NA

855 PRD15951 JAGDEESH PRSAD PRABHU DEAEE PARBHU DEVI 03/09/1969 MALE SC 168 86 12 PASS --Select-- RAKSHAK 757758464282 -NA

856 PRD15952 JAGDEESH PRSAD PRABHU DEAEE PARBHU DEVI 03/09/1969 MALE SC 168 86 12 PASS --Select-- RAKSHAK 757758464282 -NA

857 PRD15967 RAMDAS MAHAN LAL RAJRANI 15/02/1976 MALE OBC 170 95 8 PASS --Select-- RAKSHAK 870786024481 -NA

858 PRD15980 BUDHAI JVALA PRASAD MAYADEVI 24/01/1972 MALE GENERAL 170 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 209604361851 -NA

859 PRD15988 SANJAY KUMAR PATHAK SATYA DEV PATHAK GAYTRI DEVI 09/07/1975 MALE GENERAL 170 95 8 PASS --Select-- RAKSHAK 833069447150 -NA

860 PRD15993 KAILAS NATH BRIJH LAL RAM KLA 01/01/1970 MALE OBC 170 89 8 PASS --Select-- RAKSHAK 453419884576 -NA

861 PRD16000 LALTA SANTRAM GVALIN 01/01/1963 MALE OBC 168 82 5 PASS --Select-- RAKSHAK 340125283912 BISPL9391

862 PRD16008 GIRISH RAM PRAKASCH SAVITARI DEVI 05/07/1965 MALE OBC 170 90 10 PASS --Select-- RAKSHAK 652086625527 -NA

863 PRD16013 MISHRI LAL SANGI DAS VRRTANA 01/01/1980 MALE SC 168 86 5 PASS --Select-- RAKSHAK 274758787124 -NA

864 PRD16016 SHIV SHANKAR LAL SIYARAM SUKHDEI Invalid date MALE OBC 167 89 8 PASS --Select-- RAKSHAK 469256610170 -NA

865 PRD16017 KAMATA RAMADAS SANTOSH DAS 01/01/1970 MALE OBC 168 89 8 PASS --Select-- RAKSHAK 306109876058 -NA

866 PRD16112 DULARE PANCHU BHAGAWANA 01/01/1964 MALE SC 168 90 5 PASS --Select-- RAKSHAK 853380386813 -NA

867 PRD16131 RAMPHERAN VERM LAXMI NARAYAN PRADH PATI 01/05/1968 MALE OBC 168 95 8 PASS --Select-- RAKSHAK 396470334859 -NA

868 PRD16139 ANARRUDRA KRAPARAM SANTOSH PATHAK 20/05/1973 MALE GENERAL 170 86 10 PASS --Select-- RAKSHAK 834364243254 DGDPA2770P

869 PRD16144 SHIV NANDAN BENI MADHAV MANAO RANI 31/12/1975 MALE OBC 170 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 264010855460 -NA

870 PRD16152 RAJESH KUMAR PRAHLAD VINITA 22/03/1977 MALE SC 169 85 8 PASS --Select-- RAKSHAK 318972084697 -NA

871 PRD16156 NANDKISOR SIPAHILAL MAHESADEVI 01/10/1979 MALE SC 170 85 5 PASS --Select-- RAKSHAK 269497670646 -NA

872 PRD16171 DASHRATH DEEN SUKHLAL SOHANI 18/10/1972 MALE OBC 170 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 324087886673 -NA

873 PRD16192 GAURISHNKAR CHANGA URBASI 01/01/1970 MALE OBC 170 80 8 PASS --Select-- RAKSHAK 781555449615 DDNPG7992E

874 PRD16198 SEETA RAM BABU RAM BADHNKI 31/08/1972 MALE ST 166 86 8 PASS --Select-- RAKSHAK 771317791610 -NA

875 PRD16207 JAVAHAR LAL BABADIN PFULANDEVI 01/01/1968 MALE SC 170 85 8 PASS --Select-- RAKSHAK 858730287590 BISPL2546P

876 PRD16214 VIVEKA NAND AMIRKA PRASAD RAJ RANI 25/06/1975 MALE OBC 169 89 12 PASS --Select-- RAKSHAK 812522603756 BIEPN4841F

877 PRD16222 SURESH KUMAR LAXMINARAYAV LXAMIDEVI 09/08/1986 MALE OBC 168 90 5 PASS --Select-- RAKSHAK 487022748870 -NA

878 PRD16226 RAJESH KUMAR VERMA CHUNNI LAL MONNI 10/01/1978 MALE OBC 168 85 8 PASS --Select-- RAKSHAK 591508628176 BRZPU7864E

879 PRD16456 VINOD KUMAR JAGANNATH PRASAD PATHAK YASHODHA DEVI 10/05/1974 MALE GENERAL 168 90 10 PASS -NA RAKSHAK 678352846715 -NA

880 PRD16560 RAJENDARSINGH NIRMAN SINGH RAMA 15/06/1970 MALE GENERAL 169 89 8 PASS --Select-- RAKSHAK 265195991095 -NA

881 PRD16566 ARVIND KUMAR GUPTA LATE-VIJAY KUMAR GUPTA SAVITREI DEVI 07/06/1965 MALE OBC 168 95 8 PASS --Select-- RAKSHAK 760134631395 -NA

882 PRD16574 ARJUN PRATAP NARAYAN MANCHINTA DEVI 01/01/1973 MALE GENERAL 170 95 8 PASS --Select-- RAKSHAK 462847013713 EABPA4685L

883 PRD16584 UDAYRAJ RAMSAMUJH TARA DEVI 01/01/1985 MALE SC 168 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 789531005346 AMKPU7724P

884 PRD16588 SHANKAR LAL PYARE LAL NITA DEVI 01/01/1970 MALE SC 168 85 8 PASS --Select-- RAKSHAK 299224743276 -NA

885 PRD16592 MANOHAR NANKAOO PRSAD MAURYA SARJU DEAYI 01/01/1968 MALE OBC 169 85 8 PASS --Select-- RAKSHAK 585704730919 -NA

886 PRD16596 MUNNILAL HANUMAN PRASAD SITA 01/01/1976 MALE OBC 169 88 8 PASS --Select-- RAKSHAK 621594467627 -NA

887 PRD16599 SAMAY DEEN JANKI KAOSHIMYA 01/01/1974 MALE OBC 172 95 8 PASS --Select-- RAKSHAK 225847375353 -NA

888 PRD16670 PAPPU SHIV SAHAY RAMBACCHI 04/06/1980 MALE OBC 171 91 8 PASS --Select-- RAKSHAK 628730775402 -NA

889 PRD16717 HARI RAM DATA RAM SUGHARA 01/01/1970 MALE SC 170 89 5 PASS --Select-- RAKSHAK 477469024715 -NA

890 PRD16725 SAHAJ RAM AMIRIKA JAGRANI 20/07/1970 MALE OBC 168 90 5 PASS --Select-- RAKSHAK 218404674780 -NA

891 PRD16749 RAMADAL RAQM ADHAR ANARA DEVI 15/01/1965 MALE GENERAL 169 85 5 PASS --Select-- RAKSHAK 858542507902 -NA

892 PRD16753 KAILASH NATH BHAGAUTI PRSAD JAGDEYE 07/07/1971 MALE SC 167 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 631504510048 -NA

893 PRD16765 RAMPAL SAMAY DEEN GUMANA 01/01/1971 MALE SC 172 92 8 PASS --Select-- RAKSHAK 367970546012 -NA

894 PRD16958 SHIV KUMAR SINGH DEEN DAYAL KUSUMLATA DEVI 17/05/1968 MALE GENERAL 170 91 8 PASS -NA RAKSHAK 420569196678 -NA

895 PRD16971 ARJUN MISHRA MUNIJAR MISHRA MAYA DEVI 01/01/1975 MALE GENERAL 172 95 8 PASS --Select-- RAKSHAK 410375787303 -NA

896 PRD17001 HANOMAN MOTI RATANA 01/01/1983 MALE OBC 170 88 8 PASS --Select-- RAKSHAK 8957336891 BLLPH1162D

897 PRD17007 RUDRA PRATAP SINGH RANVEER SINGH MINA 15/05/1975 MALE GENERAL 170 90 12 PASS --Select-- RAKSHAK 708073278945 -NA

898 PRD17016 TARACHANDRA RAMAKHELAVAN RAJRANI 05/10/1970 MALE OBC 172 95 8 PASS --Select-- RAKSHAK 939496109806 -NA

899 PRD17047 RAM PAL RARI GHUMKADEVI 01/01/1970 MALE OBC 168 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 247076583492 -NA

900 PRD17051 BAKELAL SALIK RAM RUPRANI 01/01/1970 MALE OBC 168 89 8 PASS --Select-- RAKSHAK 982305629526 -NA

901 PRD17159 INDAL PRASAD BADLOO RUPA 02/11/1975 MALE GENERAL 171 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 629639221387 -NA

902 PRD17398 GIRDHARILAL BABADIN JANKI DEVI 30/03/1972 MALE GENERAL 167 90 10 PASS --Select-- RAKSHAK 493033029545 -NA

903 PRD17400 RAM DULARE MOHAN LAL PAYRA DEVI 01/01/1975 MALE SC 168 85 8 PASS --Select-- RAKSHAK 909819494156 -NA

904 PRD17431 BAIJNATH KAMAL DASH KALAVTI DEVI 25/06/1981 MALE SC 168 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 262773707987 -NA

905 PRD17443 VINOD KUMAR VERMA RAM MILAN RUKMANI 10/12/1984 MALE OBC 180 95 GRADUATE DRIVER RAKSHAK 579269530845 APDPV6946A

906 PRD17452 GANGARAM BHAGAUTI SHANTI 01/09/1962 MALE OBC 168 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 301238655390 -NA

user image Arvind Swaroop Kushwaha - 08 May 2021 at 4:36 PM -

prd bahraich 13509 se 14868 tak

क्रम संख्या, एप्लीकेशन नं0, स्वयंसेवक का नाम, पिता का नाम, माता का नाम, जन्मतिथि, लिंग, श्रेणी, लम्बाई(सेमी0), सीना(सेमी0), शिक्षा, विशेष योग्यता, पोस्ट/पद, आधार नं0, पैन नं0,

706 PRD13509 DHARNIDHAR BHAGWATI PRASD MATESAWARIDEVI 01/12/1997 MALE GENERAL 169 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 388729689889 -NA

707 PRD13521 GOPI CHUNNILAL ANARKALI 01/01/1967 MALE OBC 170 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 783494983411 -NA

708 PRD13530 GUDDU ASAGAR ALI TARA 01/01/1980 MALE GENERAL 170 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 828646916926 -NA

709 PRD13541 RAM PRATAP SWAMI DAYAL JAL BARSA 02/08/1983 MALE Sc 170 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 528136725194 -NA

710 PRD13553 MANGAL PRASAD VERMA KUNJILAL VERMA PUJA DEVI 18/07/1986 MALE OBC 170 95 8 PASS --Select-- RAKSHAK 404156062063 -NA

711 PRD13562 RAM MURTI RAM CHANDAR KALAWATI 20/09/1964 MALE GENERAL 170- 90 10 PASS --Select-- RAKSHAK 880232759020 -NA

712 PRD13567 MALKHAN SINGH BIRENDRA SINGH RAMA ... DEVI 01/01/1980 MALE GENERAL 170 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 964472607670 -NA

713 PRD13575 RAJENDRA SINGH RAM PAL RAM BACHAN 20/07/1972 MALE GENERAL 170 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 483791963522 -NA

714 PRD13584 SUSHIL KUMAR KISHORI LAL KESADHA KUMAR 09/07/1965 MALE GENERAL 170 89 10 PASS --Select-- RAKSHAK 500101050990 -NA

715 PRD13585 SUSHIL KUMAR KISHORI LAL KESADHA KUMAR 09/07/1965 MALE GENERAL 170 89 10 PASS --Select-- RAKSHAK 500101050990 -NA

716 PRD13591 TIRATH RAM BUDHAI PHEEMADEVI 01/01/1972 MALE SC 170 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 884119554548 -NA

717 PRD13598 MOHD SABIR KHAN FAIZNOOR KHAN SUGHRA 01/01/1964 MALE GENERAL 169 89 8 PASS --Select-- RAKSHAK 869740446729 -NA

718 PRD13600 YASHVANT KUMAR BACHCHULAL RAM KALI 20/04/1971 MALE SC 168 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 236087545243 -NA

719 PRD13605 RAM ROOP BABURAM GASOTHA 08/11/1972 MALE OBC 170 901 8 PASS --Select-- RAKSHAK 551831872215 -NA

720 PRD13606 HARINAYARAN BHOLE RATTI 10/01/1979 MALE SC 170 92 8 PASS --Select-- RAKSHAK 440262721830 -NA

721 PRD13611 SAFEEK KHAN ABDUL RAHMAN MARIYAM 02/05/1984 MALE GENERAL 174 94 8 PASS --Select-- RAKSHAK 391057726005 -NA

722 PRD13618 SANTOSH KUMAR GANESH PRASAD PREMA DEVI 12/10/1990 MALE SC 168 91 8 PASS --Select-- RAKSHAK 406626097826 -NA

723 PRD13625 BAJARANG BAHADUR NISHAD FOOLCHAND RAJKUMARI 01/02/1988 MALE OBC 172 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 807211942215 -NA

724 PRD13628 SURESH CHANDR GURU PRASAD SUKHDEYAE 01/01/1976 MALE GENERAL 170 89 8 PASS --Select-- RAKSHAK 250292207583 -NA

725 PRD13630 ASHOK KUMAR DUKH HARAN PHOOL MATI 15/10/1986 MALE SC 170 92 8 PASS --Select-- RAKSHAK 250731219631 -NA

726 PRD13635 FOOL CHAND BHAGUTI SAVITRI 16/11/1990 MALE SC 170 91 8 PASS --Select-- RAKSHAK 329737740615 -NA

727 PRD13639 LCHMAN PRASAD RAM GULAM JANKI DEVI 05/02/1989 MALE GENERAL 167 92 8 PASS --Select-- RAKSHAK 372320853418 -NA

728 PRD13640 SANJAY KUMAR BHOLANATH RAMWATI 17/05/1982 MALE GENERAL 172 95 8 PASS --Select-- RAKSHAK 452772627550 -NA

729 PRD13643 KAMAL KISHOR CHETRAM PARVATI DEVI 17/04/1986 MALE SC 168 91 8 PASS --Select-- RAKSHAK 755481163998 -NA

730 PRD13646 RAVINDRA RAM KHELAVAN LALALI DEVI 21/08/1984 MALE OBC 170 85 8 PASS --Select-- RAKSHAK 715294326995 -NA

731 PRD13937 RAM SAHARE JOKHAN PHOOLAN DEVI 24/09/1984 MALE SC 170 92 8 PASS --Select-- RAKSHAK 568324717572 NDIPS1321A

732 PRD13938 RAM CHABILE GAYADIN KABUTRA DEVI 01/01/1983 MALE SC 171 91 8 PASS --Select-- RAKSHAK 846964543491 -NA

733 PRD13939 RAM VILAS VERMA RAM RUP GANGA JALI 05/11/1976 MALE SC 168 91 8 PASS --Select-- RAKSHAK 888220233367 -NA

734 PRD13941 JAGAT RAM BAALE RAM CHANDRA KALI 01/05/1974 MALE SC 170 91 8 PASS --Select-- RAKSHAK 527587684921 -NA

735 PRD13943 PRAMOD MINIJER JAGPATA 01/01/1977 MALE SC 168 91 8 PASS --Select-- RAKSHAK 688782018704 -NA

736 PRD13953 KAILASH NATH ORI LAL ROOPRANI 01/01/1970 MALE SC 169 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 272667460821 -NA

737 PRD14014 RAM MILAN RAMLAL SANTI DEVI 01/07/1963 FEMALE SC 170 90 GRADUATE --Select-- RAKSHAK 258374510100 -NA

738 PRD14025 PAWAM KUMAR SWAMIDEEN PRBHAWATI 20/10/1990 MALE SC 170 90 8 PASS -NA- RAKSHAK 871254017775 -NA-

739 PRD14037 KHEL MOHMMAD RAMJAAN RAJAJI 01/01/1980 MALE OBC 170 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 990428101248 -NA

740 PRD14049 RADHESHYAM HEERA LAL MULKA 13/12/1996 MALE GENERAL 170 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 329240425233 -NA

741 PRD14056 RAMAKANT LALBHADUR RAM JANKI 01/01/1968 MALE GENERAL 168 90 10 PASS --Select-- RAKSHAK 641609618830 -NA

742 PRD14064 AJIJ GOBARE RAHIMA 01/01/1973 MALE OBC 170 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 820286449692 DZTPA0873E

743 PRD14087 SATI PRASAD BADLU PUSAPA DEVI 01/01/1967 MALE OBC 170 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 554707270565 -NA

744 PRD14103 RADHEY SHYAM BRIZMOHAN SHANTI DEVI 20/07/1971 MALE OBC 170 90 5 PASS --Select-- RAKSHAK 517116449111 -NA

745 PRD14106 GAURI SHANKAR RAMTIRATH RAM KUMARI 08/10/1966 MALE GENERAL 170 91 10 PASS --Select-- RAKSHAK 628778387879 -NA

746 PRD14110 MUNNA LAL SARV JEET PHOOL MATI 01/01/1970 MALE SC 170 91 8 PASS --Select-- RAKSHAK 681120167712 -NA

747 PRD14113 SRIRAM MAURYA SURYA LAL PARVATYI DEVI 01/04/1967 MALE OBC 170 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 578071623449 -NA

748 PRD14115 BHANU PRATAP JAGRAM KALAVATI 10/07/1976 MALE SC 170 91 10 PASS --Select-- RAKSHAK 321233895811 -NA

749 PRD14121 DILEEP KUMAR MANEERAM VIMLADEVI 04/06/1984 MALE SC 170 92 8 PASS --Select-- RAKSHAK 610487948553 -NA

750 PRD14124 HUKUM RAJ TALUKDAR RAMADEVI 01/01/1976 MALE OBC 170 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 716853928579 ANKPV7109E

751 PRD14126 DEVBAKHSH SINGH LALTA SINGH KAMLA SINGH 15/08/1965 MALE GENERAL 172 92 12 PASS --Select-- RAKSHAK 396834505393 -NA

752 PRD14130 ROJ ALI BABADEEN HASINA 28/03/1965 MALE GENERAL 169 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 765408849429 -NA

753 PRD14197 IDREESH BAUR KULSUM 01/01/1966 MALE GENERAL 168 90 5 PASS --Select-- RAKSHAK 489965663600 -NA

754 PRD14199 NIYAMAT ALI LIYAKAT ALI JAKROON 01/07/1975 MALE GENERAL 170 92 8 PASS --Select-- RAKSHAK 600399880543 -NA

755 PRD14204 SHARIF ALI UMMED ALI MUKHTIYARAN 02/02/1968 MALE GENERAL 169 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 367580081666 -NA

756 PRD14209 KAILASH PEHELWAN RAMAVATI 01/01/1969 MALE SC 167 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 969327815130 -NA

757 PRD14212 MUNESAR HIRALAL MEDHKI 01/01/1965 MALE SC 167 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 712445508551 -NA

758 PRD14222 SGYA LAL SHRI VIPAT PARWATI 18/03/1971 MALE OBC 168 89 8 PASS --Select-- RAKSHAK 215223428679 BILPL9807Q

759 PRD14232 UDAYRAJ SANTRAM ANARADEVI 09/04/1982 MALE OBC 170 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 649128558447 -NA

760 PRD14257 VEERENDAR KUMASR SHARAMA BHAGAUTI PRASAD RUPRANI 01/01/1968 MALE GENERAL 169 86 12 PASS --Select-- RAKSHAK 270879818011 -NA

761 PRD14271 RAJ KISHOR SHYAM SUNDAR SUNDAR PATI 01/05/1967 MALE GENERAL 168 85 10 PASS --Select-- RAKSHAK 341966500326 -NA

762 PRD14279 SUSHIL KUMAR DYASNKAR AKBAL DEVI 01/01/1972 MALE GENERAL 170 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 7800023824 -NA

763 PRD14290 PHOOLMALA PATAN DEN RANI DEVI 01/01/1984 FEMALE SC 156 95 10 PASS --Select-- RAKSHAK 479658990133 -NA

764 PRD14303 DUKHAHARAN BALAK RAM SANTI DEVI 05/09/1961 MALE OBC 165 80 10 PASS --Select-- RAKSHAK 959627203959 -NA

765 PRD14314 REKHA SINGH PRAHLAD SINGH RANI SINGH 05/06/1988 FEMALE GENERAL 168 90 12 PASS --Select-- RAKSHAK 407438227425 -NA

766 PRD14319 RAMLAL RAM PYARE RAJ KUMARI 01/01/1979 MALE SC 168 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 802363829902 -NA

767 PRD14333 RAJJAB ALI NANKAU RAJIYA 15/10/1966 MALE OBC 172 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 257743666763 -NA

768 PRD14338 VBACHA NATH JOGA PHOOL MATI 01/01/1975 MALE OBC 170 95 8 PASS --Select-- RAKSHAK 568365200884 -NA

769 PRD14352 RAM CHANDAR SANVALI RAJ DAEE 13/12/1965 MALE SC 168 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 974251279492 -NA

770 PRD14364 PRADEEP KUMAR RAM KARAN SUNITA DEVI 01/01/1991 MALE SC 171 93 8 PASS --Select-- RAKSHAK 705528798536 -NA

771 PRD14365 MUKESGH KUMAR MANIRAM KAMALA DEVI 01/01/1990 MALE OBC 170 85 8 PASS --Select-- RAKSHAK 271901 -NA

772 PRD14369 IKBAL BAHADUR BENI PRASAD SAVITRI DEVI 15/02/2021 MALE SC 170 90 8 PASS -NA- RAKSHAK 843359505945 -NA-

773 PRD14375 MADHAVRAJ AYODHYA PRASAD PATI RAJA 30/10/1981 MALE SC 169 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 376018155171 -NA

774 PRD14377 KIRPARAM RAM PRASAD KRSHDADEVI 20/08/1992 MALE OBC 170 89 8 PASS --Select-- RAKSHAK 437685636288 EHVPK9185

775 PRD14378 MEERA DEVI VEDH PRAKASH MAYA DEVI 30/06/1994 FEMALE SC 158 92 12 PASS --Select-- RAKSHAK 461081181184 -NA

776 PRD14429 RAJESH KUMAR TIWARI KAILASH NATH TIWARI PRAN DEVI 01/11/1979 MALE GENERAL 170 90 12 PASS --Select-- RAKSHAK 288898395166 BZWPT4661E

777 PRD14455 MADHAV RAM BAUR PHOOL MATI 01/01/1985 MALE SC 167 89 8 PASS --Select-- RAKSHAK 837897010689 -NA

778 PRD14463 SUNIL KUMAR RAM PRAGAT SHAKUNTALA 01/01/1974 MALE SC 170 90 10 PASS --Select-- RAKSHAK 860493305919 -NA

779 PRD14470 SATESH KUMAR SINGH HARI MOHAN SINGH RAJRANI DEVI 05/02/1986 MALE GENERAL 170 91 12 PASS --Select-- RAKSHAK 238303316351 -NA

780 PRD14559 PARAS NATH YADAV KHEDU CHEDANA 10/12/1969 MALE OBC 169 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 296379068178 -NA

781 PRD14561 HARDAYAL SAKTU SHAKUNTALA 01/01/1972 MALE SC 170 89 5 PASS --Select-- RAKSHAK 742058434359 -NA

782 PRD14562 OM PRAKASH KAILASH NATH KETHKI DEVI 01/08/1986 MALE GENERAL 170 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 381261405140 ADFPO0005R

783 PRD14618 JAHDEESH VERMA TRIBHAVAN RANI 15/07/1965 MALE GENERAL 168 85 8 PASS --Select-- RAKSHAK 895603028496 -NA

784 PRD14659 MALTI PRASAD SHIVNATH PHOOLMATI 01/01/1972 MALE OBC 168 80 8 PASS --Select-- RAKSHAK 702399756835 -NA

785 PRD14667 RAM DHIRAJ BABURAM JASHODA 01/01/1974 MALE SC 170 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 680419146074 -NA

786 PRD14678 JUMMAN BALE RAJIYA 01/03/1967 MALE GENERAL 168 85 8 PASS --Select-- RAKSHAK 869682379617 -NA

787 PRD14682 KUNJ BIHARI BABU RAM SHANTI DEVI 31/01/1969 MALE OBC 168 85 5 PASS --Select-- RAKSHAK 911644099296 -NA

788 PRD14689 PINTOO DEVI PUTTI LAL SHANTI DEVI 08/05/1990 MALE SC 158 91 GRADUATE --Select-- RAKSHAK 3803223832987 -NA

789 PRD14694 SALIK NANKAU SURSHATI 25/02/1971 MALE OBC 170 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 912098203375 -NA

790 PRD14700 ATMARAM CHATRAPAL SUNITA 01/01/1979 MALE OBC 170 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 260519230094 -NA

791 PRD14705 VINOD ASHARAM LACHAMI DEVI 10/01/1985 MALE SC 169 85 8 PASS --Select-- RAKSHAK 356206523282 -NA

792 PRD14708 VATISH KUMAR PATHAK DEENA NATH PATHAK CHANDRAVATI 30/06/1987 MALE GENERAL 170 86 12 PASS --Select-- RAKSHAK 373055720208 -NA

793 PRD14713 RADHESHYAM GHAGRU RAM PYARA 01/11/1967 MALE SC 168 85 10 PASS --Select-- RAKSHAK 512979648134 -NA

794 PRD14715 RAMESH KUMAR DAYA RAM BABALI 10/10/1966 MALE SC 169 85 5 PASS --Select-- RAKSHAK 418265669431 -NA

795 PRD14794 MANOJ DEVI DANBHADUR SINGH SUNDRAVATI 10/04/1982 MALE GENERAL 168 95 10 PASS --Select-- RAKSHAK 420013434396 -NA

796 PRD14810 RAM PRVESH PAIRU DAS RAJ RANI DEVI 20/06/1993 MALE SC 175 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 589244894802 -NA

797 PRD14812 NANKAOO SINGH BAJRANG SINGH KAMLADEVI 02/01/1972 MALE GENERAL 168 89 8 PASS --Select-- RAKSHAK 945706257286 -NA

798 PRD14817 RARISHCHANDRA RAM MILAN PUSHPA DEVI 30/06/1970 MALE SC 168 80 10 PASS --Select-- RAKSHAK 289562924205 -NA

799 PRD14820 VIDYARAM BABURAM GEETA DEVI 01/03/1967 MALE OBC 166 85 5 PASS --Select-- RAKSHAK 472464654431 BQHPV8661

800 PRD14828 ANANT RAM RADESHYAM KAPTRA DEVI 03/02/1981 MALE SC 168 85 8 PASS --Select-- RAKSHAK 415984506277 -NA

801 PRD14837 TILAKRAM POORAN SEETA DEVI 10/01/1967 MALE SC 169 85 5 PASS --Select-- RAKSHAK 830796592789 -NA

802 PRD14845 JAGADEESH SUNDAR LAL MAURYA SRJUDAEE 01/07/1968 MALE OBC 170 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 936619499493 -NA

803 PRD14853 ANATARAM HATINAM CHNDRAWATI 02/11/1965 MALE GENERAL 168 86 12 PASS -NA- RAKSHAK 862599724247 -NA-

804 PRD14856 UMESH SINGH HARINATH SINGH MAMTA SINGH 17/07/1976 MALE GENERAL 170 90 12 PASS --Select-- RAKSHAK 3625817954828 -NA

805 PRD14857 KAMAL NARAYAN MANHAGU RAM KUMARI 01/10/1969 MALE OBC 169 85 10 PASS --Select-- RAKSHAK 518830465364 -NA

806 PRD14862 BRIJ LAL SAMAY DEEN PARWATI 01/01/1968 MALE OBC 168 85 8 PASS -NA- RAKSHAK 508557209114 ASVPL8739J

807 PRD14868 DUKHI RAM DHUM SHIWRAJA 30/12/1970 MALE SC 168 90 5 PASS --Select-- RAKSHAK 257423561681 -NA

user image Arvind Swaroop Kushwaha - 08 May 2021 at 4:26 PM -

prd bahraich 12403 se 13497 tak

क्रम संख्या, एप्लीकेशन नं0, स्वयंसेवक का नाम, पिता का नाम, माता का नाम, जन्मतिथि, लिंग, श्रेणी, लम्बाई(सेमी0), सीना(सेमी0), शिक्षा, विशेष योग्यता, पोस्ट/पद, आधार नं0, पैन नं0,

600 PRD12403 RAGHAV RAM RAJESWARI SHANTI DEVI 01/01/1965 MALE GENERAL 170 86 5 PASS --Select-- RAKSHAK 483652242363 -NA

601 PRD12419 DURGESH CHAND BABU LAL SHUSILA 01/10/1974 MALE SC 169 90 10 PASS --Select-- RAKSHAK 776566729082 -NA

602 PRD12424 AVADHES KUMAR SINGH CHANDRA BHAL SINGH SROGSNI 20/01/1975 MALE GENERAL 170 90 10 PASS --Select-- RAKSHAK 824770927115 -NA

603 PRD12525 MAHENDRA PAL TRIPATHI TRIBHUVAN DATT TRIPATHI RAM LALLI 06/03/1967 MALE GENERAL 169 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 677743836068 -NA

604 PRD12533 SUNDAR LAL JAGGU NANKEE 09/01/1974 MALE OBC 169 89 5 PASS --Select-- RAKSHAK 300136170970 AWHPL601F

605 PRD12548 RAMADAL JEEMEEDAR KOUSHALYA ... DEVI 01/09/1963 MALE OBC 167 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 423694783561 -NA

606 PRD12562 RAMTAJ INDRJEET SHULOCHANA 06/06/1972 MALE GENERAL 170 88 10 PASS --Select-- RAKSHAK 802400549117 DTKPR7506E

607 PRD12579 RAM KUMAR RAJIT RAM RAJ KUMARI 01/02/1978 MALE SC 170 90 5 PASS --Select-- RAKSHAK 812929670067 -NA

608 PRD12591 FAKHARUDEEN BAKRIDI AAJIGAN KHATUN 01/11/1975 MALE GENERAL 168 90 5 PASS --Select-- RAKSHAK 322535168280 -NA

609 PRD12598 AWADHESH KUMAR SINGH GULAB SINGH CHANDARMA DEVI 20/12/1972 MALE GENERAL 167 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 235385180033 -NA

610 PRD12604 SHOBHARAM TRIBHAVAN RANI DEVI 15/07/1979 MALE GENERAL 165 89 8 PASS --Select-- RAKSHAK 555982481826 -NA

611 PRD12612 KRIPAARAM HARAKH SHEEWPATI 01/01/1965 MALE SC 168 86 8 PASS --Select-- RAKSHAK 796172806488 -NA

612 PRD12621 RAJAMANI SULAM MAHRAJI 10/10/1998 MALE SC 170 90 12 PASS --Select-- RAKSHAK 577417785902 -NA

613 PRD12628 HARIRAM BABADEEN PHULKESRA 04/05/1977 MALE OBC 169 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 939804007113 -NA

614 PRD12633 TILAKRAM `PANCHAM SUNTHAR PATA 15/06/1974 MALE SC 168 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 286325440680 -NA

615 PRD12642 SHIV NATH SURY MANI RAM PIYARI 24/12/1988 MALE OBC 168 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 639465775145 -NA

616 PRD12651 MANSHARAM MAHESH RAMAWATI 01/07/1981 MALE OBC 170 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 420435569614 -NA

617 PRD12661 MEDAI DEYAL SUKHANI 31/12/1980 MALE SC 170 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 797371944256 -NA

618 PRD12668 TRIDHAWAN THAGGU MALTI DEVI 10/04/1969 MALE SC 169 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 243804271816 -NA

619 PRD12673 UMESH RAM MILAN PHOOL MATI 01/12/1984 MALE SC 169 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 465157354332 -NA

620 PRD12676 PANNELAL PUTTILAL JANKI 05/10/1969 MALE SC 172 92 8 PASS --Select-- RAKSHAK 616550370211 -NA

621 PRD12681 TYAGA NAND HARNAMDAS TULSI DEVI 25/08/1968 MALE SC 167 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 350922997214 -NA

622 PRD12684 AQBAL BAHADUR SINGH SURJ BAKS SHYAMDULARI 10/06/1966 MALE GENERAL 168 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 230182222123 HQCPS8287L

623 PRD12685 UMESH KUMAR SIYARAM PHOOL MATI 01/05/1966 MALE SC 166 90 12 PASS --Select-- RAKSHAK 211496480984 -NA

624 PRD12691 PUTAN CHOTE LAL NAZMI 01/01/1973 MALE SC 167 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 693948909765 -NA

625 PRD12696 VISHAMBAR SIYARAM DILLA 01/01/1974 MALE SC 170 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 333085354892 -NA

626 PRD12697 RAM MANOHAR MOHAN LAL MOHANI DEVI 01/05/1982 MALE SC 167 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 540312340168 EDCPM8718Q

627 PRD12704 HEERALAL TILAKRAM RAJKUAMRI 16/07/1986 MALE SC 169 90 12 PASS --Select-- RAKSHAK 572676344646 -NA

628 PRD12710 MURARILAL NIRAHU MUNNI DEVI 01/07/1987 MALE SC 172 92 10 PASS --Select-- RAKSHAK 443754598473 -NA

629 PRD12737 RAM FERAN PANCHU NANKAI 01/08/1983 MALE SC 168 91 8 PASS --Select-- RAKSHAK 658494491108 -NA

630 PRD12741 MOHAMMAD UMAR BHOLA KHATOON 01/01/1970 MALE GENERAL 168 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 543033755244 -NA

631 PRD12748 KALIM SAMAD JAUVIUL NISA 10/11/1983 MALE SC 166 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 445458693572 -NA

632 PRD12754 PARMANAND AVASTHI JANGULAL AVASTHI SHIVPYAARI 20/02/1971 MALE GENERAL 170 90 10 PASS --Select-- RAKSHAK 692342676860 -NA

633 PRD12760 SARITA VERMA RAM SEVAK SHANTI DEVI 28/06/1986 FEMALE SC 158 92 10 PASS --Select-- RAKSHAK 904743847660 -NA

634 PRD12767 PARVESH KUMAR SINGH BADRI SINGH SONA DEVI 01/01/1972 MALE SC 168 91 8 PASS --Select-- RAKSHAK 486129042185 -NA

635 PRD12773 TEERATH RAM PYAARE RAM KALA 01/01/1969 MALE SC 169 91 10 PASS --Select-- RAKSHAK 252329925076 -NA

636 PRD12778 ARUN KUMAR MISHRA SHYAM LAL MISHRA AASHA DEVI 30/07/1985 MALE GENERAL 172 90 12 PASS --Select-- RAKSHAK 929992077567 -NA

637 PRD12784 YASHPAL MISHRA RAJENDRA PRASAD MISHRA SHIV DEVI 03/06/1972 MALE GENERAL 166 88 8 PASS --Select-- RAKSHAK 975650250072 -NA

638 PRD12796 GIRDHARI LAL SIPAHI LAL JALVARSA 02/07/1971 MALE SC 168 87 8 PASS --Select-- RAKSHAK 284154805704 -NA

639 PRD12803 SHOBHA RAM CHHENDN PRSAD SUKHRAJI 01/05/1979 MALE SC 168 90 12 PASS --Select-- RAKSHAK 550302561935 -NA

640 PRD12811 JITENDRA KUMAR VERMA JAGARAM VARMA PARWATI DEVI 26/07/1985 MALE GENERAL 168 90 8 PASS -NA- RAKSHAK 336174232417 -NA-

641 PRD12817 JAGRAM VARMA PARASURAM VERMA SAVITARI DEVI 24/12/1964 MALE GENERAL 170 90 GRADUATE --Select-- RAKSHAK 541745195844 BWNPV2669G

642 PRD12826 DURGESH KUMAR RAM MANEHARA DHANPTA 10/06/1973 MALE SC 168 89 10 PASS --Select-- RAKSHAK 746614211478 -NA

643 PRD12832 PRAN LAL BABADIN CHANDRAWATIDEVI 04/02/1984 MALE OBC 169 86 10 PASS --Select-- RAKSHAK 896443593563 ATWPL6760D

644 PRD12837 RAMU KUMAR RAMBALI MOUNGI 01/05/1984 MALE ST 180 90 10 PASS --Select-- RAKSHAK 981600595706 AUYPR7617J

645 PRD12842 SHIV SHANKAR DULARE BITANA 31/01/1964 MALE OBC 172 90 5 PASS --Select-- RAKSHAK 458953131815 -NA

646 PRD12852 SURYA PRASAD PATHAK PATESHVARI PRSHAD PATHAK MANSHADEVI 14/11/1973 MALE GENERAL 168 85 10 PASS --Select-- RAKSHAK
507461859754 -NA

647 PRD12855 RAVINDRA KUMAR BICHHIRATHYA GULECHI DEVI 20/08/1979 MALE SC 170 85 8 PASS --Select-- RAKSHAK 339421262329 -NA

648 PRD12862 UMESH KUMAR SINGH JAJADISH SINGH SHRAWADH KUMARI 02/01/1981 MALE GENERAL 172 95 GRADUATE --Select-- RAKSHAK 457224165064 -NA

649 PRD12867 RAMU PRASAD BABADEEN SURSHATI DEVI 12/07/1967 MALE OBC 168 89 10 PASS --Select-- RAKSHAK 254483847753 -NA

650 PRD12872 RAM SURAT SAMAYDEEN VIMLA 01/01/1970 MALE SC 168 91 8 PASS --Select-- RAKSHAK 398041916202 -NA

651 PRD12873 MISHRILAL BANKELAL RAMDEI 10/08/1980 MALE SC 170 91 8 PASS --Select-- RAKSHAK 969033591170 -NA

652 PRD12878 PREM CHAND RAM TIRATH SUNDAR PATI 01/02/1970 MALE SC 170 92 8 PASS --Select-- RAKSHAK 537322646038 -NA

653 PRD12881 RAM KUMAR MISHRA RAM BHARI KAUSHALIYA DEVI 02/05/1969 MALE GENERAL 168 91 8 PASS --Select-- RAKSHAK 714660592890 -NA

654 PRD12885 SANDEEP KUMAE MISHRA INDRASEN MISHRA SAVITAREEDEVI 06/09/1988 MALE GENERAL 170 86 GRADUATE --Select-- RAKSHAK 562014459073 DJCPM5378H

655 PRD12890 JAG JEEVAN MUNNILAL SANTIDEVI 20/01/1966 MALE OBC 166 88 8 PASS --Select-- RAKSHAK 376594373192 -NA

656 PRD12938 HRADAY RAM UDYAMI RAM LEELAVATI 08/05/1976 MALE SC 169 91 8 PASS --Select-- RAKSHAK 817272111706 -NA

657 PRD12943 CHITRAPAL DHANIRAM LAKHRAJA 04/03/1961 MALE SC 168 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 427630588683 -NA

658 PRD12951 YOGENDRA MISHRA VEERENDRA KUMAR SANTOSH KUMARI 01/01/1989 MALE GENERAL 172 92 8 PASS --Select-- RAKSHAK 661898417736 -NA

659 PRD12958 MANOHAR LAL BECHU LAL MATESHWARI DEVI 10/08/1967 MALE SC 170 92 8 PASS --Select-- RAKSHAK 480014762253 -NA

660 PRD12965 MUKHTI LAL SAHAJ RAM HULSHI DEVI 03/05/1973 MALE SC 167 90 5 PASS --Select-- RAKSHAK 822009501069 -NA

661 PRD12970 PRAMOD KUMAR PATHAK TRIVENI PRASAD PATHAK SARALA DEVI 05/06/1983 MALE GENERAL 170 90 10 PASS --Select-- RAKSHAK 538026153381 EFVPP1414P

662 PRD12983 AKHILESH KUMAR KARUSH RAM SHARAN KARUSH RAM SNWARI DEVI 26/01/1977 MALE SC 170 90 GRADUATE --Select-- RAKSHAK 737736063361 -NA

663 PRD12991 RAN NIVAS DARSHAN VINDYADEVI 01/07/1972 MALE GENERAL 172 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 316823465345 CJWPN9966K

664 PRD13000 MUNNURAM GHUURRE SUKHDEE 20/01/1971 MALE OBC 172 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 627327890280 DZHPM5435G

665 PRD13003 RAM MILAN YADAV TIRATHRAM RAMA VATI 01/01/1972 MALE OBC 168 89 8 PASS --Select-- RAKSHAK 723008039958 -NA

666 PRD13006 RAM BILAS HARISH CHANDRA RATNAWALI DEVI 28/07/1971 MALE OBC 170 90 12 PASS --Select-- RAKSHAK 785259526414 -NA

667 PRD13010 RAM KUMAR JHARIKHA PRASAD GULJARA DEVI 01/01/1979 MALE OBC 170 91 8 PASS --Select-- RAKSHAK 296740238999 -NA

668 PRD13016 RAJESH KUMAR MISHRA SIPHAI LAL CHAMPA 12/04/1978 MALE GENERAL 172 92 8 PASS --Select-- RAKSHAK 467076165908 -NA

669 PRD13017 MAHESH KUMAR RAM SHARAN RAM SAWARI 20/07/1988 MALE SC 170 92 GRADUATE --Select-- RAKSHAK 997118377861 -NA

670 PRD13020 BUDDHU LAL AVADH RAM PREMA DEVI 01/01/1971 MALE SC 168 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 414519102613 -NA

671 PRD13025 HARI PRAKASH BRIJ LAL SUSHILA DEVI 01/01/1967 MALE GENERAL 170 92 8 PASS --Select-- RAKSHAK 742688820395 -NA

672 PRD13030 JAGDISH PRASAD JAIRAJA BHAGUTI PRASAD 01/01/1970 MALE SC 170 91 8 PASS --Select-- RAKSHAK 854848417296 -NA

673 PRD13040 RAM DHEERAJ SINGH KAPTAN SINGH MUNIDEVI 25/08/1970 MALE GENERAL 168 80 10 PASS --Select-- RAKSHAK 227478010637 -NA

674 PRD13051 MUNNI LAL NANKAU SANWARIYA 01/01/1968 MALE SC 168 80 5 PASS --Select-- RAKSHAK 251440528252 -NA

675 PRD13070 INDRA BAHADUR SINGH RAMRAJ REMA SINGH 01/09/1964 MALE GENERAL 168 91 12 PASS --Select-- RAKSHAK 648367340940 -NA

676 PRD13072 HRIDAYA RAM SANTRAM CHAMPA 01/01/1970 MALE OBC 170 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 588115990215 -NA

677 PRD13074 SHIVRATAN RAM BILAS RAM VASA 05/03/1970 MALE SC 167 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 901288071888 -NA

678 PRD13079 RAM MITR JAINATH MANGLA DEVI 15/03/1970 MALE SC 170 91 10 PASS --Select-- RAKSHAK 600768891847 -NA

679 PRD13085 NARENDAR KUMAR RADHESHYAM RAM RANI 15/10/1971 MALE GENERAL 170 90 10 PASS --Select-- RAKSHAK 233435945316 CLJPK8100K

680 PRD13086 NAND KISHOR SURAJ PRASAD SARASWATI DEVI 25/10/1975 MALE SC 167 91 8 PASS --Select-- RAKSHAK 676217314188 -NA

681 PRD13093 JAY PRAKASH PATHAK RAM SAMUJH SISH KUMARI 04/05/1969 MALE GENERAL 170 91 8 PASS --Select-- RAKSHAK 758077603194 -NA

682 PRD13096 VISHV NATH DEVIDEEN DURGA DEVI 01/09/1979 MALE SC 168 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 898454723017 -NA

683 PRD13098 KRISH KUMAR MISHRA SHYAMTA PRASAD MISHRA SHANTI DEVI 01/01/1970 MALE GENERAL 168 91 8 PASS --Select-- RAKSHAK 916292304918 -NA

684 PRD13209 KADARI MOHD. SABIR MOHAMMAD MUSA ZAHURA 04/08/1980 MALE GENERAL 169 92 8 PASS --Select-- RAKSHAK 644812587716 -NA

685 PRD13218 SATYANARAYAN HANSRAM MADHURI DEVI 01/07/1963 MALE GENERAL 166 85 10 PASS --Select-- RAKSHAK 754204183449 JCEPS3491A

686 PRD13229 MOHD AKHTAR CHUNNU ALI BEDHUKA 12/08/1983 MALE GENERAL 170 89 8 PASS --Select-- RAKSHAK 915658040306 -NA

687 PRD13266 AJMEER ALI SAHASLAM AYSABEGAM 15/01/1975 MALE GENERAL 172 95 8 PASS --Select-- RAKSHAK 818697516494 -NA

688 PRD13277 JUGUL KISHOR VISHWKRMA KAMTA PARSAD PHULMATA 01/03/1972 MALE OBC 168 80 8 PASS --Select-- RAKSHAK 368019541835 -NA

689 PRD13293 TEERATH RAM RAM FERAN SONA DEVI 01/01/1982 MALE SC 168 85 8 PASS --Select-- RAKSHAK 470516830212 -NA

690 PRD13297 HARI SHANKAR MANOHAR LAL DHANPATA 02/01/1973 MALE GENERAL 174 95 8 PASS --Select-- RAKSHAK 974001311897 -NA

691 PRD13303 CHAMPA DEVI CHAVINATH SITAVI 15/07/1976 FEMALE OBC 167 95 8 PASS --Select-- RAKSHAK 844984008979 -NA

692 PRD13309 KRISHN MURARI MISHRA HANUMAN PRASAD MISHRA MUNAN DEVI 03/10/1968 MALE GENERAL 168 85 8 PASS --Select-- RAKSHAK 655286277487 -NA

693 PRD13315 BIHARI RAMADHAR MATESAWARI DEVI 01/07/1970 MALE GENERAL 168 90 8 PASS FNKPB8164 RAKSHAK 245543984998 FNKPB8164E

694 PRD13318 HANSRAAJ VERMA CHANDRIKA PRASAD RAMA VATI 15/01/1969 MALE OBC 169 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 405268527975 AIVPH6641M

695 PRD13328 RAMFERE RAM VILAS JANKI DEVI 08/05/1982 MALE OBC 170 90 5 PASS --Select-- RAKSHAK 567214515852 -NA

696 PRD13333 RAJ KUMAR RAM LAUTAN ANGANI DEVI 04/07/1988 MALE ST 168 85 10 PASS --Select-- RAKSHAK 214542537098 FZKPK8807F

697 PRD13336 RAJIENDRA KUMAR SOHAN LAL RAMPATI 22/08/1985 MALE ST 170 90 12 PASS --Select-- RAKSHAK 789516106938 -NA

698 PRD13351 BABLU SINGH RAMGOPAL SINGH RAJ KUMARI SINGH 25/06/1983 MALE GENERAL 170 95 10 PASS --Select-- RAKSHAK 474016517126 ILVPS8455R

699 PRD13371 RAJKUMAR HARI RAM SUKA 20/04/1977 MALE SC 172 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 755818960936 -NA

700 PRD13453 RAM SEWAK DASHRAT LAL SHANTI 25/08/1968 MALE SC 168 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 372904820693 JKHPS9733Q

701 PRD13456 SOHRAB ALI CHOTE JUHI 25/04/1972 MALE SC 170 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 717315669393 -NA

702 PRD13470 AKHILESH KUMAR BABURAM KUNTI DEVI 12/06/1995 MALE SC 170 89 10 PASS --Select-- RAKSHAK 942857037462 HXJPK6474

703 PRD13482 SAKIR ALI MUMTAJ ALI SEHARANA 01/08/1970 MALE OBC 169 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 796072691527 -NA

704 PRD13488 LALTA PRASAD HAJARI PRASAD GANGA DEVI 20/05/1988 MALE SC 170 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 250111818582 -NA

705 PRD13497 RAM LAKHAN NANKAU RAMA WATI 12/01/1977 MALE GENERAL 168 85 8 PASS -NA- RAKSHAK 525360860558 FCJPR7819Q

user image Arvind Swaroop Kushwaha - 08 May 2021 at 4:13 PM -

prd bahraich 11704 se 12394 tak

क्रम संख्या, एप्लीकेशन नं0, स्वयंसेवक का नाम, पिता का नाम, माता का नाम, जन्मतिथि, लिंग, श्रेणी, लम्बाई(सेमी0), सीना(सेमी0), शिक्षा, विशेष योग्यता, पोस्ट/पद, आधार नं0, पैन नं0,

508 PRD11704 MUSIBAT JHABAR MADINA BEGUM 05/03/1979 MALE SC 171 92 10 PASS --Select-- RAKSHAK 245383367202 -NA

509 PRD11708 MISHRILAL RAM PAL RADA DEVI 01/11/1963 MALE SC 168 90 12 PASS --Select-- RAKSHAK 930607569900 -NA

510 PRD11714 JAGRAM GUPTA SUKHAAI SAVITRI DEVI 01/07/1970 MALE SC 168 92 8 PASS --Select-- RAKSHAK 420606892129 -NA

511 PRD11720 MOHD SHAMIM KHAN MOHD JAHOOR KHAN SAKINA 12/08/1976 MALE SC 174 95 8 PASS --Select-- RAKSHAK 407937797922 -NA

512 PRD11721 USHA DEVI SHIVRAG PAL PHOOL MATI 28/04/1984 FEMALE OBC 156 90 GRADUATE --Select-- RAKSHAK 951550407379 -NA

513 PRD11724 KAMARAJ URF HRI SHANKAR PREM ... CHANDRA MAURYA KLAVATI 01/01/1975 MALE OBC 172 95 8 PASS --Select-- RAKSHAK 890865254519 -NA-

514 PRD11725 PREM NAKCHED RAM DEVI 01/01/1976 MALE SC 172 92 8 PASS --Select-- RAKSHAK 384170585636 -NA-

515 PRD11726 RAJ KARAN JADDU HARDEI 02/03/1972 MALE SC 172 92 12 PASS --Select-- RAKSHAK 263690432159 -NA

516 PRD11727 MANGLI PRASAD MASTRAM RAM RANI 15/06/1968 MALE SC 172 92 8 PASS -NA- RAKSHAK 219439974737 -NA-

517 PRD11728 SURENDRA SINGH MOLHE SINGH KULDIP KOUR 30/03/1968 MALE GENERAL 170 90 8 PASS DRIVER RAKSHAK 793000042708 -NA-

518 PRD11734 RAMDEEN JANARDHAN SHIVARAJI 15/06/1975 MALE SC 170 92 10 PASS --Select-- RAKSHAK 838532096476 -NA

519 PRD11738 MANSHARAM RAM PURI GYAAN DEVI 01/08/1972 MALE SC 171 94 5 PASS --Select-- RAKSHAK 915858176419 -NA

520 PRD11741 SANJAY KUMAR RAM KUMAR SAGRI DEVI 01/07/1973 MALE SC 167 90 5 PASS --Select-- RAKSHAK 920448049331 -NA

521 PRD11747 SURESH RAMPRATAP TIRTHA DEVI 02/08/1971 MALE SC 172 90 10 PASS --Select-- RAKSHAK 280312244736 -NA

522 PRD11749 SHIVRATAN PAHALWAN PHULMTA 01/06/1970 MALE OBC 167 90 10 PASS --Select-- RAKSHAK 870083392962 NVKPS6050N

523 PRD11750 INDRAJIT SELANI DALARA 01/01/1983 MALE SC 170 92 8 PASS --Select-- RAKSHAK 264610474445 -NA

524 PRD11754 SAJJAN ALI AAPHAK AHMAD BISMILLAH 10/07/1969 MALE GENERAL 168 90 10 PASS --Select-- RAKSHAK 665523248677 -NA

525 PRD11758 CHHANGUR LAL GYANI PRASAD RAJRANI 15/03/1969 MALE SC 166 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 687747610221 -NA

526 PRD11761 RAMSUMIRAN BAOUR PRASAD MHESA 15/01/1964 MALE SC 167 80 12 PASS --Select-- RAKSHAK 342891164002 -NA

527 PRD11764 CHAND MANI KANT MISHRA DEEN DAYAL MISHRA RAMRANI 10/07/1968 MALE GENERAL 169 91 8 PASS --Select-- RAKSHAK 493085582971 -NA

528 PRD11769 BHOLANATH SUKKHA BELA 01/01/1970 MALE SC 169 91 8 PASS --Select-- RAKSHAK 909220204610 -NA

529 PRD11772 MANOJ KUMAR MEVA LAL URMILA DEVI 15/08/1989 MALE SC 167 92 10 PASS --Select-- RAKSHAK 865908287115 -NA

530 PRD11773 SHOBHA RAM BHAGGAN RGHURAI 16/10/1967 MALE OBC 170 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 523230591702 CWIPR6114A

531 PRD11776 RAM NARESH CHOTE LAL RAJ RANI 07/05/1967 MALE SC 169 93 10 PASS --Select-- RAKSHAK 515014774143 -NA

532 PRD11782 BUDDHI LAL BAHADUR KALA VATI 05/01/1982 MALE SC 169 92 8 PASS --Select-- RAKSHAK 565792353516 -NA

533 PRD11788 ISHTIYAK AHMAD SALIM AHMAD JAMILA 10/05/1980 MALE SC 168 92 8 PASS --Select-- RAKSHAK 494774833206 -NA

534 PRD11794 ABDUL HAKIM KHAN MUSTAKIM SEHARA BANO 15/01/1968 MALE GENERAL 170 90 10 PASS --Select-- RAKSHAK 693417076613 FWPK4266P

535 PRD11796 JAGAT RAM JHAGRU LAKHRAJA 02/02/1980 MALE SC 171 90 5 PASS --Select-- RAKSHAK 721856815653 -NA

536 PRD11803 CHANDRIKA PRASAD CHOTE LAL MANORANI 20/07/1976 MALE SC 171 92 8 PASS --Select-- RAKSHAK 821307588066 -NA

537 PRD11807 SHYAM BIHARI YADAV BUDHDDU LAKHRAJA 01/02/1972 MALE OBC 168 86 12 PASS --Select-- RAKSHAK 364450942084 AGMPY1140R

538 PRD11809 KALLU RAM SARAN PHOOL MATI 01/07/1966 MALE SC 169 91 8 PASS --Select-- RAKSHAK 925980140834 -NA

539 PRD11814 TRIBHAWAN RAM NAYARAN RAMA VATI 10/06/1975 MALE SC 173 91 5 PASS --Select-- RAKSHAK 311681521555 -NA

540 PRD11817 DEENA NATH BUDDH SAGAR PHULA DEVI 01/01/1968 MALE SC 168 91 8 PASS --Select-- RAKSHAK 890571205204 -NA

541 PRD11822 TRILOKI NATH RAM LAL JALWASA 01/01/1975 MALE SC 167 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 514841178906 BHKPN3560N

542 PRD11829 BANWARI LAL MALIK RAM ROOP RANI 01/01/1975 MALE SC 191 92 8 PASS --Select-- RAKSHAK 758816422396 -NA

543 PRD11833 RAJIT RAM SANEHI SHYAMA 01/01/1966 MALE SC 174 94 8 PASS --Select-- RAKSHAK 771963462115 -NA

544 PRD11834 BABADIN BRAMHA MAHDAEE 01/01/1969 MALE SC 167 90 5 PASS --Select-- RAKSHAK 946916512750 FNEPB8417C

545 PRD11837 MOHAMMAD YUSUF SUBHAN ALI MEHMUDA 10/04/1974 MALE SC 170 91 8 PASS --Select-- RAKSHAK 843796693608 -NA

546 PRD11840 RAJI RAM MAHADEV PRASAD 25/03/1972 MALE SC 166 90 10 PASS --Select-- RAKSHAK 793637176615 -NA

547 PRD11841 SIYAR RAM CHHATTAR DIRAJA 06/04/1974 MALE OBC 168 89 5 PASS --Select-- RAKSHAK 571203574216 -NA

548 PRD11843 VINODI PRASAD VADU RAM SURSATI 01/01/1971 MALE SC 172 93 10 PASS --Select-- RAKSHAK 726221819129 -NA

549 PRD11845 GAYA PRASAD DURGA GUDIA RANI 10/02/1974 MALE SC 167 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 430236959018 -NA

550 PRD11847 ARUN KUMAR PATHAK RAM PYARE PATHAK SHANTI DEVI 01/07/1977 MALE GENERAL 166 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 618563031885 -NA

551 PRD11850 RAMESH KUMAR RAM BARAN MAYA DEVI 05/03/1986 MALE SC 169 92 GRADUATE --Select-- RAKSHAK 630504999327 -NA

552 PRD11851 SUNIL KUMAR PATHAK RAM PIYARE SHNTI DEVI 15/07/1981 MALE GENERAL 167 85 8 PASS --Select-- RAKSHAK 785070167893 -NA

553 PRD11854 RAJESH KUMAR AVADHRAM MAHARAJA 13/03/1985 MALE SC 168 92 10 PASS --Select-- RAKSHAK 369801226924 -NA

554 PRD11857 TRILOKI VERMA PALARE BRIJA DEVI 15/07/1984 MALE GENERAL 166 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 987210827628 -NA

555 PRD11859 AMAR PRASAD KANDHAI MAINA DEVI 20/01/1977 MALE SC 168 91 8 PASS --Select-- RAKSHAK 819565175491 -NA

556 PRD11864 DILIP KUMAR SHIV VATH SAVITARI DEVI 07/12/1976 MALE GENERAL 170 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 361321201463 -NA

557 PRD11933 SURENDAR KUMAR RAMSUMIRAN RAMAVATI 01/02/1968 MALE OBC 170 83 10 PASS --Select-- RAKSHAK 390372125560 -NA

558 PRD11939 JAGDISH PRASAD RAMFAL CHAMPA DEVI 01/01/1964 MALE OBC 168 85 10 PASS --Select-- RAKSHAK 280536538083 -NA

559 PRD11941 MAIU LAL BANVARI MUSAMAT KESHAV 10/07/1972 MALE SC 170 89 8 PASS --Select-- RAKSHAK 357534612443 -NA

560 PRD11945 SALIK RAM BHAGAUTI SUNKA DEVI 20/01/1973 MALE OBC 168 78 5 PASS --Select-- RAKSHAK 540987131 -NA

561 PRD11949 ANIKUMAR SHYAMLAL GANKA DEVI 05/09/1970 MALE GENERAL 169 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 668977784296 -NA

562 PRD11952 SHIV DARSHAN PATHAK NAND KUMAR MUNNI DEVI 01/10/1989 MALE GENERAL 170 95 10 PASS --Select-- RAKSHAK 845110180506 CQYPP9628M

563 PRD11955 BHAGVAN DEEN KRIPAEAM SAVETRI 30/10/1965 MALE GENERAL 166 90 10 PASS --Select-- RAKSHAK 842970788085 -NA

564 PRD11965 GURU SHARAN TIWARI RAM KARAN TIWARI NIRMLA DEVI 05/08/1985 MALE GENERAL 170 76 GRADUATE --Select-- RAKSHAK 845251422381 -NA

565 PRD11970 RAM KISUN FATHER KLAWATI 01/05/1971 MALE SC 170 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 652127427000 -NA

566 PRD11974 UOENDRA KUMAR SINGH UTTAM GINGH SUSHILA SINGH 02/10/1965 MALE GENERAL 172 95 10 PASS --Select-- RAKSHAK 556189785966 -NA

567 PRD11976 JAGAPRASAD BANKELAL MULA DEVI 15/07/1965 MALE --Select-- 170 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 701349867369 -NA

568 PRD11980 GANGADHAR RAM LAKHAN RAM RANI 01/07/1973 MALE GENERAL 172 92 8 PASS --Select-- RAKSHAK 532791503947 -NA

569 PRD11985 KANHAIYA LAL VERMA SATYANAM RAJADEVI 05/03/1973 MALE SC 169 92 10 PASS --Select-- RAKSHAK 504445782183 -NA

570 PRD11989 JIVAN LAL GUPTA PALTURAM SURJARANI 11/04/1968 MALE GENERAL 170 90 10 PASS --Select-- RAKSHAK 737443347405 DDNPG7219E

571 PRD11991 DEEP CHANDRA GHANSHYAM RAMAJI 12/03/1976 MALE SC 168 91 8 PASS --Select-- RAKSHAK 274115773998 -NA

572 PRD11996 RIYASAT RAM UGGAR SURKALA 04/01/1973 MALE OBC 170 90 12 PASS --Select-- RAKSHAK 243773845306 -NA

573 PRD12005 DAYA RAM URF RAM KU MAR RAM AVATAR DASARATHSEYER 01/07/1971 MALE GENERAL 165 90 10 PASS --Select-- RAKSHAK 311064657471 -NA

574 PRD12009 RAM GOPAL MEVALAL DIRAJA 14/07/1986 MALE OBC 170 90 5 PASS --Select-- RAKSHAK 614457437278 -NA

575 PRD12092 RAM SNNGH RAJENDRA PRATAP ENDRAVATI 01/07/1967 MALE GENERAL 168 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 223207314765 -NA

576 PRD12098 SHIV PRASAD DEVIDEEN TARAVATI 10/09/1973 MALE OBC 167 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 617939921123 -NA

577 PRD12102 PREM SAGAR GIRDHARI MYAVATI 10/07/1968 MALE GENERAL 167 89 10 PASS --Select-- RAKSHAK 535003799434 -NA

578 PRD12107 JANARDAN PRASAD MURALI SHANTI DEVI 18/06/1970 MALE OBC 169 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 756288232023 -NA

579 PRD12110 ANIL KUMAR TIWARI PRSURAM TIWARI PHULMATI 20/08/1970 MALE GENERAL 065 80 12 PASS --Select-- RAKSHAK 563249886170 -NA

580 PRD12118 RAM TEJ JIYALAL JAGDAEI 05/07/1984 MALE SC 170 92 8 PASS --Select-- RAKSHAK 570977281288 -NA

581 PRD12121 JAGDISH NAGESHAR BIMALA 18/12/1976 MALE SC 168 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 761713162948 -NA

582 PRD12135 PREM BARATI LAL KOYALA DEVI 01/01/1973 MALE SC 167 91 8 PASS --Select-- RAKSHAK 694174882010 -NA

583 PRD12138 `DILIP KUMAR PANDEY SHIV SHANKAR PANDEY VIDDYA DEVI 05/04/1990 MALE GENERAL 170 90 12 PASS --Select-- RAKSHAK 566639197444 -NA

584 PRD12221 RAMPAL VISHVNATH CHEDHNA 03/10/1970 MALE SC 171 92 12 PASS --Select-- RAKSHAK 618276042438 -NA

585 PRD12234 RAJ KISHOR PARMESHWAR SUNDRA 05/09/1966 MALE GENERAL 167 87 8 PASS --Select-- RAKSHAK 862221051757 -NA

586 PRD12252 +DULAM DASH SEETA RAM SHIL DEVI 12/08/1981 MALE SC 172 92 12 PASS --Select-- RAKSHAK 623630644813 -NA

587 PRD12269 BARATI PRASADI PHULMATI 08/05/1973 MALE OBC 170 88 8 PASS --Select-- RAKSHAK 887125498966 -NA

588 PRD12282 GOPINATH PAIKRAMDIN RAM PYERI 30/12/1967 MALE GENERAL 169 88 8 PASS --Select-- RAKSHAK 223176568506 -NA

589 PRD12296 SHIVDAS RAM KIRPAL SUNDRA 01/01/0196 MALE GENERAL 169 90 10 PASS --Select-- RAKSHAK 618858881849 -NA

590 PRD12304 RAM SAMJH JALLAR KUNTI 31/01/1968 MALE SC 172 90 10 PASS --Select-- RAKSHAK 492411742018 -NA

591 PRD12313 ABHILASH BABADIN PHULKOERA 20/05/1978 MALE SC 170 85 8 PASS --Select-- RAKSHAK 763030739839 DOXPA5693M

592 PRD12320 RAM SAGAR DEVI PRASAD RAM LALI 03/03/1971 MALE SC 165 86 10 PASS --Select-- RAKSHAK 437594266463 -NA

593 PRD12325 SANJIV KUMAR VANSHIDHER DEVIDY SAVITARIDEVI 01/03/1972 MALE GENERAL 170 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 577646927074 -NA

594 PRD12348 MOHAMMAD ALEEM MOHAMMAD FAROOK KEESAR BEGAM 01/11/1965 MALE GENERAL 170 90 10 PASS --Select-- RAKSHAK 236147556468 -NA

595 PRD12356 ALI BAHADUR SAMSHER ALI JEEBULNISHA 02/06/1972 MALE GENERAL 169 90 10 PASS --Select-- RAKSHAK 440748611741 DGGPA4476K

596 PRD12366 TULSI RAM RAMESHWAR LAL ANAR KALI 01/01/1971 MALE OBC 165 85 5 PASS --Select-- RAKSHAK 290878553438 -NA

597 PRD12377 RAM GOPAL SINGHN RAM KHELAWAN SINGHN RAMA SINGHN 10/07/1968 MALE GENERAL 170 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 686568016345 -NA

598 PRD12386 RAM KUMAR DEVATADEEN RGHURAEE 30/06/1971 MALE OBC 169 85 8 PASS --Select-- RAKSHAK 517946125268 -NA

599 PRD12394 LALLURAM KUNNU NANKUNI 01/01/1973 MALE OBC 167 85 8 PASS --Select-- RAKSHAK 411558099927 -NA

user image Arvind Swaroop Kushwaha - 08 May 2021 at 4:03 PM -

prd bahraich 10908 se 11697 tak

क्रम संख्या, एप्लीकेशन नं0, स्वयंसेवक का नाम, पिता का नाम, माता का नाम, जन्मतिथि, लिंग, श्रेणी, लम्बाई(सेमी0), सीना(सेमी0), शिक्षा, विशेष योग्यता, पोस्ट/पद, आधार नं0, पैन नं0,

401 PRD10908 PREM CHAND KRIPARAM DUBE YASHODA DEVI 01/02/1985 MALE GENERAL 170 92 8 PASS --Select-- RAKSHAK 248370098610 -NA

402 PRD10912 ... SHYAMATA PRASAD DHODI LAL RAM RANI 12/08/1980 MALE GENERAL 171 91 10 PASS --Select-- RAKSHAK 208552448456 -NA

403 PRD10917 UDAY RAJ PREMDAS JANK DULARI 01/10/1974 MALE SC 170 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 621050111020 -NA

404 PRD10918 KAILASH NATH CHHANGA LAL MUNNI DEVI 01/01/1966 MALE SC 168 92 8 PASS --Select-- RAKSHAK 411905163793 -NA

405 PRD10931 RAM KUMAR CHHATTAR MANGILA 02/12/1968 MALE SC 168 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 957746978857 -NA

406 PRD10934 SHRI RAM RAM BAHADUR PHULMATI 02/06/1985 MALE OBC 170 89 10 PASS --Select-- RAKSHAK 519647105328 -NA

407 PRD10936 JAGRUP MAHABEER RAMADEVI 15/01/1970 MALE SC 167 92 8 PASS --Select-- RAKSHAK 370283572837 -NA

408 PRD10940 MAYA RAM YADAV PARSHURAM YADAV CHAMMA DEVI 01/01/1985 MALE OBC 168 92 10 PASS --Select-- RAKSHAK 459687564707 -NA

409 PRD10947 BHAGVAT RAM AABILASH DULARA DEVI 01/01/1969 MALE SC 167 92 8 PASS --Select-- RAKSHAK 427325597871 -NA

410 PRD10952 RAMKANT PARSHURAM SHIV KUMARI 20/07/1989 MALE SC 170 91 12 PASS --Select-- RAKSHAK 211329016118 -NA

411 PRD10953 KAILASH NATH ORI LAL SUGHARA 25/08/1966 MALE SC 169 87 8 PASS --Select-- RAKSHAK 944253798808 -NA

412 PRD10964 MADAN LAL MAHESH MAYA WATI 20/05/1982 MALE OBC 170 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 844800862704 -NA

413 PRD10967 SURESH KUMAR RAM SARAN SHANTI DEVI 14/07/1972 MALE SC 169 91 10 PASS --Select-- RAKSHAK 890856011312 -NA

414 PRD10978 TRILOKI NATH YADAV SUNTHAR LAL LALI AYEF MUNI 12/04/1972 MALE OBC 170 90 12 PASS DRIVER RAKSHAK 559022114481 -NA

415 PRD10985 JASAVANT NANDALAL NAND RANI 17/10/1990 MALE SC 178 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 815413079633 -NA

416 PRD10994 VINOD KUMAR PATHAK CHANDRBHAAL PATHAK SHVSANTI DEVI 05/07/1970 MALE GENERAL 178 90 10 PASS --Select-- RAKSHAK 393657399607 -NA

417 PRD11007 RAMESH BALE SHAKUNTALA 09/07/1971 MALE SC 168 90 10 PASS --Select-- RAKSHAK 781571046271 -NA

418 PRD11010 RAJES KUMAR BALE RAM GUDA OURF SHAKUNTALA 01/01/1986 MALE OBC 170 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 320160862552 -NA

419 PRD11013 SANTOSH KUMAR SHOBHARAM KALAVATI 01/07/1987 MALE SC 168 91 12 PASS --Select-- RAKSHAK 514942039188 -NA

420 PRD11020 HEMRAJ SIPAHILAL MAHDAI 11/12/1978 MALE SC 170 92 8 PASS --Select-- RAKSHAK 998458547684 -NA

421 PRD11031 VINOD SINGH VASUDEV SINGH ARCHANA SINGH 20/01/1987 MALE GENERAL 170 92 8 PASS --Select-- RAKSHAK 797449730444 -NA

422 PRD11033 JAGAT RAM RAM LAUTAN PARBHU DERVI 25/09/1963 MALE SC 170 90 10 PASS --Select-- RAKSHAK 316605135408 -NA

423 PRD11035 DHARMA RAJ MISHRA KISHUN DATH MISHRA SHAKUNTALA DEVI 01/01/1969 MALE GENERAL 168 92 12 PASS --Select-- RAKSHAK 593740718675 -NA

424 PRD11045 RAM BILAS SHIV PARSAD RAJ RANI 01/10/1965 MALE SC 167 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 488244130315 -NA

425 PRD11048 RAJKUMAR CHOTELAL AARTI DEVI 15/04/1970 MALE OBC 167 89 10 PASS --Select-- RAKSHAK 852440124080 -NA

426 PRD11059 DHARAM DAS PREMDAS JANAK DULARI 11/07/1977 MALE SC 170 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 717398395202 -NA

427 PRD11073 ASHA PANDEY RAM HARAHK KAMALA 01/01/1975 MALE GENERAL 158 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 805032317240 -NA

428 PRD11081 LAL CHAND KHELAVAN CHANDRAPATA 11/08/1983 MALE SC 171 94 8 PASS --Select-- RAKSHAK 254659425470 -NA

429 PRD11130 NAN BABU JURAKHAN SHYAMKALA 15/10/1969 MALE SC 168 92 8 PASS --Select-- RAKSHAK 941552388141 -NA

430 PRD11133 SIRTAJ ALI SAHAJAD HALINA 01/01/1975 MALE SC 170 92 8 PASS --Select-- RAKSHAK 855744212012 -NA

431 PRD11137 SHIV GOPAL TRIVENI PRASAD MALA DEVI 02/08/1988 MALE SC 168 91 8 PASS --Select-- RAKSHAK 255772049093 -NA

432 PRD11140 ARCHANA BADRI PRASAD SHIV MATI 28/12/1968 FEMALE GENERAL 156 92 8 PASS --Select-- RAKSHAK 600707042767 -NA

433 PRD11142 RAM SHANKAR ASHARFI LAL SUKHDEI 28/12/1968 MALE SC 168 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 777859461257 -NA

434 PRD11145 AYODHYA PRASAD BHAGOLE SUKH HANA 15/05/1967 MALE SC 168 91 12 PASS --Select-- RAKSHAK 860016549150 -NA

435 PRD11148 PARAS NATH CHHEDAN MALTI 05/08/1965 MALE SC 167 92 8 PASS --Select-- RAKSHAK 989625616454 -NA

436 PRD11152 RAM SAGAR BABADEEN MEHDEI 10/06/1971 MALE SC 166 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 396980436176 -NA

437 PRD11156 RAGHUVEER MAHARAJADEEN PUSHPA 08/07/1977 MALE SC 170 92 12 PASS --Select-- RAKSHAK 324517818423 -NA

438 PRD11160 SIRPAT MOHANLAL SAMPATHA 28/12/1981 MALE SC 168 91 8 PASS --Select-- RAKSHAK 593130516811 -NA

439 PRD11164 RAJENDRA MEVALAL RAM RAMI 01/01/1970 MALE GENERAL 170 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 761644929903 -NA

440 PRD11174 MATA PRASAD BAUR KANCHANA 01/01/1965 MALE SC 167 91 10 PASS -NA RAKSHAK 890090980491 -NA

441 PRD11183 RAM KEWAL CHOTE LAL DHANRAAZI 15/03/1967 MALE SC 169 92 12 PASS --Select-- RAKSHAK 570536109809 -NA

442 PRD11187 OM PRAKASH RAM VILASH PARVATI DEVI 04/10/1987 MALE GENERAL 171W 92 10 PASS --Select-- RAKSHAK 895805340799 -NA

443 PRD11190 SUBEDAR RANGALAL JANAK DULARI 20/07/1971 MALE SC 166 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 461841507675 -NA

444 PRD11192 NANBABU RAMASHANKER RAMA VATI 15/07/0198 MALE GENERAL 170 90 10 PASS --Select-- RAKSHAK 724128170425 ALKPU6649L

445 PRD11194 RAM KUMAR BAIDHA SUDHRA DEVI 15/07/1965 MALE SC 168 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 512842185146 -NA

446 PRD11198 RAJ KUMAR YADAV RAM PHERAN YADAV SHYAMKALA 14/09/1968 MALE SC 172 93 8 PASS --Select-- RAKSHAK 768705855100 -NA

447 PRD11200 SADHU RAM TIEATH RAM KEELASA DEVI 01/01/1967 MALE SC 167 90 12 PASS --Select-- RAKSHAK 299904313100 -NA

448 PRD11202 DAYA NAND VISHRAM SUNDARPATA 30/12/1969 MALE SC 166 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 852853474748 -NA

449 PRD11206 HARI NARAIN TIWARI KRIPA RAM TIWARI MAYA DEVI 21/07/1972 MALE GENERAL 170 92 10 PASS --Select-- RAKSHAK 228667015944 -NA

450 PRD11214 SHIV PRASAD MAURYA SAMAY PRASAD MAURYA ANJANI 28/02/1968 MALE SC 169 92 8 PASS --Select-- RAKSHAK
405793706150 -NA

451 PRD11224 EAUJADAR MISHRA CHOTE LAL RAM SUNDARI 01/06/1967 MALE GENERAL 167 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 584362916777 -NA

452 PRD11225 RAJESH PRATAP SINGH VEERENDRA SINGH SHOBA SINGH 02/01/1979 MALE GENERAL 168 91 12 PASS --Select-- RAKSHAK 432452465291 -NA

453 PRD11229 MANJU MISHRA VIJAY KUMAR SHIVKUMARI 20/06/1992 MALE GENERAL 159 92 GRADUATE --Select-- RAKSHAK 861611197517 -NA

454 PRD11235 SAVITRI KESHAVRAM YADAV KALAVATI 14/07/1984 FEMALE SC 159 91 8 PASS --Select-- RAKSHAK 262307499284 -NA

455 PRD11238 GHANSHYAM GANESHDATT KAMOLIA MOUHAR BASA 01/01/1967 MALE OBC 178 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 691985056688 -NA

456 PRD11239 NOOR MOHAMMAD NAJIR ALI SAIMUL NISA 01/01/1965 MALE SC 167 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 660752241822 -NA

457 PRD11245 MANNU SHARMA KRISHNA NAND SHARMA MUNNI DEVI 15/07/1980 MALE OBC 158 90 10 PASS --Select-- RAKSHAK 325917037045 -NA

458 PRD11251 DHANI RAM BECHU LAL KUNNI 15/10/1966 MALE SC 168 91 12 PASS --Select-- RAKSHAK 868929848987 -NA

459 PRD11253 PESHARR KASHIRAM FULMATI 15/08/1988 MALE SC 176 87 8 PASS --Select-- RAKSHAK 216897564590 -NA

460 PRD11255 NAND KISHOR RAM LAKHAN PREMA DEVI 12/08/1969 MALE SC 168 92 10 PASS --Select-- RAKSHAK 383555273079 -NA

461 PRD11259 VAKEEL KUMAR AYODHYA PRASAD RAJ KUMARI 20/08/1993 MALE SC 175 94 12 PASS --Select-- RAKSHAK 282086794183 -NA

462 PRD11261 RAJ KUMAR SHYAM LAL BUDANA DEVI 30/03/1074 MALE OBC 167 87 10 PASS --Select-- RAKSHAK 338465504198 -NA

463 PRD11264 SAVIT RAM JEET PRASAD JAGRANI 05/09/1971 MALE SC 169 91 8 PASS --Select-- RAKSHAK 708624015706 -NA

464 PRD11271 MAHTAB BABADEEN JAYBULNISHA 12/02/1976 MALE SC 170 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 382998730136 -NA

465 PRD11276 KOMAL AMARNATH KIRAN 10/02/1989 MALE SC 156 92 12 PASS --Select-- RAKSHAK 504747712166 -NA

466 PRD11284 RINA PADARATH PUSPA DEVI 20/10/1990 FEMALE SC 157 90 12 PASS --Select-- RAKSHAK 526849829799 -NA

467 PRD11286 DINESH KUMAR YAGYA RAM KALAVATI 07/07/1985 MALE SC 170 92 8 PASS --Select-- RAKSHAK 442991634401 -NA

468 PRD11289 NARESH JHGRRU KRISHNAVATI 07/01/1971 MALE SC 168 92 8 PASS --Select-- RAKSHAK 271605989210 -NA

469 PRD11294 ROSHAN ALI NAJAR MOHAMMAD SAKINA 10/07/1973 MALE SC 171 92 8 PASS --Select-- RAKSHAK 404291431298 -NA

470 PRD11297 ASHOK KUMAR PATHAK KRISHN KUMAR PATHAK PRATIBHA PATHAK 03/03/1977 MALE GENERAL 170 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 758454414457 -NA

471 PRD11299 MUKESH BHAGWAN DAS SUMITRA DEVI 29/09/1987 MALE SC 167 90 10 PASS --Select-- RAKSHAK 637123155045 -NA

472 PRD11303 AMRENDRA KUMAR RAKESH KUMAR SAVITRI DEVI 18/08/1987 MALE SC 169 92 10 PASS --Select-- RAKSHAK 775811172367 -NA

473 PRD11306 KESH KUMARI MUKESH KUMAR SHANTI DEVI 29/09/1987 FEMALE SC 156 90 10 PASS --Select-- RAKSHAK 441576740790 -NA

474 PRD11307 VIDHINESH KUMAR RAM SWAROOP KALAWATI 10/05/1988 MALE SC 168 90 GRADUATE --Select-- RAKSHAK 489462562280 -NA

475 PRD11410 GYAN PRAKASH GIRI LALLU PRASAD KANTI DEVI 27/09/1975 MALE SC 169 90 10 PASS --Select-- RAKSHAK 453273359507 -NA

476 PRD11442 ARVIND KUMAR PATHAK RADHESHYAM PATHAK MALTI DEVI 25/05/1970 MALE GENERAL 168 88 GRADUATE --Select-- RAKSHAK 613093735051 DKXPK1574F

477 PRD11457 MANOHAR LAL RAM SUHAWAN CHOKTA 15/02/1977 MALE SC 168 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 431058530462 -NA

478 PRD11463 RAM SAWARE AWASHTI RAM CHAVVI DHANRANI 20/07/1979 MALE SC 170 92 10 PASS --Select-- RAKSHAK 828261013557 -NA

479 PRD11466 SURYA PRAKASH RAM KHELAVAN MANDHINAGRA, POST KURSAHA 08/06/1967 MALE GENERAL 170 92 10 PASS --Select-- RAKSHAK 223420022888 -NA

480 PRD11469 GOVIND PRASAD SAHAJ RAM CHNDRAVATI 15/08/1976 MALE GENERAL 168 90 10 PASS --Select-- RAKSHAK 517650614944 -NA

481 PRD11470 NAGENDRA PRATAP SINGH SATYADEV SINGH SHANTI DEVI 12/07/1986 MALE GENERAL 170 93 10 PASS --Select-- RAKSHAK 906609321944 -NA

482 PRD11474 RAM NARESH BABADEEN KETHKI DEVI 01/01/1969 MALE SC 168 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 671754976599 -NA

483 PRD11478 RAM NAYARAN RAMPHERE RAMVATI 18/06/1967 MALE SC 168 92 8 PASS --Select-- RAKSHAK 346715835027 -NA

484 PRD11479 NAKAU NAGESAR GULAB KUMARI 01/12/1976 MALE OBC 167 85 8 PASS --Select-- RAKSHAK 880333038428 -NA

485 PRD11484 PRAVEEN KUMAR LAYAK RAM KAMLA DEVI 01/01/1991 MALE SC 170 92 10 PASS --Select-- RAKSHAK 262904411382 -NA

486 PRD11487 SURYA MANI VERMA PURAI DHARMRAJI 30/12/1969 MALE SC 171 92 12 PASS -NA- RAKSHAK 874349433842 -NA-

487 PRD11491 GHANSHYAM KAMTA SHOUBHA VATI 12/09/1996 MALE OBC 170 85 8 PASS --Select-- RAKSHAK 896979549265 -NA

488 PRD11492 RAMAKANT VISHWAKARMA SHOBA RAM VISHWAKARMA SAVITRI DEVI 25/06/1971 MALE SC 168 90 10 PASS --Select-- RAKSHAK 530240859069 -NA

489 PRD11497 PREM PRAKASH HARI RAM SAMPATA 01/01/1970 MALE SC 167 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 395909985569 -NA

490 PRD11504 ASOK KUMAR BACHCHU LAL SHANTI DEVI 01/01/1972 MALE GENERAL 170 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 993046892960 -NA

491 PRD11514 SHIV SARAN SHESHRAM RAJ RANI 25/05/1986 MALE GENERAL 170 90 12 PASS --Select-- RAKSHAK 751702762154 -NA

492 PRD11525 LAKSHMI NARAYAN PANDAY RAM BAHADUR PANDEY SAVITRI DEVI 10/08/1997 MALE GENERAL 170 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 911093434731 -NA

493 PRD11534 SHANTI DEVI PYARELAL SHYAMKALA 28/08/1977 FEMALE SC 168 88 8 PASS --Select-- RAKSHAK 616423612663 -NA

494 PRD11547 DOODHNATH DHRAM RAJ RAJANA DEVI 04/12/1975 MALE SC 170 90 10 PASS --Select-- RAKSHAK 248739765331 -NA

495 PRD11556 RAMPAL RAMRAJ SITAPATI 15/04/1989 MALE OBC 168 70 10 PASS --Select-- RAKSHAK 917399606733 -NA

496 PRD11566 MAMTA SING KISHN KUMAR SING MALA 15/01/1992 MALE GENERAL 162 85 12 PASS --Select-- RAKSHAK 258846879162 -NA

497 PRD11572 DASHRATH BHAGAUTI SUKHRAJA 27/06/1980 MALE GENERAL 170 88 8 PASS --Select-- RAKSHAK 557665460232 -NA

498 PRD11575 DINESH PRATAP SINGH VUJAY PRATAP SINGH KAUSHALIYA 20/07/1983 MALE GENERAL 171 92 8 PASS --Select-- RAKSHAK 269309493720 -NA

499 PRD11583 JUGGU LAL MAHESHI FULMATA 15/11/1977 MALE OBC 168 85 8 PASS --Select-- RAKSHAK 344596308313 -NA

500 PRD11673 PARAS NATH RAMDAS RAJVANTI 10/06/1977 MALE SC 167 92 8 PASS --Select-- RAKSHAK 438252233006 -NA

501 PRD11679 DINESH KUMAR ARYA GANESH PRSAD NIRMALA DEVI 10/05/1986 MALE SC 167 92 12 PASS --Select-- RAKSHAK 601627013959 -NA

502 PRD11683 MANOHAR LAL BABA RAM JAISIYA 01/09/1973 MALE SC 170 92 10 PASS --Select-- RAKSHAK 785031095361 -NA

503 PRD11686 SATYA NAYARAN CHUNNILAL SUDHRI 01/08/1973 MALE SC 169 91 10 PASS --Select-- RAKSHAK 976689347238 -NA

504 PRD11690 SAROJ KUMAR PATHAK SADA SHANKAR PATHAK PUSPLATA PATHAK 18/09/1969 MALE GENERAL 170 70 GRADUATE --Select-- RAKSHAK 674776263473 -NA

505 PRD11692 BADEY LAL CHUNNI LAL SUGHARA DEVI 14/01/1966 MALE SC 171 92 12 PASS --Select-- RAKSHAK 411200648806 -NA

506 PRD11696 SOHAN AVADHRAM MAHARAJA 15/02/1968 MALE SC 170 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 497524038630 -NA

507 PRD11697 RAM NARESH BIHARI LAL PHOOL KUNWARI 13/01/1967 MALE SC 169 90 12 PASS --Select-- RAKSHAK 748629697010 -NA

508 PRD11704 MUSIBAT JHABAR MADINA BEGUM 05/03/1979 MALE SC 171 92 10 PASS --Select-- RAKSHAK 245383367202 -NA

user image Arvind Swaroop Kushwaha - 08 May 2021 at 3:42 PM -

prd bahraich 10209 से 10899 तक

क्रम संख्या, एप्लीकेशन नं0, स्वयंसेवक का नाम, पिता का नाम, माता का नाम, जन्मतिथि, लिंग, श्रेणी, लम्बाई(सेमी0), सीना(सेमी0), शिक्षा, विशेष योग्यता, पोस्ट/पद, आधार नं0, पैन नं0,

298 PRD10209 SITAARAM MOLHE CHOURASA 01/07/1967 MALE SC 165 86 5 PASS --Select-- RAKSHAK 303235025535 -NA
299 PRD10219 AMIT PANDEY HARI ... PARKASAH PANDEY GAYATRI DEVI 07/08/1981 MALE GENERAL 175 89 12 PASS --Select-- RAKSHAK 273398096244 -NA
300 PRD10227 ANURAG PANDEY HARI PRAKASH PANDEY GAYTRI DEVI 17/06/1978 MALE GENERAL 170 90 12 PASS --Select-- RAKSHAK 311325559136 -NA
301 PRD10239 RAM NATH DAYA RAM KALAVATI 01/01/1970 MALE GENERAL 170 94 8 PASS --Select-- RAKSHAK 315241247174 -NA
302 PRD10251 RAM UDIT BUDHRAM CHOUTKA 01/08/1975 MALE SC 170 90 10 PASS --Select-- RAKSHAK 369354614415 -NA
303 PRD10264 TILAK RAM CHANDRIKA PRASAD MANJU 10/08/1985 MALE OBC 174 89 12 PASS --Select-- RAKSHAK 736426854872 -NA
304 PRD10268 NAND KISHOR AYODHYA PRASAD SHYAMTA 15/08/1983 MALE OBC 170 82 12 PASS --Select-- RAKSHAK 203731793307 -NA
305 PRD10274 DUKHELAL PAIRU RAMAVATI 11/06/1987 MALE SC 168 91 10 PASS --Select-- RAKSHAK 679365424581 -NA
306 PRD10278 MAYARAM SONKAR RAM SURAT JAYKALA DEVI 15/03/1987 MALE SC 170 92 12 PASS --Select-- RAKSHAK 457641166310 -NA
307 PRD10282 AMRESH BANVARILAL PHOOLMATI 01/01/1969 MALE SC 170 91 8 PASS --Select-- RAKSHAK 769796680843 -NA
308 PRD10287 GAURI SHANKAR RAM KHELAVAN RAKHI DEVI 08/10/1986 MALE SC 168 90 10 PASS --Select-- RAKSHAK 379685256181 -NA
309 PRD10292 VEERENDRA KUMAR RATTI RAM SANGEETA DEVI 15/01/1992 MALE SC 173 95 GRADUATE --Select-- RAKSHAK 699599407388 -NA
310 PRD10298 MAHESH MAST RAM MUNNI DEVI 01/01/1980 MALE SC 168 90 8 PASS -NA- RAKSHAK 630266146776 -NA-
311 PRD10302 PYARE LAL SANTRAM MEERA 01/01/1972 MALE ST 168 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 914972314694 -NA
312 PRD10305 JANAKI PRASAD PUTTI LAL KABUTRA 01/01/1977 MALE SC 168 92 8 PASS --Select-- RAKSHAK 579206872417 -NA
313 PRD10310 VIKRAM PRASAD SONKAR SWAMI DAYAL JALWARSA 10/08/1991 MALE SC 168 90 GRADUATE --Select-- RAKSHAK 749531844187 -NA
314 PRD10314 LALJI PRASAD CHEDI LAL DEVI 01/05/1968 MALE SC 167 91 10 PASS --Select-- RAKSHAK 594355070578 -NA
315 PRD10318 RAM KUMAR MAIKULAL RANI DEVI 01/01/1971 MALE SC 168 91 8 PASS --Select-- RAKSHAK 704385986497 -NA
316 PRD10320 CHANDRSHEKHAR ORI LAL PATHAK JANAK DULARI 20/05/1966 MALE GENERAL 169 92 8 PASS --Select-- RAKSHAK 672619985077 -NA
317 PRD10326 MALTI PATHAK INDRAJEET PATHAK KAMLA DEVI 01/01/1962 MALE GENERAL 166 91 8 PASS --Select-- RAKSHAK 682801956198 -NA
318 PRD10333 RAJESH KUMAR MISHRA KAMLAKANT CHANDRA KANTI 06/05/1973 MALE GENERAL 168 91 8 PASS --Select-- RAKSHAK 391930105460 -NA
319 PRD10337 UDAYRAJ LALLU PRASAD SHAKUNTALA DEVI 15/01/1988 MALE SC 170 92 12 PASS --Select-- RAKSHAK 756576962642 -NA
320 PRD10343 VIJAY KUMAR RAM CHANDAR KATHKEI DEVI 25/12/1966 MALE SC 168 91 8 PASS --Select-- RAKSHAK 820939200874 -NA
321 PRD10345 TEERATHRAM RUDENDRA PRASAD KAMLA DEVI 16/08/1971 MALE GENERAL 169 93 10 PASS --Select-- RAKSHAK 464088124920 -NA
322 PRD10347 VIRENDRANATH PATHAK SURENDRA MANI PATHAK KRISHNA KUMARI 25/03/1970 MALE GENERAL 170 92 12 PASS --Select-- RAKSHAK 518159630413 -NA
323 PRD10348 RAKESH KUMAR DEVARAM MANGLA DEVI 15/01/1983 MALE SC 168 93 GRADUATE --Select-- RAKSHAK 501054257232 -NA
324 PRD10350 KRIPARAM BADLU KATHKEI 15/02/1978 MALE SC 167 90 5 PASS --Select-- RAKSHAK 472304425625 -NA
325 PRD10353 BASANT LAL BADKAU RAMKALA DEVI 15/01/1974 MALE SC 169 92 8 PASS --Select-- RAKSHAK 522776671878 -NA
326 PRD10355 NAIM KHAN NAJEEB KHAN RAHISA 03/06/1966 MALE GENERAL 168 91 10 PASS --Select-- RAKSHAK 881532437112 -NA
327 PRD10360 DHARAM RAJ MAURYA RAM SAGAR SUMAN DEVI 21/02/1967 MALE OBC 171 90 10 PASS -NA- RAKSHAK 744634993079 -NA-CWRPD4816L
328 PRD10388 CHHOTE LAL SUDEEN SHURSATI 05/07/1969 MALE SC 168 85 8 PASS --Select-- RAKSHAK 957190521770 -NA
329 PRD10391 ONKAR KANAUJI PRASAD KANI 25/07/1972 MALE GENERAL 170 95 5 PASS --Select-- RAKSHAK 3226506416087 -NA
330 PRD10395 RAM NARESH BHAGAUTI LAL KIRAN 12/04/1972 MALE OBC 170 89 8 PASS --Select-- RAKSHAK 694445473178 -NA
331 PRD10405 MUBARAK ALI ALI HASAN MAHUDHA 01/07/1978 MALE SC 161 92 8 PASS --Select-- RAKSHAK 936149669192 -NA
332 PRD10408 JAVIR ALI ALI HASAN MALUDHA 01/06/1972 MALE SC 170 92 8 PASS --Select-- RAKSHAK 864581010159 -NA
333 PRD10413 ISHVAR CHANDRA BADRI PAWARA 03/08/1984 MALE SC 170 92 8 PASS --Select-- RAKSHAK 717727159120 -NA
334 PRD10418 RAJU KUMAR VERMA FAOJDAR VERMA LEELAVATI 01/02/1984 MALE OBC 170 92 8 PASS --Select-- RAKSHAK 223851693757 -NA
335 PRD10423 JAGDISH PRASAD VERMA FAUJDAR LEELAVATI 25/03/1981 MALE SC 170 92 10 PASS --Select-- RAKSHAK 885683522115 -NA
336 PRD10425 AJAD KHAN HABIBUL ANWARI BEGUM 10/08/1974 MALE GENERAL 170 93 8 PASS --Select-- RAKSHAK 541076085301 -NA
337 PRD10429 MAKBOOL RAHMAT ALI HASEENA BEGUM 01/01/1972 MALE SC 170 91 8 PASS --Select-- RAKSHAK 796668599567 -NA
338 PRD10433 MATHURA PRASAD ANTAHAWA PHULANGA 02/09/1970 MALE SC 170 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 310834249661 -NA
339 PRD10439 MUHAMAD SARIF AMEEN ISLAMAN 20/07/1971 MALE OBC 170 92 8 PASS --Select-- RAKSHAK -NA JVQPS7320B
340 PRD10442 MONIKA DEVI KRISHNA MOHAN PARVATI DEVI 25/08/1990 FEMALE SC 158 92 8 PASS --Select-- RAKSHAK 854006895525 GQZPD7910R
341 PRD10446 BHONA PRASAD RAMDHANI KAUSHALIYA 21/11/1969 MALE SC 171 91 8 PASS --Select-- RAKSHAK 320451974135 -NA
342 PRD10452 AMARJIT CHHOTE LAL BUDHMA 23/01/1972 MALE SC 170 91 8 PASS --Select-- RAKSHAK 271390175720 -NA
343 PRD10458 JAGADISH PRASAD RAMESHWAR PRASAD KRISHNA VATI 20/05/1987 MALE SC 170 92 10 PASS --Select-- RAKSHAK 357289237179 -NA
344 PRD10463 VINAY PRAKASH RAM ROOP ROJHINI DEVI 07/07/1975 MALE SC 167 90 10 PASS --Select-- RAKSHAK 626867552929 -NA
345 PRD10467 DAYARAM RAM SARAN PRANPATI 15/12/1969 MALE SC 171 92 8 PASS --Select-- RAKSHAK 492019080408 -NA
346 PRD10469 JANG BAHADUR BABU RAM KALAVATI 04/07/1986 MALE SC 169 92 10 PASS --Select-- RAKSHAK 272260714005 -NA
347 PRD10473 MOHAMMAD IJARAIL MOHAMMAD AMEEN AMIRUN NISA 18/10/1972 MALE SC 170 92 8 PASS --Select-- RAKSHAK 384954163692 -NA
348 PRD10477 PRAMOD KUMAR KHILAWAN RAMA 01/01/1984 MALE SC 170 92 8 PASS --Select-- RAKSHAK 212119323582 -NA
349 PRD10480 PYAARE LAL BANESHVAR JADORAM 05/08/1988 MALE SC 170 92 10 PASS --Select-- RAKSHAK 584073121532 -NA
350 PRD10481 OMKAR YADAV ARM MILAN KLAWATI 01/01/1983 MALE OBC 170 87 8 PASS --Select-- RAKSHAK 202618958832 -NA
351 PRD10484 SHYAM LAL RAM ARSE SARJU DEI 01/02/1964 MALE SC 170 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 602634485706 -NA
352 PRD10485 AMBAR LAL RAM NARAYAN LAKHPATA 20/07/1972 MALE --Select-- 170 92 8 PASS --Select-- RAKSHAK 478151432951 -NA
353 PRD10487 SABIR ALI SAHANUR SUGHRA 01/03/1972 MALE GENERAL 170 92 8 PASS --Select-- RAKSHAK 366364926678 -NA
354 PRD10491 GULAM HUSSAIN BHOLA KHATOON 01/01/1969 MALE SC 170 92 8 PASS --Select-- RAKSHAK 333875691970 -NA
355 PRD10492 JAYABAHADUR AMRIT LAL SUNI DEVI 09/01/1976 MALE SC 170 91 8 PASS --Select-- RAKSHAK 598848354008 -NA
356 PRD10494 SHIVDHARI SHYAMBALI JANKI 25/07/1976 MALE GENERAL 170 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 362880931421 -NA
357 PRD10496 MUNNA LAL JOKHAN CHANDRA RANI 01/01/1978 MALE OBC 172 91 8 PASS --Select-- RAKSHAK 635505356327 AXVPL3201C
358 PRD10498 P.R.D CARD RAMLAKHAN RAMAVATI 12/01/1977 MALE SC 170 91 8 PASS --Select-- RAKSHAK 525360860558 -NA
359 PRD10499 SHAMBHU NATH YADAV VAIJ NATH ACHALA 02/01/1977 MALE SC 170 92 8 PASS --Select-- RAKSHAK 949903474576 -NA
360 PRD10502 CHATU PRASAD SHIV NAYARAN PRABHATI DEVI 12/06/1987 MALE SC 170 90 10 PASS --Select-- RAKSHAK -NA EUJPP6217H
361 PRD10503 JITENDRA DALPAT KUVARI DEVI 01/01/1983 MALE SC 170 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 492467795148 -NA
362 PRD10504 ASHOK KUMAR YADAV RAM AUTAR YADAV RADHA DEVI 01/01/1976 MALE SC 168 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 222076824541 -NA
363 PRD10506 RAJU KUSHIRAM VANDHYA DEVI 01/10/1993 MALE SC 170 92 10 PASS --Select-- RAKSHAK 813391610710 -NA
364 PRD10508 RAMFERAN TEJI URMILA DEVI 15/04/1984 MALE SC 170 94 8 PASS --Select-- RAKSHAK 381731024054 -NA
365 PRD10509 KMATA PRASAD DUJAI CHMAYALA 12/06/1982 MALE SC 170 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 433759918381 -NA
366 PRD10512 SANJAY KUMAR SWAMI DEEN PRABHA DEVI 15/04/1983 MALE GENERAL 170 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 797450152639 -NA
367 PRD10563 MANOJ KUMAR MILKI RAM KALAVATI 05/11/1977 MALE SC 168 91 8 PASS --Select-- RAKSHAK 574059981776 -NA
368 PRD10572 RAM ASHISH BRNIRAM TAJT DEVI 30/07/1974 MALE OBC 170 91 8 PASS --Select-- RAKSHAK 862617798696 -NA
369 PRD10580 SHUSHEELA DEVI BACHU LAL RAM RANI 02/07/1980 FEMALE GENERAL 158 95 8 PASS --Select-- RAKSHAK 598525412205 -NA
370 PRD10588 SHOBHARAM BAIJNATH BAIJA 01/01/1974 MALE SC 172 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 802093448804 -NA
371 PRD10599 ANAND PRAKASH MISHRA VINDHESHWARI PRASAD JAJAK DULARE 01/07/1965 MALE GENERAL 170 90 12 PASS --Select-- RAKSHAK 356790956987 -NA
372 PRD10609 AVADESH KUMAR MISHRA SHIV CHAKAR BHOLA DEVI 15/10/1965 MALE GENERAL 168 90 10 PASS --Select-- RAKSHAK 426030780477 -NA
373 PRD10615 NAND KUMAR SHIV CHAKAR BHOLA DEVI 13/02/1969 MALE GENERAL 170 91 10 PASS --Select-- RAKSHAK 765833761510 -NA
374 PRD10624 SANTOSH KUMAR MISHRA RAM NARESH CHUNMUNI 25/05/1981 MALE GENERAL 169 92 8 PASS --Select-- RAKSHAK 416239861559 -NA
375 PRD10627 RAM PRASAD SONKAR SANTRAM SHIV RANI 10/01/1989 MALE SC 167 89 10 PASS --Select-- RAKSHAK 293953941404 -NA
376 PRD10632 NANKE FATE BACHANA 01/01/1975 MALE SC 170 91 5 PASS --Select-- RAKSHAK 797228826167 -NA
377 PRD10637 HARIPRASAD RAM ADHAR SHANTI DEVI 25/07/1972 MALE SC 170 92 8 PASS --Select-- RAKSHAK 622279937995 -NA
378 PRD10643 HANUMAN PRASAD PYAARE LAL PHOOLAN DEVI 01/07/1976 MALE SC 168 94 8 PASS --Select-- RAKSHAK 414155076788 -NA
379 PRD10648 LALLAN RAM BAHADUR LEELAVATI 05/05/1972 MALE GENERAL 170 91 8 PASS --Select-- RAKSHAK 802510901543 -NA
380 PRD10651 RAJ KUMAR SONKAR RAM KUMAR SONKAR RAMA DEVI 05/09/1990 MALE SC 170 90 GRADUATE COMPUTOR OPERATOR RAKSHAK 427390864736 -NA-
381 PRD10653 SUNEEL KUMAR SINGH SIDDHA NATH SINGH MALTI DEVI 13/07/1976 MALE GENERAL 167 90 12 PASS --Select-- RAKSHAK 729689021121 -NA
382 PRD10656 NAND KUMAR VERMA BABURAM JAGDAMBA 01/01/1969 MALE SC 170 92 8 PASS --Select-- RAKSHAK 848201733289 -NA
383 PRD10662 NARENDRA KUMAR PHULERAM MANJU DEVI 25/06/1987 MALE SC 169 92 12 PASS --Select-- RAKSHAK 913960220038 -NA
384 PRD10665 JHANNU NIRAHOO VIDHA DEVI 01/01/1963 MALE SC 170 92 5 PASS --Select-- RAKSHAK 887484234975 -NA
385 PRD10672 NARESH MANGARE BADKAI Invalid date MALE SC 168 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 987287411631 -NA
386 PRD10677 RAM KEWAL NANKU SUNITA Invalid date MALE SC 168 90 10 PASS --Select-- RAKSHAK 878708306266 -NA
387 PRD10684 KAILASH NATH RAM SAGAR RAG PATA 02/05/1970 MALE SC 170 89 5 PASS --Select-- RAKSHAK 596430453464 -NA
388 PRD10696 RAM FERAN BHAGUTI KAMLA DEVI 10/12/1966 MALE SC 168 92 8 PASS --Select-- RAKSHAK 956018823294 -NA
389 PRD10700 RAM CHANDAR RAM CHABILE SHANTI DEVI 01/07/1979 MALE SC 167 91 8 PASS --Select-- RAKSHAK 732086972640 -NA
390 PRD10728 BALAMUKUND GANASH DATT MOHAR BASA 01/01/1872 MALE GENERAL 175 90 8 PASS DRIVER RAKSHAK 263962104884 -NA
391 PRD10745 MANOJ KUMAR HANUMAN RAMPIYARI 24/02/1998 MALE SC 178 90 10 PASS --Select-- RAKSHAK 858056653858 -NA
392 PRD10757 FULMATI DEVI RAKSHARAM SUMAN 09/08/1990 FEMALE SC 158 90 12 PASS --Select-- RAKSHAK 481867041350 -NA
393 PRD10762 PREM SAGAR PANDEY NURANGI LA;L SANITI DEVI 15/01/1962 FEMALE GENERAL 167 90 10 PASS --Select-- RAKSHAK 481245108307 -NA
394 PRD10764 ALAKH NIRANJAN TRIPATHI RAM NAYARAN INDRANI DEVI 31/10/1965 MALE GENERAL 168 90 12 PASS --Select-- RAKSHAK 914756645484 -NA
395 PRD10768 RAM TEJ RAM KEVAL CHANDRA 03/02/1985 MALE SC 169 92 10 PASS --Select-- RAKSHAK 789356095256 -NA
396 PRD10772 BRIJ KISHOR PANDEY RAM KISHUN PANDEY JAGATHEYI 01/06/1962 MALE GENERAL 172 95 8 PASS --Select-- RAKSHAK 482023902855 -NA
397 PRD10773 RAM BAJAN RAM FERAN JUNI DEVI 01/10/1965 MALE SC 168 91 8 PASS --Select-- RAKSHAK 260838369512 -NA
398 PRD10876 KAILASH AURI LAL SUNITA DEVI 15/10/1968 MALE SC 168 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 258554240549 -NA
399 PRD10892 RIKKHIRAM RAM KUMAR MUNNI DEVI 03/06/1972 MALE SC 170 92 8 PASS --Select-- RAKSHAK 584037698425 -NA
400 PRD10899 EIKKHIRAM RAM KUMAR MUNI DEVI 03/06/1972 MALE SC 170 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 584037698425 -NA

user image Arvind Swaroop Kushwaha - 08 May 2021 at 2:54 PM -

prd bahraich 9261 से 10198 तक

क्रम संख्या, एप्लीकेशन नं0, स्वयंसेवक का नाम, पिता का नाम, माता का नाम, जन्मतिथि, लिंग, श्रेणी, लम्बाई(सेमी0), सीना(सेमी0), शिक्षा, विशेष योग्यता, पोस्ट/पद, आधार नं0, पैन नं0,

198 PRD9261 DEVENDRA SINGH VANSHRAJ SINGH MALTI SINGH 20/07/1968 MALE GENERAL 172 92 10 PASS --Select-- RAKSHAK 692150528806 -NA

199 PRD9270 MAHESH PRASAD SHRI RAM TEJ GIRAJA DEVI 28/12/1983 MALE SC 170 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK -NA EVQPP2668G

200 PRD9277 RAJIT RAM BADLU KALAVATI 05/02/1979 MALE SC 170 92 5 PASS --Select-- RAKSHAK 580508617269 -NA

201 PRD9285 SHYAM SUNDAR BHAGWANDEEN PUSHPA DEVI 03/11/1987 MALE SC 168 92 8 PASS --Select-- RAKSHAK 965152286109 -NA

202 PRD9290 GAGAN VIHARI SHRI SHIV SHANKAR SUMAN SHUKLA 03/01/1974 MALE GENERAL 170 92 8 PASS --Select-- RAKSHAK 895174387638 -NA

203 PRD9295 RADHESHYAM PYAARELAL AASHA ... DEVI 04/03/1972 MALE OBC 170 92 8 PASS --Select-- RAKSHAK 368519650581 -NA

204 PRD9300 AMEERULA SAMIULLA SAJIDA BEGUM 30/07/1973 MALE OBC 168 92 8 PASS --Select-- RAKSHAK 362788964988 -NA

205 PRD9303 KALLU PRASAD CHOTE LAL MAMTA 11/09/1969 MALE SC 170 92 12 PASS --Select-- RAKSHAK 428057313592 -NA

206 PRD9306 KAMAL KISHOR SINGH CHANDRABALI SINGH CHANDRA KANTI Invalid date MALE GENERAL 168 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 543317010062 -NA

207 PRD9307 RAM SARAN CHOTE LAL DHANPATA 20/05/1979 MALE SC 168 90 5 PASS --Select-- RAKSHAK 729857343684 -NA

208 PRD9309 KULDEEP KUMAR SRIVASTAVA SHARDA PRASAD SHRIVASTAVA SHANTI DEVI 09/09/1970 MALE GENERAL 172 95 12 PASS --Select-- RAKSHAK 285946758345 -NA

209 PRD9310 BECHAN LAL SUNDAR SHEELA DEVI 15/07/1986 MALE SC 170 92 8 PASS --Select-- RAKSHAK 981844219382 -NA

210 PRD9312 BADELAL CHANGA PRASAD RATTA MAURYA 05/04/1967 MALE SC 168 92 8 PASS --Select-- RAKSHAK 957359493782 -NA

211 PRD9314 NAKCHHED BABULAL SHRI DEVI 15/01/1992 MALE SC 170 93 10 PASS --Select-- RAKSHAK 302292389006 BGBPN8007L

212 PRD9316 SHESHRAJ AVADHRAM MUNNI DEVI 10/07/1983 MALE OBC 170 93 10 PASS -NA- RAKSHAK 802919958449 IXHPS3571J

213 PRD9320 RAJESHWAR RAMESHWAR SURYAKALA 14/08/1966 MALE SC 167 90 10 PASS --Select-- RAKSHAK 813034479560 -NA

214 PRD9323 DINESH KUMAR SHUKLA RAM KHELAVAN RAM RANI 01/08/1971 MALE GENERAL 169 92 GRADUATE --Select-- RAKSHAK 960801022736 EWBPS6293E

215 PRD9328 RAMESHWAR RAM KISHUN NAITUIN 01/08/1972 MALE SC 168 90 10 PASS --Select-- RAKSHAK 322174791527 -NA

216 PRD9334 ANIL KUMAR VARMA RAM SHEKHAR VARMA GENDA DEVI 15/04/1991 FEMALE SC 172 93 12 PASS --Select-- RAKSHAK 537572827608 -NA

217 PRD9342 DHARMENDRA KUMAR DHANALAL SUNDARPATA 17/07/1982 MALE OBC 168 90 12 PASS --Select-- RAKSHAK 856488839231 -NA

218 PRD9349 JAGDISH PRASAD RAM LAL MAHARAJA 15/02/1966 MALE SC 167 90 10 PASS --Select-- RAKSHAK 777606899115 -NA

219 PRD9351 ASHOK KUMAR JUNG BAHADUR SAROJ KUMARI 20/07/1989 MALE SC 172 92 12 PASS --Select-- RAKSHAK 641708571248 -NA

220 PRD9361 BASABT LAL PUTTI LAL MAYAVATI 01/12/1966 MALE SC 168 92 8 PASS --Select-- RAKSHAK 806230773157 -NA

221 PRD9444 RANGILAL RAMSWAROOP SIRTAJA 01/09/1964 MALE SC 166 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 741018694556 -NA

222 PRD9452 RAM PRASAD BHAGAUTI PRASAD RAM DULAARI 24/12/1964 MALE ST 167 90 10 PASS --Select-- RAKSHAK 772476813201 -NA

223 PRD9457 SIYARAM SHIV PRASAD RAM RATTI 01/06/1966 MALE SC 167 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 844416388319 -NA

224 PRD9463 MAHBUB AHMAD WALI MOHAMMAD ZAINAB 01/07/1966 MALE SC 173 92 8 PASS --Select-- RAKSHAK 380283869509 -NA

225 PRD9466 KRISHN BAHADUR TALUKDAR RAMADEVI 01/01/1979 MALE SC 167 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 384636375243 -NA

226 PRD9468 BRIJENDRA KUMAR RAM MANOHAR SUNDARI 05/09/1971 MALE SC 168 92 8 PASS --Select-- RAKSHAK 946168202742 -NA

227 PRD9474 ANIL KUMAR IKBAL BAHADUR BRIJRANI 30/03/1970 MALE SC 166 90 12 PASS --Select-- RAKSHAK 841317457735 -NA

228 PRD9490 RAM SURAT PARMESHWAR KAMLA DEVI 01/01/1967 MALE SC 167 92 12 PASS --Select-- RAKSHAK 994145049015 -NA

229 PRD9499 INDR PRASAD BABU RAM SUNDARPATA 01/10/1969 MALE SC 170 93 8 PASS --Select-- RAKSHAK 261160632008 -NA

230 PRD9500 OMPRAKASH RAM CHANDER RAJ KUMARI 20/07/1978 MALE SC 170 92 5 PASS --Select-- RAKSHAK 349001071150 -NA

231 PRD9501 GANGA PRASAD SABHURE TALUKDEI 01/06/1974 MALE SC 170 92 10 PASS --Select-- RAKSHAK 461732936640 -NA

232 PRD9504 RAM NAYARAN GOBHARDHAN PUSHPA DEVI 01/03/1975 MALE SC 170 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 256382051607 -NA

233 PRD9557 MANSHRAM KANDHAI CHAMPA 01/12/1968 MALE SC 168 92 5 PASS --Select-- RAKSHAK 746277895565 -NA

234 PRD9559 JAGLAL RAMKHELAWAN VEERANA 09/12/1962 MALE SC 167 90 10 PASS --Select-- RAKSHAK 567168052308 -NA

235 PRD9562 JANARDHAN PRASAD HARI RAM HARDEI 04/05/1986 MALE SC 170 92 10 PASS --Select-- RAKSHAK 828838815995 -NA

236 PRD9564 TEJ PRAKASH PRATHVI RAJ VIJAY LAXMI 05/09/1973 MALE GENERAL 170 93 12 PASS --Select-- RAKSHAK 290025456502 -NA

237 PRD9569 MUL CHAND RAM GARIBE MAHARAJA 16/01/1970 MALE SC 167 90 5 PASS --Select-- RAKSHAK 789787762250 -NA

238 PRD9573 HABIB AHMAD MOHD ISMAIL MUNNI 15/05/1980 MALE GENERAL 172 94 8 PASS --Select-- RAKSHAK 462778986317 -NA

239 PRD9575 PAPPU YADAV SAMAYDEEN MUNNI DEVI 01/07/1978 MALE OBC 170 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 873225085238 -NA

240 PRD9579 REKHA DEVI AMRESH KUMAR CHANDRA DEVI 02/08/1989 FEMALE SC 166 90 GRADUATE --Select-- RAKSHAK 309734646245 -NA

241 PRD9583 SURESH CHANDRA EKRAM SINGH AAZAD RAJ KUMARI 01/08/1974 MALE SC 168 93 GRADUATE --Select-- RAKSHAK 459369030210 -NA

242 PRD9587 RAM SAGAR NAKCHED MAKHANA 01/07/1970 MALE SC 170 92 8 PASS --Select-- RAKSHAK 760951699456 -NA

243 PRD9591 SUNDAR LAL PYARE LAL GEETA DEVI 01/01/1971 MALE SC 172 92 8 PASS --Select-- RAKSHAK 423082938538 -NA

244 PRD9596 RAM NARESH AMRIKA KALAVATI 10/07/1985 MALE SC 170 90 12 PASS --Select-- RAKSHAK 412082132762 -NA

245 PRD9601 BUDH RAM CHANDRIKA LAXMI DEVI 15/09/1971 MALE GENERAL 167 92 8 PASS --Select-- RAKSHAK 215367456706 -NA

246 PRD9607 RAN VIJAY SINGH MURALI SINGH MUNNI SINGH 01/01/1970 MALE GENERAL 168 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 592999912411 -NA

247 PRD9613 RAM SAMUJH SHYAMKARAN 05/07/1970 MALE SC 170 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 490551004000 -NA

248 PRD9616 ABRAR AHAMAD JABBAR ALI BADRUN NISA 12/05/1977 MALE SC 168 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 912201245355 -NA

249 PRD9619 SANTOSH YADAV NANDLAL YADAV SAVITA YADAV 25/07/1980 MALE SC 170 90 10 PASS --Select-- RAKSHAK 565221184258 -NA

250 PRD9625 SUBHAN ALI RAHAMAT ALI KHATOON 15/02/1982 MALE SC 170 92 8 PASS --Select-- RAKSHAK 483291022450 -NA

251 PRD9692 MOHAMMAD JABIR MAJEED SHAKEELA BANO 20/05/1981 MALE SC 170 92 5 PASS --Select-- RAKSHAK 910753696977 -NA

252 PRD9699 HARIRAM BIJAI PHOOLMATI 28/09/1973 MALE SC 170 92 8 PASS --Select-- RAKSHAK 358076893002 -NA

253 PRD9707 BUCHE NANHU SUHRA 01/01/1968 MALE SC 170 90 5 PASS --Select-- RAKSHAK 943179331675 -NA

254 PRD9719 RAMHARSH KHELAVAN SITALA 01/02/1970 MALE SC 167 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 431586645256 -NA

255 PRD9730 GOMTI PRASAD KASHIRAM SAWARIYA 09/01/1973 MALE OBC 172 93 GRADUATE --Select-- RAKSHAK 292601599362 -NA

256 PRD9733 RAM GOPAL JIMIDAR KALAVATI 15/07/1971 MALE SC 168 94 10 PASS --Select-- RAKSHAK 542198314453 -NA

257 PRD9736 RAM NIVAS SUDARSHAN PRASAD VINDHYA DEVI 01/07/1972 MALE GENERAL 170 93 8 PASS --Select-- RAKSHAK 316823465345 -NA

258 PRD9741 HAKIMALAL PATANDIN SUSHILA DEVI 11/04/1970 MALE GENERAL 170 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 220460827993 -NA

259 PRD9746 PREM PAL SHRI KRISHN RADHIKA 15/07/1970 MALE SC 170 90 10 PASS --Select-- RAKSHAK 815066428542 -NA

260 PRD9755 SHRAVAN KUMAR PATHAK BHAGAULI PRASAD RAM PYAARI 01/01/1970 MALE GENERAL 168 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 363296716449 -NA

261 PRD9768 MUNSHI LAL RAM LAKHAN VERMA SURYAKALA 13/08/1968 MALE SC 172 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 911760994974 BGNPV2534E

262 PRD9776 RAKESH KUMAR BRIJ MOHAN SHANTI DEVI 01/01/1984 MALE SC 170 92 8 PASS --Select-- RAKSHAK 556394171907 -NA

263 PRD9887 JAGDEESH GORVADHN MUNNI DEVI 15/01/1968 MALE SC 170 92 8 PASS --Select-- RAKSHAK 334680591267 -NA

264 PRD9889 BUDDHILAL RAM MILAN SMRITI DEVI 10/01/1979 MALE SC 170 92 5 PASS --Select-- RAKSHAK 406594928320 -NA

265 PRD9892 ALAKHRAM RAMESHWAR NANKI 01/05/1977 MALE GENERAL 168 93 8 PASS --Select-- RAKSHAK 647415136593 -NA

266 PRD9894 RAM SHARAN GUPTA LAXMI NAYARAN GUPTA LAL DEI 05/02/1979 MALE SC 168 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 967715570575 -NA

267 PRD9898 ABDUL GAFFAR ABDUL HAMID SUGHARA 12/04/1972 MALE SC 168 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 882033176092 CNVPG6323A

268 PRD9902 DHRU KUMAR KAMLA PRASAD SUNITA DEVI 05/07/1987 MALE SC 170 92 8 PASS --Select-- RAKSHAK 409697650433 -NA

269 PRD9904 NARENDRA KUMAR GUPTA SIYARAM GUPTA RAJRANI 09/07/1987 MALE SC 170 92 GRADUATE --Select-- RAKSHAK 373504224377 -NA

270 PRD9909 JITENDRA KUMAR NARENDRA KUMAR KRISHNA DEVI 20/08/1986 MALE SC 170 92 8 PASS --Select-- RAKSHAK 951588146425 -NA

271 PRD9913 TEJRAM BALDEV SANTOSHI DEVI 15/09/1989 MALE SC 170 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 549009869314 -NA

272 PRD9917 GURDEEP SINGH HEERA SINGH 01/01/1967 MALE GENERAL 168 92 12 PASS --Select-- RAKSHAK 236169533563 -NA

273 PRD9925 SUBHASH CHANDRA VERMA MATHURA PRASAD SHIV RAJI 15/04/1974 MALE SC 175 92 10 PASS --Select-- RAKSHAK 967081656180 -NA

274 PRD9929 DHARAM RAJ AVADH RAM MANORANI 29/06/1983 MALE SC 168 90 10 PASS --Select-- RAKSHAK 287978143112 -NA

275 PRD9934 HAREEMAN BHAGAUTI SUKHA DEVI 12/01/1975 MALE SC 170 92 8 PASS --Select-- RAKSHAK 940115678460 -NA

276 PRD9942 RAJ KISHOR RAM NARESH RADHA DEVI 01/07/1975 MALE SC 170 91 8 PASS --Select-- RAKSHAK 427069114376 -NA

277 PRD9949 MUNNI DEVI AVADH RAM VISHWAKARMA SUSHMA DEVI 15/07/1975 FEMALE SC 166 90 12 PASS --Select-- RAKSHAK 850576593295 -NA

278 PRD9955 GOVIND PRASAD FAUJDAR SHAKUNTALA DEVI 15/04/1986 MALE SC 170 91 8 PASS --Select-- RAKSHAK 738096275049 -NA

279 PRD10025 CHANDRIKA PRASAD NAGESAR PRASAD SHAKUNTALA DEVI 01/01/1970 MALE SC 168 91 8 PASS --Select-- RAKSHAK 748855555044 -NA

280 PRD10028 SABIT RAM SOHAN LAL NANKAI 21/05/1968 MALE SC 167 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 626945970565 -NA

281 PRD10032 RADHE SHYAM GURU PRASAD PHOOL MATI 03/04/1980 MALE obc 170 92 8 PASS --Select-- RAKSHAK 380051350676 -NA

282 PRD10033 RAM SAGAR NAKCHED JALLA 20/05/1968 MALE SC 172 91 8 PASS --Select-- RAKSHAK 975577155 -NA

283 PRD10037 RAMESHWAR PRASAD FERAN JADURA DEVI 30/12/1969 MALE SC 168 90 5 PASS --Select-- RAKSHAK 995466173619 -NA

284 PRD10038 PARE LAL PUTTI LAL SAMUNDRA 25/08/1972 MALE SC 170 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 501280816896 -NA

285 PRD10039 DHANIRAM CHOTE LAL MAHDEI 01/01/1970 MALE SC 170 92 8 PASS --Select-- RAKSHAK 501677557660 -NA

286 PRD10040 KHALIL AHMAD NAJIR MOHAMMAD FATIMA 01/06/1970 MALE SC 170 92 5 PASS --Select-- RAKSHAK 457506644677 -NA

287 PRD10115 JITENDRA KUMAR TIWARI CHAIL BIHARI RAJKUNWAR 01/09/1982 MALE GENERAL 170 93 8 PASS --Select-- RAKSHAK 447075422908 -NA

288 PRD10120 RAM NARESH KANDHAI KALAVATI 01/02/1965 MALE SC 168 92 12 PASS --Select-- RAKSHAK 585304524663 -NA

289 PRD10126 RANGEELE GAULAM VAIRAGI SARITA 13/07/1973 MALE SC 170 92 8 PASS --Select-- RAKSHAK 258795120391 -NA

290 PRD10132 DUWARIKA PRSAD DASHAI RAMBACHI 15/01/1977 MALE GENERAL 170 90 10 PASS --Select-- RAKSHAK 398120089097 -NA

291 PRD10138 SURENDRA KUMAR SONKAR TEERADHRAM MINADEVI 18/07/1991 MALE SC 170 80 GRADUATE --Select-- RAKSHAK 263404436635 -NA

292 PRD10144 SAURABH KUMAR TIWARI MULUKRAJ TIWARI SANTI DEVI 08/05/1991 MALE GENERAL 183 90 12 PASS --Select-- RAKSHAK 753869756860 -NA

293 PRD10155 SANTOSH KUMAR JHAGARU RAM BACHI 18/05/1995 MALE SC 172 90 10 PASS --Select-- RAKSHAK 614837263547 -NA

294 PRD10161 ANUJ KUMAR PANDAY HARI PRAKASH PANDAY GAYATRI DEVI 30/01/1984 MALE GENERAL 170 90 12 PASS --Select-- RAKSHAK 670128886251 -NA

295 PRD10168 JAGDISH PRASAD SEETA RAM RAN GANKI 01/12/1976 MALE GENERAL 170 86 10 PASS --Select-- RAKSHAK 666749764886 -NA

296 PRD10179 RAM GOPAL BARATI LAL PANNA DEVI 01/05/1980 MALE SC 170 88 8 PASS --Select-- RAKSHAK 519146465419 -NA

297 PRD10198 RAKSHA RAM RAM KUVARE MINA 03/07/1964 MALE SC 170 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 517833706428 -NA

user image Arvind Swaroop Kushwaha - 08 May 2021 at 2:37 PM -

prd bahraich 8528 से 9179 तक

क्रम संख्या, एप्लीकेशन नं0, स्वयंसेवक का नाम, पिता का नाम, माता का नाम, जन्मतिथि, लिंग, श्रेणी, लम्बाई(सेमी0), सीना(सेमी0), शिक्षा, विशेष योग्यता, पोस्ट/पद, आधार नं0, पैन नं0,

94 PRD8528 RAJENDRA PRASAD AASHARAM YADAV RESHMA 30/12/1989 MALE OBC 170 95 10 PASS --Select-- RAKSHAK 639757267885 -NA

95 PRD8531 AJIJ ... AHMAD ABDUL KHALIK ASGARI 20/01/1975 MALE GENERAL 167 92 8 PASS --Select-- RAKSHAK 443270028232 -NA

96 PRD8535 SHIKHAR RAMESHWAR PRASAD KHRAE URMILA 03/01/1986 MALE GENERAL 170 92 GRADUATE COMPUTOR OPERATOR RAKSHAK 962576742830 CTCPK1941D

97 PRD8541 REETA SRIVASTAVA LATE SURYANAYARAN SRIVASTAVA LATE SUSHAATI SRIVASTAVA 01/01/1987 FEMALE GENERAL 165 92 8 PASS --Select-- RAKSHAK 340819839321 -NA

98 PRD8545 RAJKUMARI AVDESH KUMAR TARA DEVI 01/01/1986 FEMALE OBC 165 92 12 PASS --Select-- RAKSHAK 628169187676 -NA

99 PRD8552 PUSHPA SRIVASTAVA PREM KUMAR TARA DEVI 10/07/1984 FEMALE GENERAL 165 92 12 PASS --Select-- RAKSHAK 970259295641 -NA

100 PRD8562 MOHD AYYUB KHAN JAMEEL AHMAD SAIRULLAH 01/07/1969 MALE GENERAL 175 93 8 PASS --Select-- RAKSHAK 302954927470 -NA

101 PRD8570 SHANKAR DAYAL SHARMA BAJRANGI SHARMA RAMA DEVI 01/06/1968 MALE GENERAL 170 92 8 PASS --Select-- RAKSHAK 624202431483 -NA

102 PRD8579 JAGDESSH PRASAD YADAV SWAMI DAYALAL YADAV RAJDAYI 01/10/1973 MALE OBC 167 92 10 PASS --Select-- RAKSHAK 902559607539 -NA

103 PRD8584 JAMEER KHA NAJJAB KHA ZUBEDA KHATOON 15/11/1966 MALE GENERAL 167 92 10 PASS --Select-- RAKSHAK 706249629804 -NA

104 PRD8590 MOHD SAHIMUDDIN KHAN RUSTAM KHAN MEHRULLA 12/12/1978 MALE GENERAL 167 92 8 PASS --Select-- RAKSHAK 223905458509 -NA

105 PRD8594 MOHD NADEER KHA MOHD TAYYAB KHA TAREEFA BEGUM 01/12/1972 MALE GENERAL 167 92 12 PASS --Select-- RAKSHAK 393814049734 -NA

106 PRD8597 JUMMAN ALI BALE KALLO 16/05/1973 MALE OBC 167 92 5 PASS --Select-- RAKSHAK 869682379617 -NA

107 PRD8599 RAMRUP RAM BAHADUR PUSHPA DEVI 01/01/1978 MALE SC 168 95 8 PASS --Select-- RAKSHAK 884164393305 -NA

108 PRD8601 SHILPI SRIVASTAVA RAMA SHANKAR RAJESH KUMARI 20/05/1989 FEMALE GENERAL 165 92 10 PASS --Select-- RAKSHAK 299766984812 -NA

109 PRD8608 HARNANDAN SINGH AMRJEET SINGH JAGGA GAUR 05/07/1990 MALE GENERAL 170 92 8 PASS --Select-- RAKSHAK 457933352774 -NA

110 PRD8613 JIVAN SINGH SUNDAR SINGH NEELAM KAUR 12/02/0196 MALE GENERAL 167 92 8 PASS --Select-- RAKSHAK 945329382786 -NA

111 PRD8616 KIRAN BABULAL MEWATI DEVI 10/02/1991 FEMALE SC 165 93 10 PASS --Select-- RAKSHAK 952345383723 -NA

112 PRD8619 DEVI PRASAD SUBEDAR MANJLA DEVI 03/08/1988 MALE SC 170 95 10 PASS --Select-- RAKSHAK 796827729425 -NA

113 PRD8624 RADHESHYAM DAULAT RAM AASHA DEVI 12/06/1976 MALE GENERAL 165 92 8 PASS --Select-- RAKSHAK 448685203396 -NA

114 PRD8628 RAM PRATAP HARIDVAR PARASAD RAM JANKI DAVI 01/01/1982 MALE SC 176 80 8 PASS --Select-- RAKSHAK 984851650441 -NA

115 PRD8629 RAM NIVAS VISHESHAR LAL SUSATA 01/01/1976 MALE GENERAL 165 92 10 PASS --Select-- RAKSHAK 572924593564 -NA

116 PRD8632 MEHI LAL MANGRE KALAVATI 06/07/1974 MALE SC 170 93 8 PASS --Select-- RAKSHAK 227313915448 -NA

117 PRD8633 MOHD SAGEER ABDUL REHMAN FATIMA 01/01/1977 MALE GENERAL 165 92 5 PASS --Select-- RAKSHAK 705029080357 -NA

118 PRD8636 SHAMSUDDIN IBRAHIM KHAN SAKURUN NISHA 02/12/1980 MALE GENERAL 175 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 284421465055 IXHPS572322P

119 PRD8640 SUGREEV MATA PRASAD KAVUTARA DEVI 01/01/1974 MALE ST 175 85 8 PASS --Select-- RAKSHAK 691087620372 -NA

120 PRD8646 ANWARUL HUSSAIN AKRAM HUSSAIN AKBARUN NISA 31/07/1973 MALE GENERAL 170 93 10 PASS --Select-- RAKSHAK 988745828296 -NA

121 PRD8649 VINOD KUMAR GAURI SHANKAR MUNNI DEVI 15/07/1988 MALE GENERAL 168 93 12 PASS --Select-- RAKSHAK 884734187899 -NA

122 PRD8653 RAM KRIPAL SINGH SHIV NATH SINGH SAROJ SINGH 12/06/1969 MALE GENERAL 165 95 12 PASS --Select-- RAKSHAK 985173807271 -NA

123 PRD8658 RADHESHYAM PUTI LAL JAGPATI 12/06/1967 MALE SC 168 92 12 PASS --Select-- RAKSHAK 781776721164 -NA

124 PRD8661 ATUL KUMAR RAM PHERAN LAXMI DEVI 18/03/1986 MALE SC 168 93 12 PASS --Select-- RAKSHAK 911458564884 -NA
125 PRD8666 ANIL KUMAR CHAUHAN MAHESH CHAUHAN GYAANI DEVI 03/05/1983 MALE SC 166 93 12 PASS --Select-- RAKSHAK 383850916444 -NA

126 PRD8668 JAGRAM MATA PRASAD SHAKUNTALA 12/12/1966 MALE GENERAL 167 92 8 PASS --Select-- RAKSHAK 306082284579 -NA

127 PRD8670 BRJESH KUMAR SALLN PRASAD JAGRANI 01/07/1981 MALE SC 167 95 8 PASS --Select-- RAKSHAK 442037910264 -NA

128 PRD8671 DILERAM BHIKHU LAKHNI 13/05/1988 MALE SC 166 92 10 PASS --Select-- RAKSHAK 743449729554 -NA

129 PRD8672 RAJ KUMAR RAM LAL SHANTI DEVI 15/05/1971 MALE SC 167 92 8 PASS --Select-- RAKSHAK 834786942383 -NA

130 PRD8675 JAGRANI SHYAMTA PRASAD SUNDAR PATI 01/01/1979 MALE SC 165 92 10 PASS --Select-- RAKSHAK 583017742497 -NA

131 PRD8678 RAMSARAN BADLU RAM PARAS PATI 15/01/1967 MALE SC 165 92 12 PASS --Select-- RAKSHAK 776959379756 -NA

132 PRD8748 UDAY BHAN MISHRA RAMESHWAR SUSAMA MISHRA 01/01/1978 MALE GENERAL 170 90 10 PASS --Select-- RAKSHAK 311111976491 -NA

133 PRD8760 UMESH KUMAR RAM KUMAR SANTI DAVI 01/01/1955 MALE OBC 175 85 8 PASS --Select-- RAKSHAK 823640055845 -NA

134 PRD8766 NAVAL KISHOR GIRIJA DAYAL DIXIT LAJAVATI DAVI 17/10/1964 MALE GENERAL 170 90 GRADUATE --Select-- RAKSHAK 240145145904INIPK7022J -NA

135 PRD8773 RAM MILAN KHUSHIRAM SEYAMA DAVI 01/01/1972 MALE SC 175 85 8 PASS --Select-- RAKSHAK 466419728289 -NA

136 PRD8799 SHIV GOVIND RAMNAND RUPRANI DAVI 01/01/1983 MALE GENERAL 170 91 12 PASS --Select-- RAKSHAK 340767976229 -NA

137 PRD8818 KANDHAI LAL NANKAU METAHANA 01/01/1978 MALE SC 167 96 8 PASS --Select-- RAKSHAK 991047145515 -NA

138 PRD8825 SHILENDRA MOHAN MISHRA KRISHANANDMISHR PUSAPA MISHR 05/01/1989 MALE GENERAL 170 91 12 PASS --Select-- RAKSHAK 654577194081 -NA

139 PRD8828 MAUJI LAL KUNJE BIHARI RANAVATI 01/01/1965 MALE GENERAL 165 85 8 PASS --Select-- RAKSHAK 921717807618 -NA

140 PRD8831 GURUDEEN RAMDAS KAMALA DAVI 01/01/1983 MALE SC 175 85 12 PASS --Select-- RAKSHAK 901478552597 -NA

141 PRD8839 RAM NIWAS TIWARI MAHRAJ SARAN TIWARI REJESAWARI DAVI 01/07/1974 MALE GENERAL 170 90 5 PASS --Select-- RAKSHAK 431549935045 -NA

142 PRD8846 SHAHAJAD ALI ARASHAD SAKIVA 05/06/1970 MALE OBC 172 90 5 PASS --Select-- RAKSHAK 551635425478 -NA

143 PRD8849 NEVAL KISHOR BABURAM RAM DEVI 01/01/1965 MALE OBC 168 88 8 PASS --Select-- RAKSHAK 255393699610 -NA

144 PRD8850 RAMASHANKAR SHRIKANT DEVKUMARI 08/07/1970 MALE GENERAL 170 90 10 PASS --Select-- RAKSHAK 721071242735 -NA

145 PRD8854 RAM DHEERAJ BECHAN LAL; RAMA VATI 15/02/0198 MALE SC 170 91 GRADUATE --Select-- RAKSHAK 828349042869 DFKPR0034H

146 PRD8856 RAM FERAN PARAG DUTT RAM PYARI 02/07/1965 MALE OBC 157 85 5 PASS --Select-- RAKSHAK -NA -NA

147 PRD8858 LAL JI RAM SUMIRAN KAUSHILYA 10/07/1978 MALE OBC 158 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 783847210110 -NA

148 PRD8860 RADHE SHYAM KALLU KALAVATI 05/03/1974 MALE SC 180 92 8 PASS --Select-- RAKSHAK -NA -NA

149 PRD8862 ONKAR NATH MAURY GANGA PRASAD SHYAM KALI DEVI 01/01/1966 MALE OBC 167 85 10 PASS --Select-- RAKSHAK -NA -NA

150 PRD8886 MOHAN LAL RAM KHELAWAN PATIRAJA 01/04/1967 MALE SC 170 95 12 PASS --Select-- RAKSHAK 582124636229 -NA

151 PRD8890 NARSINGH VARMA RAM KHELAWAN AWAD RANI 01/08/1969 MALE SC 168 92 5 PASS --Select-- RAKSHAK 542834539115 -NA

152 PRD8896 MO.SAREEF GULAM HUSAIN BISAMILA 01/01/1968 MALE SC 170 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 242151907604 MKAPS2723Q

153 PRD8903 JAGAT RAM RAN BALI RAMDULARI 30/03/1991 MALE SC 176 95 GRADUATE --Select-- RAKSHAK 347737697172 -NA

154 PRD8911 BHANU PRATAAP CHEDAN RAMPEEYARI 02/11/1969 MALE SC 176 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 456436451143DUXPP0920A DUXPP0920A

155 PRD8912 RAM NARAYAN GAYA PRASAD KLAVTI 20/04/1978 MALE SC 176 92 8 PASS -NA- RAKSHAK 345207511674 -NA-

156 PRD8924 MAUJI LAL DARSHAN MUHAR BHASHA 01/01/1973 MALE GENERAL 166 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 438763852184 -NA

157 PRD8926 SANTOSH KUMAR NAKCHED FULJHARA 05/10/1980 MALE OBC 167 90 10 PASS --Select-- RAKSHAK -NA -NA

158 PRD8929 SUNDAR LAL RAM KHELAWAN RAMA DEVI 14/11/1964 MALE SC 168 85 10 PASS --Select-- RAKSHAK 895143719652 -NA

159 PRD8930 LAL JI BABU RAM MANGALA DEVI 12/11/1971 MALE OBC 176 95 8 PASS DRIVER RAKSHAK 212461252363 GECPM1193

160 PRD8932 AMREESH KUMAR GUPTA RAJU PRASAD RAJ RANI 10/12/1990 MALE OBC 170 95 GRADUATE COMPUTOR OPERATOR RAKSHAK -NA -NA

161 PRD8933 DURGA PRASAD ONKAR NATH SHANTI DEVI 15/07/1990 MALE GENERAL 170 90 12 PASS --Select-- RAKSHAK 890201225405 DRUPM6256C

162 PRD8934 MAYANKAR GUPTA HRADAY LAL GUPTA RAJRANI GUPTA 01/01/1987 MALE OBC 171 92 8 PASS --Select-- RAKSHAK -NA -NA

163 PRD8935 RAJESH KUMAR SATEESH CHAND JITA DEVI 01/01/1977 MALE GENERAL 172 95 10 PASS --Select-- RAKSHAK 574234795310 -NA

164 PRD8957 TRIVENI DATT NAKCHHED PEREMKLI 01/01/1974 MALE GENERAL 175 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 684621625833 GVTPD5529

165 PRD8966 MAHARAJDIN PATHAK SITARAM KUVARPATI 11/07/1971 MALE GENERAL 174 92 8 PASS --Select-- RAKSHAK 974473 -NA

166 PRD8970 SATISH KUMAR PATHAK RAM NATH SRA DEVI 02/08/1989 MALE GENERAL 175 90 12 PASS --Select-- RAKSHAK 951282733590 -NA

167 PRD8978 SATY SARAN GOUND KEELASH NATH KAMALA DEVI 05/01/1973 MALE GENERAL 170 85 10 PASS --Select-- RAKSHAK 265198719159 -NA

168 PRD8987 ANGREJ BAHADUR SINGH ACHAL DEEP SINGH MAHARAJA 30/04/1968 MALE GENERAL 170 88 8 PASS --Select-- RAKSHAK 591212150282 -NA

169 PRD8994 RIJAT RAM RADHE SHYAM VIDEYAVATI 01/01/1977 MALE GENERAL 172 80 8 PASS --Select-- RAKSHAK 239989961805 -NA

170 PRD9004 RAMESH CHANDRA HAUSI LAL CHMELA DEVI 01/06/1983 MALE OBC 170 88 8 PASS --Select-- RAKSHAK 808842306395 BLBPC4280M

171 PRD9010 RAMDULARE SHYAM BIHARI KLAVATI 01/01/1962 MALE OBC 178 85 8 PASS --Select-- RAKSHAK 930283634288 -NA

172 PRD9018 SIYARAM PRALAD JAYASAL PRABHA DEVI 01/01/1966 MALE OBC 165 86 12 PASS --Select-- RAKSHAK 602152705194 -NA

173 PRD9027 SHIV PRSAD RAM VDH KLAWATI 30/10/1978 MALE OBC 170 95 8 PASS DRIVER RAKSHAK 778325214038 -NA

174 PRD9038 1CHANDAN KUMAR JAGDAMBA PRASAD KANTI 01/01/1987 MALE GENERAL 175 85 8 PASS --Select-- RAKSHAK 979573426149 JZYPK4411F

175 PRD9044 MITHLESH RAM LAKHAN RAM SAWARI 01/03/1968 MALE OBC 172 88 8 PASS --Select-- RAKSHAK 237435805364 -NA

176 PRD9048 NIRPAT SINGH HUKUMSIH KOUSHILYA DEVI 02/07/1973 MALE GENERAL 175 89 8 PASS --Select-- RAKSHAK 690232440342 -NA

177 PRD9058 CHTURBHUJ DIPNARAYAN MONA 01/01/1963 MALE GENERAL 176 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 352753732059 CCFPC7259E

178 PRD9065 VINOD SAMAR PRASAD SUSHILA DEVI 05/04/1964 MALE GENERAL 174 89 8 PASS --Select-- RAKSHAK 538198267314 -NA

179 PRD9070 BASANT LAL KUNDAN LAL SHUKLA NANKE 10/05/1965 MALE GENERAL 168 85 8 PASS --Select-- RAKSHAK 862382577897 -NA

180 PRD9076 MO.AJIJ MOHAMD NAJIJ HAJARA 13/06/1971 MALE GENERAL 170 85 8 PASS --Select-- RAKSHAK 788475969335 -NA

181 PRD9079 GIRJA SHANKAR KESHAW RAM RAM RAJI 12/07/1977 MALE GENERAL 175 89 12 PASS --Select-- RAKSHAK 492457916055 -NA

182 PRD9082 BABURAM PRAG BITANA 01/01/1962 MALE OBC 170 86 10 PASS --Select-- RAKSHAK 836610912118 -NA

183 PRD9085 MAHNTH PADAEATH GANK DULARI 01/05/1970 MALE OBC 172 92 8 PASS --Select-- RAKSHAK 966454694267 -NA

184 PRD9087 BACHULAL NAGESAR FULKUMRA 15/07/1987 MALE OBC 170 85 8 PASS --Select-- RAKSHAK 558909281256 -NA

185 PRD9090 SANTOSH KUMAR BHARAT SANTI DEVI 20/04/1990 MALE SC 178 95 8 PASS --Select-- RAKSHAK 950474980230 -NA

186 PRD9093 ANJU MANU DEVIPATAN 15/07/2000 MALE GENERAL 170 96 8 PASS COMPUTOR OPERATOR RAKSHAK 353315973542 -NA-

187 PRD9117 SANJAY KUMAR SRIBADAHUR RAM PYAARI 25/05/1975 MALE GENERAL 169 93 8 PASS --Select-- RAKSHAK 546225358802 FFFPK1869Q

188 PRD9118 RAM NAGINA VARMA SITARAM KAILASHA 20/10/1969 MALE SC 167 92 8 PASS --Select-- RAKSHAK 660939316401 BLGPV7777M

189 PRD9122 RAM KUMAR PUTTILAL RAM RAAZI 12/01/1975 MALE SC 167 92 8 PASS --Select-- RAKSHAK 656323337730 -NA

190 PRD9125 RAVINDRA NATH MISHRA RAM DULARE MISHRA MADHUMATI DEVI 01/01/1967 MALE GENERAL 168 92 8 PASS --Select-- RAKSHAK 315843507684 -NA

191 PRD9129 BHAGAT RAM BABURAM VITAANA DEVI 20/10/1982 MALE SC 168 92 8 PASS --Select-- RAKSHAK 532605899521 -NA

192 PRD9132 PAVAN KUMAR VERMA RAMSAMUJH JAGRUTA DEVI 01/01/1975 MALE SC 168 92 8 PASS --Select-- RAKSHAK 740559119907 -NA

193 PRD9136 RAKESH KUMAR DEENANATH KALAVATI 01/06/1968 MALE SC 168 93 8 PASS --Select-- RAKSHAK 664527994409 -NA

194 PRD9140 KAILAS SADHURAM CHANDRAVATI 15/06/1970 MALE SC 167 92 10 PASS --Select-- RAKSHAK 360995372958 -NA

195 PRD9145 UMAPATI NAND KUMAR MUNNI DEVI 16/07/1983 MALE GENERAL 170 94 8 PASS --Select-- RAKSHAK 519874496698 -NA

196 PRD9174 NIRAJ KUMAR VERMA RAM SAMUJH VERMA JAGRUTHA DEVI 05/07/1992 MALE SC 167 93 8 PASS --Select-- RAKSHAK 854315151175 -NA

197 PRD9179 AYODHYA PRASAD MAIKULAL MUNNI DEVI 12/12/1983 MALE SC 168 92 8 PASS --Select-- RAKSHAK 939597013032 -NA

user image Arvind Swaroop Kushwaha - 08 May 2021 at 1:50 PM -

prd bahraich 7741 से 8478 तक

क्रम संख्या, एप्लीकेशन नं0, स्वयंसेवक का नाम, पिता का नाम, माता का नाम, जन्मतिथि, लिंग, श्रेणी, लम्बाई(सेमी0), सीना(सेमी0), शिक्षा, विशेष योग्यता, पोस्ट/पद, आधार नं0, पैन नं0,

1 PRD7741 SHAUKAT ALI ABDUL RAHMAN KAALAWATI 01/01/1968 MALE GENERAL 167 80 GRADUATE -NA- RAKSHAK 505760429646 BURPA4793G

2 PRD7745 RAJENDRA SINGH ... VIJAY BAHADUR SINGH MAHARAJ KUNWAR 13/07/1967 MALE GENERAL 170 82 10 PASS DRIVER RAKSHAK 975321623308 MTIPS6829J

3 PRD7757 AVDHESH KUMAR KRIPA RAM TIWARI YASHODA DEVI 01/07/1979 MALE GENERAL 172 90 12 PASS -NA- RAKSHAK 842406750531 -NA-

4 PRD7758 DATA RAM RAM DATT KANCHANA DEVI 01/01/1974 MALE OBC 169 88 8 PASS -NA- RAKSHAK 323106149144 -NA-

5 PRD7891 KAMLESH KUMAR ARYA SHREE RAM ARYA JAYVASA 10/07/1980 MALE SC 172 105 12 PASS -NA- RAKSHAK 885737399248 CBKPK8879C

6 PRD7956 LAL KUMARI MAUJI LAL BISARI DEVI 15/08/1990 FEMALE ST 158 36 GRADUATE COMPUTOR OPERATOR RAKSHAK 356097681627 JDEPK0710D

7 PRD7974 ONKAR SINGH SHARDA PRASAD SINGH KAMINI SINGH 30/01/1980 MALE GENERAL 170 90 12 PASS --Select-- RAKSHAK 773767139650 -NA

8 PRD7981 CHARAN JEET ASHA RAM YADAV PYARA DEVI 12/03/1981 MALE OBC 167 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 788682192798 CFMPG5067H

9 PRD8003 ASHA RAM YADAV SWAMI DAYAL YADAV SAWAARA DEVI 05/03/1976 MALE OBC 167 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 439442950948 ATQPY7664K

10 PRD8013 KULDEEP KUMAR PATHAK SOHAN LAL PATHAK PREM SUNDARI DEVI 01/06/1983 MALE GENERAL 182 95 POST GRADUATE DRIVER RAKSHAK 617943556478 -NA

11 PRD8020 JILA JEET SINGH RAM SEWAK SINGH MITHILESH SINGH 30/05/1990 MALE GENERAL 182 92 12 PASS --Select-- RAKSHAK 772122729737 -NA

12 PRD8022 SUNEEL KUMAR MISHRA VISHWAMBHAR DATT MISHRA GYANVATI DEVI 02/07/1970 MALE GENERAL 165 90 10 PASS --Select-- RAKSHAK 635148487540 -NA

13 PRD8023 MATA PRASAD MAHADEV PRASAD BACHCHU DEVI 01/01/1962 MALE OBC 175 90 5 PASS LOHAAR RAKSHAK 597039174796 -NA

14 PRD8024 SWAMI DEEN BENCHU SUMAN DEVI 22/02/1965 MALE SC 165 90 5 PASS --Select-- RAKSHAK 5531 -NA

15 PRD8025 VINAY KUMAR BHARAT CHAMPA DEVI 27/04/1981 MALE SC 165 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 341928537884 -NA

16 PRD8028 ANEESH AHMAD HAMEED SHAHNAAZ 01/01/1977 MALE OBC 167 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 318542285787 -NA

17 PRD8030 MOLAHE BALESHWAR RAJPATAA 12/02/1977 MALE SC 170 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 956771237370 -NA

18 PRD8032 ALI AHMAD MUBARAK ALI JAIBUNNISHA 01/01/1964 MALE OBC 177 100 5 PASS --Select-- RAKSHAK 358455547353 -NA

19 PRD8035 JAKIR HUSAIN YUNUS HALIMA 28/04/1984 MALE OBC 175 100 8 PASS --Select-- RAKSHAK 854018149919 -NA

20 PRD8037 HANUMAN PRASAD RANGI LAL 01/04/1981 MALE GENERAL 169 89 8 PASS -NA- RAKSHAK 263966456313 -NA-

21 PRD8038 RAJ KUMAR BHARAT SHANTI DEVI 13/07/1973 MALE SC 171 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 813785851976 -NA

22 PRD8039 SABIR ALI SAKHAVAT ALI BATULA 16/10/1974 MALE OBC 167 90 5 PASS --Select-- RAKSHAK 322027890035 -NA

23 PRD8226 RAJENDRA KUMAR DAYA RAM SHAKUNTALA DEVI 01/03/1968 MALE SC 150 87 8 PASS -NA- RAKSHAK 575855222360 HZRPK0878K

24 PRD8227 MEENA BUDH RAM DAGNI DEVI 01/01/1989 MALE SC 140 75 POST GRADUATE -NA- RAKSHAK 965011112676 -NA-

25 PRD8232 SURESH PRATAP SINGH RAM PAL SINGH USHA SINGH 01/01/1967 MALE GENERAL 170 92 10 PASS -NA- RAKSHAK 667950020022 -NA-

26 PRD8234 PRADEEP KUMAR RAM DEV TIWARI RAJESHWARI DEVI 01/01/1976 MALE GENERAL 170 92 10 PASS -NA- RAKSHAK 362080936256 -NA-

27 PRD8235 MANOJ KUMAR TRILOKI NATH RAM KUMARI 20/06/1974 MALE GENERAL 166 92 5 PASS --Select-- RAKSHAK 278167685507 -NA

28 PRD8236 AMAR PRATAP SINGH RAMESHWAR BAX SINGH SHRIMARI LILAVATI 14/06/1966 MALE GENERAL 166 92 10 PASS --Select-- RAKSHAK 906883888629 -NA

29 PRD8237 KRISHNA SHARAN AWASTHI RADHESHYAM VIDYAVATI 01/01/1971 MALE GENERAL 176 90 8 PASS -NA- RAKSHAK 578585201356 -NA-

30 PRD8239 RAM PRASAD NAGE RAM MAHINA DEVI 15/05/1981 MALE SC 170 95 10 PASS -NA- RAKSHAK 257473292202 -NA-

31 PRD8241 LALLAN JAGANNATH SONA DEVI 14/05/1974 MALE OBC 170 92 5 PASS --Select-- RAKSHAK 235802133425 -NA

32 PRD8242 RAM PAL GUPTA AYODHYA PRASAD MALTI DEVI 05/09/1968 MALE SC 165 94 10 PASS --Select-- RAKSHAK 682857078245 -NA

33 PRD8244 PRADEEP KUMAR GAREEB DAS KALAVATI 01/07/1987 MALE SC 170 95 10 PASS -NA- RAKSHAK 662901038948 DABPK2861K

34 PRD8245 RAGHAV RAM ASHA RAM MUNNI DEVI 01/01/1965 MALE GENERAL 170 94 12 PASS --Select-- RAKSHAK 387290250756 -NA

35 PRD8247 RAM KUMAR KUSH BHAUNA URMILA 01/01/1983 MALE SC 176 94 10 PASS --Select-- RAKSHAK 469622642057 -NA

36 PRD8249 RAJENDRA PRASAD KRIPA RAM BRIJRANI 09/05/1970 MALE OBC 170 90 10 PASS -NA- RAKSHAK 739745828152 -NA-

37 PRD8261 RAMESH CHANDRA SHARMA MANGAL PRASAD SHARMA LATE. HEERA DEVI 30/09/1972 MALE GENERAL 170 92 8 PASS --Select-- RAKSHAK 375306703245 AZZPR7390A

38 PRD8268 ANANT RAM RADHEY SHYAM SAVITRI DEVI 01/07/1977 MALE GENERAL 165 95 8 PASS -NA- RAKSHAK 885395343304 ATDPR8798Q

39 PRD8275 GHAN SHYAM NAAN MOON RAM DULARI 01/01/1988 MALE OBC 180 95 12 PASS -NA- RAKSHAK 845195932171 -NA-

40 PRD8277 FATEH BAHADUR URF DHOKHE RAM JEEVAN LAL SAVITRI DEVI 01/01/1973 MALE GENERAL 168 92 8 PASS -NA- RAKSHAK 438722760499 -NA-

41 PRD8280 RAM SURESH PUTTI PATRKA 01/01/1967 MALE SC 168 94 8 PASS --Select-- RAKSHAK 372019722824 -NA

42 PRD8282 BADLU RAM PANDEY DAKSHINA PRASAD HANS PATI 15/06/1973 MALE GENERAL 165 92 8 PASS -NA- RAKSHAK 699349961045 -NA-

43 PRD8285 MAHESH KUMAR PATHAK SIYARAM PATHAK KRISHNA DEVI PATHAK 13/06/1984 MALE GENERAL 175 95 POST GRADUATE COMPUTOR OPERATOR RAKSHAK 483594841688 BQRPP4024R

44 PRD8287 VIJAY KUMAR RAM RAJ TIWARI MUNNI DEVI 06/06/1973 MALE GENERAL 172 95 12 PASS --Select-- RAKSHAK 593944004404 -NA

45 PRD8291 SHOBHA RAM RAM CHHABILE MALTI 01/07/1966 MALE OBC 168 92 10 PASS -NA- RAKSHAK 674828520621 -NA-

46 PRD8293 BRIJ MOHAN AYODHYA PRASAD RAJ KUMARI 01/03/1962 MALE OBC 175 92 10 PASS --Select-- RAKSHAK 745794545517 -NA

47 PRD8296 RAM SHANKAR RAM SAMUJH MAHARAJA DEVI 08/07/1976 MALE SC 166 93 10 PASS --Select-- RAKSHAK 991206367002 -NA

48 PRD8298 HARI RAM GUPTA ASHARFI LAL MUNNI 01/08/1967 MALE SC 168 92 8 PASS --Select-- RAKSHAK 554006161643 -NA

49 PRD8299 SURESH KUMAR TIWARI SHANKAR LAL TIWARI SAVITRI DEVI 01/01/1989 MALE GENERAL 168 92 12 PASS --Select-- RAKSHAK 642257632260 -NA

50 PRD8300 RAM BHARAT RAM KUNWAR MAHESHIYA DEVI 05/08/1990 MALE OBC 175 95 12 PASS RAKSHAK 341866507789 -NA-

51 PRD8303 SOM NATH BADLU RAM RAM SAWARI DEVI 01/01/1972 MALE OBC 168 95 8 PASS -NA- RAKSHAK 444552215683 -NA-

52 PRD8305 DEV NAYARAN KALP NATH TIWARI SON PATI 01/09/1973 MALE GENERAL 168 93 10 PASS -NA- RAKSHAK 995240911762 -NA-

53 PRD8307 DAL JEET PRASAD RAM BALI RAM RANI 13/08/1969 MALE SC 170 95 10 PASS -NA- RAKSHAK 437219655878 FRIPP0898H

54 PRD8308 SURENDRA NATH MANGAL PRASAD SHANKRA DEVI 05/09/1996 MALE SC 168 92 12 PASS --Select-- RAKSHAK 666201871396 -NA

55 PRD8309 APRESH KUMAR MSHRA BACHHRAJ MISHRA RAM RANI 15/09/1969 MALE GENERAL 145 92 8 PASS --Select-- RAKSHAK 525089690098 GHVPM2335A

56 PRD8313 DINESH KUMAR RAM UJAGAR PARVATI DEVI 10/08/1981 MALE SC 168 92 8 PASS --Select-- RAKSHAK 913661255862 -NA

57 PRD8316 SANTOSH KUMAR MOHAN LAL MITHLESH DEVI 15/06/1975 MALE GENERAL 168 95 10 PASS --Select-- RAKSHAK 966463832149 HQPPK5184M

58 PRD8319 CHHATRA PAL TRIPATHI CHNDR SHEKKHR SONI TRIPATHI 15/01/1966 MALE GENERAL 168 92 10 PASS --Select-- RAKSHAK 638978916963 -NA

59 PRD8326 HARI KISHAN MATHURA PRASAD RAM RATI 01/01/1976 MALE SC 165 92 8 PASS --Select-- RAKSHAK 672417708561 -NA

60 PRD8328 PREM NAYARAN RAM FERAN SUBADHRA DEVI 16/08/1974 MALE OBC 170 95 10 PASS --Select-- RAKSHAK 889721615013 -NA

61 PRD8330 INDRASEN GOSWANI HAZARI LAL GOSWAMI DHANPATA 05/07/1968 MALE SC 168 92 12 PASS --Select-- RAKSHAK 266824557223 -NA

62 PRD8332 RAKESH KUMAR PANDEY RAM GOPAL PANDEY JAI RAZI 10/02/1971 MALE GENERAL 165 92 8 PASS --Select-- RAKSHAK 878986895991 -NA

63 PRD8335 AWADHESH KUMAR SHARMA NIRANKAR PRASAD SHARMA PUSHPA DEVI 18/09/1989 MALE GENERAL 175 95 GRADUATE -NA- RAKSHAK 435250826175 FYLPS0841H

64 PRD8339 RAKESH KUMAR HARI RAM JAYA DEVI 08/07/1987 MALE SC 170 92 8 PASS -NA- RAKSHAK 410912448432 -NA-

65 PRD8340 JAWAHAR LAL SHARMA MANOHAR LAL SHARMA LATE DHANPATA DEVI 01/02/1971 MALE GENERAL 170 95 12 PASS DRIVER RAKSHAK 762892178833 -NA-

66 PRD8341 MAHESHWARI PRASAD SHRIVASTAV GOPAL NAYARAN SHRIVASTAV GYAAN MATI 05/01/1975 MALE GENERAL 170 92 8 PASS --Select-- RAKSHAK 879450268198 -NA

67 PRD8343 HEERA LAL MANOHAR LATE JANKATA DEVI 01/01/1970 MALE GENERAL 170 92 8 PASS --Select-- RAKSHAK 696619111810 -NA

68 PRD8362 DEV NAYARAN KEVAL PRASAD RAM KALA 05/03/1968 MALE GENERAL 170 95 12 PASS --Select-- RAKSHAK 624550061996 BHPPN7372F

69 PRD8375 MANOJ KUMAR SINGH KAMTA SINGH KALAVATI SINGH 20/08/1982 MALE GENERAL 175 95 10 PASS --Select-- RAKSHAK 411346330098 -NA

70 PRD8382 SUKH DEV PRASAD BHADAI SHYAMA DEVI 01/01/1985 MALE SC 170 95 8 PASS --Select-- RAKSHAK 213570041387 -NA

71 PRD8386 JAGAT RAM MAURYA RAM ADHAR MUNNI DEVI 01/01/1967 MALE SC 166 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 919104176086 -NA

72 PRD8388 KU SANJU DEVI SHANKAR DAYAL PARVATI DEVI 10/07/1990 MALE OBC 168 92 12 PASS --Select-- RAKSHAK 576476686682 -NA

73 PRD8393 RAM PRASAD KESHAV RAM PRABHA DEVI 02/10/1982 MALE SC 166 92 8 PASS --Select-- RAKSHAK 279376634691 -NA

74 PRD8395 PAWAN KUMARI SANTOSH KUMAR GYANVATI 08/07/1990 FEMALE SC 165 90 GRADUATE --Select-- RAKSHAK 369442449082 HYVPK2040E

75 PRD8397 SHRI KANT PATHAK RAGHVENDRA PRASAD PATHAK KRISHNAVATI 15/06/1971 MALE GENERAL 170 92 12 PASS --Select-- RAKSHAK 447388394748 -NA

76 PRD8402 RAMA KANT PATHAK RAGHVENDRA PRASAD PATHAK KRISHNAVATI 10/07/1978 MALE GENERAL 170 94 GRADUATE --Select-- RAKSHAK 812111100731 -NA

77 PRD8406 RAM KUMAR MAHADEV RANI DEVI 07/07/1992 MALE SC 165 92 GRADUATE --Select-- RAKSHAK 640257976012 -NA

78 PRD8411 PREM NARAYAN SUKAI RAM KALA DEVI 16/07/1976 MALE SC 170 92 12 PASS --Select-- RAKSHAK 875730680657 -NA

79 PRD8413 RAJ KUMARI RANGILE NIRMALA 01/01/1977 FEMALE OBC 160 92 10 PASS --Select-- RAKSHAK 826861844583 -NA

80 PRD8418 MISHRI LAL PANDEY JAMUNA PRASAD PANDEY SATY BHAMA 01/01/1973 MALE GENERAL 178 83 10 PASS --Select-- RAKSHAK 353371576012 -NA

81 PRD8432 SONU DEVI SANJAY KUMAR RAW SHYAMKALI 01/01/1994 FEMALE SC 165 92 12 PASS --Select-- RAKSHAK 914044996005 -NA

82 PRD8435 DAYA SHANKAR RAM JASH JANKA DEVI 15/12/1965 MALE SC 171 95 12 PASS --Select-- RAKSHAK 639*532675794 -NA

83 PRD8439 VIJAY KUMAR PANDEY JAG PRASAD PANDEY TARA DEVI 05/07/1976 MALE GENERAL 172 95 GRADUATE --Select-- RAKSHAK 775152564897 -NA

84 PRD8444 LAYAKRAM MADHAVRAJ MAURYA KALAVATI 01/01/1992 MALE OBC 168 92 10 PASS --Select-- RAKSHAK 993279469475

85 PRD8447 KAMLA DEVI RAM AUTAR DHANPATI 02/04/1981 FEMALE OBC 165 85 12 PASS --Select-- RAKSHAK 380667936302 -NA

86 PRD8454 PRAGYA KISHUN PRASAD MADHU 04/05/1991 FEMALE SC 165 90 10 PASS --Select-- RAKSHAK 372060117137 -NA

87 PRD8458 RAM NIHOR DUBEY RAM PYAARE DUBEY SHANTIDEVI 30/06/1973 MALE GENERAL 168 92 12 PASS --Select-- RAKSHAK 868738265406 -NA

88 PRD8464 RAM SHANKAR PATHAK DEENANATH PATHAK CHANDRAVATI 15/07/1992 MALE GENERAL 170 92 10 PASS --Select-- RAKSHAK 930464391446 -NA

89 PRD8469 PADUM NATH HRIDYA RAM MAHARANI 15/05/1971 MALE SC 168 92 8 PASS --Select-- RAKSHAK 265625723020 -NA

90 PRD8472 SATISH KUMAR TIWARI RAM RAJ TIWARI LATE MUNNI DEVI 03/12/1989 MALE GENERAL 170 95 8 PASS --Select-- RAKSHAK 264278316634 -NA

91 PRD8474 BAJRANG SINGH DESH RAJ SINGH SUMITRA 15/06/1971 MALE GENERAL 170 92 12 PASS --Select-- RAKSHAK 74218515070 -NA

92 PRD8475 PANNA LAL VERMA MEVA LAL VERMA KISHNA VATI 12/07/1988 MALE OBC 171 95 GRADUATE --Select-- RAKSHAK 814735724284 -NA

93 PRD8478 NISHA SINGH PINTU SINGH LAXMI SINGH 16/08/1994 FEMALE GENERAL 165 92 12 PASS --Select-- RAKSHAK 796378065757 -NA

user image Arvind Swaroop Kushwaha - 07 May 2021 at 4:56 PM -

prd bahraich 28923 से 30069 तक

क्रम संख्या, एप्लीकेशन नं0, स्वयंसेवक का नाम, पिता का नाम, माता का नाम, जन्मतिथि, लिंग, श्रेणी, लम्बाई(सेमी0), सीना(सेमी0), शिक्षा, विशेष योग्यता, पोस्ट/पद, आधार नं0, पैन नं0,

1133 PRD28923 KAMLESH KUMAR NARAYAN KAMLA DEVI 01/01/1979 MALE GENERAL 170 90 8 PASS -NA- RAKSHAK 78882340755026 -NA-

1134 PRD28926 BACHA RAM SHOBHARAM PIYARA 30/11/1967 MALE OBC 170 95 5 PASS -NA- RAKSHAK 922658737708 -NA-

1135 PRD28930 AMRADIP MUNIJAR SINGH MANORAMA DEVI 20/07/1974 MALE GENERAL 169 90 10 PASS --Select-- RAKSHAK 623620744765 -NA

1136 PRD28932 RAM KARAN SHARMA DHRMU LAL SHARMA KEERISANAVATI 01/01/1985 MALE GENERAL 172 92 8 PASS -NA- RAKSHAK 968649017186 -NA-

1137 PRD28988 CHETRAM RAM PRASAD KLAWATI 01/01/1975 MALE OBC 172 92 10 PASS -NA- RAKSHAK 345290050708 -NA-

1138 PRD29150 CHHOTE LAL PULLU SUKHADYI 04/05/1966 MALE SC 169 90 5 PASS --Select-- RAKSHAK 450233161861 -NA

1139 PRD29630 JATA SHANKAR GOBRE PATHAK AANUKA ... DEVI 02/01/1994 MALE GENERAL 170 85 8 PASS --Select-- RAKSHAK 657481247975 -NA

1140 PRD30069 JATA SHANKAR PATHAK GOBARE PRASAD PATHAK CHANDNI DEVI 02/01/1994 MALE GENERAL 172 90 8 PASS --Select-- RAKSHAK 657481247975 -NA

user image Suneel Kumar

Tuesday, May 18, 2021
user image Suneel Kumar

Suneel kumar P R D bahraich

Tuesday, May 18, 2021
user image Arvind Swaroop Kushwaha - 17 Mar 2021 at 7:22 PM -

स्तूपों की परंपरा

इतिहास - लेखन में इतिहासकार कुछ जोड़ते हैं, कुछ छोड़ते हैं और कुछ का चयन करते हैं। यह छोड़ना, जोड़ना और चयन ही इतिहास का स्वरूप तय करता है। फिर तो तय है कि ऐसा इतिहास - लेखन पूरी मानव - जाति का ... इतिहास नहीं हो सकता है।

वास्तविकता का इतिहास और इतिहासकारों के उपलब्ध इतिहास में फर्क होता है। जैसा कि कहा गया है कि इतिहास - लेखन में इतिहासकार कुछ छोड़ते हैं, कुछ जोड़ते हैं और कुछ का चयन करते हैं और फिर इसे ही किसी देश के इतिहास की संज्ञा प्रदान कर दिया करते हैं। ऐसा इतिहास वस्तुतः राजनीतिक शक्ति मात्र का इतिहास होता है जो भारी पैमाने पर हुई हत्याओं तथा अपराधों के इतिहास से भिन्न नहीं है।

चिनुआ अचैबी ने लिखा है कि जब तक हिरन अपना इतिहास खुद नहीं लिखेंगे, तब तक हिरनों के इतिहास में शिकारियों की शौर्य - गाथाएँ गाई जाती रहेंगी।

इसीलिए भारत के इतिहास में वैदिक संस्कृति उभरी हुई है, बौद्ध सभ्यता पिचकी हुई है और मूल निवासियों का इतिहास बीच - बीच में उखड़ा हुआ है।

इतिहास सिर्फ वो नहीं है, जिसे शासकों ने लिखवाया है और जो लिखा गया है बल्कि इतिहास वो भी है, जिसे हमारे पुरखों ने सहा है, लेकिन लिखा नहीं गया है।

छद्म इतिहास क्या है?

इतिहास - लेखन में वह दावा जो इतिहास की तरह प्रस्तुत किया जाता है, पर वह इतिहास नहीं होता है बल्कि इतिहास जैसा होता है, वह छद्म इतिहास है।

छद्म इतिहास और वास्तविक इतिहास की पहचान करना ही सही इतिहास - दृष्टि है।

2.

यह विचित्र इतिहास - बोध है कि सिंधु घाटी की सभ्यता के बाद वैदिक युग आया। सिंधु घाटी की सभ्यता नगरीय थी, जबकि वैदिक संस्कृति ग्रामीण थी। उल्टा है।

भला कोई सभ्यता नगरीय जीवन से ग्रामीण जीवन की ओर चलती है क्या?

सिंधु घाटी में बड़े - बड़े नगर थे, स्नागार थे, चौड़ी - चौड़ी सड़कें थीं। बेहद उम्दा किस्म की सभ्यता थी। वहीं वैदिक युग में पशुचारक थे, कच्ची मिट्टी के घर थे, नरकूलों की झोंपड़ियाँ थीं। तुर्रा यह कि ये नरकूलों की झोंपड़ियाँ उसी पश्चिमोत्तर भारत में उगीं, जहाँ बड़े -बड़े सिंधु साम्राज्य के भवन थे।

आपको ऐसा इतिहास - बोध उलटा नहीं लगता है?

आप पढ़ाते हैं कि सिंधु घाटी की सभ्यता में लेखन - कला विकसित थी और फिर उसके बाद की वैदिक संस्कृति में पढ़ाने लगते हैं कि वैदिक युग में लेखन - कला का विकास नहीं हुआ था। वैदिक युग में लोग मौखिक याद करते थे और लिखते नहीं थे।

ऐसा भी होता है क्या? पढ़ी - लिखी सभ्यता अचानक अनपढ़ हो जाती है क्या?

आप यह भी पढ़ाते हैं कि सिंधु घाटी की सभ्यता में मूर्ति - कला थी। फिर उसके बाद पढ़ाते हैं कि वैदिक युग में मूर्ति - कला नहीं थी।

क्या यह सब उलटा नहीं है?

भारत में स्तूप - स्थापत्य, लेखन - कला, मूर्ति - कला, बर्तन - कला आदि का विकास निरंतर हुआ है। कोई गैप नहीं है। यदि इतिहास में ऐसा गैप आपको दिखाई पड़ रहा है तो वह वैदिक संस्कृति को भारतीय इतिहास में ऐडजस्ट करने के कारण दिखाई पड़ रहा है।

यह कैसा इतिहास - लेखन है कि जिन वेदों के खुद का ही ऐतिहासिक साक्ष्य प्राप्त नहीं हैं, उन्हें ही ऐतिहासिक साक्ष्य मान लिया गया है।

ऋग्वैदिक युग, फिर उत्तर वैदिक युग, फिर सूत्रों का युग, फिर महाकाव्यों का युग, फिर धर्मशास्त्रों का युग - ये भारत का भौतिक इतिहास नहीं है।

ये तो संस्कृत साहित्य का इतिहास है। किसी भी देश का भौतिक इतिहास ऐसे नहीं लिखा जाता है, लिखा भी नहीं गया है। साहित्य का इतिहास ऐसे लिखा जाता है।

वैदिक युग सही मायने में इतिहास का टर्मिनोलाॅजी है ही नहीं ! कहीं पढ़े हैं बाइबिल युग, कुरान युग?

वैदिक युग, महाकाव्य युग और सूत्र युग मूलतः इतिहास का नहीं बल्कि संस्कृत साहित्य के चैप्टर्स हैं वरना दुनिया के इतिहास में किसी देश का ऐतिहासिक चैप्टर्स के नाम बाइबिल युग, कुरान युग और हदीस युग नहीं हैं।

वैदिक भाषा पुरानी है और वैदिक संस्कृति भी पुरानी है, तब इस तथ्य की भी पड़ताल की जानी चाहिए कि वैदिक युग के तथाकथित सोने के सिक्के " निष्क " और चाँदी के सिक्के " रजत " कहाँ गए, जबकि धातु के सिक्के सबसे पहले गौतम बुद्ध के युग में मिलते हैं, जिसे " आहत मुद्रा " कहा जाता है।

3.

आज का अध्ययन जबकि पुरावशेषों में फ्लोरीन की मात्रा के मापन, काठ कोयले और हड्डी में रेडियोधर्मिता की मात्रा, भूचुंबकीय अवलोकन और वृक्ष - तैथिकी पर आधारित है, तब सत्ययुग या द्वापर जैसे भोथरे काल मापक से किसी नायक या वस्तु की उम्र तय करना निरर्थक है।

मिसाल के तौर पर, वेदों की रचना सृष्टि के आरंभ में हुई है। केतु वृक्ष 1100 योजन ऊँचे हैं। देवताओं का एक वर्ष मनुष्यों के 131521 दिनों का होता है।

ऐसे मामलों में भारत का भौतिक इतिहास ताम्र, कांस्य, लौह जैसी धातुओं और धूसर, काले, गेरुए जैसे मृद्भांडों की राह पकड़ेगा। मगर सावधानी की जरूरत यहाँ भी है।

आपने एक बार झूठ बोल दिया है कि हड़प्पा सभ्यता के बाद उत्तरी भारत में वैदिक युग आया है। अब इसे साबित करने के लिए आप दूसरा झूठ बोल रहे हैं कि उत्तरी भारत में ताम्र युग के बाद सीधे लौह युग आ गया।

आपने कांस्य युग की सभ्यता को वैदिक युग की झूठी तोप से उड़ा दिया।

पश्चिमोत्तर भारत में ताम्र युग के बाद कांस्य युग आया था। सिंधु घाटी की सभ्यता कांस्य युग का प्रतीक है। मगर पूर्वी भारत में इतिहासकारों ने ताम्र युग के बाद सीधे लौह युग ला दिया और वे कांस्य युग को खा गए।

जब लोहे की खोज नहीं हुई थी, तब लोग ताँबे को ही लोहा कहा करते थे।

ताँबे को लोहा इसलिए कहते थे कि ताँबे का रंग लोहित होता है।

लोहित का अर्थ है - लाल रंग का। लाल रंग का कौन होता है - ताँबा या लोहा ?

जाहिर है कि लाल रंग का ताँबा होता है। इसलिए लोग ताँबे को लोहा कहते थे।

लोहा से ही लहू शब्द बना है। लहू का अर्थ है - खून। खून के रंग का कौन होता है - ताँबा या लोहा?

पालि में ताँबे को लोह (लोहा ) भी कहा गया है। अर्थात पालि तब की है, जब लोहे की खोज नहीं हुई थी। तब सरसरी नजर से ही पालि का इतिहास उत्तरी भारत में ईसा से हजार साल पहले छलाँग मार देता है।

4.

स्तूपों का इतिहास, लेखन -कला का इतिहास, मूर्ति-कला का इतिहास सभी कुछ सिंधु घाटी सभ्यता से निरंतर मौर्य काल और आगे तक जाता है।

बशर्ते कि आप मान लीजिए कि सिंधु साम्राज्य से लेकर मौर्य साम्राज्य और आगे तक टूटती - जुड़ती बौद्ध सभ्यता की कड़ियाँ थीं।

भारत में मौजूद सभी स्तूपों को मौर्य काल के बाद का बताया जाना गलत है। अनेक स्तूप सिंधु घाटी सभ्यता के काल के हैं, कुछ सिंधु घाटी सभ्यता के बाद के हैं, कुछ मौर्य काल के हैं, कुछ मौर्य काल के बाद के भी हैं।

कहीं मिट्टी का स्तूप है, कहीं पत्थर का स्तूप है, कहीं ईंट का स्तूप है तो कहीं संगमरमर का स्तूप है। मनौती स्तूप ... छोटा स्तूप ... मझोला स्तूप ... बड़ा स्तूप ... गोल स्तूप ... चौकोर स्तूप ... अति प्राचीन स्तूप ... प्राचीन स्तूप ...वेदी का स्तूप ...बिना वेदी का स्तूप ... सीढ़ीदार स्तूप ... बिना सीढ़ी का स्तूप !

सभी अलग - अलग प्रकार के सैकड़ों स्तूपों को इतिहासकारों ने मौर्य काल से लेकर कुषाण काल के चंद पन्नों में समेट लिया है।

जबकि इतिहास गवाह है कि सिंधु घाटी सभ्यता में भी स्तूप था और पूर्व मौर्य काल में भी स्तूप था। पिपरहवा का स्तूप मौर्य काल से पहले का है। खुद मौर्य काल में नए स्तूप बने और कई पूर्व मौर्य काल के स्तूपों की मरम्मत हुई, जिसमें निग्लीवा सागर का स्तूप शामिल है।

अभिलेखीय साक्ष्य पुख्ता सबूत देता है कि सम्राट अशोक से पहले भी स्तूपों की परंपरा थी।

आप सम्राट अशोक के निग्लीवा अभिलेख को पढ़ लीजिए, जिसमें लिखा है कि अपने अभिषेक के 14 वें वर्ष में उन्होंने निगाली गाँव में जाकर कोनागमन (कनकमुनि ) बुद्ध के स्तूप के आकार को वर्धित करवाया था। ( चित्र - 1 )

कनकमुनि ( कोनागमन ) बुद्ध का स्तूप सम्राट अशोक के काल से पहले बना था, जिसका संवर्धन उन्होंने कराया था। गौतम बुद्ध से कनकमुनि बुद्ध अलग थे और पहले थे।

भारत और भारत के बाहर जो बड़े पैमाने पर स्तूप मिलते हैं, वे सभी मौर्य काल के बाद के नहीं हैं बल्कि अनेक सिंधु घाटी और मौर्य काल के बीच के भी हैं। मगर इतिहासकार गौतम बुद्ध से पहले स्तूप होने की बात सोचते ही नहीं हैं।

परिणामतः वे मौर्य काल से पहले के बने सभी स्तूपों को भी खींचकर मौर्य काल तथा उसके बाद लाते हैं। यदि वे ऐसा नहीं करते तो सिंधु घाटी सभ्यता से लेकर मौर्य काल तक कहीं भी स्तूपों की श्रृंखला नहीं टूटेगी।

बुद्ध के महापरिनिर्वाण के बाद उनकी अस्थियों को आठ भागों में बाँटा गया तथा उन पर स्तूपों का निर्माण किया गया। जाहिर है कि स्तूपों की निर्माण - कला बुद्ध से पहले भी मौजूद थी।

बुद्ध ने खुद महापुरुषों की शरीर धातु पर स्तूप बनाने को कहा था। उन्होंने अपने प्रिय शिष्य आनंद को चौराहे पर स्तूप निर्मित करने की बात कही थी।

कोई भी शिल्प - कला रातों -रात पैदा नहीं होती है। स्तूप - कला का भी बाकायदे विकास हुआ है। कई पीढ़ियों ने, कई गणों ने इसके विकास में अपना - अपना योगदान किया है।

5.

दुनिया की टाॅप अकादमिक पत्रिकाओं में " साइंस " शुमार है। इसे अमेरीकन एसोसिएशन फाॅर दि एडवांस आॅफ साइंस प्रकाशित करता है।

" साइंस " के अंक 320 में यूनिवर्सिटी ऑफ नेपल्स, इटली के भारत और सेंट्रल एशिया की सभ्यताओं के प्रसिद्ध पुरातत्ववेत्ता प्रोफेसर जिओवान्नि वेरार्डी का मुअनजोदड़ो के स्तूप पर एक लेख छपा है। ( चित्र - 2 )

पुरातत्ववेत्ता वेरार्डी ने गहन जाँच के बाद बताए हैं कि सिंधु घाटी सभ्यता का स्तूप कोई 2100 ई. पू. का है। स्तूप के नाम को लेकर विवाद हो सकता है। मगर वह इमारत सिंधु घाटी सभ्यता के समकालीन है। यह स्तूप भिक्षुओं के आवास से घिरा है।

आर डब्ल्यू टी एच आकिन विश्वविद्यालय, जर्मनी के पुरातत्ववेत्ता माइकल जेंसन ने वेरार्डी की रिसर्च पर मुहर लगाते हुए लिखा है कि मुअनजोदड़ो का स्तूप सिंधु घाटी सभ्यता के काल का है।

पुरातत्ववेत्ता द्वय ने कहा है कि सिंधु घाटी सभ्यता पर पुनर्विचार करने की जरूरत है क्योंकि यह स्तूप कुषाण काल का नहीं है।

इसीलिए मैं भी कहता हूँ कि सिंधु घाटी की सभ्यता मूलतः बौद्ध सभ्यता है।

जैसा कि भारत और सेंट्रल एशिया की सभ्यताओं के प्रसिद्ध पुरातत्ववेत्ता प्रोफेसर जिओवान्नि वेरार्डी ने जाँचोपरांत बताया है कि मुअनजोदड़ो का स्तूप सिंधु घाटी की सभ्यता के समय का है। यह कुषाण कालीन नहीं है।

अब तक इतिहासकार इसे कुषाण कालीन मानते रहे हैं। कारण कि स्तूप के पूरबी बौद्ध मठ से कुषाण कालीन सिक्के मिले हैं।

प्रोफेसर जिओवान्नि वेरार्डी ने कहा है कि स्तूप के काल - निर्धारण में इन सिक्कों की कोई खास भूमिका नहीं है। स्तूप का अस्तित्व सिक्कों से अलग है।

स्तूप की निर्माण-सामग्री, अभिकल्पन, ईंटें, प्लेटफार्म - सब कुछ सिंधु घाटी सभ्यता के समकालीन हैं। ( चित्र - 3 )

चूँकि कुषाण काल बौद्धों के लिए सुनहरा काल था। बौद्धों को पता रहा होगा कि मुअनजोदड़ो का स्तूप किसी पूर्व बुद्ध का है।

शायद यहीं कारण था कि उनकी आवाजाही उस स्तूप तक थी और ऐसे में वहाँ कुषाण कालीन सिक्कों का मिलना असंभव नहीं है।

मोहनजोदड़ो की खुदाई में विशाल स्नानागार मिला है। स्नानागार के आँगन में जलाशय है। जलाशय के तीन ओर बरामदे और उनके पीछे कई कमरे थे।

इतिहासकार मैके ने बताया है कि कमरे वाला स्नानागार पुरोहितों के लिए था, जबकि विशाल स्नानागार सामान्य जनता के लिए था तथा इसका उपयोग धार्मिक समारोहों के अवसर पर किया जाता था।

डी. डी. कोसंबी ने लिखा है कि पूरे ऐतिहासिक युग में ऐसे कृत्रिम ताल बनाए गए हैं : पहले स्वतंत्र रूप में, बाद में मंदिरों के समीप।

सवाल उठता है कि सिंधु घाटी के लोग विशेष धार्मिक अवसरों पर विशाल स्नानागार में पुरोहितों के संग स्नान तथा शुद्धिकरण करके कहाँ जाते थे? मंदिर तो था नहीं। वहीं स्तूप में! स्नानागार के बगल के स्तूप में !!

उत्तरी बिहार के वैशाली में पुरातत्वविदों ने आनंद स्तूप के बगल में ठीक ऐसा ही विशाल स्नानागार खोज निकाला है, जैसा कि मोहनजोदड़ो में है।

1826 में मैसन ने पहली बार हड़प्पा में स्तूप ही देखा था, बर्नेस ( 1831 ) और कनिंघम ( 1853 ) ने भी स्तूप ही देखा था। सिंधु घाटी की सभ्यता की खुदाई बाद में हुई।

राखालदास बंदोपाध्याय ने भी 1922 में मोहनजोदड़ो के बौद्ध स्तूप की खुदाई में ही सिंधु घाटी की सभ्यता की खोज की थी।

इसलिए; सिंधु घाटी की सभ्यता की खुदाई में स्तूप नहीं मिला है बल्कि स्तूप की खुदाई में सिंधु घाटी की सभ्यता मिली है।

मगर इतिहासकारों को सिंधु घाटी की सभ्यता के इतिहास को ऐसे लिखने में जाने क्या परेशानी है, जबकि सच यही है।

मोहनजोदड़ो की खुदाई में सिर्फ स्तूप ही नहीं, बौद्ध विहार भी मिला था, जिसका विवरण स्वामी शंकरानंद ने " हिस्ट्री आफ मोहनजोदड़ो एण्ड हड़प्पा " में प्रस्तुत किया है। लिखा है कि राखालदास बंदोपाध्याय को 1922 - 23 के शरद मौसम में खुदाई करते एक बौद्ध विहार मिला। विहार का मुख पूरब की तरफ था। पूरबी भाग में दो बड़े सामान्य कक्ष, एक प्रवेश द्वार, गुफानुमा सुरंग, मूर्ति कक्ष एवं सीढ़ियाँ हैं। कुछ छोटे कक्षों का उपयोग भिक्खुओं के अवशेष रखने के लिए किया जाता है। कमरा सं. 22, 27 एवं 29 ऐसे ही कमरे हैं।
( संदर्भ: बौद्ध धर्म: हड़प्पा मोहनजोदड़ो नगरों का धर्म, पृ. 144 )

गुजरात स्थित धोलावीरा सिंधु घाटी सभ्यता का एक महत्वपूर्ण नगर है। यहाँ स्तूप मिले हैं। उनमें से एक पंजाब स्थित संघोल के धम्म चक्र स्तूप से मेल खाता है। ऐसे स्तूपों में आरे ( वृत में तिल्ली ) बने होते हैं। ( चित्र- 4 )

स्तूप का नाम सुनते ही दिमाग में एक अर्द्ध गोलाकार संरचना की तस्वीर उभरती है।

मगर हर जगह का स्तूप अर्द्ध गोलाकार नहीं है।स्तूप धम्म चक्क के आकार के भी हैं, जिनमें आठ आरे बने हुए हैं। धम्म चक्क में भी 8 आरे हैं।

एक दूसरे स्तूप में आरों की संख्या क्रमशः 12, 24 और 32 है। 24 और 32 की संख्या अशोक - चक्र की याद दिलाती है। अशोक - चक्र में भी 32 और 24 आरे हैं।

ऐसे स्तूप पंजाब के जिला फतेहगढ़ साहिब के गाँव संघोल में मिले हैं। कभी संघोल में भिक्षु संघ था। इसीलिए इसका नाम संघोल है। ( चित्र - 5 )

स्तूप की खुदाई 1968 में हुई थी। स्तूप से एक सोप पत्थर की मंजूषा मिली है।

मंजूषा के ढक्कन पर खरोष्ठी लिपि में एक बौद्ध स्काॅलर का नाम लिखा है। वह स्काॅलर भद्रक थे। उन्हीं का अस्थि - भस्म उस मंजूषा में है।

धोलावीरा का स्तूप संघोल के स्तूप से मेल खाता है।

सिंध साम्राज्य के अनेक नगरों में स्तूप मिले हैं। हड़प्पा में स्तूप मिला है, मोहनजोदड़ो में स्तूप मिला है और फिर धोलावीरा में भी स्तूप मिला है।

जाने क्यों, इतिहासकार बताते हैं कि ये स्तूप कुषाण काल के हैं। भाई, कुषाण काल तो बुद्ध की मूर्तियों के लिए जाना जाता है। यदि सिंधु घाटी सभ्यता के ये स्तूप कुषाणों ने बनवाए तो वे सिर्फ स्तूप ही क्यों बनवाते?

वे तो सिंधु घाटी की गली - गली में ... हर चौक - चौराहे पर बुद्ध की मूर्तियाँ बनवाते। वे तो गांधार कला के आविष्कारक थे और बुद्ध की मूर्तियों के लिए तो कुषाण राजे इतिहास में जाने जाते हैं।

यदि सिंध साम्राज्य के ये स्तूप कुषाण काल के हैं तो कुषाणों से करीब डेढ हजार साल पहले तो आपके अनुसार आर्य आए थे, जो सिंध साम्राज्य पर कब्जा किए। फिर वे सिंधु घाटी के डगर - डगर में मंदिर, अवतारों की मूर्तियाँ क्यों नहीं बनवाए?

मान लीजिए कि 1500 ई. पू. में आर्यों का आक्रमण हुआ और हड़प्पा - मुअनजोदड़ो नेस्तनाबूद हो गए। सिंध साम्राज्य जीत लिया गया और आर्य साम्राज्य स्थापित हो गया तो क्या सिंध साम्राज्य के ऊपरी लेयर पर आर्य साम्राज्य के निशान मिलते हैं?

क्या मंदिर मिलते हैं ? ... क्या संस्कृत मिलती है ? ... कोई वैदिक देवी - देवता मिलते हैं? ...क्या इंद्र वंश का शासन आया?... क्या वरूण वंश का राज आया?... नहीं।

6.

इतिहासकार मौर्य साम्राज्य पर शुंगों के कब्जे को ही आर्य आक्रमण बताते हैं और उसे पीछे खींचकर 1500 ई. पू. में ले जाते हैं क्योंकि इसके बाद धीरे- धीरे आर्य- सभ्यता के तमाम निशान मिलने लगते हैं ... संस्कृत ... यज्ञ ... मंदिर आदि- आदि।

वैदिक साहित्य में लिखित " दास " कौन है?

भारत और पश्चिम के अनेक इतिहासकारों ने " दास " की अनेक व्याख्याएँ की हैं। उस भूल - भुलैया में हमें नहीं पड़ना है।

दास मूल रूप से " बौद्ध " थे। साँची और भरहुत के स्तूपों पर अनेक दास तथा दासी उपाधिधारक बौद्धों के शिलालेख हैं, जिन्होंने स्तूप - निर्माण में मदद की थी।

अरहत दास थे ....अरहत दासी थीं ....यमी दास थे.... जख दासी थीं .....अनेक ...सभी के नाम लिखे हुए हैं।

साँची स्तूप पर थूप दास का वर्णन है। लिखा है - मोरगिरिह्मा थूपदासस दान थंभे। ( चित्र - 6 )

थूप दास मोरगिरि ( महाराष्ट्र ) के निवासी थे और भरहुत के एक स्तंभ - निर्माण में मदद की थी।

वैदिक साहित्य में वर्णित आर्यों का सांस्कृतिक संघर्ष इन्हीं बौद्ध दास - दासियों से हुआ था।

वैदिक साहित्य इन दास - दासियों के बारे में बताता है कि ये लोग यज्ञ नहीं करते और न ये इंद्र - वरुण की पूजा करते हैं...स्पष्ट है कि ये बौद्ध हैं।

प्राकृत भाषा में " दास " ( दसन ) का अर्थ द्रष्टा है। मगर आर्यों ने सांस्कृतिक दुश्मनी के कारण अपनी पुस्तकों में " दास " का अर्थ " गुलाम/ नौकर " कर लिए हैं।

दास और आर्यों का यह सांस्कृतिक संघर्ष 1500 ई.पू. में नहीं बल्कि मौर्य काल के बाद हुआ था।

सभी शिलालेख पढ़ जाइए। मौर्य काल तक किसी भी पुरुष और महिला के नाम में " दास / दासी " नहीं जुड़ा है।

दास/ दासी जुड़े नाम शिलालेखों में मौर्य काल के बाद दिखाई पड़ते हैं। साँची - भरहुत के स्तूपों पर पहली बार अनेक नाम दास / दासी से जुड़े दिखाई पड़ते हैं।

दास / दासी से जुड़े ये सभी नाम बौद्धों के हैं।

इन्हीं दास / दासियों से आर्यों का वैचारिक संघर्ष हुआ था, जो वेदों में लिखा हुआ है।

वेदों में लिखे आर्य - दास संघर्ष को हम कतई मौर्य काल से पहले नहीं ले जा सकते हैं। कारण कि मौर्य काल तक हमें दास/ दासी उपाधि धारक कोई नाम मिलता ही नहीं है।

वेद और वेदों में वर्णित यह सांस्कृतिक संघर्ष की गाथा मौर्य काल के बाद की है।

यहीं कारण है कि ऋग्वेद में भी स्तूपों के संदर्भ मिलते हैं और रामायण में चैत्यों के मिलते हैं।

यह तो बहुत बताया जाता है कि ऋग्वेद में गंगा का एक बार और यमुना का तीन बार वर्णन है, मगर यह बहुत कम बताया जाता है कि ऋग्वेद में स्तूप का वर्णन दो बार है।

संस्कृत का स्तूप मूल रूप से पालि थूप का बिगड़ा हुआ रूप है। पालि में थूप से अनेक शब्द बनते हैं जैसे थूप, थूपिका, थूपीकत, थूपारह आदि।

मगर संस्कृत में स्तूप से अनेक शब्द नहीं बनेंगे। कारण कि स्तूप संस्कृत के लिए बाहरी शब्द है। किसी भी भाषा में अमूमन बाहरी शब्द बाँझ होते हैं। उनमें शब्दों को जनने की क्षमता नहीं होती है।

संस्कृत के लिए स्तूप बाँझ शब्द है। इसीलिए संस्कृत का स्तूप पालि थूप का रूपांतरण है और वे भाष्यकार जो ऋग्वेद में प्राप्त स्तूप की व्याख्या किसी अन्य अर्थ में करते हैं, वे गलत हैं।

"स्तूप ....बुध्न एषामस्मे अन्तर्निहिताः"
अर्थात इसमें बुद्ध अन्तर्निहित हैं।

यह ऋग्वेद के प्रथम मंडल, सूक्त 24, छठवाँ अनुवाक का श्लोक संख्या 7 है। इसमें राजा वरुण को अबौद्ध (अबुध्ने) राजा भी कहा गया है। पूरा का पूरा अर्थ एक दूसरे से जुड़ा हुआ है।

सायण भाष्य में अर्थ कुछ भिन्न है।

"अबुध्ने राजा वरुणो वनस्योर्ध्वं स्तूपं ददते पूतदक्षः नीचीना स्थुरुपरि बुध्न एषामस्मे अन्तर्निहिताः केतवः स्युः॥७॥" ( चित्र - 7)

अर्थात पवित्र पराक्रम युक्त राजा वरुण (सबको आच्छादित करने वाले) दिव्य तेज पुञ्ज सूर्यदेव को आधाररहित आकाश में धारण करते हैं। इस तेज पुञ्ज सूर्यदेव का मुख नीचे की ओर और मूल ऊपर की ओर है। इससे मध्य में दिव्य किरणें विस्तीर्ण होती चलती हैं।

परन्तु यह अर्थ जो सायण भाष्य पर आधारित है, गलत है। लगभग सभी अनुवादकों ने ऐसा ही अर्थ किया है। अर्थ करते वक्त संदर्भ को देखना जरूरी होता है। जैसा कि उपरोक्त से स्वतः स्पष्ट है कि वरुण राजा की उपाधि अबुध्ने है। मतलब कि वरुण बौद्ध विरोधी राजा थे। आगे स्तूप को उलटने की बात है।

अशोक द्वारा 84000 स्तूप बनाए जाने का जिक्र फाहियान ने अपने यात्रा - विवरण के 27 वें खंड में किए हैं।

साँची एवं भरहुत स्तूपों का निर्माण मूल रूप से अशोक ने ही कराया था। ह्वेनसांग ने अशोक द्वारा निर्मित अनेक स्तूपों का उल्लेख किया है, जिन्हें उसने खुद देखा था।

सारनाथ तथा तक्षशिला स्थित धर्मराजिका स्तूप का निर्माण भी मूलतः अशोक के समय में ही कराया गया था। बाद के शासकों ने उन्हें परिवर्धित करवाए।

मीनाण्डर यवन थे। विदेशी थे। लेकिन धम्म की राह चुनी थी। बुतकारा स्तूप के पहले लेयर को अशोक ने बनवाए थे तो दूसरे को मीनाण्डर ने बनवाए थे। दूसरे लेयर से मीनाण्डर का सिक्का मिला है।

मीनाण्डर बड़े दार्शनिक थे...इंडो -यूनानी इतिहास में दूजा नहीं हुआ।

सो वे बड़े न्यायप्रिय थे। न्यायप्रियता ने इन्हें जनता में बड़ी शोहरत दिलाई थी।

एक दिन एक शिविर में अचानक इनकी मृत्यु हुई।

प्लूटार्क ने लिखा है कि मीनाण्डर के भस्म को लेकर जनता में झगड़े उठ खड़े हुए ....क्योंकि वे इतना जनप्रिय थे कि लोग उनके भस्म पर अलग - अलग स्तूप बनाना चाहते थे।

भारत के इतिहास में बुद्ध के बाद मीनाण्डर, मीनाण्डर के बाद कबीर और कबीर के बाद नानक का नाम आता है, जिनके मृत शरीर को भी अपनाने के लिए जनता व्याकुल थी।

क्षेमेन्द्र रचित अवदानकल्पलता से पता चलता है कि मीनाण्डर ने अनेक स्तूपों का निर्माण कराया था।

सम्राट अशोक के बाद पश्चिमोत्तर तथा उत्तरी भारत में सर्वाधिक स्तूप बनवाने का श्रेय कनिष्क को है।

उन्होंने विभिन्न स्थानों पर अनेक स्तूप बनवाए। पेशावर के निकट कनिष्क ने एक बड़ा स्तूप बनवाए थे, जिसमें बुद्ध के अवशेष रखे गए थे। एक अभिलेख से ज्ञात होता है कि इसे एक यूनानी इंजीनियर अगिलस ने बनाया था।

जाहिर है कि यूनानी अभियंताओं ने यूनानी तकनीक का प्रयोग किया। यहीं ग्रीको - बुद्धिस्ट कला है, जिससे स्तूप - निर्माण भी अछूता नहीं रहा।

गंधार क्षेत्र के स्तूपों का वास्तु - विन्यास मध्य भारतीय स्तूपों जैसा नहीं है। गंधार स्तूप काफी ऊँचे हैं, चढ़ने के लिए सीढ़ियाँ हैं और संपूर्ण स्तूप एक बुर्ज जैसा दिखाई देता है।

कनिष्क के पुरुषपुर स्थित 400 फीट ऊँचा स्तूप का विवरण फाहियान तथा ह्वेनसांग दोनों ने दिए हैं। फाहियान ने लिखा है कि उसने जितने भी स्तूप देखे थे, उनमें यह सर्वाधिक प्रभावशाली है।

तक्षशिला स्थित धर्मराजिका स्तूप का निर्माण अशोक के समय में हुआ, किंतु कनिष्क के समय में आकारवर्धन हुआ। ऊँचे चबूतरे पर निर्मित यह स्तूप गोलाकार है। चारों दिशाओं में चार सीढ़ियाँ हैं। ( चित्र - 8 )

कनिष्क के काल में बल्ख तथा खोतान तक अनेक स्तूप निर्मित करवाए गए थे। मनिक्याल क्षेत्र में कई स्तूप बने थे। मनिक्याल, रावलपिंडी से 20 मील की दूरी पर है। यहाँ से प्राप्त एक अभिलेख से पता चलता है कि कनिष्क के 18 वें वर्ष में इन स्तूपों को बनवाया गया था।

सिर्फ बुद्ध के अवशेषों पर ही नहीं बल्कि कनिष्क ने बौद्ध साहित्य की टीकाओं को भी ताम्रपत्र पर उत्कीर्ण करा कर विशेष रूप से निर्मित एक स्तूप में सुरक्षित रखवाया था। ह्वेनसांग ने इस पर विस्तार से लिखा है।

स्तूप- निर्माण की परंपरा अशोक और कनिष्क के बाद हर्षवर्धन के शासन-काल में सर्वाधिक समृद्ध हुई।

सम्राट हर्षवर्धन ने विक्रमादित्य की नहीं बल्कि शीलादित्य की उपाधि धारण की थी। शीलादित्य वह है, जिसे विक्रम ( बल ) से अधिक शील पसंद हो।

वहीं शील जिसे बुद्ध ने अपनी देशना में प्रमुख स्थान दिया था।

वो शिलादित्य ऐसे शीलवान निकले कि हर 5 वें वर्ष अपना संपूर्ण खजाना गरीबों- असहायों को दान कर देते थे।

ह्वेनसांग ने लिखा है कि उन्होंने गंगा के किनारों पर कई हजार स्तूप सौ - सौ फीट ऊँचे बनवाए।

सब स्थानों पर जहाँ - जहाँ गौतम बुद्ध के कुछ भी चिह्न थे, संघाराम स्थापित किए।

इतिहास से सवाल है कि आखिर शीलादित्य के बनवाए हजारों स्तूप और संघाराम कहाँ गए?

ह्वेनसांग ने पूर्वी भारत में अशोक द्वारा निर्मित ताम्रलिप्ति, कर्णसुवर्ण, समतट और पुण्ड्रवर्धन में स्तूपों का उल्लेख किया है। महास्थानगढ़ अभिलेख से भी यह पुष्ट होता है। बाद के पाल शासकों ने पूर्वी भारत में बौद्ध धर्म का संरक्षण प्रदान किए।

पश्चिम बंगाल, झारखंड और बिहार में पाल कालीन अनेक स्तूपों के अवशेष मिलते हैं।

पाल वंश के बड़े राजाओं में देवपाल ( 810 - 850 ) शुमार हैं। उत्साही बौद्ध थे। 40 बरसों का शासन था। सुजाता स्तूप का आखिरी पुनर्निर्माण इन्होंने ने ही कराए थे। वहाँ के उत्खनन से प्राप्त एक अभिलेख से इसकी पुष्टि होती है। ( चित्र - 9 )

पश्चिमोत्तर और उत्तरी भारत में स्तूप - निर्माण की जो परंपरा सिंधु घाटी सभ्यता से चली थी, वह पाल कालीन पूर्वी भारत में 12 वीं सदी तक अनवरत चलती रही।

7.

बौद्ध सभ्यता के प्रचार - प्रसार का जो काम उत्तर के मौर्यों ने किया, वही काम दक्षिण में सातवाहनों ने किया।

अशोक के सभी अभिलेख प्राकृत में हैं तो सातवाहनों के भी सभी अभिलेख प्राकृत में हैं।

उत्तर में मौर्य काल तक संस्कृत के अभिलेख नहीं मिलते हैं तो दक्षिण में भी सातवाहन काल तक संस्कृत के अभिलेख नहीं मिलते हैं।

मौर्यों ने अनेक स्तूप, चैत्य और विहार बनवाए तो सातवाहनों ने भी अनेक स्तूप, चैत्य और विहार बनवाए।

अमरावती, गोली, जगय्यपेटा, घंटसाल, भट्टीप्रोलु, नागार्जुन कोंडा जैसे स्थानों के स्तूप इन्हीं सातवाहनों के हैं। ( चित्र- 10 )

बौद्ध स्थलों में से पूर्वोत्तर भारत स्थित बौद्ध स्मारकों का जिक्र कम होता है। हिंदी इतिहासों में इसका उल्लेख नगण्य है।

त्रिपुरा के सेपहीजाला जिले में बोक्सानगर है। बोक्सानगर का प्राचीन नाम अभिलेखों के आधार पर बिराक बताया जाता है। यह एक विराट बौद्ध स्थल है।

इस विराट बौद्ध स्थल को खुदाई से पहले मानसा का स्मारक कहा जाता था। मानसा सर्पों की देवी हैं। साल 1997 के जुलाई महीने में पुरातत्वविद डाॅ. जीतेन्द्र दास यहाँ आए। उन्हें यहाँ गौतम बुद्ध की मूर्ति मिली। वे अनुमान कर लिए कि बोक्सानगर बौद्ध स्थल है और इसकी सूचना उन्होंने पुरातत्व विभाग को दे दी।

पुरातत्व विभाग ने 2001 से 2004 तक बोक्सानगर की खुदाई की। खुदाई में विशाल बौद्ध स्तूप, चैत्यगृह, बौद्ध विहार, बुद्ध की कांस्य मूर्तियाँ, ब्राह्मी अभिलेखित सील तथा अन्य बौद्ध अवशेष मिले। ( चित्र - 11)

स्तूप विशाल और शानदार है। चैत्यगृह आयताकार और स्तूप के पूरब दिशा में है। चैत्यगृह से पूरब बौद्ध विहार है। बौद्ध विहार का गलियारा काफी लंबा है। गलियारा के दोनों ओर भिक्षुओं के लिए कमरे बने हैं।

दक्षिण त्रिपुरा में पिलक है। पिलक का प्राचीन नाम पिरोक बताया जाता है। पिलक की पहचान भी बौद्ध स्थल के रूप में हुई है। पिलक के उत्खनन से भी बौद्ध स्तूप और बुद्ध की अनेक मूर्तियाँ प्राप्त हुई हैं।

पूर्वोत्तर भारत कभी बौद्ध सभ्यता के प्रभाव में था।

न केवल संपूर्ण भारत में बल्कि भारत के बाहर भी स्तूप बनाए जाने की समृद्ध परंपरा रही है।स्तूपों की परंपरा

इतिहास - लेखन में इतिहासकार कुछ जोड़ते हैं, कुछ छोड़ते हैं और कुछ का चयन करते हैं। यह छोड़ना, जोड़ना और चयन ही इतिहास का स्वरूप तय करता है। फिर तो तय है कि ऐसा इतिहास - लेखन पूरी मानव - जाति का इतिहास नहीं हो सकता है।

वास्तविकता का इतिहास और इतिहासकारों के उपलब्ध इतिहास में फर्क होता है। जैसा कि कहा गया है कि इतिहास - लेखन में इतिहासकार कुछ छोड़ते हैं, कुछ जोड़ते हैं और कुछ का चयन करते हैं और फिर इसे ही किसी देश के इतिहास की संज्ञा प्रदान कर दिया करते हैं। ऐसा इतिहास वस्तुतः राजनीतिक शक्ति मात्र का इतिहास होता है जो भारी पैमाने पर हुई हत्याओं तथा अपराधों के इतिहास से भिन्न नहीं है।

चिनुआ अचैबी ने लिखा है कि जब तक हिरन अपना इतिहास खुद नहीं लिखेंगे, तब तक हिरनों के इतिहास में शिकारियों की शौर्य - गाथाएँ गाई जाती रहेंगी।

इसीलिए भारत के इतिहास में वैदिक संस्कृति उभरी हुई है, बौद्ध सभ्यता पिचकी हुई है और मूल निवासियों का इतिहास बीच - बीच में उखड़ा हुआ है।

इतिहास सिर्फ वो नहीं है, जिसे शासकों ने लिखवाया है और जो लिखा गया है बल्कि इतिहास वो भी है, जिसे हमारे पुरखों ने सहा है, लेकिन लिखा नहीं गया है।

छद्म इतिहास क्या है?

इतिहास - लेखन में वह दावा जो इतिहास की तरह प्रस्तुत किया जाता है, पर वह इतिहास नहीं होता है बल्कि इतिहास जैसा होता है, वह छद्म इतिहास है।

छद्म इतिहास और वास्तविक इतिहास की पहचान करना ही सही इतिहास - दृष्टि है।

2.

यह विचित्र इतिहास - बोध है कि सिंधु घाटी की सभ्यता के बाद वैदिक युग आया। सिंधु घाटी की सभ्यता नगरीय थी, जबकि वैदिक संस्कृति ग्रामीण थी। उल्टा है।

भला कोई सभ्यता नगरीय जीवन से ग्रामीण जीवन की ओर चलती है क्या?

सिंधु घाटी में बड़े - बड़े नगर थे, स्नागार थे, चौड़ी - चौड़ी सड़कें थीं। बेहद उम्दा किस्म की सभ्यता थी। वहीं वैदिक युग में पशुचारक थे, कच्ची मिट्टी के घर थे, नरकूलों की झोंपड़ियाँ थीं। तुर्रा यह कि ये नरकूलों की झोंपड़ियाँ उसी पश्चिमोत्तर भारत में उगीं, जहाँ बड़े -बड़े सिंधु साम्राज्य के भवन थे।

आपको ऐसा इतिहास - बोध उलटा नहीं लगता है?

आप पढ़ाते हैं कि सिंधु घाटी की सभ्यता में लेखन - कला विकसित थी और फिर उसके बाद की वैदिक संस्कृति में पढ़ाने लगते हैं कि वैदिक युग में लेखन - कला का विकास नहीं हुआ था। वैदिक युग में लोग मौखिक याद करते थे और लिखते नहीं थे।

ऐसा भी होता है क्या? पढ़ी - लिखी सभ्यता अचानक अनपढ़ हो जाती है क्या?

आप यह भी पढ़ाते हैं कि सिंधु घाटी की सभ्यता में मूर्ति - कला थी। फिर उसके बाद पढ़ाते हैं कि वैदिक युग में मूर्ति - कला नहीं थी।

क्या यह सब उलटा नहीं है?

भारत में स्तूप - स्थापत्य, लेखन - कला, मूर्ति - कला, बर्तन - कला आदि का विकास निरंतर हुआ है। कोई गैप नहीं है। यदि इतिहास में ऐसा गैप आपको दिखाई पड़ रहा है तो वह वैदिक संस्कृति को भारतीय इतिहास में ऐडजस्ट करने के कारण दिखाई पड़ रहा है।

यह कैसा इतिहास - लेखन है कि जिन वेदों के खुद का ही ऐतिहासिक साक्ष्य प्राप्त नहीं हैं, उन्हें ही ऐतिहासिक साक्ष्य मान लिया गया है।

ऋग्वैदिक युग, फिर उत्तर वैदिक युग, फिर सूत्रों का युग, फिर महाकाव्यों का युग, फिर धर्मशास्त्रों का युग - ये भारत का भौतिक इतिहास नहीं है।

ये तो संस्कृत साहित्य का इतिहास है। किसी भी देश का भौतिक इतिहास ऐसे नहीं लिखा जाता है, लिखा भी नहीं गया है। साहित्य का इतिहास ऐसे लिखा जाता है।

वैदिक युग सही मायने में इतिहास का टर्मिनोलाॅजी है ही नहीं ! कहीं पढ़े हैं बाइबिल युग, कुरान युग?

वैदिक युग, महाकाव्य युग और सूत्र युग मूलतः इतिहास का नहीं बल्कि संस्कृत साहित्य के चैप्टर्स हैं वरना दुनिया के इतिहास में किसी देश का ऐतिहासिक चैप्टर्स के नाम बाइबिल युग, कुरान युग और हदीस युग नहीं हैं।

वैदिक भाषा पुरानी है और वैदिक संस्कृति भी पुरानी है, तब इस तथ्य की भी पड़ताल की जानी चाहिए कि वैदिक युग के तथाकथित सोने के सिक्के " निष्क " और चाँदी के सिक्के " रजत " कहाँ गए, जबकि धातु के सिक्के सबसे पहले गौतम बुद्ध के युग में मिलते हैं, जिसे " आहत मुद्रा " कहा जाता है।

3.

आज का अध्ययन जबकि पुरावशेषों में फ्लोरीन की मात्रा के मापन, काठ कोयले और हड्डी में रेडियोधर्मिता की मात्रा, भूचुंबकीय अवलोकन और वृक्ष - तैथिकी पर आधारित है, तब सत्ययुग या द्वापर जैसे भोथरे काल मापक से किसी नायक या वस्तु की उम्र तय करना निरर्थक है।

मिसाल के तौर पर, वेदों की रचना सृष्टि के आरंभ में हुई है। केतु वृक्ष 1100 योजन ऊँचे हैं। देवताओं का एक वर्ष मनुष्यों के 131521 दिनों का होता है।

ऐसे मामलों में भारत का भौतिक इतिहास ताम्र, कांस्य, लौह जैसी धातुओं और धूसर, काले, गेरुए जैसे मृद्भांडों की राह पकड़ेगा। मगर सावधानी की जरूरत यहाँ भी है।

आपने एक बार झूठ बोल दिया है कि हड़प्पा सभ्यता के बाद उत्तरी भारत में वैदिक युग आया है। अब इसे साबित करने के लिए आप दूसरा झूठ बोल रहे हैं कि उत्तरी भारत में ताम्र युग के बाद सीधे लौह युग आ गया।

आपने कांस्य युग की सभ्यता को वैदिक युग की झूठी तोप से उड़ा दिया।

पश्चिमोत्तर भारत में ताम्र युग के बाद कांस्य युग आया था। सिंधु घाटी की सभ्यता कांस्य युग का प्रतीक है। मगर पूर्वी भारत में इतिहासकारों ने ताम्र युग के बाद सीधे लौह युग ला दिया और वे कांस्य युग को खा गए।

जब लोहे की खोज नहीं हुई थी, तब लोग ताँबे को ही लोहा कहा करते थे।

ताँबे को लोहा इसलिए कहते थे कि ताँबे का रंग लोहित होता है।

लोहित का अर्थ है - लाल रंग का। लाल रंग का कौन होता है - ताँबा या लोहा ?

जाहिर है कि लाल रंग का ताँबा होता है। इसलिए लोग ताँबे को लोहा कहते थे।

लोहा से ही लहू शब्द बना है। लहू का अर्थ है - खून। खून के रंग का कौन होता है - ताँबा या लोहा?

पालि में ताँबे को लोह (लोहा ) भी कहा गया है। अर्थात पालि तब की है, जब लोहे की खोज नहीं हुई थी। तब सरसरी नजर से ही पालि का इतिहास उत्तरी भारत में ईसा से हजार साल पहले छलाँग मार देता है।

4.

स्तूपों का इतिहास, लेखन -कला का इतिहास, मूर्ति-कला का इतिहास सभी कुछ सिंधु घाटी सभ्यता से निरंतर मौर्य काल और आगे तक जाता है।

बशर्ते कि आप मान लीजिए कि सिंधु साम्राज्य से लेकर मौर्य साम्राज्य और आगे तक टूटती - जुड़ती बौद्ध सभ्यता की कड़ियाँ थीं।

भारत में मौजूद सभी स्तूपों को मौर्य काल के बाद का बताया जाना गलत है। अनेक स्तूप सिंधु घाटी सभ्यता के काल के हैं, कुछ सिंधु घाटी सभ्यता के बाद के हैं, कुछ मौर्य काल के हैं, कुछ मौर्य काल के बाद के भी हैं।

कहीं मिट्टी का स्तूप है, कहीं पत्थर का स्तूप है, कहीं ईंट का स्तूप है तो कहीं संगमरमर का स्तूप है। मनौती स्तूप ... छोटा स्तूप ... मझोला स्तूप ... बड़ा स्तूप ... गोल स्तूप ... चौकोर स्तूप ... अति प्राचीन स्तूप ... प्राचीन स्तूप ...वेदी का स्तूप ...बिना वेदी का स्तूप ... सीढ़ीदार स्तूप ... बिना सीढ़ी का स्तूप !

सभी अलग - अलग प्रकार के सैकड़ों स्तूपों को इतिहासकारों ने मौर्य काल से लेकर कुषाण काल के चंद पन्नों में समेट लिया है।

जबकि इतिहास गवाह है कि सिंधु घाटी सभ्यता में भी स्तूप था और पूर्व मौर्य काल में भी स्तूप था। पिपरहवा का स्तूप मौर्य काल से पहले का है। खुद मौर्य काल में नए स्तूप बने और कई पूर्व मौर्य काल के स्तूपों की मरम्मत हुई, जिसमें निग्लीवा सागर का स्तूप शामिल है।

अभिलेखीय साक्ष्य पुख्ता सबूत देता है कि सम्राट अशोक से पहले भी स्तूपों की परंपरा थी।

आप सम्राट अशोक के निग्लीवा अभिलेख को पढ़ लीजिए, जिसमें लिखा है कि अपने अभिषेक के 14 वें वर्ष में उन्होंने निगाली गाँव में जाकर कोनागमन (कनकमुनि ) बुद्ध के स्तूप के आकार को वर्धित करवाया था। ( चित्र - 1 )

कनकमुनि ( कोनागमन ) बुद्ध का स्तूप सम्राट अशोक के काल से पहले बना था, जिसका संवर्धन उन्होंने कराया था। गौतम बुद्ध से कनकमुनि बुद्ध अलग थे और पहले थे।

भारत और भारत के बाहर जो बड़े पैमाने पर स्तूप मिलते हैं, वे सभी मौर्य काल के बाद के नहीं हैं बल्कि अनेक सिंधु घाटी और मौर्य काल के बीच के भी हैं। मगर इतिहासकार गौतम बुद्ध से पहले स्तूप होने की बात सोचते ही नहीं हैं।

परिणामतः वे मौर्य काल से पहले के बने सभी स्तूपों को भी खींचकर मौर्य काल तथा उसके बाद लाते हैं। यदि वे ऐसा नहीं करते तो सिंधु घाटी सभ्यता से लेकर मौर्य काल तक कहीं भी स्तूपों की श्रृंखला नहीं टूटेगी।

बुद्ध के महापरिनिर्वाण के बाद उनकी अस्थियों को आठ भागों में बाँटा गया तथा उन पर स्तूपों का निर्माण किया गया। जाहिर है कि स्तूपों की निर्माण - कला बुद्ध से पहले भी मौजूद थी।

बुद्ध ने खुद महापुरुषों की शरीर धातु पर स्तूप बनाने को कहा था। उन्होंने अपने प्रिय शिष्य आनंद को चौराहे पर स्तूप निर्मित करने की बात कही थी।

कोई भी शिल्प - कला रातों -रात पैदा नहीं होती है। स्तूप - कला का भी बाकायदे विकास हुआ है। कई पीढ़ियों ने, कई गणों ने इसके विकास में अपना - अपना योगदान किया है।

5.

दुनिया की टाॅप अकादमिक पत्रिकाओं में " साइंस " शुमार है। इसे अमेरीकन एसोसिएशन फाॅर दि एडवांस आॅफ साइंस प्रकाशित करता है।

" साइंस " के अंक 320 में यूनिवर्सिटी ऑफ नेपल्स, इटली के भारत और सेंट्रल एशिया की सभ्यताओं के प्रसिद्ध पुरातत्ववेत्ता प्रोफेसर जिओवान्नि वेरार्डी का मुअनजोदड़ो के स्तूप पर एक लेख छपा है। ( चित्र - 2 )

पुरातत्ववेत्ता वेरार्डी ने गहन जाँच के बाद बताए हैं कि सिंधु घाटी सभ्यता का स्तूप कोई 2100 ई. पू. का है। स्तूप के नाम को लेकर विवाद हो सकता है। मगर वह इमारत सिंधु घाटी सभ्यता के समकालीन है। यह स्तूप भिक्षुओं के आवास से घिरा है।

आर डब्ल्यू टी एच आकिन विश्वविद्यालय, जर्मनी के पुरातत्ववेत्ता माइकल जेंसन ने वेरार्डी की रिसर्च पर मुहर लगाते हुए लिखा है कि मुअनजोदड़ो का स्तूप सिंधु घाटी सभ्यता के काल का है।

पुरातत्ववेत्ता द्वय ने कहा है कि सिंधु घाटी सभ्यता पर पुनर्विचार करने की जरूरत है क्योंकि यह स्तूप कुषाण काल का नहीं है।

इसीलिए मैं भी कहता हूँ कि सिंधु घाटी की सभ्यता मूलतः बौद्ध सभ्यता है।

जैसा कि भारत और सेंट्रल एशिया की सभ्यताओं के प्रसिद्ध पुरातत्ववेत्ता प्रोफेसर जिओवान्नि वेरार्डी ने जाँचोपरांत बताया है कि मुअनजोदड़ो का स्तूप सिंधु घाटी की सभ्यता के समय का है। यह कुषाण कालीन नहीं है।

अब तक इतिहासकार इसे कुषाण कालीन मानते रहे हैं। कारण कि स्तूप के पूरबी बौद्ध मठ से कुषाण कालीन सिक्के मिले हैं।

प्रोफेसर जिओवान्नि वेरार्डी ने कहा है कि स्तूप के काल - निर्धारण में इन सिक्कों की कोई खास भूमिका नहीं है। स्तूप का अस्तित्व सिक्कों से अलग है।

स्तूप की निर्माण-सामग्री, अभिकल्पन, ईंटें, प्लेटफार्म - सब कुछ सिंधु घाटी सभ्यता के समकालीन हैं। ( चित्र - 3 )

चूँकि कुषाण काल बौद्धों के लिए सुनहरा काल था। बौद्धों को पता रहा होगा कि मुअनजोदड़ो का स्तूप किसी पूर्व बुद्ध का है।

शायद यहीं कारण था कि उनकी आवाजाही उस स्तूप तक थी और ऐसे में वहाँ कुषाण कालीन सिक्कों का मिलना असंभव नहीं है।

मोहनजोदड़ो की खुदाई में विशाल स्नानागार मिला है। स्नानागार के आँगन में जलाशय है। जलाशय के तीन ओर बरामदे और उनके पीछे कई कमरे थे।

इतिहासकार मैके ने बताया है कि कमरे वाला स्नानागार पुरोहितों के लिए था, जबकि विशाल स्नानागार सामान्य जनता के लिए था तथा इसका उपयोग धार्मिक समारोहों के अवसर पर किया जाता था।

डी. डी. कोसंबी ने लिखा है कि पूरे ऐतिहासिक युग में ऐसे कृत्रिम ताल बनाए गए हैं : पहले स्वतंत्र रूप में, बाद में मंदिरों के समीप।

सवाल उठता है कि सिंधु घाटी के लोग विशेष धार्मिक अवसरों पर विशाल स्नानागार में पुरोहितों के संग स्नान तथा शुद्धिकरण करके कहाँ जाते थे? मंदिर तो था नहीं। वहीं स्तूप में! स्नानागार के बगल के स्तूप में !!

उत्तरी बिहार के वैशाली में पुरातत्वविदों ने आनंद स्तूप के बगल में ठीक ऐसा ही विशाल स्नानागार खोज निकाला है, जैसा कि मोहनजोदड़ो में है।

1826 में मैसन ने पहली बार हड़प्पा में स्तूप ही देखा था, बर्नेस ( 1831 ) और कनिंघम ( 1853 ) ने भी स्तूप ही देखा था। सिंधु घाटी की सभ्यता की खुदाई बाद में हुई।

राखालदास बंदोपाध्याय ने भी 1922 में मोहनजोदड़ो के बौद्ध स्तूप की खुदाई में ही सिंधु घाटी की सभ्यता की खोज की थी।

इसलिए; सिंधु घाटी की सभ्यता की खुदाई में स्तूप नहीं मिला है बल्कि स्तूप की खुदाई में सिंधु घाटी की सभ्यता मिली है।

मगर इतिहासकारों को सिंधु घाटी की सभ्यता के इतिहास को ऐसे लिखने में जाने क्या परेशानी है, जबकि सच यही है।

मोहनजोदड़ो की खुदाई में सिर्फ स्तूप ही नहीं, बौद्ध विहार भी मिला था, जिसका विवरण स्वामी शंकरानंद ने " हिस्ट्री आफ मोहनजोदड़ो एण्ड हड़प्पा " में प्रस्तुत किया है। लिखा है कि राखालदास बंदोपाध्याय को 1922 - 23 के शरद मौसम में खुदाई करते एक बौद्ध विहार मिला। विहार का मुख पूरब की तरफ था। पूरबी भाग में दो बड़े सामान्य कक्ष, एक प्रवेश द्वार, गुफानुमा सुरंग, मूर्ति कक्ष एवं सीढ़ियाँ हैं। कुछ छोटे कक्षों का उपयोग भिक्खुओं के अवशेष रखने के लिए किया जाता है। कमरा सं. 22, 27 एवं 29 ऐसे ही कमरे हैं।
( संदर्भ: बौद्ध धर्म: हड़प्पा मोहनजोदड़ो नगरों का धर्म, पृ. 144 )

गुजरात स्थित धोलावीरा सिंधु घाटी सभ्यता का एक महत्वपूर्ण नगर है। यहाँ स्तूप मिले हैं। उनमें से एक पंजाब स्थित संघोल के धम्म चक्र स्तूप से मेल खाता है। ऐसे स्तूपों में आरे ( वृत में तिल्ली ) बने होते हैं। ( चित्र- 4 )

स्तूप का नाम सुनते ही दिमाग में एक अर्द्ध गोलाकार संरचना की तस्वीर उभरती है।

मगर हर जगह का स्तूप अर्द्ध गोलाकार नहीं है।स्तूप धम्म चक्क के आकार के भी हैं, जिनमें आठ आरे बने हुए हैं। धम्म चक्क में भी 8 आरे हैं।

एक दूसरे स्तूप में आरों की संख्या क्रमशः 12, 24 और 32 है। 24 और 32 की संख्या अशोक - चक्र की याद दिलाती है। अशोक - चक्र में भी 32 और 24 आरे हैं।

ऐसे स्तूप पंजाब के जिला फतेहगढ़ साहिब के गाँव संघोल में मिले हैं। कभी संघोल में भिक्षु संघ था। इसीलिए इसका नाम संघोल है। ( चित्र - 5 )

स्तूप की खुदाई 1968 में हुई थी। स्तूप से एक सोप पत्थर की मंजूषा मिली है।

मंजूषा के ढक्कन पर खरोष्ठी लिपि में एक बौद्ध स्काॅलर का नाम लिखा है। वह स्काॅलर भद्रक थे। उन्हीं का अस्थि - भस्म उस मंजूषा में है।

धोलावीरा का स्तूप संघोल के स्तूप से मेल खाता है।

सिंध साम्राज्य के अनेक नगरों में स्तूप मिले हैं। हड़प्पा में स्तूप मिला है, मोहनजोदड़ो में स्तूप मिला है और फिर धोलावीरा में भी स्तूप मिला है।

जाने क्यों, इतिहासकार बताते हैं कि ये स्तूप कुषाण काल के हैं। भाई, कुषाण काल तो बुद्ध की मूर्तियों के लिए जाना जाता है। यदि सिंधु घाटी सभ्यता के ये स्तूप कुषाणों ने बनवाए तो वे सिर्फ स्तूप ही क्यों बनवाते?

वे तो सिंधु घाटी की गली - गली में ... हर चौक - चौराहे पर बुद्ध की मूर्तियाँ बनवाते। वे तो गांधार कला के आविष्कारक थे और बुद्ध की मूर्तियों के लिए तो कुषाण राजे इतिहास में जाने जाते हैं।

यदि सिंध साम्राज्य के ये स्तूप कुषाण काल के हैं तो कुषाणों से करीब डेढ हजार साल पहले तो आपके अनुसार आर्य आए थे, जो सिंध साम्राज्य पर कब्जा किए। फिर वे सिंधु घाटी के डगर - डगर में मंदिर, अवतारों की मूर्तियाँ क्यों नहीं बनवाए?

मान लीजिए कि 1500 ई. पू. में आर्यों का आक्रमण हुआ और हड़प्पा - मुअनजोदड़ो नेस्तनाबूद हो गए। सिंध साम्राज्य जीत लिया गया और आर्य साम्राज्य स्थापित हो गया तो क्या सिंध साम्राज्य के ऊपरी लेयर पर आर्य साम्राज्य के निशान मिलते हैं?

क्या मंदिर मिलते हैं ? ... क्या संस्कृत मिलती है ? ... कोई वैदिक देवी - देवता मिलते हैं? ...क्या इंद्र वंश का शासन आया?... क्या वरूण वंश का राज आया?... नहीं।

6.

इतिहासकार मौर्य साम्राज्य पर शुंगों के कब्जे को ही आर्य आक्रमण बताते हैं और उसे पीछे खींचकर 1500 ई. पू. में ले जाते हैं क्योंकि इसके बाद धीरे- धीरे आर्य- सभ्यता के तमाम निशान मिलने लगते हैं ... संस्कृत ... यज्ञ ... मंदिर आदि- आदि।

वैदिक साहित्य में लिखित " दास " कौन है?

भारत और पश्चिम के अनेक इतिहासकारों ने " दास " की अनेक व्याख्याएँ की हैं। उस भूल - भुलैया में हमें नहीं पड़ना है।

दास मूल रूप से " बौद्ध " थे। साँची और भरहुत के स्तूपों पर अनेक दास तथा दासी उपाधिधारक बौद्धों के शिलालेख हैं, जिन्होंने स्तूप - निर्माण में मदद की थी।

अरहत दास थे ....अरहत दासी थीं ....यमी दास थे.... जख दासी थीं .....अनेक ...सभी के नाम लिखे हुए हैं।

साँची स्तूप पर थूप दास का वर्णन है। लिखा है - मोरगिरिह्मा थूपदासस दान थंभे। ( चित्र - 6 )

थूप दास मोरगिरि ( महाराष्ट्र ) के निवासी थे और भरहुत के एक स्तंभ - निर्माण में मदद की थी।

वैदिक साहित्य में वर्णित आर्यों का सांस्कृतिक संघर्ष इन्हीं बौद्ध दास - दासियों से हुआ था।

वैदिक साहित्य इन दास - दासियों के बारे में बताता है कि ये लोग यज्ञ नहीं करते और न ये इंद्र - वरुण की पूजा करते हैं...स्पष्ट है कि ये बौद्ध हैं।

प्राकृत भाषा में " दास " ( दसन ) का अर्थ द्रष्टा है। मगर आर्यों ने सांस्कृतिक दुश्मनी के कारण अपनी पुस्तकों में " दास " का अर्थ " गुलाम/ नौकर " कर लिए हैं।

दास और आर्यों का यह सांस्कृतिक संघर्ष 1500 ई.पू. में नहीं बल्कि मौर्य काल के बाद हुआ था।

सभी शिलालेख पढ़ जाइए। मौर्य काल तक किसी भी पुरुष और महिला के नाम में " दास / दासी " नहीं जुड़ा है।

दास/ दासी जुड़े नाम शिलालेखों में मौर्य काल के बाद दिखाई पड़ते हैं। साँची - भरहुत के स्तूपों पर पहली बार अनेक नाम दास / दासी से जुड़े दिखाई पड़ते हैं।

दास / दासी से जुड़े ये सभी नाम बौद्धों के हैं।

इन्हीं दास / दासियों से आर्यों का वैचारिक संघर्ष हुआ था, जो वेदों में लिखा हुआ है।

वेदों में लिखे आर्य - दास संघर्ष को हम कतई मौर्य काल से पहले नहीं ले जा सकते हैं। कारण कि मौर्य काल तक हमें दास/ दासी उपाधि धारक कोई नाम मिलता ही नहीं है।

वेद और वेदों में वर्णित यह सांस्कृतिक संघर्ष की गाथा मौर्य काल के बाद की है।

यहीं कारण है कि ऋग्वेद में भी स्तूपों के संदर्भ मिलते हैं और रामायण में चैत्यों के मिलते हैं।

यह तो बहुत बताया जाता है कि ऋग्वेद में गंगा का एक बार और यमुना का तीन बार वर्णन है, मगर यह बहुत कम बताया जाता है कि ऋग्वेद में स्तूप का वर्णन दो बार है।

संस्कृत का स्तूप मूल रूप से पालि थूप का बिगड़ा हुआ रूप है। पालि में थूप से अनेक शब्द बनते हैं जैसे थूप, थूपिका, थूपीकत, थूपारह आदि।

मगर संस्कृत में स्तूप से अनेक शब्द नहीं बनेंगे। कारण कि स्तूप संस्कृत के लिए बाहरी शब्द है। किसी भी भाषा में अमूमन बाहरी शब्द बाँझ होते हैं। उनमें शब्दों को जनने की क्षमता नहीं होती है।

संस्कृत के लिए स्तूप बाँझ शब्द है। इसीलिए संस्कृत का स्तूप पालि थूप का रूपांतरण है और वे भाष्यकार जो ऋग्वेद में प्राप्त स्तूप की व्याख्या किसी अन्य अर्थ में करते हैं, वे गलत हैं।

"स्तूप ....बुध्न एषामस्मे अन्तर्निहिताः"
अर्थात इसमें बुद्ध अन्तर्निहित हैं।

यह ऋग्वेद के प्रथम मंडल, सूक्त 24, छठवाँ अनुवाक का श्लोक संख्या 7 है। इसमें राजा वरुण को अबौद्ध (अबुध्ने) राजा भी कहा गया है। पूरा का पूरा अर्थ एक दूसरे से जुड़ा हुआ है।

सायण भाष्य में अर्थ कुछ भिन्न है।

"अबुध्ने राजा वरुणो वनस्योर्ध्वं स्तूपं ददते पूतदक्षः नीचीना स्थुरुपरि बुध्न एषामस्मे अन्तर्निहिताः केतवः स्युः॥७॥" ( चित्र - 7)

अर्थात पवित्र पराक्रम युक्त राजा वरुण (सबको आच्छादित करने वाले) दिव्य तेज पुञ्ज सूर्यदेव को आधाररहित आकाश में धारण करते हैं। इस तेज पुञ्ज सूर्यदेव का मुख नीचे की ओर और मूल ऊपर की ओर है। इससे मध्य में दिव्य किरणें विस्तीर्ण होती चलती हैं।

परन्तु यह अर्थ जो सायण भाष्य पर आधारित है, गलत है। लगभग सभी अनुवादकों ने ऐसा ही अर्थ किया है। अर्थ करते वक्त संदर्भ को देखना जरूरी होता है। जैसा कि उपरोक्त से स्वतः स्पष्ट है कि वरुण राजा की उपाधि अबुध्ने है। मतलब कि वरुण बौद्ध विरोधी राजा थे। आगे स्तूप को उलटने की बात है।

अशोक द्वारा 84000 स्तूप बनाए जाने का जिक्र फाहियान ने अपने यात्रा - विवरण के 27 वें खंड में किए हैं।

साँची एवं भरहुत स्तूपों का निर्माण मूल रूप से अशोक ने ही कराया था। ह्वेनसांग ने अशोक द्वारा निर्मित अनेक स्तूपों का उल्लेख किया है, जिन्हें उसने खुद देखा था।

सारनाथ तथा तक्षशिला स्थित धर्मराजिका स्तूप का निर्माण भी मूलतः अशोक के समय में ही कराया गया था। बाद के शासकों ने उन्हें परिवर्धित करवाए।

मीनाण्डर यवन थे। विदेशी थे। लेकिन धम्म की राह चुनी थी। बुतकारा स्तूप के पहले लेयर को अशोक ने बनवाए थे तो दूसरे को मीनाण्डर ने बनवाए थे। दूसरे लेयर से मीनाण्डर का सिक्का मिला है।

मीनाण्डर बड़े दार्शनिक थे...इंडो -यूनानी इतिहास में दूजा नहीं हुआ।

सो वे बड़े न्यायप्रिय थे। न्यायप्रियता ने इन्हें जनता में बड़ी शोहरत दिलाई थी।

एक दिन एक शिविर में अचानक इनकी मृत्यु हुई।

प्लूटार्क ने लिखा है कि मीनाण्डर के भस्म को लेकर जनता में झगड़े उठ खड़े हुए ....क्योंकि वे इतना जनप्रिय थे कि लोग उनके भस्म पर अलग - अलग स्तूप बनाना चाहते थे।

भारत के इतिहास में बुद्ध के बाद मीनाण्डर, मीनाण्डर के बाद कबीर और कबीर के बाद नानक का नाम आता है, जिनके मृत शरीर को भी अपनाने के लिए जनता व्याकुल थी।

क्षेमेन्द्र रचित अवदानकल्पलता से पता चलता है कि मीनाण्डर ने अनेक स्तूपों का निर्माण कराया था।

सम्राट अशोक के बाद पश्चिमोत्तर तथा उत्तरी भारत में सर्वाधिक स्तूप बनवाने का श्रेय कनिष्क को है।

उन्होंने विभिन्न स्थानों पर अनेक स्तूप बनवाए। पेशावर के निकट कनिष्क ने एक बड़ा स्तूप बनवाए थे, जिसमें बुद्ध के अवशेष रखे गए थे। एक अभिलेख से ज्ञात होता है कि इसे एक यूनानी इंजीनियर अगिलस ने बनाया था।

जाहिर है कि यूनानी अभियंताओं ने यूनानी तकनीक का प्रयोग किया। यहीं ग्रीको - बुद्धिस्ट कला है, जिससे स्तूप - निर्माण भी अछूता नहीं रहा।

गंधार क्षेत्र के स्तूपों का वास्तु - विन्यास मध्य भारतीय स्तूपों जैसा नहीं है। गंधार स्तूप काफी ऊँचे हैं, चढ़ने के लिए सीढ़ियाँ हैं और संपूर्ण स्तूप एक बुर्ज जैसा दिखाई देता है।

कनिष्क के पुरुषपुर स्थित 400 फीट ऊँचा स्तूप का विवरण फाहियान तथा ह्वेनसांग दोनों ने दिए हैं। फाहियान ने लिखा है कि उसने जितने भी स्तूप देखे थे, उनमें यह सर्वाधिक प्रभावशाली है।

तक्षशिला स्थित धर्मराजिका स्तूप का निर्माण अशोक के समय में हुआ, किंतु कनिष्क के समय में आकारवर्धन हुआ। ऊँचे चबूतरे पर निर्मित यह स्तूप गोलाकार है। चारों दिशाओं में चार सीढ़ियाँ हैं। ( चित्र - 8 )

कनिष्क के काल में बल्ख तथा खोतान तक अनेक स्तूप निर्मित करवाए गए थे। मनिक्याल क्षेत्र में कई स्तूप बने थे। मनिक्याल, रावलपिंडी से 20 मील की दूरी पर है। यहाँ से प्राप्त एक अभिलेख से पता चलता है कि कनिष्क के 18 वें वर्ष में इन स्तूपों को बनवाया गया था।

सिर्फ बुद्ध के अवशेषों पर ही नहीं बल्कि कनिष्क ने बौद्ध साहित्य की टीकाओं को भी ताम्रपत्र पर उत्कीर्ण करा कर विशेष रूप से निर्मित एक स्तूप में सुरक्षित रखवाया था। ह्वेनसांग ने इस पर विस्तार से लिखा है।

स्तूप- निर्माण की परंपरा अशोक और कनिष्क के बाद हर्षवर्धन के शासन-काल में सर्वाधिक समृद्ध हुई।

सम्राट हर्षवर्धन ने विक्रमादित्य की नहीं बल्कि शीलादित्य की उपाधि धारण की थी। शीलादित्य वह है, जिसे विक्रम ( बल ) से अधिक शील पसंद हो।

वहीं शील जिसे बुद्ध ने अपनी देशना में प्रमुख स्थान दिया था।

वो शिलादित्य ऐसे शीलवान निकले कि हर 5 वें वर्ष अपना संपूर्ण खजाना गरीबों- असहायों को दान कर देते थे।

ह्वेनसांग ने लिखा है कि उन्होंने गंगा के किनारों पर कई हजार स्तूप सौ - सौ फीट ऊँचे बनवाए।

सब स्थानों पर जहाँ - जहाँ गौतम बुद्ध के कुछ भी चिह्न थे, संघाराम स्थापित किए।

इतिहास से सवाल है कि आखिर शीलादित्य के बनवाए हजारों स्तूप और संघाराम कहाँ गए?

ह्वेनसांग ने पूर्वी भारत में अशोक द्वारा निर्मित ताम्रलिप्ति, कर्णसुवर्ण, समतट और पुण्ड्रवर्धन में स्तूपों का उल्लेख किया है। महास्थानगढ़ अभिलेख से भी यह पुष्ट होता है। बाद के पाल शासकों ने पूर्वी भारत में बौद्ध धर्म का संरक्षण प्रदान किए।

पश्चिम बंगाल, झारखंड और बिहार में पाल कालीन अनेक स्तूपों के अवशेष मिलते हैं।

पाल वंश के बड़े राजाओं में देवपाल ( 810 - 850 ) शुमार हैं। उत्साही बौद्ध थे। 40 बरसों का शासन था। सुजाता स्तूप का आखिरी पुनर्निर्माण इन्होंने ने ही कराए थे। वहाँ के उत्खनन से प्राप्त एक अभिलेख से इसकी पुष्टि होती है। ( चित्र - 9 )

पश्चिमोत्तर और उत्तरी भारत में स्तूप - निर्माण की जो परंपरा सिंधु घाटी सभ्यता से चली थी, वह पाल कालीन पूर्वी भारत में 12 वीं सदी तक अनवरत चलती रही।

7.

बौद्ध सभ्यता के प्रचार - प्रसार का जो काम उत्तर के मौर्यों ने किया, वही काम दक्षिण में सातवाहनों ने किया।

अशोक के सभी अभिलेख प्राकृत में हैं तो सातवाहनों के भी सभी अभिलेख प्राकृत में हैं।

उत्तर में मौर्य काल तक संस्कृत के अभिलेख नहीं मिलते हैं तो दक्षिण में भी सातवाहन काल तक संस्कृत के अभिलेख नहीं मिलते हैं।

मौर्यों ने अनेक स्तूप, चैत्य और विहार बनवाए तो सातवाहनों ने भी अनेक स्तूप, चैत्य और विहार बनवाए।

अमरावती, गोली, जगय्यपेटा, घंटसाल, भट्टीप्रोलु, नागार्जुन कोंडा जैसे स्थानों के स्तूप इन्हीं सातवाहनों के हैं। ( चित्र- 10 )

बौद्ध स्थलों में से पूर्वोत्तर भारत स्थित बौद्ध स्मारकों का जिक्र कम होता है। हिंदी इतिहासों में इसका उल्लेख नगण्य है।

त्रिपुरा के सेपहीजाला जिले में बोक्सानगर है। बोक्सानगर का प्राचीन नाम अभिलेखों के आधार पर बिराक बताया जाता है। यह एक विराट बौद्ध स्थल है।

इस विराट बौद्ध स्थल को खुदाई से पहले मानसा का स्मारक कहा जाता था। मानसा सर्पों की देवी हैं। साल 1997 के जुलाई महीने में पुरातत्वविद डाॅ. जीतेन्द्र दास यहाँ आए। उन्हें यहाँ गौतम बुद्ध की मूर्ति मिली। वे अनुमान कर लिए कि बोक्सानगर बौद्ध स्थल है और इसकी सूचना उन्होंने पुरातत्व विभाग को दे दी।

पुरातत्व विभाग ने 2001 से 2004 तक बोक्सानगर की खुदाई की। खुदाई में विशाल बौद्ध स्तूप, चैत्यगृह, बौद्ध विहार, बुद्ध की कांस्य मूर्तियाँ, ब्राह्मी अभिलेखित सील तथा अन्य बौद्ध अवशेष मिले। ( चित्र - 11)

स्तूप विशाल और शानदार है। चैत्यगृह आयताकार और स्तूप के पूरब दिशा में है। चैत्यगृह से पूरब बौद्ध विहार है। बौद्ध विहार का गलियारा काफी लंबा है। गलियारा के दोनों ओर भिक्षुओं के लिए कमरे बने हैं।

दक्षिण त्रिपुरा में पिलक है। पिलक का प्राचीन नाम पिरोक बताया जाता है। पिलक की पहचान भी बौद्ध स्थल के रूप में हुई है। पिलक के उत्खनन से भी बौद्ध स्तूप और बुद्ध की अनेक मूर्तियाँ प्राप्त हुई हैं।

पूर्वोत्तर भारत कभी बौद्ध सभ्यता के प्रभाव में था।

न केवल संपूर्ण भारत में बल्कि भारत के बाहर भी स्तूप बनाए जाने की समृद्ध परंपरा रही है prof Dr Rajendra Prasad Singh

user image Arvind Swaroop Kushwaha - 26 Jun 2020 at 5:21 AM -

रोचक तथ्य

जॉर्जिया - एक छोटा सा देश है जो की यूरोप और एशिया को जोड़ता है।
जब तक हवाई यात्रा शुरू नहीं हुई थी तब तक जमीनी स्थानांतरण के हिसाब और भौगोलिक रूप से इस देश को एशिया का प्रवेश द्वार कहा जाता था.
मतलब ... अगर आपको एशिया से यूरोप में ,, या यूरोप से एशिया में प्रवेश करना हो तो आपको जॉर्जिया के रास्ते ही जाना पडेगा।
तो ज़ाहिर है की 18 वि शताब्दी तक अक्रान्ताओ का जॉर्जिया की भूमि से आना जाना लगातार बना रहा , और चूँकि ये एक बंजारों किसानो का देश था और यहाँ के लोग शांतिप्रिय थे। तो इस देश को अकल्पनीय तरीके से लूटा गया।
जॉर्जिया अपने सम्पूर्ण इतिहास में लगभग 25 बार पूरी तरह तबाह किया किया और हर बार दोबारा बस गया।
अपने इतने दर्दनाक अतीत के बाद आज भी जॉर्जिया की संस्कृति फल फूल रही है , तरक्की पर है।

पापुआ न्यू गिनी - ये देश हमारे हरयाणा से भी छोटा है , और यहाँ पर 300 से अधिक भाषाएँ हैं।

आयरलैंड - इस देश का राष्ट्रीय खेल " हर्लिंग " हैं , जो लगभग भारतीय हॉकी और हैंडबाल का मिश्रित रूप है। हर्लिंग खेल दुनिया का अब तक ज्ञात सबसे पुराना " ग्राउण्ड" खेल है।

फारस ( ईरान ) - दुनिया की सबसे पुरानी सभ्यताओं में से एक है। ईरानी लोगो ही ने सबसे पहले अग्नि की पूजा शुरू करि थी और आज भी ये लोग अग्नि को पूजतें हैं।
ईरानी लोगो की ख़ास बात ये है की ये लोग संस्कारो में तो फ़ारसी हैं ,लेकिन धार्मिक रूप से मुसलमान हैं। इसलिए मुसलमान होते हुए भी ये अपनी सांस्कृतिक पहचान से अलग नहीं हो पाए।

बांग्लादेश और गुयाना - इन दो देशो में भारत के बाद सबसे ज्यादा हिन्दू रहतें हैं

आप थोड़ा खोजेंगे तो दुनिया की तमाम सभ्यताओं और देशो के बारे में आपको अद्भुत जानकारी मिलेंगी।
ये थोड़े से उद्दाहरण आपको इसलिए दिए की हमें फासीवादी संगठनों के मिथ्या प्रचार का वैज्ञानिक रूप से विश्लेषण करना चाहिए।
फासिस्ट लोगो के प्रचार की सबसे ख़ास बात ये होती है की वो देश के इतिहास को और उसकी संस्कृति को सर्वश्रेष्ठ घोषित करके उसे वर्तमान में खतरें में बतातें हैं।
निश्चित रूप से हमारे देश की संस्कृति दुनिया की सबसे पुरानी और विशाल विलक्षण संस्कृतियों में से एक ,हैं लेकिन इसका मतलब ये नहीं की बाकी सब बर्बाद और बेकार हैं।
इसका मतलब ये भी नहीं की हम लोग बर्बाद हो जाएंगे या मिट जाएंगे।

इन लोगो की ख़ास बात होती है की ये आपको ऐसे ऐसे एक्साम्प्ल देंगे की आप यकीन करने लगोगे की वाकई हिन्दू सभ्यता खतरे में हैं।
ये आपको अफगानिस्तान , पकिस्तान के एक्साम्प्ल देकर बोलेंगे की देखो जैसे हिन्दू यहाँ विलुप्त हो गए वैसे ही अब बंगाल केरल से भी हो जायँगे।
ये आपको अखंड भारत का नक्शा दिखाकर कंफ्यूज करेंगे , ये आपको आंकड़े देंगे की 1947 में पकिस्तान में २३ प्रतिशत हिन्दू थे और अब बस ०.३ प्रतिशत रह गएँ हैं।
ये आपको जनसंख्या के ऐसे समीकरण बताएँगे की आपको लगेगा की बस अब 40 -50 साल में हिन्दू सभ्यता ख़तम हो जायेगी आदि आदि।
लेकिन आप तसल्ली से इन सब कुतर्कों का वैज्ञानिक रेशनल अध्यन करें तो आपको पता चलेगा की ये लोग ऐसी बातें 1947 से ही बोलते चलें आ रहें हैं। १९४७ में हिन्दू 30 करोड़ थे और आज मोटा मोटा 100 करोड़ से ज्यादा हैं।

25 बार पूरी तरह तबाह होने के बावजूद जॉर्जियन संस्कृति और जॉर्जिया आज भी फल फूल रहा है।
तमाम ब्रितानी जुल्मो गारत के बाद आज भी 60 लाख जनसंख्या का आयरलैंड तरक्की कर रहा है।
300 साल स्पेनिश राज के बावजूद फिलीपींस की संस्कृति अडिग है।

तो हम सौ करोड़ हिन्दू और दुनिया का 7वां सबसे बड़ा देश कैसे ख़तम हो जाएगा ? ये सोचने वाली बात है।

user image Arvind Swaroop Kushwaha - 01 Jun 2020 at 6:14 PM -

central list of obc

CENTRAL LIST OF OBCs FOR THE STATE OF UTTAR PRADESH
1. Ahir, Yadav
2. Arakh, Arakvanshiya
3. Kachhi, Kachhi-Kushwaha, Shakya
4. Kahar, Tanwar, Singhariya
5. Kewat or Mallah
6. Kisan
7. Koeri, Koiri
8. Kumhar, Prajapati
9. Kurmi, Kurmi-Sainthwar/Kurmi-Mall, Kurmi- Patanwar
10. Kasgar
11. Kunjra or Rayeen
12. Gosain
13. Gujar
14. Gaderia
15. Gaddi, Ghosi
16. Giri
17. Chikwa ... Qassab, (Qureshi), Kasai/ Qassai, Chak,
18. Chhipi, Chhipe
19. Jogi
20. Jhoja
21. Dafali
22. Tamoli, Barai, Chaurasia
23. Teli, Samani, Rogangar, Teli Malik (Muslim), Teli Sahu, Teli Rathore
24. Darzi
25. Dhivar , Dhiver
26. Naqqal
27. Nat (excluding those who are included in Scheduled Castes)
28. Nayak
29. Faqir
30. Banjara, Mukeri, Ranki, Mekrani
31. Barhai, Badhai, Viswakarma, Ramgarhia
32. Bari
33. Bairagi
34. Bind
35. Biyar
36. Bhar
37. Bhurji, Bharbhuja, Bharbhunja, Bhooj, Kandu
38. Bhathiara 12011/68/93-BCC(C) dt. 10/09/1993
39. Mali, Saini, Baghban
40. Manihar, Kacher, Lakher, Lakhera (excluding Lakhera sub-caste of Brahmans in Tehri Garhwal region), Churihar
41. Murao or Murai, Maurya
42. Momin (Ansar, Ansari), Julah
43. Mirasi
44. Muslim Kayastha
45. Naddaf (Dhunia), Dhunia, Mansoori, Behna, Kandere, Kadere, Pinjara
46. Marchha
47. Rangrez, Rangwa
48. Lodh, Lodha, Lodhi, Lodhi-Rajput
49. Lohar, Luhar, Saifi
50. Lonia, Noniya, Luniya, Gole Thakur, Nunere
51. Sonar, Sunar
52. Halwai
53.Hajjam (Nai), Salmani, Nai, Sain (Nai)
54. Halalkhor, Hela, Lalbegi (other than those who are included in the list of Scheduled Castes)
55. Dhobi(other than those who are already included in the list of Scheduled Castes for UP)
56. Mewati, Meo
57. Saqqa-Bhisti, Bhisti-Abbassi
58. Koshta/Koshti
59. Khumra, Sangtarash, Hansiri
60. Patwa, Patua, Pathar (excluding Agarwala, Deobansi, Kharewal or Khandelwal who are sub-caste of Baniya and Kharwar who claim to the rank of Rajput) Tatwa
61. Atishbaz, Darugar
62. Madari
63. Nalband, Sais
64. Bhand 12011/88/98-BCC dt. 06/12/1999
65. Mochi (excluding those who are included in the List of SC of Uttar Pradesh)
66. Raj (Memar)
67. Sheikh Sarvari (Pirai), Peerahi
68. Aheria/ Aheriya
69. Bot (does not include ‘Bhotia’ who are already in the list of ST in UP)
70. Kuthaliya Bora (belonging to Almora, Pithoragarh, Bageswar and Nainital Districts)
71. Kalal, Kalwar, Kalar
72. Dohar
73. Kasera, Thathera, Tamrakar Kalaikar
74. Rai Sikh (Mahatam) 12011/44/99-BCC dt. 21/09/2000
75. Unai Sahu
76. Gada

user image Arvind Swaroop Kushwaha - 31 May 2020 at 7:33 PM -

रानी अहिल्या बाई होल्कर

आज पाल धनगर गड़ेरिया समाज के बहुत ही साधारण परिवार में जन्मी महान विभूति अहिल्याबाई होल्कर का जन्मदिन है । उनका बाल्यकाल से लेकर सम्पूर्ण जीवन इस देश में साधारण सामाजिक और पारिवारिक परिस्थितियों में पैदा हुई महिलाओं के लिए एक प्रेरणास्रोत और एक ... प्रकाशपुंज हैं।
ऐसी महान विभूति को कोटि कोटि नमन के साथ सभी देशवासियों को जन्मदिन की हार्दिक शुभकामना।

31 मई सन् 1725 को जन्मी अहिल्याबाई होल्कर 40 साल की उम्र में मालवा राज्य की रानी बनी ।उन्होंने 30 वर्ष तक मालवा देश को बहुत ही उत्तम यादगार सुशासन दिया ।
उनका जीवन बहुत ही क्रांतिकारी था ।एक छोटे से गाँव में साधारण परिवार में जन्मी अहिल्याबाई असाधारण प्रतिभा की धनी थी ।ये तीक्ष्ण बुद्धि, अद्भुत साहस और करुणा पूरित व्यक्तित्व की शुरू से ही धनी थी।
अठाईस साल के युवावस्था में पति की मृत्यु हो गई। उस समय जहाँ विधवा होने पर सती होने की प्रथा राज घरानों में थी , अहिल्या बाई होलकर ने उस प्रथा के विरुद्ध जाकर अपने ससुर के साथ राजकार्य में हाथ बँटाने का निर्णय लिया। जहाँ पेशवा राज्य में महिलाओं की स्थिति मात्र हरम की शोभा बढ़ाना था ,वहाँ अहिल्याबाई होलकर ने राजकाज में सक्रिय भूमिका निभाई और अपने ससुर की मृत्यु के पश्चात 40 वर्ष की अवस्था में मालवा राज्य की महारानी बनी।
मालवा राज्य के शासन की बागडोर को एक विधवा महिला द्वारा संभालना वास्तव में उस समय के परंपरा के दृष्टिगत बहुत ही क्रांतिकारी और साहसिक निर्णय था।

अहिल्याबाई होल्कर जहाँ एक ओर मानवीय संवेदना से ओत प्रोत एक कुशल प्रशासक, कुशल संगठनकर्ता और दयालु प्रजापालक थीं ,वहीं दूसरी ओर एक कुशल योद्धा भी थीं । उन्होंने अपना सेनापति तुको जी होलकर को बनाया और स्वयं युद्ध के दौरान सेना का नेतृत्व किया।
उस समय एक महिला का राज्य का मुखिया होना, खुलकर युद्ध का नेतृत्व करना और राज्य में प्रजा के बीच जाकर उनके सुख दुःख में भागीदारी करना निश्चित रूप से एक महिला के लिए बहुत क्रांतिकारी जीवन निर्णय था। तमाम ब्रितानी इतिहासकारों ने और उनके समकालीन ब्रितानी लेखकों ने भी उन्हें एक संत शासक या दार्शनिक शासक की संज्ञा दी है । बहुत बिरले ही शासक उस समय के होंगे ,जिन्हें प्रजा के सुख और समृद्धि में प्रसन्नता मिलती हो, अन्यथा ज़्यादातर शासक अपने बीच किसी भी प्रजा को कम से कम समृद्ध तो नहीं ही देख सकते थे। मालवा राज्य में उनके शासन का यह काल खंड शोषण उत्पीड़न से मुक्त शांति ,विकास और प्रजा के सुख और कल्याण के युग के रूप में इतिहास के पन्नों में दर्ज है।
राजतंत्र में ऐसे सह्रृदय, ईमानदार ,दयालु और अपने राज्य में सुख ,समृद्धि और विकास का कार्य करने वाले राजे महाराजे इस काल में बिरले ही हुए हैं ।उनके बीच अहिल्याबाई होल्कर का नाम प्रकाशपुंज की भाँति है।


user image Arvind Swaroop Kushwaha - 30 May 2020 at 9:36 AM -

GK

When we are no longer able to change a situation, we are challenged to change ourselves.


Humans shed 40 pounds of skin in their lifetime, completely replacing their outer skin every month.

user image Arvind Swaroop Kushwaha - 23 May 2020 at 8:04 AM -

आरोग्य सेतु

मैं एक ग्रामीण क्षेत्र में रहता हूँ। यहां 1 किमी दायरे में लगभग 600 आरोग्य सेतु उपयोगकर्ता दिखा करते थे। 22 मई की शाम से यहां 30 से 40 उपयोगकर्ता दिख रहे हैं। संभवतः ज़ी न्यूज़ की घटना के कारण ही यह हाल हुआ है।

कल ... मैंने ऑफिस आये प्रत्येक व्यक्ति का आरोग्य सेतु अप्प का स्टेटस चेक किया। दो लोगों को स्वमूल्यांकन भी करवाया।

लोग स्वमूल्यांकन करेंगे नहीं। सही बात बताएंगे नहीं। तो आरोग्य सेतु कोई टेस्टिंग किट तो है नहीं कि अपने आप सबकुछ पता लगा लेगा।
अपने आप तो वह आपकी लोकेशन ही पता लगा सकता है। वह भी तब जब आप gps ऑन रखेंगे।

कृपया राष्ट्र हित में आरोग्य सेतु न सिर्फ इंस्टाल करें बल्कि प्रत्येक दिन ईमानदारी से स्वमूल्यांकन भी करें।

बहुत से लोगों को स्वमूल्यांकन करना नहीं आता, अतः ऐसे लोगों को स्वमूल्यांकन करने में हेल्प भी करें।

हमारे कहने से न करें तो pm मोदी जी के कहने के कारण करें। लेकिन करें जरूर

user image Arvind Swaroop Kushwaha - 21 May 2020 at 7:33 AM -

population analysis

Human Population Growth:

The world population is the total number of living humans on the planet Earth, currently estimated to be 6.94 billion by the United States Census Bureau as of July 1, 2011. The world population has experienced continuous growth since the end of the ... Bubonic Plague, Great Famine and Hundred Years Wars in 1350, when it was about 300 million. The highest rates of growth—increases above 1.8% per year—were seen briefly during the 1950s, for a longer period during the 1960s and 1970s; the growth rate peaked at 2.2% in 1963, and declined to 1.1% by 2009. Annual births have reduced to 140 million since their peak at 173 million in the late 1990s, and are expected to remain constant, while deaths number 57 million per year and are expected to increase to 80 million per year by 2040. Current projections show a continued increase of population (but a steady decline in the population growth rate) with the population to reach between 7.5 and 10.5 billion by the year 2050.

Largest populations by country:

1 People's Republic of China - 1,345,740,000 - August 16, 2011 - 19.4% - Chinese Official Population Clock
2 India - 1,210,193,422 - March 2011 - 17% - Census of India Organisation
3 United States - 311,996,000 - August 16, 2011 - 4.5% - United States Official Population Clock
4 Indonesia - 238,400,000 - May 2010 - 3.38% - SuluhNusantara Indonesia Census report
5 Brazil - 195,097,000 - February 16, 2011 - 2.81% - Brazilian Official Population Clock
6 Pakistan - 176,941,000 - August 16, 2011 - 2.55% - Official Pakistani Population Clock
7 Nigeria - 158,259,000 - 2010 - 2.28% - 2008 UN estimate for year 2010
8 Bangladesh - 142,325,250 - 2010 - 2.37% - 2008 UN estimate for year 2010
9 Russia - 141,927,297 - January 1, 2010 - 2.05% - Federal State Statistics Service of Russia
10 Japan - 127,380,000 - June 1, 2010 - 1.84% - Official Japan Statistics Bureau

user image Arvind Swaroop Kushwaha - 16 May 2020 at 6:20 AM -

अपनी अपनी बीमारी (व्यंग्य): हरिशंकर परसाई

 

HApni Apni Bimari: Harishankar Parsai

अपनी अपनी बीमारी (व्यंग्य): हरिशंकर परसाई

हम उनके पास चंदा माँगने गए थे। चंदे के पुराने अभ्यासी का चेहरा बोलता है। वे हमें भाँप गए। हम भी उन्हें भाँप गए। चंदा माँगनेवाले और देनेवाले एक-दूसरे के शरीर की गंध बखूबी पहचानते हैं। ... लेनेवाला गंध से जान लेता है कि यह देगा या नहीं। देनेवाला भी माँगनेवाले के शरीर की गंध से समझ लेता है कि यह बिना लिए टल जाएगा या नहीं। हमें बैठते ही समझ में आ गया कि ये नहीं देंगे। वे भी शायद समझ गए कि ये टल जाएँगे। फिर भी हम दोनों पक्षों को अपना कर्तव्य तो निभाना ही था। हमने प्रार्थना की तो वे बोले - आपको चंदे की पड़ी है, हम तो टैक्सों के मारे मर रहे हैं। सोचा, यह टैक्स की बीमारी कैसी होती है। बीमारियाँ बहुत देखी हैं - निमोनिया, कालरा, कैंसर; जिनसे लोग मरते हैं। मगर यह टैक्स की कैसी बीमारी है जिससे वे मर रहे थे! वे पूरी तरह से स्वस्थ और प्रसन्न थे। तो क्या इस बीमारी में मजा आता है ? यह अच्छी लगती है जिससे बीमार तगड़ा हो जाता है। इस बीमारी से मरने में कैसा लगता होगा ?

अजीब रोग है यह। चिकित्सा-विज्ञान में इसका कोई इलाज नहीं है। बड़े से बड़े डॉक्टर को दिखाइए और कहिए - यह आदमी टैक्स से मर रहा है। इसके प्राण बचा लीजिए। वह कहेगा - इसका हमारे पास कोई इलाज नहीं है। लेकिन इसके भी इलाज करनेवाले होते हैं, मगर वे एलोपैथी या होमियोपैथी पढ़े नहीं होते। इसकी चिकित्सा पद्धति अलग है। इस देश में कुछ लोग टैक्स की बीमारी से मरते हैं और काफी लोग भुखमरी से।

टैक्स की बीमारी की विशेषता यह है कि जिसे लग जाए वह कहता है - हाय, हम टैक्स से मर रहे हैं। और जिसे न लगे वह कहता है - हाय, हमें टैक्स की बीमारी ही नहीं लगती। कितने लोग हैं कि जिनकी महत्त्वाकांक्षा होती है कि टैक्स की बीमारी से मरें, पर मर जाते हैं निमोनिया से। हमें उन पर दया आई। सोचा, कहें कि प्रापर्टी समेत यह बीमारी हमें दे दीजिए। पर वे नहीं देते। यह कमबख्त बीमारी ही ऐसी है कि जिसे लग जाए, उसे प्यारी हो जाती है।

मुझे उनसे ईर्ष्या हुई। मैं उन जैसा ही बीमार होना चाहता हूँ। उनकी तरह ही मरना चाहता हूँ। कितना अच्छा होता अगर शोक-समाचार यों छपता - बड़ी प्रसन्नता की बात है कि हिंदी के व्यंग्य लेखक हरिशंकर परसाई टैक्स की बीमारी से मर गए। वे हिंदी के प्रथम लेखक हैं जो इस बीमारी से मरे। इस घटना से समस्त हिंदी संसार गौरवान्वित है। आशा है आगे भी लेखक इसी बीमारी से मरेंगे ! मगर अपने भाग्य में यह कहाँ ? अपने भाग्य में तो टुच्ची बीमारियों से मरना लिखा है।

उनका दुख देखकर मैं सोचता हूँ, दुख भी कैसे-कैसे होते हैं। अपना-अपना दुख अलग होता है। उनका दुख था कि टैक्स मारे डाल रहे हैं। अपना दुख है कि प्रापर्टी नहीं है जिससे अपने को भी टैक्स से मरने का सौभाग्य प्राप्त हो। हम कुल 50 रु. चंदा न मिलने के दुख में मरे जा रहे थे।

मेरे पास एक आदमी आता था, जो दूसरों की बेईमानी की बीमारी से मरा जाता था। अपनी बेईमानी प्राणघातक नहीं होती, बल्कि संयम से साधी जाए तो स्वास्थ्यवर्द्धक होती है। कई पतिव्रताएँ दूसरी औरतों के कुलटापन की बीमारी से परेशान रहती हैं। वह आदर्श प्रेमी आदमी था। गांधीजी के नाम से चलनेवाले किसी प्रतिष्ठान में काम करता था। मेरे पास घंटो बैठता और बताता कि वहाँ कैसी बेईमानी चल रही है। कहता, युवावस्था में मैंने अपने को समर्पित कर दिया था। किस आशा से इस संस्था में गया और क्या देख रहा हूँ। मैंने कहा - भैया, युवावस्था में जिनने समर्पित कर दिया वे सब रो रहे हैं। फिर तुम आदर्श लेकर गए ही क्यों ? गांधीजी दुकान खोलने का आदेश तो मरते-मरते दे नहीं गए थे। मैं समझ गया, उसके कष्ट को। गांधीजी का नाम प्रतिष्ठान में जुड़ा होने के कारण वह बेईमानी नहीं कर पाता था और दूसरों की बेईमानी से बीमार था। अगर प्रतिष्ठान का नाम कुछ और हो जाता तो वह भी औरों जैसा करता और स्वस्थ रहता। मगर गांधीजी ने उसकी जिंदगी बरबाद की थी। गांधीजी विनोबा जैसों की जिंदगी बरबाद कर गए। बड़े-बड़े दुख हैं ! मैं बैठा हूँ। मेरे साथ 2-3 बंधु बैठे हैं। मैं दुखी हूँ। मेरा दुख यह है कि मुझे बिजली का 40 रु. का बिल जमा करना है और मेरे पास इतने रुपए नहीं हैं।

तभी एक बंधु अपना दुख बताने लगता है। उसने 8 कमरों का मकान बनाने की योजना बनाई थी। 6 कमरे बन चुके हैं। 2 के लिए पैसे की तंगी आ गई है। वह बहुत-बहुत दुखी है। वह अपने दुख का वर्णन करता है। मैं प्रभावित नहीं होता। मगर उसका दुख कितना विकट है कि मकान को 6 कमरों का नहीं रख सकता। मुझे उसके दुख से दुखी होना चाहिए, पर नहीं हो पाता। मेरे मन में बिजली के बिल के 40 रु. का खटका लगा है।

दूसरे बंधु पुस्तक-विक्रेता हैं। पिछले साल 50 हजार की किताबें पुस्तकालयों को बेची थीं। इस साल 40 हजार की बिकीं। कहते हैं - बड़ी मुश्किल है। सिर्फ 40 हजार की किताबें इस साल बिकीं। ऐसे में कैसे चलेगा ? वे चाहते हैं, मैं दुखी हो जाऊँ, पर मैं नहीं होता। इनके पास मैंने अपनी 100 किताबें रख दी थीं। वे बिक गईं। मगर जब मैं पैसे माँगता हूँ, तो वे ऐसे हँसने लगते हैं जैसे मैं हास्यरस पैदा कर रहा हूँ। बड़ी मुसीबत है व्यंग्यकार की। वह अपने पैसे माँगे, तो उसे भी व्यंग्य-विनोद में शामिल कर लिया जाता है। मैं उनके दुख से दुखी नहीं होता।

मेरे मन में बिजली कटने का खटका लगा हुआ है। तीसरे बंधु की रोटरी मशीन आ गई। अब मोनो मशीन आने में कठिनाई आ गई है। वे दुखी हैं। मैं फिर दुखी नहीं होता। अंतत: मुझे लगता है कि अपने बिजली के बिल को भूलकर मुझे इन सबके दुख में दुखी हो जाना चाहिए। मैं दुखी हो जाता हूँ। कहता हूँ - क्या ट्रेजडी है मनुष्य-जीवन की कि मकान कुल 6 कमरों का रह जाता है। और कैसी निर्दय यह दुनिया है कि सिर्फ 40 हजार की किताबें खरीदती है। कैसा बुरा वक्त आ गया है कि मोनो मशीन ही नहीं आ रही है।

वे तीनों प्रसन्न हैं कि मैं उनके दुःखों से आखिर दुखी हो ही गया।
तरह-तरह के संघर्ष में तरह-तरह के दुख हैं। एक जीवित रहने का संघर्ष है और एक संपन्नता का संघर्ष है। एक न्यूनतम जीवन-स्तर न कर पाने का दुख है, एक पर्याप्त संपन्नता न होने का दुख है। ऐसे में कोई अपने टुच्चे दुखों को लेकर कैसे बैठे ?
मेरे मन में फिर वही लालसा उठती है कि वे सज्जन प्रापर्टी समेत अपनी टैक्सों की बीमारी मुझे दे दें और मैं उससे मर जाऊँ। मगर वे मुझे यह चांस नहीं देंगे। न वे प्रापर्टी छोड़ेंगे, न बीमारी, और मुझे अंततः किसी ओछी बीमारी से ही मरना होगा।

user image Pramod Sharma - 13 May 2020 at 7:40 PM -

श्री दुर्गा सप्तशती संपूर्ण

श्री दुर्गा सप्तशती संपूर्ण
जनकर्ता स्नान करके, आसन शुद्धि की क्रिया सम्पन्न करके, शुद्ध आसन पर बैठ जाएं, साथ में शुद्ध जल, पूजन सामग्री और श्री दुर्गा सप्तशती की पुस्तक सामने रखें। इन्हें अपने सामने काष्ठ आदि के शुद्ध आसन पर विराजमान कर दें। माथे पर ... अपनी पसंद के अनुसार भस्म, चंदन अथवा रोली लगा लें, शिखा बांध लें, फिर पूर्वाभिमुख होकर तत्व शुद्धि के लिए चार बार आचमन करें। इस समय निम्न मंत्रों को बोलें-

ॐ ऐं आत्मतत्त्वं शोधयामि नमः स्वाहा।
ॐ ह्रीं विद्यातत्त्वं शोधयामि नमः स्वाहा॥
ॐ क्लीं शिवतत्त्वं शोधयामि नमः स्वाहा।
ॐ ऐं ह्रीं क्लीं सर्वतत्त्वं शोधयामि नमः स्वाहा॥

तत्पश्चात प्राणायाम करके गणेश आदि देवताओं एवं गुरुजनों को प्रणाम करें, फिर 'पवित्रेस्थो वैष्णव्यौ' इत्यादि मन्त्र से कुश की पवित्री धारण करके हाथ में लाल फूल, अक्षत और जल लेकर निम्नांकित रूप से संकल्प करें-

चिदम्बरसंहिता में पहले अर्गला, फिर कीलक तथा अन्त में कवच पढ़ने का विधान है, किन्तु योगरत्नावली में पाठ का क्रम इससे भिन्न है। उसमें कवच को बीज, अर्गला को शक्ति तथा कीलक को कीलक संज्ञा दी गई है।

ॐ विष्णुर्विष्णुर्विष्णुः। ॐ नमः परमात्मने, श्रीपुराणपुरुषोत्तमस्य श्रीविष्णोराज्ञया प्रवर्तमानस्याद्य श्रीब्रह्मणो द्वितीयपरार्द्धे श्रीश्वेतवाराहकल्पे वैवस्वतमन्वन्तरेऽष्टाविंशतितमे कलियुगे प्रथमचरणे जम्बूद्वीपे भारतवर्षे भरतखण्डे आर्यावर्तान्तर्गतब्रह्मावर्तैकदेशे पुण्यप्रदेशे बौद्धावतारे वर्तमाने यथानामसंवत्सरे अमुकामने महामांगल्यप्रदे मासानाम्‌ उत्तमे अमुकमासे अमुकपक्षे अमुकतिथौ अमुकवासरान्वितायाम्‌ अमुकनक्षत्रे अमुकराशिस्थिते सूर्ये अमुकामुकराशिस्थितेषु चन्द्रभौमबुधगुरुशुक्रशनिषु सत्सु शुभे योगे शुभकरणे एवं गुणविशेषणविशिष्टायां शुभ पुण्यतिथौ सकलशास्त्र श्रुति स्मृति पुराणोक्त फलप्राप्तिकामः अमुकगोत्रोत्पन्नः अमुक नाम अहं ममात्मनः सपुत्रस्त्रीबान्धवस्य श्रीनवदुर्गानुग्रहतो ग्रहकृतराजकृतसर्व-विधपीडानिवृत्तिपूर्वकं नैरुज्यदीर्घायुः पुष्टिधनधान्यसमृद्ध्‌यर्थं श्री नवदुर्गाप्रसादेन सर्वापन्निवृत्तिसर्वाभीष्टफलावाप्तिधर्मार्थ- काममोक्षचतुर्विधपुरुषार्थसिद्धिद्वारा श्रीमहाकाली-महालक्ष्मीमहासरस्वतीदेवताप्रीत्यर्थं शापोद्धारपुरस्परं कवचार्गलाकीलकपाठ- वेदतन्त्रोक्त रात्रिसूक्त पाठ देव्यथर्वशीर्ष पाठन्यास विधि सहित नवार्णजप सप्तशतीन्यास- धन्यानसहितचरित्रसम्बन्धिविनियोगन्यासध्यानपूर्वकं च 'मार्कण्डेय उवाच॥ सावर्णिः सूर्यतनयो यो मनुः कथ्यतेऽष्टमः।' इत्याद्यारभ्य 'सावर्णिर्भविता मनुः' इत्यन्तं दुर्गासप्तशतीपाठं तदन्ते न्यासविधिसहितनवार्णमन्त्रजपं वेदतन्त्रोक्तदेवीसूक्तपाठं रहस्यत्रयपठनं शापोद्धारादिकं च किरष्ये/करिष्यामि।

इस प्रकार प्रतिज्ञा (संकल्प) करके देवी का ध्यान करते हुए पंचोपचार की विधि से पुस्तक की पूजा करें, योनिमुद्रा का प्रदर्शन करके भगवती को प्रणाम करें, फिर मूल नवार्ण मन्त्र से पीठ आदि में आधारशक्ति की स्थापना करके उसके ऊपर पुस्तक को विराजमान करें। इसके बाद शापोद्धार करना चाहिए। इसके अनेक प्रकार हैं।

'ॐ ह्रीं क्लीं श्रीं क्रां क्रीं चण्डिकादेव्यै शापनाशागुग्रहं कुरु कुरु स्वाहा'

इस मंत्र का आदि और अन्त में सात बार जप करें। यह शापोद्धार मंत्र कहलाता है। इसके अनन्तर उत्कीलन मन्त्र का जाप किया जाता है।

इसका जप आदि और अन्त में इक्कीस-इक्कीस बार होता है। यह मन्त्र इस प्रकार है- 'ॐ श्रीं क्लीं ह्रीं सप्तशति चण्डिके उत्कीलनं कुरु कुरु स्वाहा।' इसके जप के पश्चात्‌ आदि और अन्त में सात-सात बार मृतसंजीवनी विद्या का जाप करना चाहिए, जो इस प्रकार है-

'ॐ ह्रीं ह्रीं वं वं ऐं ऐं मृतसंजीवनि विद्ये मृतमुत्थापयोत्थापय क्रीं ह्रीं ह्रीं वं स्वाहा।'

मारीचकल्प के अनुसार सप्तशती-शापविमोचन का मन्त्र यह है-

'ॐ श्रीं श्रीं क्लीं हूं ॐ ऐं क्षोभय मोहय उत्कीलय उत्कीलय उत्कीलय ठं ठं।'

इस मन्त्र का आरंभ में ही एक सौ आठ बार जाप करना चाहिए, पाठ के अन्त में नहीं। अथवा रुद्रयामल महातन्त्र के अंतर्गत दुर्गाकल्प में कहे हुए चण्डिका शाप विमोचन मन्त्र का आरंभ में ही पाठ करना चाहिए। वे मन्त्र इस प्रकार हैं-

ॐ अस्य श्रीचण्डिकाया ब्रह्मवसिष्ठविश्वामित्रशापविमोचनमन्त्रस्य वसिष्ठ-नारदसंवादसामवेदाधिपतिब्रह्माण ऋषयः सर्वैश्वर्यकारिणी श्रीदुर्गा देवता चरित्रत्रयं बीजं ह्री शक्तिः त्रिगुणात्मस्वरूपचण्डिकाशापविमुक्तौ मम संकल्पितकार्यसिद्ध्‌यर्थे जपे विनियोगः।

ॐ (ह्रीं) रीं रेतःस्वरूपिण्यै मधुकैटभमर्दिन्यै
ब्रह्मवसिष्ठविश्वामित्रशापाद् विमुक्ता भव॥1॥
ॐ श्रीं बुद्धिस्वरूपिण्यै महिषासुरसैन्यनाशिन्यै
ब्रह्मवसिष्ठ विश्वामित्रशापाद् विमुक्ता भव॥2॥
ॐ रं रक्तस्वरूपिण्यै महिषासुरमर्दिन्यै
ब्रह्मवसिष्ठविश्वामित्रशापाद् विमुक्ता भव॥3॥
ॐ क्षुं धुधास्वरूपिण्यै देववन्दितायै
ब्रह्मवसिष्ठविश्वामित्रशापाद् विमुक्ता भव॥4॥
ॐ छां छायास्वरूपिण्यै दूतसंवादिन्यै
ब्रह्मवसिष्ठविश्वामित्रशापाद् विमुक्ता भव॥5॥
ॐ शं शक्तिस्वरूपिण्यै धूम्रलोचनघातिन्यै
ब्रह्मवसिष्ठविश्वामित्रशापाद् विमुक्ता भव॥6॥
ॐ तृं तृषास्वरूपिण्यै चण्डमुण्डवधकारिण्यै
ब्रह्मवसिष्ठविश्वामित्र शापाद् विमुक्ता भव॥7॥
ॐ क्षां क्षान्तिस्वरूपिण्यै रक्तबीजवधकारिण्यै
ब्रह्मवसिष्ठविश्वामित्रशापाद् विमुक्ता भव॥8॥
ॐ जां जातिस्वरूपिण्यै निशुम्भवधकारिण्यै
ब्रह्मवसिष्ठविश्वामित्रशापाद् विमुक्ता भव॥9॥
ॐ लं लज्जास्वरूपिण्यै शुम्भवधकारिण्यै
ब्रह्मवसिष्ठविश्वामित्रशापाद् विमुक्ता भव॥10॥
ॐ शां शान्तिस्वरूपिण्यै देवस्तुत्यै
ब्रह्मवसिष्ठविश्वामित्रशापाद् विमुक्ता भव॥11॥
ॐ श्रं श्रद्धास्वरूपिण्यै सकलफलदात्र्यै
ब्रह्मवसिष्ठविश्वामित्रशापाद् विमुक्ता भव॥12॥
ॐ कां कान्तिस्वरूपिण्यै राजवरप्रदायै
ब्रह्मवसिष्ठविश्वामित्रशापाद् विमुक्ता भव॥13॥
ॐ मां मातृस्वरूपिण्यै अनर्गलमहिमसहितायै
ब्रह्मवसिष्ठविश्वामित्रशापाद् विमुक्ता भव॥14॥
ॐ ह्रीं श्रीं दुं दुर्गायै सं सर्वैश्वर्यकारिण्यै
ब्रह्मवसिष्ठविश्वामित्रशापाद् विमुक्ता भव॥15॥
ॐ ऐं ह्रीं क्लीं नमः शिवायै अभेद्यकवचस्वरूपिण्यै
ब्रह्मवसिष्ठविश्वामित्रशापाद् विमुक्ता भव॥16॥
ॐ क्रीं काल्यै कालि ह्रीं फट् स्वाहायै ऋग्वेदस्वरूपिण्यै
ब्रह्मवसिष्ठविश्वामित्रशापाद् विमुक्ता भव॥17॥
ॐ ऐं ह्री क्लीं महाकालीमहालक्ष्मी-
महासरस्वतीस्वरूपिण्यै त्रिगुणात्मिकायै दुर्गादेव्यै नमः॥18॥
इत्येवं हि महामन्त्रान्‌ पठित्वा परमेश्वर।
चण्डीपाठं दिवा रात्रौ कुर्यादेव न संशयः॥19॥
एवं मन्त्रं न जानाति चण्डीपाठं करोति यः।
आत्मानं चैव दातारं क्षीणं कुर्यान्न संशयः॥20॥

इस प्रकार शापोद्धार करने के अनन्तर अन्तर्मातृका बहिर्मातृका आदि न्यास करें, फिर श्रीदेवी का ध्यान करके रहस्य में बताए अनुसार नौ कोष्ठों वाले यन्त्र में महालक्ष्मी आदि का पूजन करें, इसके बाद छ: अंगों सहित दुर्गासप्तशती का पाठ आरंभ किया जाता है।

कवच, अर्गला, कीलक और तीनों रहस्य- ये ही सप्तशती के छ: अंग माने गए हैं। इनके क्रम में भी मतभेद हैं। चिदम्बरसंहिता में पहले अर्गला, फिर कीलक तथा अन्त में कवच पढ़ने का विधान है, किन्तु योगरत्नावली में पाठ का क्रम इससे भिन्न है। उसमें कवच को बीज, अर्गला को शक्ति तथा कीलक को कीलक संज्ञा दी गई है।

जिस प्रकार सब मंत्रों में पहले बीज का, फिर शक्ति का तथा अन्त में कीलक का उच्चारण होता है, उसी प्रकार यहाँ भी पहले कवच रूप बीज का, फिर अर्गला रूपा शक्ति का तथा अन्त में कीलक रूप कीलक का क्रमशः पाठ होना चाहिए। यहाँ इसी क्रम का अनुसरण किया गया है।

(इसके बाद देवी कवच का पाठ करना चाहिए।)

॥ अथ देव्याः कवचम्‌ ॥

विनियोग
ॐ अस्य श्रीचण्डीकवचस्य ब्रह्मा ऋषिः, अनुष्टुप्‌ छन्दः, चामुण्डा देवता, अंगन्यासोक्तमातरो बीजम्‌, दिग्बन्धदेवतास्तत्त्वम्‌, श्रीजगदम्बाप्रीत्यर्थे सप्तशतीपाठांगत्वेन जपे विनियोगः।

॥ ॐ नमश्चण्डिकायै॥

मार्कण्डेय उवाच
ॐ यद्गुह्यं परमं लोके सर्वरक्षाकरं नृणाम्‌।
यन्न कस्यचिदाख्यातं तन्मे ब्रूहि पितामह॥1॥

ब्रह्मोवाच
अस्ति गुह्यतमं विप्र सर्वभूतोपकारकम्‌।
देव्यास्तु कवचं पुण्यं तच्छृणुष्व महामुने॥2॥
प्रथमं शैलपुत्री च द्वितीयं ब्रह्मचारिणी।
तृतीयं चन्द्रघण्टेति कूष्माण्डेति चतुर्थकम्‌॥3॥
पंचमं स्कन्दमातेति षष्ठं कात्यायनीति च।
सप्तमं कालरात्रीति महागौरीति चाष्टमम्‌॥4॥
नवमं सिद्धिदात्री च नवदुर्गाः प्रकीर्तिताः।
उक्तान्येतानि नामानि ब्रह्मणैव महात्मना॥5॥
अग्निता दह्यमानस्तु शत्रुमध्ये गतो रणे।
विषमे दुर्गमे चैव भयार्ताः शरणं गताः॥6॥
न तेषा जायते किंचिदशुभं रणसंकटे।
नापदं तस्य पश्यामि शोकदुःखभयं न हि॥7॥
यैस्तु भक्त्या स्मृता नूनं तेषां वृद्धि प्रजायते।
ये त्वां स्मरन्ति देवेशि रक्षसे तान्न संशयः॥8॥
प्रेतसंस्था तु चामुण्डा वाराही महिषासना।
ऐन्द्री गजसमानरूढा वैष्णवी गरुडासना॥9॥
माहेश्वरी वृषारूढा कौमारी शिखिवाहना।
लक्ष्मीः पद्मासना देवी पद्महस्ता हरिप्रिया॥10॥
श्वेतरूपधरा देवी ईश्वरी वृषवाहना।
ब्राह्मी हंससमारूढा सर्वाभरणभूषिता॥11॥
इत्येता मातरः सर्वाः सर्वयोगसमन्विताः।
नानाभरणशोभाढ्या नानारत्नोपशोभिताः॥12॥
दृश्यन्ते रथमारूढा देव्यः क्रोधसमाकुलाः।
शंख चक्रं गदां शक्तिं हलं च मुसलायुधम्‌॥13॥
खेटकं तोमरं चैव परशुं पाशमेव च।
कुन्तायुधं त्रिशूलं च शांर्गमायुधमुत्तमम्‌॥14॥
दैत्यानां देहनाशाय भक्तानामभयाय च।
धारयन्त्यायुधानीत्थं देवानां च हिताय वस॥15॥
नमस्तेऽस्तु महारौद्रे महाघोरपराक्रमे।
महावले महोत्साहे महाभयविनाशिनि॥16॥
त्राहि मां देवि दुष्प्रेक्ष्ये शत्रूणां भयवर्धिन।
प्राच्यां रक्षतु मामैन्द्री आग्नेय्यामग्निदेवता॥17॥
दक्षिणेऽवतु वाराहीनैर्ऋत्यां खड्गधारिणी।
प्रतीच्यां वारुणी रक्षेद् वायव्यां मृगवाहिनी॥18॥
उदीच्यां पातु कौमारी ऐशान्यां शूलधारिणी।
ऊर्ध्वं ब्रह्माणि मे रक्षेद्धस्ताद् वैष्णवी तथा ॥19॥
एवं दश दिशो रक्षेच्चामुण्डा शववाहना।
जया में चाग्रतः पातु विजया पातु पृष्ठतः॥20॥
अजिता वामपार्श्वे तु दक्षिणे चापराजिता।
शिखामुद्योतिनी रक्षेदुमा मूर्ध्नि व्यवस्थिता॥21॥
मालाधारी ललाटे च भ्रुवौ रक्षेद् यशस्विनी।
त्रिनेत्रा च भ्रुवोर्मध्ये यमघण्टा च नासिके॥22॥
शंखिनी चक्षुषोर्मध्ये श्रोत्रयोर्द्वारवासिनी।
कपोलौ कालिका रक्षेत्कर्णमूले च शांकरी॥23॥
नासिकायां सुगन्दा च उत्तरोष्ठे च चर्चिका।
अधरे चामृतकला जिह्वायां च सरस्वती॥24॥
दन्तान्‌ रक्षतु कौमारी कण्ठदेशे तु चण्डिका।
घण्टिकां चित्रघण्टा च महामाया च तालुके॥25॥
कामाक्षी चिबुकं रक्षेद् वाचं मे सर्वमंगला।
ग्रीवायां भद्रकाली च पृष्ठवंशे धनुर्धरी॥26॥
नीलग्रीवा बहिःकण्ठे नलिकां नलकूबरी।
स्कन्धयोः खड्गिनी रक्षेद् बाहू में व्रजधारिणी॥27॥
हस्तयोर्दण्डिनी रक्षेदम्बिका चांगुलीषु च।
नखांछूलेश्वरी रक्षेत्कुक्षौ रक्षेत्कुलेश्वरी॥28॥।
स्तनौ रक्षेन्महादेवी मनः शोकविनाशिनी।
हृदये ललिता देवी उदरे शूलधारिणी॥29॥
नाभौ च कामिनी रक्षेद् गुह्यं गुह्येश्वरी तथा।
पूतना कामिका मेढ्रं गुदे महिषवाहिनी॥30॥
कट्यां भगवती रक्षेज्जानुनी विन्ध्यवासिनी।
जंघे महाबला रक्षेत्सर्वकामप्रदायिनी॥31॥
गुल्फयोर्नारसिंही च पादपृष्ठे तु तैजसी।
पादांगुलीषु श्री रक्षेत्पादाधस्तलवासिनी॥32॥
नखान्‌ दंष्ट्राकराली च केशांश्चैवोर्ध्वकेशिनी।
रोमकूपेषु कौबेरी त्वचं वागीश्वरी तथा॥33॥
रक्तमज्जावसामांसान्यस्थिमेदांसि पार्वती।
अन्त्राणि कालरात्रिश्च पित्तं च मुकुटेश्वरी॥34॥
पद्मावती पद्मकोशे कफे चूडामणिस्तथा।
ज्वालामुखी नखज्वालामभेद्या सर्वसंधिषु॥35॥
शुक्रं ब्रह्माणि मे रक्षेच्छायां छत्रेश्वरी तथा।
अहंकारं मनो बुद्धिं रक्षेन्मे धर्मधारिणी॥36॥
प्राणापानौ तथा व्यानमुदानं च समानकम्‌।
वज्रहस्ता च मे रक्षेत्प्राणं कल्याणशोभना॥37॥
रसे रूपे च गन्धे च शब्दे स्पर्शे च योगिनी।
सत्त्वं रजस्तमश्चैव रक्षेन्नारायणी सदा॥38॥
आयू रक्षतु वाराही धर्मं रक्षतु वैष्णवी।
यशः कीर्तिं च लक्ष्मीं च धनं विद्यां च चक्रिणी॥39॥
गोत्रमिन्द्राणि मे रक्षेत्पशून्मे रक्ष चण्डिके।
पुत्रान्‌ रक्षेन्महालक्ष्मीर्भार्यां रक्षतु भैरवी॥40
पन्थानं सुपथा रक्षेन्मार्गं क्षेमकरी तथा।
राजद्वारे महालक्ष्मीर्विजया सर्वतः स्थिता॥41॥
रक्षाहीनं तु यत्स्थानं वर्जितं कवचेन तु।
तत्सर्वं रक्ष मे देवि जयन्ती पापनाशिनी॥42॥
पदमेकं न गच्छेतु यदीच्छेच्छुभमात्मनः।
कवचेनावृतो नित्यं यत्र यत्रैव गच्छति॥43॥
तत्र तत्रार्थलाभश्च विजयः सार्वकामिकः।
यं यं चिन्तयते कामं तं तं प्राप्नोति निश्चितम्‌।
परमैश्वर्यमतुलं प्राप्स्यते भूतले पुमान्‌॥44॥
निर्भयो जायते मर्त्यः संग्रामेष्वपराजितः।
त्रैलोक्ये तु भवेत्पूज्यः कवचेनावृतः पुमान्‌॥45॥
इदं तु देव्याः कवचं देवानामपि दुर्लभम्‌।
यः पठेत्प्रयतो नित्यं त्रिसन्ध्यं श्रद्धयान्वितः॥46॥
दैवी कला भवेत्तस्य त्रैलोक्येष्वपराजितः।
जीवेद् वर्षशतं साग्रमपमृत्युविवर्जितः॥47॥
नश्यन्ति व्याधयः सर्वे लूताविस्फोटकादयः।
स्थावरं जंगमं चैव कृत्रिमं चापि यद्विषम्‌॥48॥
अभिचाराणि सर्वाणि मन्त्रयन्त्राणि भूतले।
भूचराः खेचराश्चैव जलजाश्चोपदेशिकाः॥49॥
सहजा कुलजा माला डाकिनी शाकिनी तथा।
अन्तरिक्षचरा घोरा डाकिन्यश्च महाबलाः॥50॥
ग्रहभूतपिशाचाश्च यक्षगन्धर्वराक्षसाः।
ब्रह्मराक्षसवेतालाः कूष्माण्डा भैरवादयः॥51॥
नश्यन्ति दर्शनात्तस्य कवचे हृदि संस्थिते।
मानोन्नतिर्भवेद् राज्ञस्तेजोवृद्धिकरं परम्‌॥52॥
यशसा वर्धते सोऽपि कीर्तिमण्डितभूतले।
जपेत्सप्तशतीं चण्डीं कृत्वा तु कवचं पुरा॥53॥
यावद्भूमण्डलं धत्ते सशैलवनकाननम्‌।
तावत्तिष्ठति मेदिन्यां संततिः पुत्रपौत्रिकी॥54॥
देहान्ते परमं स्थानं यत्सुरैरपि दुर्लभम्‌।
प्राप्नोति पुरुषो नित्यं महामायाप्रसादतः॥55॥
लभते परमं रूपं शिवेन सह मोदते॥ॐ॥56॥


॥ इति देव्याः कवचं संपूर्णम्‌ ॥

user image Arvind Swaroop Kushwaha - 10 May 2020 at 5:34 PM -

karipatta करीपत्ता

मीठा नीम
शीर्षक विवरण जोड़ें
कढ़ी पत्ते का पेड़ (मुराया कोएनिजी, (Murraya koenigii;) ; अन्य नाम: बर्गेरा कोएनिजी, (Bergera koenigii), चल्कास कोएनिजी (Chalcas koenigii)) उष्णकटिबंधीय तथा उप-उष्णकटिबंधीय प्रदेशों में पाया जाने वाला रुतासी (Rutaceae) परिवार का एक पेड़ है, जो मूलतः भारत का देशज है। अकसर रसेदार ... व्यंजनों में इस्तेमाल होने वाले इसके पत्तों को "कढ़ी पत्ता" कहते हैं। कुछ लोग इसे "मीठी नीम की पत्तियां" भी कहते हैं। इसके तमिल नाम का अर्थ है, 'वो पत्तियां जिनका इस्तेमाल रसेदार व्यंजनों में होता है'। कन्नड़ भाषा में इसका शब्दार्थ निकलता है - "काला नीम", क्योंकि इसकी पत्तियां देखने में कड़वे नीम की पत्तियों से मिलती-जुलती हैं। लेकिन इस कढ़ी पत्ते के पेड़ का नीम के पेड़ से कोई संबंध नहीं है। असल में कढ़ी पत्ता, तेज पत्ता या तुलसी के पत्तों, जो भूमध्यसागर में मिलनेवाली ख़ुशबूदार पत्तियां हैं, से बहुत अलग है।

अधिक जानकारी: मीठा नीम या करीपत्ता, वैज्ञानिक वर्गीकरण …
विवरण
यह पेड़ छोटा होता है जिसकी उंचाई 2-4 मीटर होती है और जिसके तने का व्यास 40 सें.मी. तक होता है। इसकी पत्तियां नुकीली होतीं हैं, हर टहनी में 11-21 पत्तीदार कमानियां होती हैं और हर कमानी 2-4 सें.मी. लम्बी व 1-2 सें.मी. चौड़ी होती है। ये पत्तियां बहुत ही ख़ुशबूदार होतीं हैं। इसके फूल छोटे-छोटे, सफ़ेद रंग के और ख़ुशबूदार होते हैं। इसके छोटे-छोटे, चमकीले काले रंग के फल तो खाए जा सकते हैं, लेकिन इनके बीज ज़हरीले होते हैं।

इस प्रजाति को वनस्पतिज्ञ जोहान कॉनिग का नाम दिया गया है।

उपयोग
बुन्देलखंड प्रान्त में यह पत्ता कढ़ी या करी नामक व्यंजन बनाने में भी उपयुक्त होता है।

इसकी पत्तियों को पीस कर चटनी भी तैयार की जाती है।

दक्षिण भारत व पश्चिमी-तट के राज्यों और श्री लंका के व्यंजनों के छौंक में, खासकर रसेदार व्यंजनों में, बिलकुल तेज पत्तों की तरह, इसकी पत्तियों का उपयोग बहुत महत्त्व रखता है। साधारणतया इसे पकाने की विधि की शुरुआत में कटे प्याज़ के साथ भुना जाता है। इसका उपयोग थोरण, वड़ा, रसम और कढ़ी बनाने में भी किया जाता है। इसकी ताज़ी पत्तियां न तो खुले में और न ही फ्रिज में ज़्यादा दिनों तक ताज़ा रहतीं हैं। वैसे ये पत्तियां सूखी हुई भी मिलती हैं पर उनमें ख़ुशबू बिलकुल नहीं के बराबर होती है।

मुराया कोएनिजी (Murraya koenigii) की पत्तियों का आयुर्वेदिक चिकित्सा में जड़ी-बूटी के रूप में भी इस्तेमाल किया जाता है। इनके औषधीय गुणों में ऐंटी-डायबिटीक (anti-diabetic), ऐंटीऑक्सीडेंट (antioxidant), ऐंटीमाइक्रोबियल (antimicrobial), ऐंटी-इन्फ्लेमेटरी (anti-inflammatory), हिपैटोप्रोटेक्टिव (hepatoprotective), ऐंटी-हाइपरकोलेस्ट्रौलेमिक (anti-hypercholesterolemic) इत्यादि शामिल हैं। कढ़ी पत्ता लम्बे और स्वस्थ बालों के लिए भी बहुत लाभकारी माना जाता है।[कृपया उद्धरण जोड़ें]

हालांकि कढ़ी पत्ते का सबसे अधिक उपयोग रसेदार व्यंजनों में होता है, पर इनके अलावा भी अन्य कई व्यंजनों में मसाले के साथ इसका इस्तेमाल किया जाता है।

उपजाना
पौधे उगाने के लिए ताज़े बीजों को बोना चाहिए, सूखे या मुरझाये फलों में अंकुर-क्षमता नहीं होती. फल को या तो सम्पूर्ण रूप से (या गूदा निकालकर) गमले के मिश्रण में गाड़ दीजिये और उसे गीला नहीं बल्कि सिर्फ़ नम बनाए रखिये.

user image Arvind Swaroop Kushwaha - 10 May 2020 at 4:50 PM -

मृतक भोज - मुंशी प्रेम चंद

Hindi Kahani- हिंदी कहानी
Mritak Bhoj - Munshi Premchand
मृतक भोज - मुंशी प्रेम चंद

सेठ रामनाथ ने रोग-शय्या पर पड़े-पड़े निराशापूर्ण दृष्टि से अपनी स्त्री सुशीला की ओर देखकर कहा, 'मैं बड़ा अभागा हूँ, शीला। मेरे साथ तुम्हें सदैव ही दुख भोगना पड़ा। जब घर में कुछ ... न था, तो रात-दिन गृहस्थी के धन्धों और बच्चों के लिए मरती थीं। जब जरा कुछ सँभला और तुम्हारे आराम करने के दिन आये, तो यों छोड़े चला जा रहा हूँ। आज तक मुझे आशा थी, पर आज वह आशा टूट गयी। देखो शीला, रोओ मत। संसार में सभी मरते हैं, कोई दो साल आगे, कोई दो साल पीछे। अब गृहस्थी का भार तुम्हारे ऊपर है। मैंने रुपये नहीं छोड़े; लेकिन जो कुछ है, उससे तुम्हारा जीवन किसी तरह कट जायगा ... यह राजा क्यों रो रहा है ? सुशीला ने आँसू पोंछकर कहा, ज़िद्दी हो गया है और क्या। आज सबेरे से रट लगाये हुए है कि मैं मोटर लूँगा। 50 रु. से कम में आयेगी मोटर ? सेठजी को इधर कुछ दिनों से दोनों बालकों पर बहुत स्नेह हो गया था। बोले तो मँगा दो न एक। बेचारा कब से रो रहा है, क्या-क्या अरमान दिल में थे। सब धूल में मिल गये। रानी के लिए विलायती गुड़िया भी मँगा दो। दूसरों के खिलौने देखकर तरसती रहती है। जिस धन को प्राणों से भी प्रिय समझा, वह अन्त को डाक्टरों ने खाया। बच्चे मुझे क्या याद करेंगे कि बाप था। अभागे बाप ने तो धन को लड़के-लड़की से प्रिय समझा। कभी पैसे की चीज भी लाकर नहीं दी। ' 
अन्तिम समय जब संसार की असारता कठोर सत्य बनकर आँखों के सामने खड़ी हो जाती है, तो जो कुछ न किया, उसका खेद और जो कुछ किया, उस पर पश्चात्ताप, मन को उदार और निष्कपट बना देता है। सुशीला ने राजा को बुलाया और उसे छाती से लगाकर रोने लगी। वह मातृस्नेह, जो पति की कृपणता से भीतर-ही-भीतर तड़पकर रह जाता था, इस समय जैसे खौल उठा। लेकिन मोटर के लिए रुपये कहाँ थे ? सेठजी ने पूछा, 'मोटर लोगे बेटा; अपनी अम्माँ से रुपये लेकर भैया के साथ चले जाओ। खूब अच्छी मोटर लाना। ' 
राजा ने माता के आँसू और पिता का यह स्नेह देखा, तो उसका बालहठ जैसे पिघल गया। बोला, 'अभी नहीं लूँगा। ' 
सेठजी ने पूछा, 'क्यों ? ' 
'जब आप अच्छे हो जायँगे तब लूँगा।' सेठजी फूट-फूटकर रोने लगे। 
तीसरे दिन सेठ रामनाथ का देहान्त हो गया। धनी के जीने से दु:ख बहुतों को होता है, सुख थोड़ों को। उनके मरने से दु:ख थोड़ों को होता है, सुख बहुतों को। महाब्राह्मणों की मण्डली अलग सुखी है, पण्डितजी अलग खुश हैं, और शायद बिरादरी के लोग भी प्रसन्न हैं; इसलिए कि एक बराबर का आदमी कम हुआ। दिल से एक काँटा दूर हुआ। और पट्टीदारों का तो पूछना ही क्या। अब वह पुरानी कसर निकालेंगे। ह्रदय को शीतल करने का ऐसा अवसर बहुत दिनों के बाद मिला है। आज पाँचवाँ दिन है। वह विशाल भवन सूना पड़ा है। लड़के न रोते हैं, न हँसते हैं। मन मारे माँ के पास बैठे हैं और विधवा भविष्य की अपार चिन्ताओं के भार से दबी हुई निर्जीव-सी पड़ी है। घर में जो रुपये बच रहे थे, वे दाह-क्रिया की भेंट हो गये और अभी सारे संस्कार बाकी पड़े हैं। भगवान्, कैसे बेड़ा पार लगेगा। 
किसी ने द्वार पर आवाज दी। महरा ने आकर सेठ धनीराम के आने की सूचना दी। दोनों बालक बाहर दौड़े। सुशीला का मन भी एक क्षण के लिए हरा हो गया। सेठ धनीराम बिरादरी के सरपंच थे। अबला का क्षुब्ध 
ह्रदय सेठजी की इस कृपा से पुलकित हो उठा। आखिर बिरादरी के मुखिया हैं। ये लोग अनाथों की खोज-खबर न लें तो कौन ले। धन्य हैं ये पुण्यात्मा लोग जो मुसीबत में दीनों की रक्षा करते हैं। यह सोचती हुई सुशीला घूँघट निकाले बरोठे में आकर खड़ी हो गयी। देखा तो धनीरामजी के अतिरिक्त और भी कई सज्जन खड़े हैं। 
धनीराम बोले 'बहूजी, भाई रामनाथ की अकाल-मृत्यु से हम लोगों को जितना दु:ख हुआ है, वह हमारा दिल ही जानता है। अभी उनकी उम्र ही क्या थी; लेकिन भगवान् की इच्छा। अब तो हमारा यही धर्म है कि ईश्वर पर भरोसा रखें और आगे के लिए कोई राह निकालें। काम ऐसा करना चाहिए कि घर की आबरू भी बनी रहे और भाईजी की आत्मा संतुष्ट भी हो। ' कुबेरदास ने सुशीला को कनखियों से देखते हुए कहा, 'मर्यादा बड़ी चीज है। उसकी रक्षा करना हमारा धर्म है। लेकिन कमली के बाहर पाँव निकालना भी तो उचित नहीं। कितने रुपये हैं तेरे पास, बहू ? क्या कहा, कुछ नहीं ? ' 
सुशीला -'घर में रुपये कहाँ हैं, सेठजी। जो थोड़े-बहुत थे, वह बीमारी में उठ गये। ' 
धनीराम -'तो यह नयी समस्या खड़ी हुई। ऐसी दशा में हमें क्या करना चाहिए, कुबेरदासजी ? ' 
कुबेरदास -'ज़ैसे हो, भोज तो करना ही पड़ेगा। हाँ, अपनी सामर्थ्य देखकर काम करना चाहिए। मैं कर्ज लेने को न कहूँगा। हाँ, घर में जितने रुपयों का प्रबन्ध हो सके, उसमें हमें कोई कसर न छोड़नी चाहिए। मृत-जीव के 
साथ भी तो हमारा कुछ कर्तव्य है। अब तो वह फिर कभी न आयेगा, उससे सदैव के लिए नाता टूट रहा है। इसलिए सबकुछ हैसियत के मुताबिक होना चाहिए। ब्राह्मणों को तो भोज देना ही पड़ेगा जिससे कि मर्यादा का निर्वाह हो ! ' 
धनीराम -'तो क्या तुम्हारे पास कुछ भी नहीं है, बहूजी ? दो-चार हजार भी नहीं ! ' 
सुशीला --'मैं आपसे सत्य कहती हूँ, मेरे पास कुछ नहीं है। ऐसे समय झूठ बोलूँगी। ' 
धनीराम ने कुबेरदास की ओर अर्ध-अविश्वास से देखकर कहा, 'तब तो यह मकान बेचना पड़ेगा। ' 
कुबेरदास -'इसके सिवा और क्या हो सकता है। नाक काटना तो अच्छा नहीं। रामनाथ का कितना नाम था, बिरादरी के स्तंभ थे। यही इस समय एक उपाय है। 10 हजार रु. मेरे आते हैं। सूद-बट्टा लगाकर कोई 15 हजार रु. मेरे हो जायँगे। बाकी भोज में खर्च हो जायेगा। अगर कुछ बच रहा, तो बाल-बच्चों के काम आ जायगा। '
धनीराम -'आपके यहाँ कितने पर बंधक रखा था ? ' 
कुबेरदास-' 10 हजार रुपये पर। रुपये सैकड़े सूद। ' 
धनीराम -'मैंने तो कुछ कम सुना है। ' 
कुबेरदास -'उसका तो रेहननामा रखा है। जबानी बातचीत थोड़े ही है। मैं दो-चार हजार के लिए झूठ नहीं बोलूँगा। ' 
धनीराम-' नहीं-नहीं, यह मैं कब कहता हूँ। तो तूने सुन लिया, बाई ! पंचों की सलाह है कि मकान बेच दिया जाय। ' 
सुशीला का छोटा भाई संतलाल भी इसी समय आ पहुँचा। यह अन्तिम वाक्य उसके कान में पड़ गया। बोल उठा, 'क़िसलिए मकान बेच दिया जाय ? बिरादरी के भोज के लिए ? बिरादरी तो खा-पीकर राह लेगी, इन अनाथों की रक्षा कैसे होगी ? इनके भविष्य के लिए भी तो कुछ सोचना चाहिए। ' 
धनीराम ने कोप-भरी आँखों से देखकर कहा, 'आपको इन मामलों में टाँग अड़ाने का कोई अधिकार नहीं। केवल भविष्य की चिन्ता करने से काम नहीं चलता। मृतक का पीछा भी किसी तरह सुधरना ही पड़ता है। आपका क्या बिगड़ेगा। हँसी तो हमारी होगी। संसार में मर्यादा से प्रिय कोई वस्तु नहीं ! मर्यादा के लिए प्राण तक दे देते हैं। जब मर्यादा ही न रही, तो क्या रहा। अगर हमारी सलाह पूछोगे, तो हम यही कहेंगे। आगे बाई का अखतियार है, जैसा चाहे करे; पर हमसे कोई सरोकार न रहेगा। चलिए कुबेरदासजी, चलें। ' 
सुशीला ने भयभीत होकर कहा, 'भैया की बातों का विचार न कीजिए,इनकी तो यह आदत है। मैंने तो आपकी बात नहीं टाली; आप मेरे बड़े हैं। घर का हाल आपको मालूम है। मैं अपने स्वामी की आत्मा को दुखी करना नहीं चाहती, लेकिन जब उनके बच्चे ठोकरें खायेंगे, तो क्या उनकी आत्मा दुखी न होगी ? बेटी का ब्याह करना ही है। लड़के को पढ़ाना-लिखाना है ही। ब्राह्मणों को खिला दीजिए; लेकिन बिरादरी करने की मुझमें सामर्थ नहीं है। ' 
दोनों महानुभावों को जैसे थप्पड़ लगी इतना बड़ा अधर्म। भला ऐसी बात भी जबान से निकाली जाती है। पंच लोग अपने मुँह में कालिख न लगने देंगे। दुनिया विधवा को न हँसेगी, हँसी होगी पंचों की। यह जग-हँसाई वे कैसे सह सकते हैं। ऐसे घर के द्वार पर झाँकना भी पाप है। सुशीला रोकर बोली, 'मैं अनाथ हूँ, नादान हूँ, मुझ पर क्रोध न कीजिए। आप लोग ही मुझे छोड़ देंगे, तो मेरा कैसे निर्वाह होगा। ' 
इतने में दो महाशय और आ बिराजे। एक बहुत मोटे और दूसरे बहुत दुबले। नाम भी गुणों के अनुसार ही भीमचन्द और दुर्बलदास। धनीराम ने संक्षेप में यह परिस्थिति उन्हें समझा दी। दुर्बलदास ने सह्रदयता से कहा, 'तो ऐसा क्यों नहीं करते कि हम लोग मिलकर कुछ रुपये दे दें। जब इसका लड़का सयाना हो जायगा, तो रुपये मिल ही जायेंगे। अगर न भी मिले तो एक मित्र के लिए कुछ बल खा जाना कोई बड़ी बात नहीं। ' 
संतलाल ने प्रसन्न होकर कहा, 'इतनी दया आप करेंगे, तो क्या पूछना। ' 
कुबेरदास त्योरी चढ़ाकर बोले, 'तुम तो बेसिर-पैर की बातें करने लगे दुर्बलदासजी ! इस बखत के बाजार में किसके पास फालतू रुपये रखे हुए हैं। ' 
भीमचन्द-' सो तो ठीक है, बाजार की ऐसी मंदी तो कभी देखी नहीं;पर निबाह तो करना चाहिए। ' 
कुबेरदास अकड़ गये। वह सुशीला के मकान पर दाँत लगाये हुए थे। ऐसी बातों से उनके स्वार्थ में बाधा पड़ती थी। वह अपने रुपये अब वसूल करके छोड़ेंगे। भीमचन्द ने उन्हें किसी तरह सचेत किया; 'लेकिन भोज तो देना ही पड़ेगा। उस कर्तव्य का पालन न करना समाज की नाक काटना है। ' 
सुशीला ने दुर्बलदास में सह्रदयता का आभास देखा। उनकी ओर दीन नेत्रों से देखकर बोली, 'मैं आप लोगों से बाहर थोड़े ही हूँ। आप लोग मालिक हैं, जैसा उचित समझें वैसा करें। ' 
दुर्बलदास -'तेरे पास कुछ थोड़े-बहुत गहने तो होंगे, बाई ? ' 
'हाँ गहने हैं। आधे तो बीमारी में बिक गये, आधे बचे हैं।' सुशीला ने सारे गहने लाकर पंचों के सामने रख दिये; 'पर यह तो मुश्किल से तीन हजार में उठेंगे।' दुर्बलदास ने पोटली को हाथ में तौलकर कहा, 'तीन हजार को कैसे जायँगे। मैं साढ़े तीन हजार दिला दूँगा। ' 
भीमचन्द ने फिर पोटली को तौलकर कहा, 'मेरी बोली, चार हजार की है। ' 
कुबेरदास को मकान की बिक्री का प्रश्न छेड़ने का अवसर फिर मिला, 'चार हजार ही में क्या हुआ जाता है। बिरादरी का भोज है या दोष मिटाना है। बिरादरी में कम-से-कम दस हजार का खरचा है। मकान तो निकालना ही पड़ेगा। ' 
सन्तलाल ने ओंठ चबाकर कहा, 'मैं कहता हूँ, आप लोग क्या इतने निर्दयी हैं ! आप लोगों को अनाथ बालकों पर भी दया नहीं आती ! क्या उन्हें रास्ते का भिखारी बनाकर छोड़ेंगे ? ' लेकिन सन्तलाल की फरियाद पर किसी ने ध्यान न दिया। मकान की बातचीत अब नहीं टाली जा सकती थी। बाजार मंदा है। 30 हजार से बेसी नहीं मिल सकते, 15 हजार तो कुबेरदास के हैं। पाँच हजार बचेंगे। चार हजार गहनों से आ जायँगे। इस तरह 9 हजार में बड़ी किफायत से ब्रह्मभोज और बिरादरी-भोज दोनों निपटा दिये जायँगे। सुशीला ने दोनों बालकों को सामने करके करबद्ध होकर कहा, 'पंचो, मेरे बच्चों का मुँह देखिए। मेरे घर में जो कुछ है; वह आप सब ले लीजिए; लेकिन मकान छोड़ दीजिए मुझे कहीं ठिकाना न मिलेगा। मैं आपके पैरों पड़ती हूँ मकान इस समय न बेचें। ' 
इस मूर्खता का क्या जवाब दिया जाय। पंच लोग तो खुद चाहते थे कि मकान न बेचना पड़े। उन्हें अनाथों से कोई दुश्मनी नहीं थी; किन्तु बिरादरी का भोज और किस तरह किया जाय। अगर विधवा कम-से-कम पाँच हजार रु. का जोगाड़ और कर दे, तो मकान बच सकता है, पर वह ऐसा नहीं कर सकती, तो मकान बेचने के सिवा और कोई उपाय नहीं। 
कुबेर ने अन्त में कहा, 'देख बाई, बाजार की दशा इस समय खराब है। रुपये किसी से उधार नहीं मिल सकते। बाल-बच्चों के भाग में लिखा होगा, तो भगवान् और किसी हीले से देगा। हीले रोजी, बहाने मौत। बाल-बच्चों की चिंता मत कर। भगवान् जिसको जन्म देते हैं, उसकी जीविका की जुगत पहले ही से कर देते हैं। हम तुझे समझाकर हार गये। अगर तू अब भी अपना हठ न छोड़ेगी, तो हम बात भी न पूछेंगे। फिर यहाँ तेरा रहना मुश्किल हो जायगा। शहरवाले तेरे पीछे पड़ जायँगे। ' 
विधवा सुशीला अब और क्या करती। पंचों से लड़कर वह कैसे रह सकती थी। पानी में रहकर मगर से कौन बैर कर सकता है। घर में जाने के लिए उठी पर वहीं मूर्छित होकर गिर पड़ी। अभी तक आशा सँभाले हुई थी। बच्चों के पालन-पोषण में वह अपना वैधव्य भूल सकती थी; पर अब तो अंधकार था, चारों ओर। सेठ रामनाथ के मित्रों का उनके घर पर पूरा अधिकार था। मित्रों का अधिकार न हो तो किसका हो। स्त्री कौन होती है। जब वह इतनी मोटी-सी बात नहीं समझती कि बिरादरी करना और धूम-धाम से दिल खोलकर करना लाजिमी बात है, तो उससे और कुछ कहना व्यर्थ है। गहने कौन खरीदे ? भीमचन्द चार हजार दाम लगा चुके थे, लेकिन अब उन्हें मालूम हुआ कि उनसे भूल हुई थी। दुर्बलदास ने तीन हजार लगाये थे। इसलिए सौदा इन्हीं के हाथ हुआ। इस बात पर दुर्बलदास और भीमचन्द में तकरार भी हो गयी; लेकिन भीमचन्द को मुँह की खानी पड़ी। न्याय दुर्बल के पक्ष में था। धनीराम ने कटाक्ष किया 'देखो दुर्बलदास, माल तो ले जाते हो; पर 
तीन हजार से बेसी का है। मैं नीति की हत्या न होने दूँगा।' 
कुबेरदास बोले, 'अजी, तो घर में ही तो है, कहीं बाहर तो नहीं गया। एक दिन मित्रों की दावत हो जायगी ! ' 
इस पर चारों महानुभाव हँसे। इस काम से फुरसत पाकर अब मकान का प्रश्न उठा। कुबेरदास 30 हजार देने पर तैयार थे; पर कानूनी कार्रवाई किये बिना संदेह की गुंजाइश थी। यह गुंजाइश क्योंकर रखी जाय। एक दलाल बुलाया गया। नाटा-सा आदमी था, पोपला मुँह, कोई 50 की अवस्था। नाम था चोखेलाल। 
कुबेरदास ने कहा, 'चोखेलालजी से हमारी तीस साल की दोस्ती है। आदमी क्या रत्न हैं।' 
भीमचन्द-'देखो चोखेलाल, हमें यह मकान बेचना है। इसके लिए कोई अच्छा ग्राहक लाओ। तुम्हारी दलाली पक्की।' 
कुबेरदास-' बाजार का हाल अच्छा नहीं है; लेकिन फिर भी हमें यह तो देखना पड़ेगा कि रामनाथ के बाल-बच्चों को टोटा न हो। (कान में) तीस से आगे न जाना।' 
भीमचन्द -'देखिए कुबेरदास, यह अच्छी बात नहीं है।' 
कुबेरदास -'तो मैं क्या कर रहा हूँ। मैं तो यही कह रहा था कि अच्छे दाम लगवाना।' 
चोखेलाल -'आप लोगों को मुझसे यह कहने की जरूरत नहीं। मैं अपना धर्म समझता हूँ। रामनाथजी मेरे भी मित्र थे। मुझे यह भी मालूम है कि इस मकान के बनवाने में एक लाख से कम एक पाई भी नहीं लगे, लेकिन बाजार का हाल क्या आप लोगों से छिपा है। इस समय इसके 25 हजार से बेसी नहीं मिल सकते। सुभीते से तो कोई ग्राहक से दस-पाँच हजार और मिल जायँगे; लेकिन इस समय तो कोई ग्राहक भी मुश्किल से मिलेंगे। लो दही और लाव दही की बात है।' 
धनीराम -'25 हजार रु. तो बहुत कम है भाई, और न सही 30 हजार रु. तो करा दो।' 
चोखेलाल -'30 क्या मैं तो 40 करा दूँ, पर कोई ग्राहक तो मिले। आप लोग कहते हैं तो मैं 30 हजार रु. की बातचीत करूँगा।' 
धनीराम -'ज़ब तीस हजार में ही देना है तो कुबेरदासजी ही क्यों न ले लें। इतना सस्ता माल दूसरों को क्यों दिया जाय।' 
कुबेरदास -'आप सब लोगों की राय हो, तो ऐसा ही कर लिया जाय। धनीराम ने 'हाँ, हाँ' कहकर हामी भरी। भीमचन्द मन में ऐंठकर रह गये। यह सौदा भी पक्का हो गया। आज ही वकील ने बैनामा लिखा। तुरन्त 
रजिस्ट्री भी हो गयी। सुशीला के सामने बैनामा लाया गया, तो उसने एक ठण्डी साँस ली और सजल नेत्रों से उस पर हस्ताक्षर कर दिये। अब उसे उसके सिवा और कहीं शरण नहीं है। बेवफा मित्र की भाँति यह घर भी सुख के दिनों में साथ देकर दु:ख के दिनों में उसका साथ छोड़ रहा है। 
पंच लोग सुशीला के आँगन में बैठे बिरादरी के रुक्के लिख रहे हैं और अनाथ विधवा ऊपर झरोखे पर बैठी भाग्य को रो रही है। इधर रुक्का तैयार हुआ, उधर विधवा की आँखों से आँसू की बूँदें निकलकर रुक्के पर गिर पड़ीं। धनीराम ने ऊपर देखकर कहा, 'पानी का छींटा कहाँ से आया ? '
सन्तलाल -'बाई बैठी रो रही है। उसने रुक्के पर अपने रक्त के आँसुओं की मुहर लगा दी है।' 
धनीराम (ऊँचे स्वर में) 'अरे, तो तू रो क्यों रही है, बाई ? यह रोने का समय नहीं है, तुझे तो प्रसन्न होना चाहिए कि पंच लोग तेरे घर में आज यह शुभ-कार्य करने के लिए जमा हैं। जिस पति के साथ तूने इतने दिनों भोग-विलास किया, उसी का पीछा सुधरने में तू दु:ख मानती है ? ' 
बिरादरी में रुक्का फिरा। इधर तीन-चार दिन पंचों ने भोज की तैयारियों में बिताये। घी धनीरामजी की आढ़त से आया। मैदा, चीनी की आढ़त भी उन्हीं की थी। पाँचवें दिन प्रात:काल ब्रह्म-भोज हुआ। संध्या-समय बिरादरी का ज्योनार। सुशीला के द्वार पर बग्घियों और मोटरों की कतारें खड़ी थीं। भीतर मेहमानों की पंगतें थीं। आँगन, बैठक, दालान, बरोठा, ऊपर की छत नीचे-ऊपर मेहमानों से भरा हुआ था। लोग भोजन करते थे और पंचों को सराहते थे। खर्च तो सभी करते हैं; पर इन्तजाम का सलीका चाहिए। ऐसे स्वादिष्ट पदार्थ बहुत कम खाने में आते हैं।
'सेठ चम्पाराम के भोज के बाद ऐसा भोज रामनाथजी का ही हुआ है।' 
'अमृतियाँ कैसी कुरकुरी हैं !' 
'रसगुल्ले मेवों से भरे हैं।' 
'सारा श्रेय पंचों को है।' 
धनीराम ने नम्रता से कहा, 'आप भाइयों की दया है जो ऐसा कहते हो। रामनाथ से भाई-चारे का व्यवहार था। हम न करते तो कौन करता। चार दिन से सोना नसीब नहीं हुआ।' 
'आप धन्य हैं ! मित्र हों तो ऐसे हों।' 
'क्या बात है ! आपने रामनाथजी का नाम रख लिया। बिरादरी यही खाना-खिलाना देखती है। रोकड़ देखने नहीं जाती।' 
मेहमान लोग बखान-बखान कर माल उड़ा रहे थे और उधर कोठरी में बैठी हुई सुशीला सोच रही थी संसार में ऐसे स्वार्थी लोग हैं ! सारा संसार स्वार्थमय हो गया है ! सब पेटों पर हाथ फेर-फेर कर भोजन कर रहे हैं। 
कोई इतना भी नहीं पूछता कि अनाथों के लिए कुछ बचा या नहीं। एक महीना गुजर गया। सुशीला को एक-एक पैसे की तंगी हो रही थी। नकद था ही नहीं, गहने निकल ही गये थे। अब थोड़े से बरतन बच रहे थे। उधर छोटे-छोटे बहुत-से बिल चुकाने थे। कुछ रुपये डाक्टर के, कुछ दरजी के, कुछ बनियों के। सुशीला को यह रकमें घर का बचा-खुचा सामान बेचकर चुकानी पड़ीं। और महीना पूरा होते-होते उसके पास कुछ न बचा। बेचारा सन्तलाल एक दूकान पर मुनीम था। कभी-कभी वह आकर एक-आधा रुपये दे देता। इधर खर्च का हाथ फैला हुआ था। लड़के अवस्था को समझते थे। माँ को छेड़ते न थे, पर मकान के सामने से कोई खोंचेवाला निकल जाता और वे दूसरे लड़कों को फल या मिठाई खाते देखते, तो उनके मुँह में पानी भरकर आँखों में भर जाता था। ऐसी ललचायी हुई आँखों से ताकते थे कि दया आती। वही बच्चे, जो थोड़े दिन पहले मेवे-मिठाई की ओर ताकते न थे अब एक-एक पैसे की चीज को तरसते थे। वही सज्जन, जिन्होंने बिरादरी का भोज करवाया था, अब घर के सामने से निकल जाते; पर कोई झाँकता न था। 
शाम हो गयी थी। सुशीला चूल्हा जलाये रोटियाँ सेंक रही थी और दोनों बालक चूल्हे के पास रोटियों को क्षुधित नेत्रों से देख रहे थे। चूल्हे के दूसरे ऐले पर दाल थी। दाल के पकने का इन्तजार था। लड़की ग्यारह साल की थी, लड़का आठ साल का। मोहन अधीर होकर बोला, अम्माँ, 'मुझे रूखी रोटियाँ ही दे दो। बड़ी भूख लगी है।' सुशीला -'अभी दाल कच्ची है भैया।' 
रेवती -'मेरे पास एक पैसा है। मैं उसका दही लिये आती हूँ।' 
सुशीला --'तूने पैसा कहाँ पाया ? ' 
रेवती -'मुझे कल अपनी गुड़ियों की पेटारी में मिल गया था।' 
सुशीला -'लेकिन जल्द आइयो।' 
रेवती दौड़कर बाहर गयी और थोड़ी देर में एक पत्ते पर जरा-सा दही ले आयी। माँ ने रोटी-सेंककर दे दी। दही से खाने लगा। आम लड़कों की भाँति वह भी स्वार्थी था। बहन से पूछा भी नहीं। सुशीला ने कड़ी आँखों से देखकर कहा, 'बहन को भी दे दे। अकेला ही खा जायगा।' 
मोहन लज्जित हो गया। उसकी आँखें डबडबा आयीं। रेवती बोली, 'नहीं अम्माँ, कितना मिला ही है। तुम खाओ मोहन, तुम्हें जल्दी नींद आ जाती है। मैं तो दाल पक जायगी तो खाऊँगी।' 
उसी वक्त दो आदमियों ने आवाज दी। रेवती ने बाहर जाकर पूछा, यह सेठ कुबेरदास के आदमी थे। मकान खाली कराने आये थे। क्रोध से सुशीला की आँखें लाल हो गयीं। बरोठे में आकर कहा, 'अभी मेरे पति को पीछे हुए महीना भी नहीं हुआ, मकान खाली कराने की धुन सवार हो गयी। मेरा 50 हजार का घर 30 हजार में ले लिया, पाँच हजार सूद के उड़ाये, फिर भी तस्कीन नहीं होती। कह दो, मैं अभी खाली नहीं करूँगी।' 
मुनीम ने नम्रता से कहा, 'बाई जी, मेरा क्या अख्तियार है। मैं तो केवल संदेसिया हूँ। जब चीज दूसरे की हो गयी, तो आपको छोड़नी ही पड़ेगी। झंझट करने से क्या मतलब।' 
सुशीला भी समझ गयी, 'ठीक ही कहता है। गाय हत्या के बल कै दिन खेत चरेगी। नर्म होकर बोली, 'सेठजी से कहो, मुझे दस-पाँच दिन की मुहलत दें। लेकिन नहीं, कुछ मत कहो। क्यों दस-पाँच दिन के लिए किसी का एहसान लूँ। मेरे भाग्य में इस घर में रहना लिखा होता, तो निकलता ही क्यों।' 
मुनीम ने पूछा, 'तो कल सबेरे तक खाली हो जायगा ? ' 
सुशीला-'हाँ, हाँ, कहती तो हूँ; लेकिन सबेरे तक क्यों, मैं अभी खाली किये देती हूँ। मेरे पास कौन-सा बड़ा सामान ही है। तुम्हारे सेठजी का रात-भर का किराया मारा जायगा। जाकर ताला-वाला लाओ या लाये हो ?' 
मुनीम -'ऐसी क्या जल्दी है, बाई। कल सावधानी से खाली कर दीजिएगा।' 
सुशीला -'क़ल का झगड़ा क्या रखूँ। मुनीमजी, आप जाइए, ताला लाकर डाल दीजिए। यह कहती हुई सुशीला अन्दर गयी, बच्चों को भोजन कराया, एक रोटी आप किसी तरह निगली, बरतन धोये, फिर एक एक्का मँगवाकर उस पर अपना मुख्तसर सामान लादा और भारी ह्रदय से उस घर से हमेशा के लिए विदा हो गयी। 
जिस वक्त यह घर बनवाया था, मन में कितनी उमंगें थीं। इसके प्रवेश में कई हजार ब्राह्मणों का भोज हुआ था। सुशीला को इतनी दौड़-धूप करनी पड़ी थी कि वह महीने भर बीमार रही थी। इसी घर में उसके दो लड़के मरे थे। यहीं उसका पति मरा था। मरनेवालों की स्मृतियों ने उसकी एक-एक ईंट को पवित्र कर दिया था। एक-एक पत्थर मानो उसके हर्ष से खुशी और उसके शोक से दुखी होता था। वह घर आज उससे छूटा जा रहा है। 
उसने रात एक पड़ोसी के घर में काटी और दूसरे दिन 10 रु. महीने पर एक गली में दूसरा मकान ले लिया। 
इस नये कमरे में इन अनाथों ने तीन महीने जिस कष्ट से काटे, वह समझनेवाले ही समझ सकते हैं। भला हो बेचारे सन्तलाल का। वह दस-पाँच रुपये से मदद कर दिया करता था। अगर सुशीला दरिद्र घर की होती, तो पिसाई करती, कपड़े सीती, किसी के घर में टहल करती; पर जिन कामों को बिरादरी नीचा समझती है, उनका सहारा कैसे लेती। नहीं तो लोग कहते, यह सेठ रामनाथ की स्त्री है ! उस नाम की भी तो लाज रखनी थी। समाज के चक्रव्यूह से किसी तरह तो छुटकारा नहीं होता। लड़की के दो-एक गहने बच रहे थे। वह भी बिक गये। जब रोटियों ही के लाले थे, तो घर का किराया कहाँ से आता। तीन महीने बाद घर का मालिक, जो उसी बिरादरी का एक प्रतिष्ठित व्यक्ति था और जिसने मृतक-भोज में खूब बढ़-बढ़कर हाथ मारे थे, अधीर हो उठा। बेचारा कितना धैर्य रखता। 30 रु. का मामला है, रुपये-आठ-आने की बात नहीं है। इतनी बड़ी रकम नहीं छोड़ी जाती। आखिर एक दिन सेठजी ने आकर लाल-लाल आँखें करके कहा, 'अगर तू किराया नहीं दे सकती, तो घर खाली कर दे। मैंने बिरादरी के नाते इतनी मुरौवत की। अब किसी तरह काम नहीं चल सकता। 
सुशीला बोली, 'सेठजी, मेरे पास रुपये होते, तो पहले आपका किराया देकर तब पानी पीती। आपने इतनी मुरौवत की, इसके लिए मेरा सिर आपके चरणों पर है, लेकिन अभी मैं बिलकुल खाली-हाथ हूँ। यह समझ लीजिए कि एक भाई के बाल-बच्चों की परवरिश कर रहे हैं। और क्या कहूँ।' 
सेठ -'चल-चल, इस तरह की बातें बहुत सुन चुका। बिरादरी का आदमी है, तो उसे चूस लो। कोई मुसलमान होता, तो उसे चुपके से महीने-महीने दे देती, नहीं तो उसने निकाल बाहर किया होता, मैं बिरादरी का हूँ, इसलिए मुझे किराया देने की दरकार नहीं। मुझे माँगना ही नहीं चाहिए। यही तो बिरादरी के साथ करना चाहिए।' 
इसी समय रेवती भी आकर खड़ी हो गयी। सेठजी ने उसे सिर से पाँव तक देखा और तब किसी कारण से बोले 'अच्छा, यह लड़की तो सयानी हो गयी। कहीं इसकी सगाई की बातचीत नहीं की ? ' 
रेवती तुरंत भाग गयी। सुशीला ने इन शब्दों में आत्मीयता की झलक पाकर पुलकित कंठ से कहा, 'अभी तो कहीं बातचीत नहीं हुई, सेठजी। घर का किराया तक तो अदा नहीं कर सकती, सगाई क्या करूँगी; फिर अभी छोटी भी तो है।' 
सेठजी ने तुरंत शास्त्रों का आधार दिया। कन्याओं के विवाह की यही अवस्था है। धर्म को कभी नहीं छोड़ना चाहिए। किराये की कोई बात नहीं है। हमें क्या मालूम था कि सेठ रामनाथ के परिवार की यह दशा है।' 
सुशीला -'तो आपकी निगाह में कोई अच्छा घर है ! यह तो आप जानते ही हैं, मेरे पास लेने-देने को कुछ नहीं है।' 
झाबरमल -'(इन सेठजी का यही नाम था) लेने-देने का कोई झगड़ा नहीं होगा; बाईजी। ऐसा घर है कि लड़की आजीवन सुखी रहेगी। लड़का भी उसके साथ रह सकता है। कुल का सच्चा; हर तरह से संपन्न परिवार है। हाँ, वह दोहाजू (दूजवर) है। ' 
सुशीला -'उम्र अच्छी होनी चाहिए, दोहाजू होने से क्या होता है।' 
झाबरमल -'उम्र भी कुछ ज्यादा नहीं, अभी चालीसवाँ ही साल है उसका, पर देखने में अच्छा ह्रष्ट-पुष्ट है। मर्द की उम्र उसका भोजन है। बस यह समझ लो कि परिवार का उद्धार हो जायगा।' 
सुशीला ने अनिच्छा के भाव से कहा, 'अच्छा, मैं सोचकर जवाब दूँगी।एक बार मुझे दिखा देना। 
झाबरमल-' दिखाने को कहीं नहीं जाना है, बाई। वह तो तेरे सामने ही खड़ा है।' 
सुशीला ने घृणापूर्ण नेत्रों से उसकी ओर देखा। इस पचास साल के बुङ्ढे की यह हबस ! छाती का मांस लटककर नाभी तक आ पहुँचा है, फिर भी विवाह की धुन सवार है। यह दुष्ट समझता है कि प्रलोभनों में पड़कर 
मैं अपनी लड़की उसके गले बाँध दूँगी। वह अपनी बेटी को आजीवन क्वॉरी रखेगी; पर ऐसे मृतक से विवाह करके उसका जीवन नष्ट न करेगी, पर उसने अपने क्रोध को शांत किया। समय का फेर है, नहीं तो ऐसों को उससे ऐसा प्रस्ताव करने का साहस ही क्यों होता। बोली, 'आपकी इस कृपा के लिए आपको धन्यवाद देती हूँ, सेठजी, पर मैं कन्या का विवाह आपसे नहीं कर सकती।' 
झाबरमल -'तो और क्या तू समझती है कि तेरी कन्या के लिए बिरादरी में कोई कुमार मिल जायगा ? ' 
सुशीला -'मेरी लड़की क्वॉरी रहेगी।' 
झाबरमल -'और रामनाथजी के नाम को कलंकित करेगी ? ' 
सुशीला -'तुम्हें मुझसे ऐसी बातें करते लाज नहीं आती ? नाम के लिए घर खोया, संपत्ति खोयी, पर कन्या कुएं में नहीं डुबा सकती।' 
झाबरमल-' तो मेरा केराया दे दे।' 
सुशीला -'अभी मेरे पास रुपये नहीं हैं।' 
झाबरमल ने भीतर घुसकर गृहस्थ की एक-एक वस्तु निकालकर गली में फेंक दी। घड़ा फूट गया, मटके टूट गये। संदूक के कपड़े बिखर गये। सुशीला तटस्थ खड़ी अपने अदिन की यह क्रूर क्रीड़ा देखती रही। घर का यों विध्वंस करके झाबरमल ने घर में ताला डाल दिया और अदालत से रुपये वसूल करने की धमकी देकर चले गये। बड़ों के पास धन होता है, छोटों के पास ह्रदय होता है। धन से बड़े-बड़े व्यापार होते हैं; बड़े-बड़े महल बनते हैं, नौकर-चाकर होते हैं, सवारी-शिकारी होती है; ह्रदय से समवेदना होती है, आँसू निकलते हैं। 
उसी मकान से मिली हुई एक साग-भाजी बेचनेवाली खटकिन की दूकान थी। वृद्धा, विधवा निपूती स्त्री थी, बाहर से आग, भीतर से पानी। झाबरमल को सैकड़ों सुनायीं और सुशीला की एक-एक चीज उठाकर अपने घर में ले गयी। 'मेरे घर में रहो बहू। मुरौवत में आ गयी, नहीं तो उसकी मूँछें उखाड़ लेती। मौत सिर पर नाच रही है, आगे नाथ, न पीछे पगहा ! और धन के पीछे मरा जाता है। जाने छाती पर लादकर ले जायगा। तुम चलो मेरे घर में रहो। मेरे यहाँ किसी बात का खटका नहीं बस मैं अकेली हूँ। एक टुकड़ा मुझे भी दे देना।' 
सुशीला ने डरते-डरते कहा, 'माता, मेरे पास सेर-भर आटे के सिवा और कुछ नहीं है। मैं तुम्हें केराया कहाँ से दूँगी।' 
बुढ़िया ने कहा, 'मैं झाबरमल नहीं हूँ बहू, न कुबेरदास हूँ। मैं तो समझती हूँ, जिन्दगी में सुख भी है, दुख भी है। सुख में इतराओ मत, दु:ख में घबड़ाओ मत। तुम्हीं से चार पैसे कमाकर अपना पेट पालती हूँ। तुम्हें उस दिन भी देखा था; जब तुम महल में रहती थीं और आज भी देख रही हूँ, जब तुम अनाथ हो। जो मिजाज तब था, वही अब है। मेरे धन्य भाग कि तुम मेरे घर में आओ। मेरी आँखें फूटी हैं, जो तुमसे केराया माँगने जाऊँगी।' इन सांत्वना से भरे हुए सरल शब्दों ने सुशीला के ह्रदय का बोझ हल्का कर दिया। उसने देखा, सच्ची सज्जनता भी दरिद्रों और नीचों ही के पास रहती है। बड़ों की दया भी होती है, अहंकार का दूसरा रूप ! 
इस खटकिन के साथ रहते हुए सुशीला को छ: महीने हो गये थे। सुशीला का उससे दिन-दिन स्नेह बढ़ता जाता था। वह जो कुछ पाती, लाकर सुशीला के हाथ में रख देती। दोनों बालक उसकी दो आँखें थीं। मजाल न थी कि पड़ोस का कोई आदमी उन्हें कड़ी आँखों से देख ले। बुढ़िया दुनिया सिर पर उठा लेती। सन्तलाल हर महीने कुछ-न-कुछ दे दिया करता था। इससे रोटी-दाल चली जाती थी। 
कातिक का महीना था ज्वर का प्रकोप हो रहा था। मोहन एक दिन खेलता-कूदता बीमार पड़ गया और तीन दिन तक अचेत पड़ा रहा। ज्वर इतने जोर का था कि पास खड़े रहने से लपट-सी निकलती थी। बुढ़िया ओझे-सयानों के पास दौड़ती फिरती थी; पर ज्वर उतरने का नाम न लेता था। सुशीला को भय हो रहा था, यह टाइफाइड है। इससे उसके प्राण सूख रहे थे। चौथे दिन उसने रेवती से कहा, 'बेटी, तूने बड़े पंचजी का घर तो देखा है। जाकर उनसे कह भैया बीमार है, कोई डाक्टर भेज दें।' 
रेवती को कहने भर की देरी थी। दौड़ती हुई सेठ कुबेरदास के पास गयी। कुबेरदास बोले ड़ाक्टर की फीस 16रू. है। तेरी माँ दे देगी ? ' 
रेवती ने निराश होकर कहा, 'अम्माँ के पास रुपये कहाँ हैं ? ' 
कुबेरदास -'तो फिर किस मुँह से मेरे डाक्टर को बुलाती है। तेरा मामा कहाँ है ? उनसे जाकर कह, सेवा समिति से कोई डाक्टर बुला ले जायँ, नहीं तो खैराती अस्पताल में क्यों नहीं लड़के को ले जाती ? या अभी वही पुरानी बू समाई हुई है। कैसी मूर्ख स्त्री है, घर में टका नहीं और डाक्टर का हुकुम लगा दिया। समझती होगी, फीस पंचजी दे देंगे। पंचजी क्यों फीस दें ? बिरादरी का धन धर्म-कार्य के लिए है, यों उड़ाने के लिए नहीं है।' 
रेवती माँ के पास लौटी; पर जो कुछ सुना था, वह उससे न कह सकी। घाव पर नमक क्यों छिड़के। बहाना कर दिया, बड़े पंचजी कहीं गये हैं। सुशीला तो मुनीम से क्यों नहीं कहा, ? यहाँ क्या कोई मिठाई खाये जाता था, जो दौड़ी चली आयी ? इसी वक्त सन्तलाल एक वैद्यजी को लेकर आ पहुँचा। वैद्य भी एक दिन आकर दूसरे दिन न लौटे। सेवा-समिति के डाक्टर भी दो दिन बड़ी मिन्नतों से आये। फिर उन्हें भी अवकाश न रहा और मोहन की दशा दिनोंदिन बिगड़ती जाती थी। महीना बीत गया; पर ज्वर ऐसा चढ़ा कि एक क्षण के लिए भी न उतरा। उसका चेहरा इतना सूख गया था कि देख कर दया आती थी। न कुछ बोलता, न कहता, यहाँ तक कि करवट भी न बदल सकता था। पड़े-पड़े देह की खाल फट गयी, सिर के बाल गिर गये। हाथ-पाँव लकड़ी हो गये। सन्तलाल काम से छुट्टी पाता तो आ जाता, पर इससे क्या होता; तीमारदारी दवा तो नहीं है। 
एक दिन सन्ध्या समय उसके हाथ ठण्डे हो गये। माता के प्राण पहले ही से सूखे हुए थे। यह हाल देखकर रोने-पीटने लगी। मिन्नतें तो बहुतेरी हो चुकी थीं। रोती हुई मोहन की खाट के सात फेरे करके हाथ बाँधकर 
बोली, 'भगवान् ! यही मेरे जन्म की कमाई है। अपना सर्वस्व खोकर भी मैं बालक को छाती से लगाए हुए सन्तुष्ट थी; लेकिन यह चोट न सही जायगी। तुम इसे अच्छा कर दो। इसके बदले मुझे उठा लो। बस, मैं यही दया चाहती हूँ, दयामय ? ' 
संसार के रहस्य को कौन समझ सकता है ! क्या हममें से बहुतों को यह अनुभव नहीं कि जिस दिन हमने बेईमानी करके कुछ रकम उड़ायी, उसी दिन उस रकम का दुगुना नुकसान हो गया। सुशीला को उसी दिन रात को ज्वर आ गया और उसी दिन मोहन का ज्वर उतर गया। बच्चे की सेवा-शुश्रूषा में आधी तो यों ही रह गयी थी, इस बीमारी ने ऐसा पकड़ा कि फिर न छोड़ा। मालूम नहीं, देवता बैठे सुन रहे थे या क्या, उसकी याचना अक्षरश: पूरी हुई। पन्द्रहवें दिन मोहन चारपाई से उठकर माँ के पास आया और उसकी छाती पर सिर रखकर रोने लगा। माता ने उसके गले में बाँहें डालकर उसे छाती से लगा लिया और बोली, 'क्यों रोते हो बेटा ! मैं अच्छी हो जाऊँगी। अब मुझे क्या चिंता। भगवान् पालनेवाले हैं। वही तुम्हारे रक्षक हैं। वही तुम्हारे पिता हैं। अब मैं सब तरफ से निश्चिंत हूँ। जल्द अच्छी हो जाऊँगी।' 
मोहन बोला, 'ज़िया तो कहती है, अम्माँ अब न अच्छी होंगी।' 
सुशीला ने बालक का चुम्बन लेकर कहा, 'ज़िया पगली है, उसे कहने दो। मैं तुम्हें छोड़कर कहीं न जाऊँगी। मैं सदा तुम्हारे साथ रहूँगी। हाँ, जिस दिन तुम कोई अपराध करोगे, किसी की कोई चीज उठा लोगे, उसी दिन 
मैं मर जाऊँगी ? ' 
मोहन ने प्रसन्न होकर कहा, 'तो तुम मेरे पास से कभी नहीं जाओगी माँ ? ' 
सुशीला ने कहा, 'क़भी नहीं बेटा, कभी नहीं।' 
उसी रात को दु:ख और विपत्ति की मारी हुई यह अनाथ विधवा दोनों अनाथ बालकों को भगवान् पर छोड़कर परलोक सिधार गयी। 
इस घटना को तीन साल हो गये हैं, मोहन और रेवती दोनों उसी वृद्धा के पास रहते हैं। बुढ़िया माँ तो नहीं है; लेकिन माँ से बढ़कर है। रोज मोहन को रात की रखी रोटियाँ खिलाकर गुरुजी की पाठशाला में पहुँचा आती है। 
छुट्टी के समय जाकर लिवा आती है। रेवती का अब चौदहवाँ साल है। वह घर का सारा काम पीसना-कूटना, चौका-बरतन, झाडू-बुहारू करती है। बुढ़िया सौदा बेचने चली जाती है, तो वह दूकान पर भी आ बैठती है। 
एक दिन बड़े पंच सेठ कुबेरदास ने उसे बुला भेजा और बोले, ' तुझे दूकान पर बैठते शर्म नहीं आती, सारी बिरादरी की नाक कटा रही है। खबरदार, जो कल से दूकान पर बैठी। मैंने तेरे पाणिग्रहण के लिए झाबरमल जी को पक्का कर लिया है।' 
सेठानी ने समर्थन किया, 'तू अब सयानी हुई बेटी, अब तेरा इस तरह बैठना अच्छा नहीं। लोग तरह-तरह की बातें करने लगते हैं। सेठ झाबरमल तो राजी ही न होते थे, हमने बहुत कह-सुनकर राजी किया है। बस, समझ ले कि रानी हो जायगी। लाखों की सम्पत्ति है, लाखों की। तेरे धन्य भाग कि ऐसा वर मिला। तेरा छोटा भाई है, उसको भी कोई दूकान करा दी जायगी। सेठ बिरादरी की कितनी बदनामी है ! सेठानी है ही।' 
रेवती ने लज्जित होकर कहा, 'मैं क्या जानूँ, आप मामा से कहें।' 
सेठ -' वह कौन होता है ! टके पर मुनीमी करता है। उससे मैं क्या पूछूँ। मैं बिरादरी का पंच हूँ। मुझे अधिकार है, जिस काम से बिरादरी का कल्याण देखूँ, वह करूँ। मैंने और पंचों से राय ले ली है। सब मुझसे सहमत हैं। अगर तू यों नहीं मानेगी, तो हम अदालती कार्रवाई करेंगे। तुझे खरच-बरच का काम होगा, यह लेती जा।' 
यह कहते हुए उन्होंने 20रू. के नोट रेवती की तरफ फेंक दिये। रेवती ने उठाकर वहीं पुरजे-पुरजे कर डाले और तमतमाये मुख से बोली, 'बिरादरी ने तब हम लोगों की बात न पूछी; जब हम रोटियों को मुहताज थे। मेरी माता मर गयी; कोई झाँकने तक न आया। मेरा भाई बीमार हुआ, किसी ने खबर तक न ली। ऐसी बिरादरी की मुझे परवाह नहीं है।' रेवती चली गयी, तो झाबरमल कोठरी से निकल आये। चेहरा उदास था।
सेठानी ने कहा, 'लड़की बड़ी घमंडिन है। आँख का पानी मर गया है।' 
झाबरमल -'बीस रुपये खराब हो गये। ऐसा फाड़ा है कि जुड़ भी नहीं सकते।' 
कुबेरदास--'तुम घबड़ाओ नहीं; मैं इसे अदालत से ठीक करूँगा। जाती कहाँ है।' 
झाबरमल -'अब तो आपका ही भरोसा है।' 
बिरादरी के बड़े पंच की बात कहीं मिथ्या हो सकती है ? रेवती नाबालिग थी। माता-पिता नहीं थे। ऐसी दशा में पंचों का उस पर पूरा अधिकार था। वह बिरादरी के दबाव में नहीं रहना चाहती है, न चाहे। कानून बिरादरी के अधिकार की उपेक्षा नहीं कर सकता। सन्तलाल ने यह माजरा सुना; तो दाँत पीसकर बोले न जाने इस 
बिरादरी का भगवान् कब अंत करेंगे। 
रेवती -'क्या बिरादरी मुझे जबरदस्ती अपने अधिकार में ले सकती है ? ' 
सन्तलाल-' हाँ बेटी, धानिकों के हाथ में तो कानून भी है।' 
रेवती -'मैं कह दूँगी कि मैं उनके पास नहीं रहना चाहती।' 
सन्तलाल -'तेरे कहने से क्या होगा। तेरे भाग्य में यही लिखा था, तो किसका बस है। मैं जाता हूँ बड़े पंच के पास। ' 
रेवती -'नहीं मामाजी, तुम कहीं न जाव। जब भाग्य ही का भरोसा है; तो जो कुछ भाग्य में लिखा होगा वह होगा।' 
रात तो रेवती ने घर में काटी। बार-बार निद्रा-मग्न भाई को गले लगाती। यह अनाथ अकेला कैसे रहेगा, यह सोचकर उसका मन कातर हो जाता; पर झाबरमल की सूरत याद करके उसका संकल्प दृढ़ हो जाता। प्रात:काल रेवती गंगा-स्नान करने गयी। यह इधर कई महीनों से उसका नित्य का नियम था। आज जरा अँधेरा था; पर यह कोई सन्देह की बात न थी। सन्देह तब हुआ, जब आठ बज गये और वह लौटकर न आयी। 
तीसरे पहर सारी बिरादरी में खबर फैल गई सेठ रामनाथ की कन्या गंगा में डूब गई। उसकी लाश पाई गई। 
कुबेरदास ने कहा, 'चलो, अच्छा हुआ; बिरादरी की बदनामी तो न होगी।' 
झाबरमल ने दुखी मन से कहा, 'मेरे लिए अब कोई और उपाय कीजिए।' 
उधर मोहन सिर पीट-पीटकर रो रहा था और बुढ़िया उसे गोद में लिये समझा रही थी बेटा, उस देवी के लिए क्यों रोते हो। जिन्दगी में उसके दुख-ही-दुख था। अब वह अपनी माँ की गोद में आराम कर रही है। 

user image Arvind Swaroop Kushwaha - 08 May 2020 at 7:21 PM -

लाइपोमा - एक बीमारी

:बिना दर्द की चर्बीवाली गांठों को लाइपोमा कहते हैं।
know-about-lymphoma
लिव-वैल : इन गांठों से शरीर को कोई तकलीफ नहीं होती, किसी भी अंग में बन सकती हैं

लाइपोमा एक सामान्य रोग है जिसे चर्बी से बनी गांठ कहते हैं। ये गांठें एक जगह इकट्ठी होकर उभर आती ... हैं। खास बात है कि इनसे शरीर को कोई नुकसान नहीं होता। सिर्फ एक फीसदी मामले ही इनके कैंसर कोशिकाओं में तब्दील होने के आते हैं। ये 40-50 वर्ष की आयु वालों में अधिक होती हैं। इनका आकार 1-3 सेमी. होता है। ये गांठें त्वचा पर उभरी हुई व कई बार पेट या किसी अन्य अंग के अंदर भी ये बनने लगती हैं। इन्हें छूने पर गुदगुदी का अहसास होता है व दबाने से इनमें जमा फैट इधर-उधर चला जाता है।

गर्दन, कंधे, कमर, पीठ, पेट, बाजुओं और जांघों पर खासकर उभरने वाली गांठें शरीर के किसी भी हिस्से और अंग में हो सकती हैं। यह उभार तीन तरह का होता है- फैटी टिश्यु, ट्यूमर व कोशिकाओं का स्वत: बढऩा। बच्चों में होने वाला लाइपोमा दुर्लभ होता है जिसके मामले कम ही सामने आते हैं।

नसों पर गांठ होने पर होता दर्द
लाइपोमा यदि नसों पर उभर जाए तो इनमें दर्द होने लगता है। ऐसे में वजह जानने के लिए सीटी स्कैन, एमआरआई, एक्स-रे या अल्ट्रासाउंड जांच कराई जाती है। सर्जरी से दर्द वाली गांठों का इलाज होता है व जल्द से जल्द इन्हें निकलवा देना चाहिए। वहीं शरीर पर कोई गांठ ऐसी बनी हो जो दर्द नहीं कर रही है और ठोस है तो सतर्क होने की जरूरत है। ये गांठ कैंसर की हो सकती है। ऐसे में विशेषज्ञ तुरंत फाइन निडल एस्पिरेशन साइटोलॉजी (एफएनएसी) जांच कराने की सलाह देते हैं। कुछ मामलों में गांठ की बायोप्सी जांच के तहत इसके अंदर सुई डालकर कुछ हिस्सा बाहर निकाल लेते हैं। इसमें मौजूद लिक्विड व अन्य पदार्थ की जांच कर पता करते हैं कि वे कैंसर है या नहीं।

कारण- लाइपोमा के स्पष्ट कारणों का पता अभी तक नहीं चला है। लेकिन दो मुख्य कारणों से यह समस्या सामने आती है। पहला लाइपोमेटोसिस, जो आनुवांशिक समस्या है। इसमें त्वचा-मांसपेशियों के बीच के हिस्से में गांठ बनती है। दूसरा मोटापा, जिसमें चर्बी वाली कोशिकाएं शरीर के विभिन्न हिस्सों में किसी एक जगह एकत्र होकर धीरे-धीरे गांठ का रूप लेती हैं। इनके अलावा जो लोग अधिक फास्ट फूड, डीप फ्रिज में रखा भोजन, मिठाई, नमकीन, बटर, घी, चीज और या फिर इनके साथ कोल्डड्रिंक अधिक पीते हैं उनमें इस तरह की गांठें बनने की आशंका अधिक होती है।

इलाज- आयुर्वेद में गुनगुना पानी पीने, सुपाच्य भोजन करने की सलाह देते हैं। पंचकर्म, शोधनवस्ती प्रक्रिया के अलावा उभार कम करने के लिए गांठ पर औषधियों का लेप लगाते हैं। कई बार चीरा लगाकर गांठ में मौजूद गाढ़े तत्त्व को निकालकर शोधन औषधियों का लेप लगाते हैं ताकि समस्या दोबारा न हो। होम्योपैथी में इसे साइकोटिक मियाज्म रोग कहते हैं। लक्षणों के अनुसार कैलकेरिया व लैपीसाइलबाई दवा रोगी को देते हैं।

सिकाई न करें
शरीर पर बनी कोई भी गांठ की सिकाई बिना डॉक्टरी सलाह के न करें। खासकर यदि गांठ लाइपोमा की और उसके अंदर का फैट दबने पर इधर से उधर हो तो। इन गांठों को लेकर लोग सोचते हैं कि सिकाई से ये सिकुड़ कर कम हो जाएंगी। जबकि ऐसा नहीं है। सिकाई करने से भीतर की चर्बी जलती है व अंदर ही अंदर जानलेवा संक्रमण हो सकता है।

लापरवाही न बरतें
शरीर के किसी भी अंग में गांठ उभरे तो डॉक्टरी सलाह जरूरी लें। कई बार गांठ के बने रहने से व्यक्ति तनाव में रहने लगता है जिससे स्थिति बिगड़ सकती है।

user image Arvind Swaroop Kushwaha - 08 May 2020 at 6:29 AM -

प्रकाश वर्ष

किलोमीटर में क्यों नहीं नापी जाती है तारों और ग्रहों की दूरी?

चंद्रमा पृथ्वी से तीन लाख चौरासी हजार किलोमीटर दूर है। सूर्य हमारी पृथ्वी से करीब 15 करोड़ किमी दूर है। इनकी दूरी हम किलोमीटर में बताते हैं, लेकिन जब दूसरे ग्रहों या तारों की ... बात आती है तो दूरी किलोमीटर के बजाए प्रकाश वर्ष में गिनी जाती है। आइए इसकी वजह को समझते हैं।

पिछले सालों में हम अंतरिक्ष यानों की मदद से सौरमंडल के अनेक कोनों तक पहुंचने में सफल रहे हैं। यहां तक कि किसी अन्य खगोलीय पिंड पर मानव को भी भेजने में सफल हुए हैं। मसलन 4,00,000 किलोमीटर दूर चांद पर। अंतरिक्ष के लिहाज से ये छोटी दूरियां हैं। और इसलिए सौर मंडल की इन दूरियों को हम मील या किलोमीटर में माप सकते हैं।
चंद्रमा तो हमारा करीबी पड़ोसी है लेकिन शनि की दूरी पृथ्वी से 1.5 अरब किलोमीटर है। यदि हम करीबी तारामंडल में जाना चाहते हैं तो हमें करीब 40 अरब किलोमीटर से ज्यादा लंबा का सफर करना होगा।
किसी यान को भेजना तो बहुत बड़ी बात है, प्रकाश जो कि एक सेकेंड में तीन लाख किलोमीटर चलता है उसको भी इतनी दूरी को तय करने में 4 साल लगेंगे। प्रकाश अंतरिक्ष में हमेशा समान गति से चलता है इसलिए दूरी की व्याख्या करने या उसे तय करने के लिए अंतरिक्षयात्री इसी का इस्तेमाल करते हैं।

दूरी तय करने के लिए वे तथाकथित पैरालैक्स मेथड का इस्तेमाल करते हैं। इसमें वे किसी खास तारे के कोण को मापते हैं। आधे साल बाद वे उस कोण को फिर से मापते हैं। उसके बाद त्रिकोणमिति की मदद से वे सितारों के बीच की दूरी माप सकते हैं। लेकिन ये तरीका सिर्फ हमारे करीबी तारामंडलों में काम करता है। लगभग 150 प्रकाश वर्ष की दूरी तक।

यदि अंतरिक्ष विज्ञानी आकाश गंगा का आकार या पड़ोसी आकांश गंगा की दूरी मापाना चाहते हैं तो, उन्हें एक दूसरे इंचीटेप की जरूरत होती है, इसे सेफाइड कहते हैं।
कुछ खास तरह की चमक विखरने वाले सितारों को चमकती मोमबत्ती कहा जाता है।
जिन चमकते तारों के बारे में हमें मालूम है कि वे कितनी दूरी पर हैं और कितनी रोशनी छोड़ते हैं उन्हें हम स्टैंडर्ड मोमबत्ती कहते हैं।
इन ज्ञात चमकते तारों के सापेक्ष सेफाइड विधि से टेलिस्कोप में आने वाली रोशनी की मात्रा से अंतरिक्ष विज्ञानी दूसरे तारों की दूरी की गणना कर सकते हैं।

हबल टेलिस्कोप से ब्रह्मांड के दिखने वाले हिस्से तक पाए जाने वाले रोशनी के इन उद्गमों की दूरी को मापा जा सकता है।

user image Arvind Swaroop Kushwaha - 30 Apr 2020 at 9:10 PM -

कैंसर, cancer

भारत मे कुल 84 लाख के आसपास मौतें हर साल होती हैं। कैंसर से मरने वालों की संख्या कुल मौतों का 13 प्रतिशत है। इस हिसाब से हर साल 10 लाख से भी ज्यादा लोग कैंसर से मरने को विवश हैं। और 10 लाख से ... अधिक नए लोग इसमे जुड़ते जाते हैं। कैंसर के इलाज के लिए जो अस्पताल बनाए गए हैं, उनमें साधन कम हैं, वेटिंग लिस्ट बहुत लंबी हैं। बीमार कई बार स्ट्रेचर पर ही दम तोड़ जाते हैं।

आमतौर पर कहीं दर्द होने पर हल्की फुल्की दवाइयां लेकर लोग काम चला लेते हैं। श्वेता जब बनारस आई थी तो उसी समय एक बार तौसीफ़ के यहाँ से कपड़े लेकर आते समय व रास्ते में कुछ काम पड़ जाने के बाद मेरे सिर में बहुत तेज दर्द होने लगा था। हालांकि ऐसा दर्द चार छह दिन में अमूमन हो जाता था। लेकिन इस बार मुकेश ने सेरेडॉन लाकर दिया और कुछ ही देर में हमें आराम हो गया था। तबसे मैं इस दवा को हमेशा अपने पास रखने लगा। जब भी दिक्कत होती खा लेता। इससे पहले ग्रेजुएशन के दिनों में पैरासिटामॉल का आदती हो गया था, यह आदत मास्टर्स तक बनी रही। अभी भी कॉलपोल हमारे बैग में पड़ी रहती है। चार छह दिन में एकाध बार असहनीय सिरदर्द अभी भी हो जाता है। सेरेडॉन तो मिल नहीं पाई, लेकिन हरारत होने पर कॉलपोल खा लेता हूँ।

खैर, इसमें से अधिकतर लोग इलाज नही करवा पाते क्योंकि कैंसर का मुकम्म्मल इलाज 12 से 15 लाख के बीच पड़ता है। यदि कैंसर इन्फेक्टेड पार्ट शरीर से निकाल देने का कोई विकल्प है तो मरीज के स्वस्थ होने की संभावना बची रहती है अन्यथा तीसरी स्टेज के 60 प्रतिशत रोगी एक बार ठीक होकर जल्द फिर से चपेट में आ जाते हैं। 40 प्रतिषत की मृत्यु पहले इलाज के दौरान ही हो जाती है क्योंकि कीमोथेरेपी को बर्दाश्त करना हर बॉडी के बस का नही है। चौथी स्टेज पर 10 प्रतिशत मरीज ही बच पाते हैं।

यह समय कोरोना काल है। कुल 30 लाख इन्फेक्टेड लोगों मे से 10 लाख लोग ठीक होकर घर जा चुके हैं जो मीडिया नही बताता। तमाम अमीर औऱ साधन संपन्न लोग बचा लिए गए हैं। फिर भी संसार बाकी तमाम काम रोककर कोरोना वैक्सीन खोजने में लगा है। कोरोना जिस दिन कैंसर की तरह इकॉनमी बूस्टर बीमारी बन जाएगी, यह समाचारों से गायब हो जाएगी। हमें यह बता दिया जाएगा कि कोरोना अब उतना घातक नहीं है। कैंसर, दमा, एड्स, डेंगू, हेपिटाइटिस बी से भी तो मरते हैं न लोग। लेकिन सरकार को भारी टैक्स और आमदनी देकर मरते हैं। लेकिन दवाई उद्योग को बड़ा करके मरते हैं। दवा उद्योग एक उद्योग है, और उद्योग अपने फ़ितरत में ही बेईमान होता है। ऐसे में कैंसर के इलाज के शोध करके कोई सस्ता इलाज नहीं निकाल सकता। बीमा कम्पनियां कैंसर पीड़ित का स्वास्थ्य बीमा नही करतीं।

अभी पिछले दिनों बिहार के भभुआ से सासाराम गई हुई जिस मुस्लिम महिला को कोरोना पॉज़िटिव बताया गया था, और सोशल मीडिया वालों ने इसमें इवेंट खोज लिया था। उसकी पूरी कहानी जानेंगे तो पैरों तले से धरती खिसक जाएगी। दो साल हुए, उन महिला को कैंसर हो गया है। पटना के अस्पताल में उन्हें 12 साल बाद की तारीख़ दी गई है। ग़रीब परिवार है, इधर-उधर की दुकानों से दवाई लेकर किसी तरह से अपने दर्द को काबू में रखने और मजूरी करने का काम करती हैं। इधर लॉकडाउन में उनके परिवार की हालत क्या हुई होगी, इसकी कल्पना करें आप। ऐसे में खाने के लिए काम की तलाश में निकली थीं और जिनके भी संपर्क में आई हों, परिणाम आपके सामने है। आप सरकार के पक्ष-विपक्ष में होकर अपनी सुविधानुसार इवेंट का हिस्सा बन कर ख़ुश हैं।

जब खाने को शुद्ध भोजन, पीने को शुद्ध पानी और शुद्ध हवा नहीं मिलेगी तब कैंसर आपको नहीं होगा तो किसे होगा। जहरमुक्त भोजन,पानी, हवा के लिए हमने सरकार पर कभी दबाव नहीं बनाया, कभी इसके लिए पूंजीपतियों के ख़िलाफ़ मोर्चे नहीं खोले। किस तरीके से दूसरे विश्व युद्ध के बाद से योजनाबद्ध रूप में जनता को जहर खाने, जहर पीने और जहर के बीच में रहने को अभ्यस्त कर दिया गया है। हमें इसकी भनक तक नहीं लगी। जिन हथियार कम्पनियों ने लाखों लोगों की ज़िंदगी की कीमत पर अपने फ़ायदे कमाया था। उन्ही केमिकल का प्रयोग कीटाणुनाशक और फफूंदनाशक जैसी दवाओं को बनाने में किया जाने लगा। भारत में इसके लिए सबसे पहले सहारा लिया गया हरित क्रांति जैसी चीज का। इसे आज भी ग्लैमराइज करके परोसा जाता है।

हरित क्रांति ने सबसे पहले किसानों से उनके बीज पर स्वामित्व छीना, उनके बैल और हल छीने, उनके देशी उपचार छीने। इसका परिणाम यह हुआ की हाइब्रिड बीजों का प्रयोग करिए। उनमें रोग लगें तो उन्ही कंपनियों के बनाये गए जहरीले पदार्थों को डालकर ठीक करिए। फैक्टरियों और वाहनों के माध्यम से जलाशयों और हवा को जहरीला किया गया, ताकि दवाई, वाहन बनाने-बेचने वालों का धंधा दिनोदिन फलता फूलता रहे। किसान और दस्तकार समुदाय इसका विरोध न करे, इसके लिए धर्म की बूटी सुंघा दी गई। यह बूटी कितनी असरकारक है? यह देखने के लिए 1986 से लेकर आज तक की राजनीति, शोषण और दरबदर किये जाते समुदायों को देख लीजिए, मरते-मार खाते किसानों, मजदूरों, विद्यार्थियों को देख लीजिए। फौजी और पुलिस में गए बेटों से मार खाते किसान बाप-मां को देख लीजिए। जनता का खून कब खौलता है, जब उनके भगवान पर कोई समस्या खड़ी हो जाती है, तब। हसन निसार कहते हैं कि, "अगर 6 फीट के आदमी को 2×2 फ़ीट के पिंजरे में 20 साल के लिए बन्द कर दो तो फिर वो ना सिर्फ कुबड़ा बाहर निकलेगा बल्की हमेशा के लिए कुबड़ा वह हो चुका होगा।" म्मतलब आप समझ रहे होंगे।

अभी मेरे कई अजीज हैं, जिनके परिवार के किसी न किसी सदस्य को कैंसर है। हर गांव में कितने टीबी और कैंसर के मरीज हैं, उनकी कोई व्यवस्थित गिनती नहीं हो पाई है। जाने कितने लोग हृदय संबंधी समस्याओं से जूझ रहे हैं, कई लोगों ने हार्ट फेल्योर, हार्ट अटैक जैसी सरकार द्वारा पैदा की गई बीमारियों से अपने अज़ीज़ों को खोया है। हमने भी विगत फरवरी में अपने बहुत अजीज को खोया है। दवाई वाले दुकानदार के साथ डॉक्टरों की सेटिंग है। दवाई कम्पनियां डॉक्टरों से सेटिंग करके चलती हैं। दोनो का उद्देश्य स्वास्थ्य न होकर मुनाफा है। तब हम क्या करें?

अब होगा ये कि इन्ही हाइब्रिड बीजों और उनके जहर को 'ऑर्गेनिक' के नाम पर रंग, आकार-प्रकार और परची बदल कर बेचा जाएगा, वो भी कई गुना अधिक कीमत बढ़ाकर। आपको और हमको तय करना है कि हम किसके साथ खड़े हैं? अपने साथ या हमें मौत परोसने वालों के साथ। अपने साथ, अपनी जिंदगी के साथ खड़े होने का मतलब है कि आप किसान के साथ खड़े हों, न कि कृषि उपज के साथ। फैसला आपको करना है, ज़िन्दगी भी आपकी है। बस ख़्याल रहे कि, आप और हम इस धरती पर आख़िरी पीढ़ी नहीं हैं। कम से कम आने वाली पीढ़ी को जीने लायक हवा, पानी, खाना तो देकर जाएं। किसानों से और अपनी सभ्यता, अपनी ज़मीन, अपनी विरासत से ये नासमझी भरी दूरी आपको कहीं का नहीं छोड़ेगी। जल्द ही आप भी कैसंर या हृदय रोग से ग्रसित हो सकते हैं। आपको तो इरफ़ान खान जैसी सुविधा भी नहीं मिलेगी।

आज जब इसे लिख रहा हूँ तो भी सिर दर्द से फट रहा है, आँखें एकदम लाल हुई पड़ी हैं। पिछले चार दिनों से नींद बहुत दूर लग रही है।
Vikash Anand की वाल से साभार

user image Arvind Swaroop Kushwaha - 30 Apr 2020 at 8:44 PM -

धर्मों का समन्वय

मुझे आज बताया गया कि दुनिया में करीब 4000 पंथ हैं।
यदि यह सच है तो पंथ से ज्यादा जरूरत तो विभिन्न पंथों के बीच समन्वय की है।

user image Arvind Swaroop Kushwaha - 29 Apr 2020 at 11:11 PM -

दशहरा और दीपावली का महीना चैत्र

श्रीमद्वाल्मीकीय रामायण के अनुसार-

न तो आश्विन माह में रावण का वध हुआ और

न ही कार्तिक अमावस्या को राम अयोध्या लौटे दे।

अंधभक्त वाल्मीकीय रामायण का बुद्धि पूर्वक अध्ययन नहीं करते।

आश्विन मास में रावण को मार कर लोग ऋषि वाल्मीकि के साथ ... विश्वास घात करते हैं, जो नहीं किया जाना चाहिए।

वाल्मीकि रामायण में दसरथ पुत्र रामचन्द्र का राज्याभिषेक चैत्र मास की शुक्ल पक्ष की पंचमी छठी को होना था,

किन्तु राम का राज्याभिषेक तो दूर उन्ह कैकेई के दुराग्रह के कारण १४ वर्ष के लिए वनवास पर जाना पड़ा।

चैत्र श्रीमानयं मासः पुण्यः पुष्पित काननः,
यौवराज्याय रामस्य सर्वमेवोपकल्यताम् ।।
(अयोध्या काण्ड सर्ग ३ श्लोक 4)
अर्थ -
यह चैत्रमास बड़ा सुन्दर और पवित्र है , इसमें सारे वन -उपवन खिल उठे हैं, अतः इस समय श्रीराम का युवराज पद पर अभिषेक करने के लिए आप लोग सब सामग्री एकत्र कराइए।
श्व एव पुष्यो भविता श्वोभिषेच्यस्तु मे सुतः,
रामो राजीवपत्राक्षो युवराज इति प्रभुः ।।
(अयोध्या काण्ड सर्ग 4, श्लोक २)
अर्थ -
दसरथ ने मंत्रियों के साथ सलाह करके यह निश्चय किया कि कल ही पुष्य नक्षत्र होगा, अतः कल ही मुझे अपने पुत्र राम का युवराज के पद पर अभिषेक कर देना चाहिए।
अघ चन्द्रोम्युपगमत् पुष्यात् पूर्व पुनर्वसुम्,
श्वः पुष्ययोग नियत वक्ष्यन्ते दैव चिन्तकाः।
(अयोध्या काण्ड सर्ग 4 , श्लोक 21 )
अर्थ -
आज चन्द्रमा पुष्य से एक नक्षत्र पहले पुनर्वसु पर विराजमान है, अतः निश्चय ही कल वे पुष्य नक्षत्र पर रहेंगे, ऐसा ज्योतिषी लोगों का कहना है।

"योग्य पाठको! वाल्मीकीय रामायण के अनुसार राम का राज्याभिषेक चैत्र मास में ऐसी तिथि को होना था, जिस दिन पुष्य नक्षत्र पड़ रहा था।

सभी जानते हैं कि राम को अगले दिन राज्याभिषेक के स्थान पर १४ साल के लिए वन को जाना पड़ा।

भरत राम को लौटाने गये ,लेकिन राम लौटने को तैयार नहीं थे, तो भरत ने राम के समक्ष ही भीषण प्रतिज्ञा की -
चतुदर्शे हि सम्पूर्णे वर्षेऽहनि रघुत्तम,
न द्रक्ष्यामि यदि त्वां तु प्रवेच्क्षयामि हुताशनम् ।।
(अयोध्या काण्ड सर्ग ११२ श्लोक २५)
अर्थ -
हे राम! यदि चौदहवां वर्ष पूर्ण होने पर नूतन वर्ष के प्रथम दिन ही मुझे आपका दर्शन नहीं मिलेगा तो मैं जलती हुई ज्वाला आग में प्रवेश कर जाऊंगा।

"भरत की यह प्रतिज्ञा राम हमेशा याद रखते थे। राम तेरह वर्ष तक तो सही सलामत रहे। चौदहवां वर्ष लगते ही उनके सामने परेशानियां आने लगीं। चौदहवें वर्ष में रावण द्वारा सीता का अपहरण किया गया। राम-लक्ष्मण सीता को खोजते - खोजते जब सुग्रीव के यहां पहुंचे उस समय वर्षा प्रारंभ हो चुकी थी।

बाली का वध करने के बाद वे चार महीने सुग्रीव के राज्य में ही रहे।

किष्किंधा काण्ड के सर्ग ३० श्लोक ६४ में राम कहते हैं-
चत्वारो वार्षिका मासा गता वर्षशतोपमाः,
मम शोकाभितप्तस्य तथा सीतायपश्यतः।
अर्थात- मैं सीता को न देखने के कारण शोक से संतप्त हो रहा हूं , अतः ये वर्षा के चार महीने मेरे लिए सौ वर्षो के समान बीते हैं।"

इसी सर्ग के श्लोक 68 में वे कहते हैं -
वर्षा समयकालं तु प्रतिज्ञाय हरीश्वरः,
व्यतीतांश्चतुरो मासान् विरहन् नावबुध्यते।
अर्थात- "सुग्रीव ने यह प्रतिज्ञा की थी कि वर्षा का अंत होते ही सीता की खोज आरंभ कर दी जाएगी किन्तु वह क्रीड़ा विहार में इतना तन्मय हो गया है कि इन बीते हुए चार महीनों का उसे पता ही नही है।"
सुग्रीव अंगद हनुमान को दक्षिण में भेजते हैं। अंगद व हनुमान आश्विन मास के बीतते बीतते दक्षिण की ओर गए थे। एक महीना व्यतीत हो गया लेकिन वे सीता की खोज नहीं कर पाए। अंगद हनुमान कहने लगे -
शासनात् कपिराज्यस्य वयं सर्वे विनिर्गताः,
मासः पूर्णो बिलस्थानां हरयः किं न बुध्यते।
वयमाश्वयुजे मासि कालसंख्याव्यवस्थिताः,
प्रस्थिताः सोऽपि चातीतः किमतः कार्यमुत्तरम् ।
(किष्किन्धा काण्ड सर्ग 53 श्लोक - 8 व 9।
की निश्चित अवधि स्वीकार वह एक मास उस मास निर्धारित हुआ अंगद हनुमान सीता के पास जब पहुंचते हैं, तो सीता सुन्दर काण्ड सर्ग 37 श्लोक 8 में हनुमान से कहती हैं-
वर्तते दशमो मासो द्वौ तु शेषौ प्लवङ्गम्,
रावणेन नृशंसेन समयो यः कृति मम।
अर्थात- वानर! यह दसवां महीना चल रहा है। अब वर्ष पूरा होने में दो मास शेष हैं। निर्दयी रावण ने मेरे जीवन के लिए जो अवधि निश्चित की है, उसमें इतना ही समय बाकी रह गया है।


सीता हनुमान के माध्यम से राम के लिए एक संदेश भेजना चाहती है। सुन्दर काण्ड सर्ग 40 श्लोक 10 में सीता कहती हैं-
धारयिष्यामि मासं तु जीवितः शत्रुसूदन,
मासादूर्ध्वं न जीविष्ये त्वया हीना नृपात्मज।
अर्थात- "राजकुमार! मैं आपकी प्रतीक्षा में किसी तरह एक मास तक जीवित नहीं रह सकूंगी।"

इसके बाद राम रावण पर आक्रमण करते हैं। मेघनाद का वध होता है। मेघनाद के वध से दुखी होकर रावण सीता का वध करना चाहता है। रावण को रोकते हुए सुपाश्र्व कहता है -
कथं नाम दशग्रीव साक्षाद्वैश्रवणानुज,
हन्तुमिच्छसि वैदेहीं क्रोघादधर्ममपास्य चः।
(युद्ध काण्ड सर्ग 92 ,श्लोक 63)
अर्थ -
महाराज रावण ! तुम तो साक्षात कुबेर के भाई हो, फिर क्रोध के कारण धर्म को तिलांजलि देकर (छोड़कर) सीता के वध की इच्छा कैसे करते हो?
वेदविद्यावतस्नातः स्वकर्मनिरस्तथा ।
स्त्रियः कस्सा बवं बीर मन्यसे राक्षसेश्वर ।।
(युद्ध काण्ड सर्ग 92 श्लोक 64)
अर्थ -
वीर राक्षस राज! तुम विधिपूर्वक ब्रह्मचर्य का पालन करते हुए वेद विद्या का अध्ययन पूरा करके गुरुकुल से स्नातक होकर निकले थे और तब से सदा अपने कर्तव्य के पालन में लगे रहे तो भी आज अपने हाथ से एक स्त्री का वध करना तुम कैसे ठीक समझाते हो ?
अभ्युत्थान त्वमव कृष्णपक्ष चतुर्दशी ।
कृत्वा नियढमावस्यां विजयाय बलैबृत ।।
(युद्ध काण्ड सर्ग 92 श्लोक 66)
अर्थ -
आज कृष्णपक्ष की चतुर्दशी (चौदस) है। अतः आज ही युद्ध की तैयारी कर कल अमावस्या के दिन सेना के साथ विजय के लिए प्रस्थान करो ।
नैब रात्रि न दिवस न मुहुर्त न च क्षणम् ।
रामारावणयो युद्ध विरामधुपगच्छाति ।।
(युद्ध काण्ड सर्ग 107 श्लोक 66)
अर्थ -
राम और रावण का वह युद्ध न रात में बन्द होता था और न दिन में। दो घड़ी अथवा एक क्षण के लिए भी उसका विराम नहीं हुआ और अमावस्या के दिन मातलि द्वारा याद दिलाए जाने पर ही मर्यादा पुरुषोत्तम राम ने अगस्त्य ऋषि द्वारा प्रदत्त बाण के प्रहार से वध कर दिया।
स शरो रावणं हत्वा रुधिराद्रकृतच्छविः।
कृतवर्मा निभृतवत् स तूणीं पूनराविशत् ॥
(युद्ध काण्ड सर्ग 108 श्लोक 20)

अर्थ -
इस प्रकार रावण का वध करके खून से रंगा हुआ, वह शोभाशाली बाण अपना काम पूरा करने के बाद पुनःविनीत सेवक की भांति रामचन्द्र के तरकश में लौट आया।

विद्वान पाठकगण! जरा सोचिए कि रावण राम की पत्नी सीता का वध करना चाहता है, उस दिन चैत्र मासी चौदस थी लेकिन सुपाश्र्व के समझाने पर अगले दिन चैत्र मास की अमावस्या को रावण राम से लड़ने जाता है और रात दिन के संघर्ष में रावण राम के द्वारा ऋषि अगस्त्य द्वारा प्रदत बाण से मारा जाता है।
राम के ऐसे कहने पर विभीषण ने उत्तर दिया -
एवमुक्तषस्तु काकुत्स्थं प्रत्युवाच विभीषणः,
अह्ना त्वां प्रापयिष्यामि तां पुरीं पार्थिवात्मज।
"राज कुमार! आप इसके लिए चिन्तित न हों। मैं एक ही दिन में आपको उस पुरी (नगर )में पहुंचा दूंगा।" (सर्ग 121, श्लोक 8) ।
पुष्पकं
"मेरे यहां मेरे बड़े
"चैत्र मास की सुन्दरता का दृष्य (नजारा) दिखाते हुए राम चैत्र शुक्ल पक्ष पंचमी के दिन भारद्वाज मुनि के आश्रम में उतर कर उन्हें प्रणाम करते हैं -
पूर्ण चतुर्दशे वर्षे पंचम्यां लक्ष्मणाग्रजः ।
भरद्वाजाश्रमं प्राप्य ववन्दे नियतो मुनिम् ॥
(युद्ध काण्ड सर्ग 124 श्लोक 1)
अर्थ -
रामचन्द्र ने चौदह वर्ष पूर्ण होने पर पंचमी तिथि को भारद्वाज आश्रम में पहुंचकर मन को वश में रखते हुए मुनि को वंदन (प्रणाम) किया।
"चैत्र शुक्ल पक्ष पंचमी को आश्रम में उतर कर राम ने विचार किया कि आज ही चौदह वर्ष का अंतिम दिन है। भरत के संकल्प को याद करके उन्होंने
सोचा कि यदि आज भरत को मेरे आगमन की सूचना नहीं मिली तो वह आत्मदाह कर लेगा। अतः उन्होंने युद्ध काण्ड सर्ग 125 श्लोक 3 में हनुमान से कहा -
अयोध्यां त्वरितो गत्वा शीघ्रं प्लवगसत्तमं,
जानी कच्चित् कुशली जनो नृपतिमन्दिरे।
"कपिश्रेष्ठ! तुम शीघ्र ही अयोध्या जाकर पता कर लो कि राज भवन में सब लोग सकुशल तो हैं न।" और कहना-
पञ्चमीमद्य रजनीमुष्तिवा वचनानुनेः,
भरद्वाजाभ्यनुज्ञातं द्रक्ष्यस्यत्रैव राघवम्।
"वे (राम) प्रयाग में हैं और भारद्वाज मुनि के कहने से उन्हीं के आश्रम में आज पंचमी की रात बिताकर कल उनकी आज्ञा से वहां से चलेंगे। तुम्हें यहीं राम का दर्शन होगा।" (सर्ग 125, श्लोक 24)।

हनुमान उसी समय उड़े और भरत के पास जा पहुंचे। वाल्मीकि रामायण युद्ध काण्ड सर्ग १२६ श्लोक ५४ में हनुमान भरत से कहते हैं-
तां गंगां पुनरासाद्य वसन्तं मुनिसंनिधौ,
अविघ्नं पुष्ययोगेन श्वो रामं द्रष्टुमहर्सि।
"हे भरत! किष्किंधा से गंगा तट पर आकर वे प्रयाग में भारद्वाज मुनि के समीप ठहरे हुए हैं। कल पुष्य नक्षत्र के योग में आप किसी विघ्न बाधा के राम का दर्शन करेंगे।

विद्वान पाठको! जरा सोचिए कि राम वन को कौन से मास में गये ? उत्तर है -चैत्र मास में ,उनका राज्याभिषेक कौन से नक्षत्र में होना था, उत्तर है- पुष्य नक्षत्र में। उनको चौदह वर्ष कब पूर्ण होंगे? उत्तर है चैत्र मास में ही ,रावण की मृत्यु कौन से महीने में हुई? उत्तर है चैत्र की अमावस्या को। रावण वध के बाद प्रयाग में राम कौन सी तिथि को आये? उत्तर है -चैत्र शुक्ल पक्ष पंचमी को। राम भरत से कौन सी तिथि तथा कौन से नक्षत्र में मिले? उत्तर है-चैत्र शुक्ल पक्ष की छठ और पुष्य नक्षत्र में। अतः रावण का वध चैत्र मास की अमावस्या का होना चाहिए, न कि आश्विन शुक्ल पक्ष दसवीं को, तो फिर हिन्दू लोग विजयादशमी और दीपावली का संबंध राम से क्यों मानते हैं?

*हिन्दुओं को जो रामायण/ राम में आस्था रखते हों,उन्हें राम की रावण पर विजय के बाद अयोध्या आगमन पर प्रकाश उत्सव पर्व चैत के महीने में मनाना चाहिए। दशहरा चैत्र की अमावस्या को व उन्हें दीवाली चैत्र शुक्ल की छठ को राम - रावण कथानक के मद्देनजर मनाना चाहिए।*

user image Arvind Swaroop Kushwaha - 29 Apr 2020 at 7:42 AM -

चंद्र गुप्त मौर्य chandra gupt maurya

बहुत समय पहले घ्रणानन्द नाम का एक राजा था। उसके राज्य में दयानंद नाम का एक चरवाहा रहता था। अचानक घ्रणानन्द अत्याचारी हो गया। उसने तमाम स्त्री-पुरुषों को जेल में डाल दिया। तमाम बच्चे अनाथ हो गए। दयानंद ऐसे सैकड़ों अनाथ बच्चों को लेकर दूर ... कहीं जंगल में चला गया। वहां मोर बहुत रहते थे। उन्हीं बच्चों में से एक का नाम किशन चंद्र था। किशन चन्द्र और उसके बाकी साथी दयानंद के जानवर चराया करते थे। उसी जंगल में कुम्भकर्ण नाम के एक बाबा रहते थे। बाबा एक दिन दयानंद के पास आये और किशन चंद तथा एक और लड़के को अपनी सेवा के लिए मांग ले गए।
बाबा कुम्भकरण बहुत पहुंचे हुए तपस्वी थे। उनको 6 माह तक नींद नहीं आती थी और फिर 6 माह तक वह सोते थे। कुम्भकरण अपने अंतिम समय में उत्तर दिशा की और चले गए।

किशन चंद्र बड़ा ही तेज दिमाग का व्यक्ति था। कुम्भकरण ने किशन चंद्र को एक मोर का पंख यह कहकर दिया कि इस मोर पंख से तुम जो भी मांगोगे वह तुम्हें मिल जायेगा लेकिन उसका दोगुना एक मील की दूरी तक उपस्थित बाकी सभी लोगों को मिल जायेगा। कोई भी दो व्यक्ति इस मोर पंख से अधिकतम तीन तीन बार ही कुछ मांग सकते हैं। बाबा कुम्भकरण ने बताया कि वह खुद इससे तीन बार मांग चुके हैं इसलिए उनको अब इसकी जरुरत नहीं है।
किशन चंद्र ने वह मोर पंख ले लिया और अपनी पगड़ी में खोंस लिया। इसके कुछ दिन बाद एक बार उसका कुछ बदमाशों ने अपहरण कर लिया और जंगल में अपने गुप्त ठिकाने पर ले गए। उनका सरदार मोर का मुकुट पहनता था। उनके सरदार ने किशन चंद्र का वध करने का निर्णय लिया और कहा कि तुम अपनी आखिरी ख्वाहिश बता दो।
किशन चंद्र ने कहा कि तुम लोग सबको लूटते हो मैं तुम्हारी लूटने की इच्छा पूरी कर दूंगा। कहा तुमको जितने सेर का सोने का हार चाहिए मांग लो। सरदार ने 10 सेर सोने का हार माँगा। तुरंत उसके गले में 10 सेर सोने का हार पड़ गया और बाक़ी सबके गले में 20-20 सेर के हार पड़ गए। सरदार और उसके साथी बहुत खुश हुए। फिर उसने 20 सेर सोने की कमर बेल्ट मांगी तो उसको मिल गयी और बाकी सबकी कमर में 40 40 सेर सोने की कमर बेल्ट पड़ गयी। 60-60 सेर बजन से सरदार के सभी लोग भारग्रस्त हो गए। किशन चंद्र ने अपनी कमर बेल्ट खोलकर देदी और अपना हार उतार कर सरदार के गले में डाल दिया। सरदार ने सोचा कि हथियार भी तो बढ़िया होने चाहिए अतः उसने तत्समय ज्ञात अनेक तरह के हथियार 20-20 की संख्या में माँगे तुरंत उसके पास हर तरह के 20-20 और बाकी के पास 40-40 हथियार हो गए। इसके बाद सरदार ने 5 खूबसूरत रानियां मांगीं जो नहीं मिलीं।
किशन चंद्र ने कहा कि तुम तीन बार मांग चुके हो इसलिए रानियां नहीं मिलीं। उसने कहा कि तुमको रानियां मैं दिलवाऊंगा। मुझे जाने दो। सरदार ने उसे सिर्फ एक तलवार लेकर जाने दिया। जब वह जाने लगा तो उसने कहा बाबा मेरी एक आँख अंधी कर दो। किशन चन्द्र काना हो गया लेकिन सब लुटेरे अंधे हो गए।
किशन चंद्र वहां से जब एक मील से ज्यादा दूर एक निर्जन स्थान पर पहुंचा तो उसने कहा बाबा मेरी दोनों आँख ठीक कर दो। वह ठीक हो गया लेकिन एक भी लुटेरा ठीक नहीं हुआ। किशन चन्द्र वहां से दयानंद के पास पहुंचा और अपने कुछ विश्वासपात्र साथियों को लेकर उनकी मदद से जंगल के उस गुप्त ठिकाने पर कब्ज़ा कर लिया और उन सबका सरदार बन गया। उसने वही मोर का मुकुट धारण किया। और उसी धन और हथियारों की मदद से उसने एक शक्तिशाली सेना का गठन कर लिया। फिर उसने घ्रणानन्द की हत्या कर दी। उसने अपने माता पिता समेत तमाम लोगों को आजाद कराया। फिर वह स्वयं राजा बन गया। लोग किशनचंद्र को भगवान की तरह मानने लगे और उसके नाम पर कई तरह के त्यौहार मनाने लगे। कुछ साल शासन करने के बाद अपनी गद्दी अपने जवान हो चुके बेटे को सौंप कर वह दक्षिण दिशा में चला गया।

user image Arvind Swaroop Kushwaha - 28 Apr 2020 at 6:06 PM -

कोशिका विज्ञान

मृत्यु एवं अमरता का विज्ञान
●Death Clock In Your DNA●
.
पृथ्वी पर प्रतिदिन लगभग 151600 लोग अपना जीवन पूर्ण कर मृत्यु का ग्रास बन जाते हैं। इनमे से कई मौतों का कारण सड़क दुर्घटनाये अथवा लाइलाज बीमारिया होती है, जो कि स्वाभाविक है लेकिन आज मैं ... बात कर रहा हूँ "वृद्धावस्था के कारण हुई मौतों की"
आखिर हम बूढ़े क्यों होते है? क्या ऐसा कोई उपाय हो सकता है कि हम चिरयुवा बने रह सके?
.
हमारा शरीर खरबो कोशिकाओ से बना हुआ है। ये कोशिकाए प्रतिपल मरती रहती है, नयी कोशिकाओ का जन्म होता रहता हैं।
प्रत्येक कोशिका में मौजूद डीएनए की संरचना के दोनों छोरो पे एक मृत नॉन कोडिंग डीएनए की कैप लगी होती है। जिस मृत डीएनए को हम टेलोमीयर (Telomere) कहते हैं। ये टेलोमीयर हमारे डीएनए की रक्षा कवच के रूप में कार्य करते हैं।
(Image In First Comment)
.
जैसे ही कोई कोशिका... अपने जैसी नयी कोशिका को जन्म देती है तो इस प्रक्रिया में नयी कोशिका में मौजूद डीएनए में ये टेलोमीयर थोड़े छोटे हो जाते है। 50-60 बार ये प्रक्रिया दोहराने पर ये टेलोमीयर छोटे होते होते फाइनली खत्म हो जाते है।
जिस पल ऐसा होता है.. उस पल कोशिकाओ का जन्म रुक जाता है। पुरानी कोशिकाएं एक वक़्त के बाद शिथिल होकर गड़बड़ उत्पन्न करने लगती है।
परिणाम स्वरूप.. हम बूढ़े होने लगते है। शरीर की कार्य प्रणाली ध्वस्त होने लगती है और फाइनली एक दिन.. हम मर जाते है।
.
कोई भी जीव कितने वक़्त तक जीवित रहेगा इसका सम्बन्ध कही ना कही टेलोमीयर की लंबाई अथवा कोशिकाओ के द्विगुणीत होने की क्षमता (Hayflick Limit) से होता है। कछुए जो 200 साल तक ज़िंदा रह सकते है, उनमे ये लिमिट 110 तो चूहे जिनका जीवन बेहद अल्प होता है , उनमे ये लिमिट 10-15 तक होती है।
मनुष्यो में कोशिकाओ के बनने की लिमिट 40-60 होती है जिस कारण किन्ही भी परिस्थितियों में मनुष्य जीवन 120 साल से ज्यादा होना असंभव प्रतीत होता है।
.
तो प्रॉब्लम क्या है? जेनेटिक इंजीनियरिंग के प्रयोग से टेलोमीयर की लंबाई बढ़ा दीजिये और इंसान लंबे वक़्त तक चिरयुवा बना रहेगा? Right? Well Yes...
प्रयोगशालाओ में टेलोमीरेस नामक एंजाइम की सहायता से हम टेलोमीयर की क्षमता को कृतिम रूप से प्रभावित कर चुके है
तो मनुष्यो पर इसका प्रयोग क्यों नही करते?
वो इसलिए क्योंकि.. अगर हम एक कदम अमरता की ओर बढ़ाते है तो वही कदम हमें इस अमरता के एक भयावह पहलु के भी दर्शन कराता है। .
जैसा कि मैंने ऊपर कहा है कि हर पल आपके शरीर में मौजूद 20 लाख कोशिकाएं मरती है और अपने अंदर मौजूद डीएनए को कॉपी एंड ट्रांसफर करके नयी कोशिकाओ को जन्म देती हैं।
डीएनए कॉपी की इस प्रक्रिया में हमारी कोशिकाएं ऑन एवरेज 120000 गलतियां प्रति कोडिंग करती है। तब हमारा "Auto Correct Mode" पे चलने वाला शरीर उन त्रुटिपूर्ण कोशिकाओ को आत्महत्या का हुक्म सुना देता है। वे नयी कोशिकाएं जल्दी जल्दी द्विगुणीत होकर अपना टेलोमीयर खत्म करके मृत हो जाती है।
लेकिन...
कुछ ढीठ कोशिकाएं इन आत्महत्या के सिग्नल्स को नजरअंदाज करके... कोशिका के अंदर सुसुप्तावस्था में मौजूद "टेलोमीरेस" नामक एंजाइम को एक्टिवेट कर देती है... जिस कारण ये एंजाइम टेलोमीयर को स्टेबल कर देता है
नतीजन? ये त्रुटिपूर्ण कोशिकाएं अमर होके नयी डिफॉल्टर कोशिकाओ को जन्म देती रहती है और अन्ततः खराब कोशिकाओ का एक ऐसा समूह जन्म ले लेता है.. जिस समूह को हम एक बेहद फैंसी और भयावह नाम से पुकारते हैं।
"कैंसर"
.
जी हाँ.. तो मेरे कहने का यहाँ निहितार्थ ये है कि अगर टेलोमीयर किसी प्रकार से स्टेबल कर दिए जाए तो परिणाम स्वरुप हर खराब कोशिका अनियंत्रित होकर वृद्धि को प्राप्त होने लगेगी और...
पृथ्वी पर मौजूद हर व्यक्ति पे कैंसर की तलवार लटकने लगेगी..
.
यानी अमरता की कीमत शायद हमें "कैंसर" के खतरनाक रूप में चुकानी पड़े।
प्रकृति के खेल भी अजीब है.. उसके रहस्यों की हर कुंजी मानव प्रगति के एक नए आयाम का दर्शन कराती है तो वही कुंजी प्रकृति के चक्र से खिलवाड़ के संभावित खतरों से भी रूबरू कराती है।
शायद भविष्य में बेहतर वैज्ञानिक शोधो के साथ अमरता के रहस्यों को बेहतर ढंग से समझा जा सके।
.
बहरहाल.. आपके शरीर में मौजूद टेलोमीयर कितने लंबे होंगे..इसका सम्बन्ध आपके माँ और पिता से होता है। टेलोमीयर की लंबाई आपके जन्म के समय निश्चित हो जाती है।
अर्थात जैसे ही आप इस सृष्टि में जीवन का प्रथम चरण आरम्भ करते है
उसी पल.. आपके शरीर में मौजूद "मृत्यु रुपी टेलोमीयर अलार्म क्लॉक" की उलटी गिनती भी शुरू हो जाती है।
.
What I Mean Here To Say Is
The Very First Moment You Are Born...
At That Time Only...
You Are Also Programmed To Die !!!
*************************************
And As Always
Thanks For Reading !!!

user image Arvind Swaroop Kushwaha - 27 Apr 2020 at 8:01 PM -

शेयर मार्केट का funda

शेयर मार्केट में पैसा कैसे डूबता है ?

एक बार एक आदमी ने गाँव वालों से
कहा कि वो 100 रु. में एक बन्दर खरीदेगा,

ये सुनकर सभी गाँव वाले नजदीकी जंगल की ओर
दौड़ पड़े और वहां से बन्दर पकड़ पकड़ कर 100
रु. में उस आदमी को बेचने ... लगे ......

कुछ दिन बाद ये सिलसिला कम
हो गया और लोगों की इस बात में
दिलचस्पी कम हो गयी ......

फिर उस आदमी ने
कहा की वो एक एक बन्दर के
लिए 200 रु. देगा ,
ये सुनकर लोग फिर बन्दर पकड़ने मे लग गये

लेकिन कुछ दिन बाद
मामला फिर
ठंडा हो गया ....

अब उस आदमी ने
कहा कि वो बंदरों के लिए
500 रु. देगा ,
लेकिन क्यूंकि उसे शहर
जाना था, उसने इस काम के
लिए एक असिस्टेंट नियुक्त कर
दिया ........

500 रु. सुनकर गाँव वाले बदहवास
हो गए ,
लेकिन पहले ही लगभग सारे बन्दर
पकड़े जा चुके थे
इसलिए उन्हें कोई हाथ
नहीं लगा ......।

तब उस
आदमी का असिस्टेंट उनसे आकर
कहता है .....
"आप लोग चाहें तो सर के पिंजरे में
से 400 -400 रु. में बन्दर खरीद सकते हैं ,
जब सर आ जाएँ तो 500-500 में बेच
दीजियेगा।

गाँव वालों को ये प्रस्ताव भा गया और उन्होंने (100-200 रु. में बेचे हुए) सारे बन्दर 400 - 400 रु. में खरीद लिए ....।

अगले दिन न वहां कोई असिस्टेंट था और न ही कोई सर।

बस बन्दर ही बन्दर...
Welcome to Share Market

user image Arvind Swaroop Kushwaha - 19 Apr 2020 at 3:20 PM -

राजेश चंद्रा

।।बुद्ध और उनका धम्म।।
-राजेश चन्द्रा-

14 अक्टूबर'1956 को भारत में, नागपुर में, महान धम्म दीक्षा के उपरान्त बोधिसत्व बाबा साहेब श्रीलंका की यात्रा पर गये थे, विश्वभ्रातृत्व बौद्ध सम्मेलन में प्रतिभाग करने। इतनी महान धम्म क्रान्ति करके बाबा साहेब ने बौद्ध जगत के समस्त देशों सहित ... पूरी दुनिया का ध्यान आकृष्ट कर लिया था। श्रीलंका में वहाँ महापण्डित राहुल सांकृत्यायन से भी उनका आमना-सामना हुआ था, प्रसंगवशात उन्होंने कहा: "यदि मैं दस साल और रह गया तो भारत को बुद्धमय बना दूँगा।"

महापण्डित राहुल सांकृत्यायन ने वक्तव्य दिया: " डा. अम्बेडकर ने भारत में बुद्ध धम्म का ऐसा स्तम्भ गाड़ दिया है कि अब उसे कोई उखाड़ नहीं सकता।"

बाबा साहेब डा. अम्बेडकर के बौद्ध अनुयायी भी बाबा साहेब के संकल्प को प्रायः दोहराते हैं कि भारत को बुद्धमय बनाना है!

प्रश्न है कि भारत बुद्धमय होगा कैसे? क्या कुछेक जाति-बिरादरियों के बुद्धधम्मोन्मुख हो जाने से भारत बुद्धमय हो जाएगा? क्या सिर्फ कथित दलितों के बौद्ध हो जाने से भारत बुद्धमय हो जाएगा? भारत को बुद्धमय बनाने की कार्य योजना क्या है? इस विषय में बाबा साहेब का क्या दिशानिर्देश है?

बाबा साहेब के पास भारत को बुद्धमय बनाने की पूरी कार्य योजना थी। इस कार्य योजना का सुव्यवस्थित क्रमबद्ध मानचित्र बाबा साहेब के कई-कई आलेखों में मिलता है, जिनमें सर्वाधिक मार्गदर्शक आलेख उन्होंने सन् 1950 में लिखा था जो महाबोधि सोसाइटी की पत्रिका में बुद्ध पूर्णिमा के अंक में छपा था- बुद्धा एण्ड द फ्यूचर ऑफ हिज़ रिलीजन- नाम से, अंग्रेजी में। "बुद्ध और उनके धम्म का भविष्य" पांच खण्डों में लिखा गया यह एक विस्तृत आलेख है। डा. अम्बेडकर राइटिंग एण्ड स्पीचेस में खण्ड 17 में यह आलेख है। वैसे गूगल पर भी उपलब्ध है।

इस विस्तृत आलेख में भारत को बुद्धमय बनाने की दिशा में सारांश रूप में तीन महत्वपूर्ण बिन्दु हैं:

1. बौद्धों की एक हस्तपुस्तिका होना
2. भिक्खु संघ के उद्देश्य व लक्ष्यों में परिवर्तन करना
3. एक विश्व बौद्ध मिशन तैयार करना

फिर इन तीनों बिन्दुओं को उन्होंने क्रमिक रूप से विस्तार दिया है। मैं यहाँ उन सारे विस्तार के विस्तार में न जा कर सिर्फ पहले बिन्दु का उद्देश्य विशेष से सारांश देना चाहूँगा।

"1. बौद्धों की एक हस्तपुस्तिका होना", इस बिन्दु की व्याख्या में बोधिसत्व बाबा साहेब तुलनात्मक रूप से कहते हैं कि ईसाइयों के पास एक सुविधाजनक बात यह है कि उनका एक धर्मग्रन्थ है बाइबिल, जिसे आसानी से हाथ में लेकर जाया जा सकता है यानी ग्रन्थ हैण्डी है। यही बात इस्लाम के साथ भी है कि उनके पास एक धर्मग्रन्थ क़ुरआन है, सिक्खों के पास गुरुग्रन्थ साहेब है...

यह सारी तुलानाएं करके बाबा साहेब निष्कर्ष देते हैं कि बौद्धों के पास धर्मग्रन्थ के नाम पर कोई एक पुस्तक न होकर विशाल त्रिपिटक है जिस समन्दर को पार पाना सबके बस की बात नहीं है। वह सुझाव देते हैं हस्तपुस्तिका, हैण्डबुक, जैसी बौद्धों की एक पुस्तक भी होनी चाहिए जिसमें बुद्ध का जीवन परिचय और उनकी मूलभूत शिक्षाएं दी हों जिनका उपासकगण नित्य पाठ कर सकें। उसमें पूजापाठ, जन्मदिन, विवाह, मृतक संस्कार आदि का भी परिशिष्ट हो।

"2. भिक्खु संघ के उद्देश्य व लक्ष्यों में परिवर्तन करना", इस दूसरे बिन्दु के विस्तार में वर्तमान भिक्खु संघ की वह विवेचना करते हैं और धम्म प्रचार के लिए वे उनको बिल्कुल अनुपयुक्त करार देते हैं। बड़े कठोर शब्दों में वर्तमान भिक्खु संघ को वे निकम्मों की फौज, आइडलर्स आर्मी, तक कहते हैं। कुल मिलाकर उनका सारांश यह है कि भारत को बुद्धमय बनाने के लिए धम्म ज्ञान से सम्पन्न नये क़िस्म का आधुनिक विज्ञान व शिक्षा से भी सुपरिचित धम्म प्रचारक चाहिए, जिसमें नालन्दा विश्वविद्यालय की प्राचीन परम्परा वाली सेवा भावना भी हो। बाबा साहेब सवाल करते हैं कि जब भी मानवता पर कोई संकट आता है तो लोग सेवा के लिए रामकृष्ण मिशन को याद करते हैं। भिक्खु संघ को कोई याद नहीं करता। सेवा किसका धर्म होना चाहिए? रामकृष्ण मिशन का या भिक्खु संघ का? बाबा साहेब जेसुइट पादरियों का उदाहरण देते हुए कहते हैं कि पूरे एशिया में इसाइयत शिक्षा, सेवा और चिकित्सा के ज़रिये फैली है। बाबा साहेब के कहने का तात्पर्य यह है कि भारत को बुद्धमय बनाने के लिए धम्म प्रचारकों को शिक्षा, सेवा, चिकित्सा का रास्ता अपनाना चाहिए, धम्म साहित्य वितरित करना चाहिए तथा धम्म प्रचारक उच्च शिक्षित होना चाहिए।

"3. एक विश्व बौद्ध मिशन तैयार करना", इस तीसरे बिन्दु की व्याख्या में वे कहते हैं कि एक विश्व बौद्ध मिशन तैयार करना चाहिए जिसके अन्तर्गत भारत के बौद्धों का विश्व के बौद्धों से सम्पर्क व मैत्री हो ताकि भारतीय बौद्धों को यह गौरवमय अनुभूति हो कि वे एक विश्व समाज का अंग हैं।

इस मार्गदर्शक आलेख का समापन उन्होंने इस प्रेरक वचन के साथ किया है:

"बुद्ध धम्म का प्रचार-प्रसार करना सच्ची मानव सेवा है।"

बाबा साहेब के द्वारा मार्गनिर्देशित किये गये तीनों बिन्दु भारत को बुद्धमय बनाने का मानचित्र है, जिसमें पहला बिन्दु बाबा साहेब ने स्वयं अपने जीवनकाल में पूरा कर दिया। "बुद्ध और उनका धम्म", यही वह महान ग्रन्थ है जिसका संकेत उन्होंने अपने आलेख में किया था। यह ग्रन्थ सम्पूर्ण त्रिपिटक का सार है। इसे उस हर बौद्ध को कई-कई बार पढ़ना, मनन करना चाहिए जो मन के किसी कोने में भारत को बुद्धमय बनाने का सपना देखते हैं। इस ग्रन्थ का अध्ययन करने मात्र से भारत बुद्धमय नहीं हो जाएगा लेकिन कम से कम आपका जीवन तो बुद्धमय होगा। ऐसे एक-एक व्यक्ति रूपान्तरित होगा तो एक दिन पूरा भारत बुद्धमय होगा।

इस लाॅकडाउन अवधि का सदुपयोग कीजिए। इस ग्रन्थ का अध्ययन कर लीजिये, चिन्तन, मनन कर लीजिये।

धम्म प्रचार के लिए नये क़िस्म का भिक्खु संघ तो भिक्खु संघ ही बनाएगा, जो कि अभी तक नहीं बन सका है, लेकिन हम नये किस्म का उपासक संघ तो बना सकते हैं। प्रकारान्तर से देखिये तो यह युग उपासकों का है। आधुनिक भारत में विराट धम्म क्रान्ति महान उपासक बाबा साहेब डा. अम्बेडकर ने की। भगवान की विपस्सना विद्या को पुनर्स्थापित करने का महान कार्य एक उपासक श्री सत्यनारायण गोयनका जी ने किया। श्रावस्ती में महान स्वर्णिम स्तूप तथा उपासिका संघ का निर्माण महान उपासिका डा. ब्रान्कट सिथिपोल , थाई माता, ने किया है तथा भारत में अन्तरराष्ट्रीय त्रिपिटक संगायन का नेतृत्व एक महोपासिका श्रीमती वांगमो डिक्सी कर रही हैं। भारत के किसी भी जनपद में देख लीजिए, अधिकांश स्थानों पर धम्म गतिविधियों का नेतृत्व उपासकगण कर रहे हैं।

भारत में विगत 15 वर्षो से आयोजित हो रहा अन्तरराष्ट्रीय त्रिपिटक संगायन एक ऐसा आयोजन है जिससे सक्रियता से जुड़ कर भारतीय बौद्ध बाबा साहेब द्वारा संकेतित तीसरे बिन्दु को भी साकार रूप दे सकते हैं।

"बुद्ध और उनका धम्म" ग्रन्थ पढ़ने के लिए आपको इतना जोर देकर आग्रह क्यों किया जा रहा है? ताकि आप बाबा साहेब की परिकल्पित परियोजना का अंग बन सकें, कुछ अपना भी योगदान दे सकें।

सरकारी तौर पर लाॅकडाउन अवधि 3 मई'2020 तक बढ़ा दी गयी है। परिस्थितियों को देखते हुए यह भी अनुमान लगाया जा सकता है कि बाबा साहेब की जयंती की तरह ही बुद्ध जयंती, बुद्ध पूर्णिमा भी सार्वजनिक रूप से न मना कर घरेलू स्तर पर ही मनायी जाएगी। सभी जन प्रयास करें कि इस पावन ग्रन्थ तथा धम्मपद का सम्पूर्ण पाठ यथासम्भव 3 मई'2020 तक पूर्ण हो जाए अन्यथा बुद्ध पूर्णिमा 7 मई'2020 तक तो अनिवार्यतः हो जाए।

धम्म ग्रन्थ का पाठ पूरा होने पर उत्सव मनाने की धार्मिक परम्परा है- परिजनों के साथ सामूहिक रूप से पूजा करना, दीप जलाना, गन्ध अर्पण करना, मिष्ठान्न अर्पित करना और परिजनों के साथ यथा सामर्थ्य प्रीति भोज करना और अनिवार्य रूप से दान अवश्य करना। बुद्ध पूर्णिमा के दिन पारिवारिक स्तर पर ऐसी ही योजना बनाइये। अपने आसपास देखिये कि लाॅकडाउन के कारण कोई भूखा तो नहीं सो रहा है। सोशल डिस्टैंसिंग का अनुपालन करते हुए भोजन भण्डारे का आयोजन कर सकते हैं तो प्रशासन की अनुमति से वह भी करें।

कोरोना महामारी तथा उसके कारण लागू लाॅकडाउन अवधि का सदुपयोग कीजिए- स्वयं अपने जीवन को, परिजनों के जीवन को, घर को तथा संसार को धम्म की तरंगों से आन्दोलित कीजिए। पूरे संसार को मैत्री की तरंगें प्रेषित कीजिए- सब का मंगल हो, सब का कल्याण हो, सब स्वस्थ रहें, निरोगी हों, दीर्घजीवी हों...

आप यूँ भी सूक्ष्म रूप से स्वयं अपना और संसार का हित कर सकते हैं।

पुनश्च:

1. "बोधिसत्व से बुद्ध की ओर" अभियान में लगे उपासक-उपासिकाओं ने श्रद्धा-भावना से कई बड़े प्यारे अनुभव साझा किये हैं। ऐसे अनुभवों से लोगों को प्रेरणा मिलती है। कृपया शेष लोग भी अपने अनुभव साझा करें।

2. इसी श्रंखला के पूर्व आलेख "बोधिसत्व से बुद्ध की ओर" कृपया 10 अप्रैल'2020 का आलेख सन्दर्भित करें : https://m.facebook.com/story.php?story_fbid=3407000802663052&id=100000594960974

3. उपरोक्त विषयक किसी जिज्ञासा की स्थिति में कृपया श्री महेश सत्यार्थी जी (08004906369) से सम्पर्क करें।

user image Arvind Swaroop Kushwaha - 13 Apr 2020 at 7:21 AM -

Population of Indian States


Rank State Population
2018 2011 difference
1 Uttar Pradesh 228,959,599 199,812,341 29,147,258
2 Maharashtra 120,837,347 112,374,333 8,463,014
3 Bihar 119,461,013 104,099,452 15,361,561
4 West Bengal 97,694,960 91,276,115 6,418,845
5 Madhya Pradesh 82,342,793 72,626,809 9,715,984
6 Rajasthan 78,230,816 68,548,437 9,682,379
7 Tamil Nadu 76,481,545 72,147,030 4,334,515
8 Karnataka 66,165,886 61,095,297 5,070,589
9 Gujarat 63,907,200 60,439,692 3,467,508
10 Andhra Pradesh 52,883,163 49,576,777 3,306,386
11 Odisha 45,429,399 41,974,218 3,455,181
12 Telangana 38,472,769 35,004,000 3,468,769
13 Jharkhand 37,329,128 32,988,134 4,340,994
14 Kerala 35,330,888 33,406,061 1,924,827
15 Assam 34,586,234 31,205,576 3,380,658
16 Punjab 29,611,935 27,743,338 1,868,597
17 Chhattisgarh 28,566,990 25,545,198 3,021,792
18 Haryana 27,388,008 25,351,462 2,036,546
NCT Delhi 18,345,784 16,787,941 1,557,843
19 Jammu & Kashmir 13,635,010 12,541,302 1,093,708
20 Uttarakhand 11,090,425 10,086,292 1,004,133
21 Himachal Pradesh 7,316,708 6,864,602 452,106
22 Tripura 4,057,847 3,673,917 383,930
23 Meghalaya 3,276,323 2,966,889 309,434
24 Manipur 3,008,546 2,855,794 152,752
25 Nagaland 2,189,297 1,978,502 210,795
26 Goa 1,542,750 1,458,545 84,205
27 Arunachal Pradesh 1,528,296 1,383,727 144,569
UT1 Puducherry 1,375,592 1,247,953 127,639
28 Mizoram 1,205,974 1,097,206 108,768
UT2 Chandigarh 1,126,705 1,055,450 71,255
29 Sikkim 671,720 610,577 61,143
UT3 A.& N.Islands 419,978 380,581 39,397
UT4 D.& N.Haveli 378,979 343,709 35,270
UT5 Daman & Diu 220,084 243,247 -23,163
UT6 Lakshadweep 71,218 64,473 6,745
India 1,335,140,907 1,210,854,977 124,285,930